FIFA U-17 WC: टीम इंडिया का कोलंबिया के खिलाफ आज होगा महा मुकाबला!

पिछले तीन साल की तैयारियां, दुनिया के नामी फुटबाल देशों का दौरा, करोड़ों रुपयों का खर्च और सबसे बढ़कर इस उम्र में रिश्ते-नातों को ताक पर रखने का त्याग, सोमवार को फीफा अंडर-17 वर्ल्ड कप में भारतीय टीम जब कोलंबिया के सामने होगी तो यह सब दांव पर होगा। जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम पर मिली एक और हार इस टीम के ही नहीं उन सभी के सपनों को ध्वस्त कर देगी जिन्होंने इस वर्ल्ड कप में भारतीय टीम को कुछ कर गुजरने की कल्पना को जिया।FIFA U-17 WC: टीम इंडिया का कोलंबिया के खिलाफ आज होगा महा मुकाबला!SAvBAN: रबाडा ने किया बांग्लादेश का कबाड़ा, दक्षिण अफ्रीका के लिए पारी के अंतर से रही सबसे बड़ी जीत

अमेरिका से मिली हार के बाद पुर्तगाली कोच लुई नॉर्टन डि माटोस की टीम के लिए करो या मरो के समीकरण बन पड़े हैं। खुद माटोस और टीम के सभी सदस्य मानते हैं कि उनके पास कोलंबिया को हराने के अलावा कोई चारा नहीं है।
घाना के हाथों हार से बौखलाई कोलंबिया के सामने भी यही स्थितियां हैं। यही कारण है कि मेजबानों के लिए यह मुकाबला आसान नहीं होगा।

कोच माटोस के भी टीम से यही शब्द हैं उन्हें जीत के लिए ही खेलना होगा इसके अलावा उनके पास कोई चारा नहीं है। दिक्कत यह है कि यह वही कोलंबिया की टीम है जिसने मेक्सिकों में इसी टीम को 0-3 से परास्त किया था। माटोस यह भी जानते हैं कि कोलंबिया की टीम शारीरिक रूप से बेहद मजबूत है और मैदान पर अपने शरीर का ज्यादा इस्तेमाल करती है, लेकिन उन्हें इसकी काट ढूंढनी होगी। माटोस का टीम को यही मंत्र है कि अगर कल वह जीते तो इतिहास रचेंगे और उनके पास इस इतिहास को बनाने का सुनहरा मौका है।

विशेषज्ञों की मानें तो इस पूल से अंतिम 16 में जगह बनाने की दावेदार भारत को छोड़ अन्य टीमों को माना जा रहा है। जिसके चलते मजबूत कोलंबिया आक्रामक फुटबाल के जरिए भारतीयों को घेरने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। भारतीय टीम के मिडफील्डर सुरेश सिंह का मानना है कि हमलों को धार देने होगी और अपनी पोजीशन पर रहना होगा। अमेरिका के खिलाफ पास देने में कुछ गलतियां हुई जिससे आक्रमण नहीं बन पाए। कोलंबिया के खिलाफ इस गलती को दूर करना होगा। अमेरिका के खिलाफ सभी की निगाहों में आने वाले सिक्किम के कोमल थटाल का कहना है कि हार से मिली सीख को लेकर आगे बढ़ना होगा।

टीम के सभी खिलाड़ियों से मिलकर अमरजीत ने बढ़ाया टीम का हौसला

अमेरिका से मिली हार के बाद कप्तान अमरजीत सिंह टीम के सभी सदस्यों से व्यक्तिगत रूप से मिले हैं। उन्होंने सभी सदस्यों का हौसला बढ़ाया। अमरजीत का कहना है कि भले ही कोलंबिया की टीम बेहद मजबूत हो, लेकिन यह मुकाबला टीम के लिए जीवन और मरण वाला है, इस लिए वह कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

You May Also Like

English News