FIFA WC: रूस ने मिस्र को हराकर अंतिम-16 में प्रवेश की ओर रखा कदम

मेजबान रूस ने फीफा वर्ल्ड कप के 21वें संस्करण में मिस्र को 3-1 से हरा लगातार दूसरी जीत दर्ज की. सेंट पीटर्सबर्ग स्टेडियम में मंगलवार देर रात ग्रुप-ए के मुकाबले में इस जीत के साथ रूस के दो मैचों में छह अंक हो गए हैं और वह नॉकआउट चरण में प्रवेश की दहलीज पर पहुंच गया है. वहीं, मिस्र के लिए अगले दौर में जाना बेहद मुश्किल हो गया है. मैच के सभी गोल दूसरे हाफ में आए.मेजबान टीम को अपनी बढ़त को दोगुना करने में ज्यादा समय नहीं लगा. डेनिस चेरिशेव ने 59वें मिनट में बेहद आसानी से गेंद को नेट में डाल रूस को 2-0 से आगे कर दिया. यह चेरिशेव का इस टूर्नामेंट में तीसरा गोल था. सर्वाधिक गोल करने वालों की सूची में वह क्रिस्टियानो रोनाल्डो के साथ शीर्ष पर आ गए हैं. तीन मिनट बाद एरटेम डेज्यूबा ने इल्या कुटेपोव से मिली गेंद को आसानी गोल में बदल रूस को 3-0 से आगे कर मिस्र की वापसी मुश्किल कर दी.  मिस्र की किस्मत ने 73वें मिनट में उसका साथ दिया और वीएआर के माध्यम से उसे पेनल्टी मिली, जिसे सलाह ने गोल में तब्दील कर अपनी टीम का खाता खोला. यह विश्व कप में सलाह का पहला गोल है. मिस्र के प्रशंसकों को लगा की यहां से उनकी टीम वापसी कर सकती है, लेकिन रूस ने ऐसा नहीं होने दिया.

बुधवार को उरुग्वे की टीम अगर सऊदी अरब को हराती है या ड्रॉ खेलती है तो रूस अंतिम 16 में पहुंच जाएगा. ऐसे में मिस्र बाहर हो जाएगा, जिसे पहले मैच में उरुग्वे ने 1-0 से हराया था.

रूस के लिए यह मैच बेहद अहम था. उसने अपने पहले मैच में सऊदी अरब को 5-0 से मात दी थी. उसके अगले दौर की राह में चोट से वापसी कर रहे मिस्र के स्टार खिलाड़ी मोहम्मद सलाह रोड़ा बन सकते थे, इसलिए इस स्टार खिलाड़ी के खिलाफ उसने पहले ही रणनीति बना ली थी. उसके मिडफील्डर युरी झिर्कोव सलाह से साए की तरह चिपके रहे. इसी कारण सलाह खुलकर नहीं खेल पाए.

दोनों टीमें पहले हाफ में गोल नहीं कर पाईं. अपना पहला विश्व कप मैच खेल रहे सलाह ने हालांकि 42वें मिनट में अपनी क्लास का परिचय देते हुए गोल करने के प्रयास किया, जिसमें वो चूक गए. दूसरे हाफ की शुरुआत मिस्र के लिए बेहद निराशाजनक रही. मिस्र के कप्तान अहमद फताही ने 47वें मिनट में गेंद को क्लियर करने के प्रयास में आत्मघाती गोल कर रूस को 1-0 से आगे कर दिया. यह इस टूर्नामेंट का पांचवां आत्मघाती गोल रहा.

बाईं तरफ से गेंद आई, जिसे मिस्र के गोलकीपर ने पंच से क्लियर कर दिया और गेंद बॉक्स के बाहर खड़े रूस के रोमन जोबनिन के पास गई, जिन्होंने गेंद को वापस बॉक्स में भेजा, जहां अहमदी उसे क्लियर करने के प्रयास में गलती से अपने ही गोल में खेल बैठे.

मेजबान टीम को अपनी बढ़त को दोगुना करने में ज्यादा समय नहीं लगा. डेनिस चेरिशेव ने 59वें मिनट में बेहद आसानी से गेंद को नेट में डाल रूस को 2-0 से आगे कर दिया. यह चेरिशेव का इस टूर्नामेंट में तीसरा गोल था. सर्वाधिक गोल करने वालों की सूची में वह क्रिस्टियानो रोनाल्डो के साथ शीर्ष पर आ गए हैं. तीन मिनट बाद एरटेम डेज्यूबा ने इल्या कुटेपोव से मिली गेंद को आसानी गोल में बदल रूस को 3-0 से आगे कर मिस्र की वापसी मुश्किल कर दी.

मिस्र की किस्मत ने 73वें मिनट में उसका साथ दिया और वीएआर के माध्यम से उसे पेनल्टी मिली, जिसे सलाह ने गोल में तब्दील कर अपनी टीम का खाता खोला. यह विश्व कप में सलाह का पहला गोल है. मिस्र के प्रशंसकों को लगा की यहां से उनकी टीम वापसी कर सकती है, लेकिन रूस ने ऐसा नहीं होने दिया.

 

You May Also Like

English News