Fraud: एमबीबीएस में दाखिले के नाम पर 10 लाख की ठगी!

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में रहने वाले एक छात्र को एमबीबीएस में दाखिला दिलाने के नाम पर कुछ जालसाजों ने उसके परिवार वालों से 10 लाख रुपये की रकम ले ली। रुपये लेने के बाद भी आरोपी छात्र को एमबबीबीएस में दाखिला नहीं दिला सके। इसके बाद जब छात्र की मां ने आरोपियों से रुपये की मांग की तो वह टाल-मटोल करने लगे। इस पर छात्र की मां व पिता आरोपियों के दफ्तर पहुंचे और रुपये मांगे तो आरोपियों ने उनके साथ हाथापाई करते हुए धमकी दी। अब इस मामले में छात्र की मां ने चार लोगों के खिलाफ गाजीपुर थाने में रिपोर्ट दर्ज करायी है।


पीजीआई के बुद्घपुरम हैबतमऊ इलाके में धीरेन्द्र प्रताप सिंह अपने परिवार संग रहते हैं। उनका बेटा अजीत गाजीपुर के लेखराज मार्केट के पास एक कोचिंग में पढ़ाई करता था। कुछ समय पहले उसने सीपीएमटी और एआईएमपीटी की परीक्षा दी। कम नम्बर की वजह से उसका सलेक्शन एमबीबीएस में नहीं हुआ।

अजीत की कोचिंग के बाहर उसकी मुलाकात अनिल कुमार यादव और उनके साथियों से हुई। अनिल ने अजीत को सरकारी या फिर किसी प्राइवेट कालेज में एमबीबीएस में दाखिला दिलाने की बात कही। अजीत ने इस बारे में अपनी मां व पिता को बताया। अजीत के घरवालों ने जब उन लोगों से बात की बात उन लोगों ने अजीत के परिवार वालों को मिलने के लिए सहारा शापिंग सेंंटर स्थित अपने दफ्तर बुलाया। इस पर अजीत के परिवार वाले उन लोगों से मिलने के लिए पहुंचे।

10 लाख रुपये का चेक ले लिया
अजीत को एमबीबीएस में दाखिला दिलाने के नाम पर जालसाजा ने उसके परिवार वालों से 10 लाख रुपये का बतौर सिक्योरिटी के तौर पर लिया और बताया कि दाखिला होने के बाद चेक को कैश कराया जायेगा। अजीत के दाखिले के बैगर ही आरोपियों ने चेक को बैंक में लगाकर कैश करा लिया। इस पर अजीज के परिवार वालों ने आपित्त जतायी तो आरोपियों ने चेक वापस करने की बात कही।

न सलेक्शन हुआ और न ही रुपये वापस मिले
उधर समय गुजरने के बाद भी अजीत का एमबीबीएस में सलेक्शन नहीं हुआ। इस पर अजीत के परिवार वालों ने दिये गये 10 लाख रुपये आरोपियों से मांगे तो वह लोग टालमटोला करने लगे। देखते-देखते वक्त गुजरता चला गया। न तो अजीत का दाखिला हुआ और न ही रुपये वापस मिले।

माता-पिता को मिली धमकी
छात्र अजीत के माता-पिता कुछ माह पहले आरोपी अनिल के दफ्तर पहुंचे और अपने दिये गये रुपये वापस मांगे। आरोप है कि इस पर अनिल और उसके साथियों ने उन लोगों के साथ हाथापाई करते हुए जान से मारने की धमकी दी।

छात्र की मां की शिकायत पर रिपोर्ट दर्ज
अपने साथ हुई इस ठगी के मामले में छात्र अजीत की मां मीरा सिंह ने गाजीपुर पुलिस से लिखित शिकायत की। अब इस मामले में आरोपी अनिल कुमार यादव, आकाश, अंकित और अविनाश के खिलाफ गाजीपुर पुलिस ने धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर ली है।

You May Also Like

English News