GSTN चेयरमैन: अब तक 20 लाख कंपनियों ने GST का किया भुगतान…

जीएसटी (माल एवं सेवा कर) व्यवस्था के तहत अबतक 20 लाख कंपनियों ने आनलाइन कर का भुगतान किया है. शुक्रवार को समाप्त होने वाली समय सीमा से पहले करीब 30 लाख और रिटर्न दाखिल कर सकते हैं.GSTN चेयरमैन: अब तक 20 लाख कंपनियों ने GST का किया भुगतान...इंतजार की घड़ी खत्मः RBI ने जारी किया 200 रुपये का नोट, देखियें इसकी पहली झलक…

जीएसटी नेटवर्क के चेयरमैन नवीन कुमार ने कहा कि कर फाइलिंग की व्यवस्था का देखरेख कर रही जीएसटी नेटवर्क भीड़ से निपटने के लिए अपनी ओर से पूरी तैयारी कर रखी है. पिछले सप्ताह अंतिम समय में कर रिटर्न दाखिल करने वालों की भीड़ बढ़ने के कारण जीएसटीएन पोर्टल ठप हो गया था. इसके कारण कर फाइल करने की समय सीमा बढ़ाकर 25 अगस्त की गई.

उन्होंने कहा, ‘करीब 48 लाख करदाताओं ने पोर्टल पर बिक्री आंकड़ा सेव करके रखा है. इसमें से 20 लाख रिटर्न फाइल कर चुके हैं. साथ ही कर का भुगतान कर चुके हैं.’ 21 अगस्त तक दस लाख कंपनियों की तरफ से कर के रूप में 42,000 करोड़ रुपये आए हैं. ये कर केंद्र जीएसटी, राज्य जीएसटी तथा एकीकृत जीएसटी के साथ कार एवं तंबाकू जैसी विलासिता और अहितकर वस्तुओं पर उपकर के जरिए आए हैं. संग्रह आकड़े में उल्लेखनीय वृद्धि का अनुमान है क्योंकि करदाताओं की संख्या दोगुनी 20 लाख पहुंच गई.

28 लाख करदाता करेंगे कर फाइल

उन्होंने कहा कि कर संग्रह का कोई आंकड़ा नहीं दिया लेकिन कहा कि शेष 28 लाख करदाता अगले दो दिनों में कर फाइल करेंगे. यह पूछे जाने पर कि समयसीमा नजदीक आने के साथ रिटर्न फाइलिंग के दबाव को झेलने में जीएसटी नेटवर्क कितना तैयार है. कुमार ने कहा कि 48 लाख पहले ही पोर्टल पर आ चुके हैं और इसीलिए भीड़ बढ़ने की संभावना नहीं है. 

रिटर्न फाइल करने की समयसीमा बढ़ाई

जीएसटी पोर्टल पर 19 नवंबर को कर रिटर्न फाइल करने में तकनीकी समस्या की शिकायत के बाद सरकार ने कर भुगतान की समयसीमा 20 अगस्त से बढ़ाकर 25 अगस्त कर दी. उन्होंने कहा, ‘उस दिन एक घंटे हल्की तकनीकी समस्या रही. इसके बावजूद 19 अगस्त को 2.7 लाख रिटर्न फाइल किए गए है.’

You May Also Like

English News