HC का बड़ा फैसला: गुरुग्राम-फरीदाबाद में डेरा सच्चा सौदा के जमा संपत्तियों की जाचं का दिया आदेश

पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय के आदेश पर गुरुग्राम और फरीदाबाद में डेरा सच्चा सौदा के बैंक अकाउंट्स खंगाले जा रहे हैं। गुरुग्राम में शनिवार देर शाम एसडीएम भारत भूषण गोगिया के नेतृत्व में साउथ सिटी-2 स्थित डेरा से जुड़े नाम चर्चा घर का दौरा किया और वहां से संपत्तियों को ब्यौरा लेकर लेकर आए। क्या जानकारी मिली, इस बारे में प्रशासन कुछ भी कहने से गुरेज कर रहा है। उपायुक्त विनय प्रताप सिंह ने स्पष्ट किया है कि यहां पर डेरा की किसी संपत्ति को अटैच नहीं किया जा रहा, केवल उसका ब्यौरा लिया जा रहा है।HC का बड़ा फैसला: गुरुग्राम-फरीदाबाद में डेरा सच्चा सौदा के जमा संपत्तियों की जाचं का दिया आदेशबड़ी खबर: मोदी के मंत्री ने तलवार से काटा भारत का नक्शा, भड़का विपक्ष मांग रहा इस्तीफा

गुरुग्राम के उपायुक्त विनय प्रताप सिंह ने डेरा सच्चा सौदा की गुरुग्राम जिला में स्थित चल-अचल संपत्ति का ब्योरा देने के निर्देश तहसीलदारो तथा सभी एसडीएम को दिए है। उन्हें निर्देश दिए गए है कि न्यायालय के आगामी आदेशों तक डेरा की चल अचल संपत्ति की बिक्री ना हो, यह सुनिश्चित किया जाए। 

उपायुक्त ने बैंक अधिकारियों से डेरा के सभी बैंक खातों का ब्योरा भी मांगा है। डेरा की चल अचल संपत्तियों तथा बैंक खातों का यह ब्यौरा राज्य सरकार के माध्यम से उच्च न्यायालय को भेजा जाएगा ताकि डेरा के खिलाफ यदि कोई रिकवरी हो तो वह उस सम्पत्ति से की जा सके। 

उपायुक्त ने यह भी स्पष्ट किया है कि डेरा के गुरुग्राम में स्थित नाम चर्चा घर पर एसडीएम द्वारा निगरानी रखी जा रही है और उसे अभी तक सील करने के आदेश नहीं दिए गए है। यदि कोई असामाजिक गतिविधि वहां पर होती पायी गयी तो सील करने की कार्रवाई भी की जा सकती है। 

उपायुक्त ने इस कठिन दौर में गुरुग्राम जिला में शांति और कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए जिलावासियों का आभार व्यक्त करते हुए आशा जताई है कि भविष्य में भी गुरुग्राम वासी सूझ बूझ का परिचय देते हुए शांति क़ायम रखने में इसी प्रकार जिला प्रशासन का सहयोग करते रहेंगे। 

फरीदाबाद में बाबा की संपत्तियों को खोजेगा प्रशासन 

डेरा सच्चा सौदा अनुयायियों की हिंसा में शुक्रवार को हुई करोड़ों रुपयों की क्षति की भरपाई बाबा गुरमीत राम रहीम की संपत्ति से करने के हाईकोर्ट के आदेश के पालन की तैयारियां जिला प्रशासन कर रहा है। शहर में डेरा सच्चा सौदा के नाम पर बनाई गई संपत्ति का ब्यौरा तैयार किया जाएगा ताकि जरूरत पड़ने पर उसे जब्त किया जा सके। हालांकि प्रशासनिक अधिकारी अभी इस पर खुल कर बोलने से बच रहे हैं लेकिन बाबा गुरमीत राम रहीम से जुड़ी संपत्तियों को ब्यौरा तैयार करने की कवायद शुरू हो चुकी है।  

औद्योगिक नगरी में डेरा सच्चा सौदा मुखी के एक लाख से अधिक अनुयायी होने का अनुमान है। बल्लभगढ़ इलाके में बाबा के अनुयायी बड़ी तादाद में रहते हैं। अनुयायियों की ओर से सीकरी में नाम चर्चा घर स्थापित किया गया है। इसमें प्रार्थना, चर्चा, लंगर, जैसे कार्यक्रम आए दिन और साप्ताहिक आधार पर आयोजित किए जाते हैं। 

बाबा के अधिकतर अनुयायी नाम चर्चा घर में एकत्र होते हैं। हालांकि बाबा पर अदालत का फैसला आने से पहले ही प्रशासन ने इस घर की निगरानी और सुरक्षा बढ़ा दी थी। प्रशासनिक सक्रियता का ही नतीजा था कि बृहस्पतिवार को चर्चा घर में ताला जड़ दिया गया। 

शुक्रवार को फैसला होने के बाप्तद भी बाबा के अनुयायियों ने यहां इकट्ठा होने की हिम्मत नहीं की थी। प्रदेश में जगह जगह हुई हिंसा में करोड़ों रुपये की सार्वजनिक संपत्ति तबाह हो गई। हाईकोर्ट ने इस नुकसान की भरपाई के लिए डेरा की संपत्ति जब्त करने का आदेश दिया था। आदेश के बाद प्रशासनिक अधिकारी नाम चर्चा घर के दस्तावेज खंगाल रहे हैं। 

तीनों तहसील में उन जमीनों की खोज की जा रही है जो बाबा राम रहीम या डेरा सच्चा सौदा के नाम से खरीदी गई हैं। एक प्रशासनिक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि डेरे से संबंधित संपत्तियों का रिकॉर्ड तैयार कर शासन को भेजा जाएगा।

You May Also Like

English News