भारी बारिश का कहर: वॉटर लॉगिंग की वजह से आम जन-जीवन बुरी तरह से प्रभावित….

मुंबई और थाणे समेत महाराष्ट्र के कई इलाकों में कुछ दिनों से लगातार हो रही भारी बारिश जारी है। इसकी वजह से महाराष्ट्र के हिंदमाता में वॉटर लॉगिंग की वजह से आम जन-जीवन बुरी तरह प्रभावित हो गया है।भारी बारिश का कहर: वॉटर लॉगिंग की वजह से आम जन-जीवन बुरी तरह से प्रभावित....Big Breaking: महिला की हत्या, नग्न शव बोरे में पड़ा मिला, नहीं हो सकी पहचान!

बांद्रा रेलवे स्टेशन पर भारी बारिश की वजह से सिग्नल फेल हो गया, जिससे 15 मिनट तक लोकल ट्रेनें प्रभावित रहीं। भारी बारिश की वजह से मुंबई में हाई टाइड और पूरे महाराष्ट्र में भारी से भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। वहीं उत्तरी कोंकन क्षेत्र को विशेष तौर पर हाई अलर्ट पर रखा गया है।

मौसम वैज्ञानिक मानते हैं कि 26 जुलाई 2015 के बाद से मुंबई में जन-जीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है। कई इलाकों में बाढ़ की स्थिति ने मुंबई की कमर तोड़ दी है। सड़कों पर ट्रैफिक जाम और कारों की लंबी कतारों ने इंडस्ट्रियल कैपिटल को रेंगने पर मजबूर कर दिया है। मौसम वैज्ञानिकों का मानना है कि अगले 48 घंटे तक सामान्य बारिश के आसार हैं जबकि 24 घंटे तक भारी बारिश जारी रहेगी।

मुंबई में शाम 4.35 पर 3.32 मीटर की ऊंची लहरों की संभावना है। 27 अगस्त को मुंबई 60 मिलीमीटर तक भारी बारिश का गवाह बना। स्काईमेट वेदर के मुताबिक पिछले दिन इस क्षेत्र में 2 से तीन डिजिट तक भारी बारिश रिकॉर्ड की गई।

सोमवार की सुबह 8.30 बजे कोलाबा में सबसे ज्यादा 152 MM बारिश दर्ज की गई। वहीं सांताक्रूज में 152MM और अलीबाग में 161 MM बारिश दर्ज की गई। ये भारी बारिश मारठवाड़ा के क्षेत्र में चक्रवाती मानसून की वजह से हो रही है।

You May Also Like

English News