ICICI बैंक का मुनाफा 45 फीसदी घटा…  

निजी क्षेत्र के आईसीआईसीआई बैंक का 31 मार्च को समाप्त हुई तिमाही में समेकित शुद्ध लाभ 45 फीसदी घटकर 1,142 करोड़ रुपये रहा। वित्त वर्ष 2016-17 की समान तिमाही में बैंक को 2,083 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था।ICICI बैंक का मुनाफा 45 फीसदी घटा...  

 आलोच्य अवधि में बैंक का एकल आधार पर लाभ 50 फीसदी की गिरावट के साथ 1,020 करोड़ रुपये रहा, जबकि पिछले साल की समान तिमाही में यह आंकड़ा 2,025 करोड़ रुपये रहा था। यह परिणाम ऐसे समय आया है जब बैंक कई तरह के विवादों में है।

चंदा कोचर के परिवार पर आरोप
आईसीआईसीआई बैंक की ओर से कुछ कंपनियों को कर्ज देने के मामले में अनियमितता बरतने के आरोपों के बाद यह नतीजे आए हैं। आरोप है कि ऐसे कर्ज के बदले बैंक की मुख्य कार्यकारी अधिकारी चंदा कोचर के परिवार के सदस्यों को वित्तीय लाभ प्राप्त पहुंचाए गए हैं। पूरे वित्त वर्ष (2017-18) के लिए बैंक का एकल शुद्ध लाभ 31 प्रतिशत गिरकर 2016-17 में 9,801.09 करोड़ रुपये से 2017-18 में 6,777 करोड़ रुपये रह गया। वहीं, उसकी कुल आय मामूली गिरकर 2017-18 में 72,386 करोड़ रुपये रह गई, जो कि 2016-17 में 73,661 करोड़ रुपये थी। 

बैंक बोर्ड में नहीं हुई चर्चा
बैंक के बोर्ड की आज हुई बैठक में सीईओ चंद्रा कोचर को लेकर विवाद पर कोई चर्चा नहीं हुई। उन पर वीडियोकॉन ग्रुप को दिए गए कर्ज को लेकर फेवर करने का अारोप है। बैठक के बाद बैंक के सालाना परिणाम जारी करने के दौरान सवालों पर कोचर ने कहा कि इस विषय पर बोर्ड में कोई चर्चा नहीं हुई। उनके अनुसार इस मामले में बोर्ड अपना पक्ष पहले ही साफ कर चुका है। 

बोर्ड अभी भी उनके साथ 
वीडियोकॉन लोन विवाद के बारे पर पूछने पर उन्होंने कहा कि वह अपने 28 मार्च के बयान पर कायम हैं और बैंक के बोर्ड को उन पर पूरा भरोसा है। उन्होंने कहा कि बैंक अपना पक्ष रख चुका है और उनके पास इसके अलावा बताने के लिए और कुछ नहीं है। यह बात उन्होंने बैंक के वार्षिक परिणाम जारी करते हुए कही। 

 

You May Also Like

English News