ये रहे धोनी के ‘घर’ में टीम इंडिया की हार के कारण

चौथे वनडे में न्यूजीलैंड ने टीम इंडिया को 19 रनों से हराकर पांच मैचों की सीरीज में 2-2 से बराबरी कर ली। पहले बल्लेबाजी करते हुए न्यजीलैंड ने सात विकेट खोकर 260 रन बनाए जिसके जवाब में भारत की पूरी टीम 48.4 ओवर में 241 रन पर ढेर हो गई। धोनी के घर में टीम इंडिया को पहली बार हार का सामन करना पड़ा। भारत का कोई भी बल्लेबाज बड़ी पारी नहीं खेल पाया। अजिंक्य रहाणे ने सबसे अधिक 57 रन बनाए जबकि विराट कोहली के बल्ले से 45 रन आए। अपने होम ग्राउंड पर धोनी सिर्फ 11 रन ही बना सके। आइए, जानते हैं क्या रहे भारत की हार के कारण:—

ये रहे धोनी के 'घर' में टीम इंडिया की हार के कारणफेंकी 13 वाइड गेंद

भारतीय गेंदबाजों ने मैच में कुल 13 वाइड गेंदें फेंकीं। हार्दिक पांड्या ने अपने पांच ओवर के छोटे स्पेल में कुल 8 गेंदें बल्लेबाज से दूर फेंकी। अपने 30 गेंद पर उन्होंने 1 विकेट लेकर 31 रन दिए। भारत यह मुकाबला 19 रन से हारा जिसमें से अगर 13 वाइड रन को हटा दें तो न्यूजीलैंड का स्कोर शायद और कम हो सकता था।

फिर नहीं चले रोहित शर्मा

पूरी सीरीज में रोहित शर्मा का बल्ला नहीं चला है। उन्होंने अब तक चार मैचों में केवल 53 रन बनाए हैं। चारों वनडे में उन्होंने शॉट तो खेले, गेंद उनके बल्ले पर आ जरूर रहे हें लेकिन हर बार अपने स्कोर को आगे बढ़ाने में नाकामयाब रहे हैं। रोहित के आउट होते ही एक बार फिर सलामी जोड़ी बड़ा स्कोर टीम को नहीं दे पाई।

ये भी पढ़े:> न्यूजीलैंड ने बनाए 260 रन, भारत के लिए आसान होगा लक्ष्य?

कोहली पर निर्भर हुई टीम

टीम इंडिया एक बार सचिन तेंदुलकर के युग में पहुंच गई है। एक समय था जब सचिन के बल्ले से रन नहीं निकलते थे तो टीम हार ही जाया करती थी। टीम इंडिया का हाल एक बार फिर वैसा ही होता जा रहा है। विराट कोहली 45 रन पर आउट हुए और उनके आउट होते ही मिडिल ऑर्डर लडख़ड़ा गई और फिर अनुभवहीन मध्यक्रम के बल्लेबाज अपने विकेट गंवाते चले गए।

मध्यक्रम ने किया निराश

भारतीय टीम ने 98 रन पर अपना दूसरा विकेट खोया था। कोहली के आउट होने के बाद 69 रन पर भारत के 6 बल्लेबाज पवेलियन लौट गए। मध्यक्रम में कोई भी बल्लेबाज अपने विकेट की कीमत नहीं समझ पाया और गैर जरूरी शॉट खेल अपने विकेट गंवाता रहा। मनीष पांडे और केदार जाधव टिम साउदी के लगातार गेंदों पर आउट हो गए जिससे भारत के पुछल्ले बल्लेबाजों पर अतरिक्त दबाव आया।

घर में फ्लॉप हुए धोनी

रांची के दर्शकों को धोनी ने निराशा किया। कप्तान धोनी ने पर्याप्त समय क्रीज पर बिताया। इस बीच 31 गेंदें भी खेलीं लेकिन एक बार भी उसे सीमा रेखा तक नहीं पहुंचा पाए और 11 रन बनाकर जेम्स नीशाम की गेंद पर बोल्ड हो गए। नीशाम ने अपने पिछले ओवर में रहाणे को पगबाधा आउट किया था और धोनी के अपने घरेलू मैदान पर पहली बार अंतरराष्ट्रीय मैच में आउट होने से भारत बैकफुट पर चला गया।

 
 

You May Also Like

English News