INDvsENG: करुण नायर पर टीम इंडिया प्रबंधन का दांव कितना चलेगा?

टीम इंडिया को इंग्लैंड दौरे में पांच टेस्ट मैचों की सीरीज के दौरान शर्मिंदगी उठानी पड़ी जब पहले टेस्ट मैच में 31 रनों की नजदीकी हार के बाद दूसरे टेस्ट मैच में पारी और 159 रनों की करारी हार का सामना करना पड़ा. इसकी वजह से टीम इंडिया की चारों तरफ से आलोचना हो रही है. खास तौर पर टीम इंडिया की बल्लेबाजी निशाने पर है. दो टेस्ट में शीर्ष क्रम बुरी तरह से लड़खड़ाया और पहले टेस्ट में नाकाम रहे शिखर धवन को हटाने का कोई फायदा नहीं हुआ. अब टीम प्रबंधन के सामने एक बार फिर प्लेइंग इलेवन चुनने की चुनौती हैं, क्योंकि शिखर धवन, मुरली विजय, अजिंक्य रहाणे, चेतेश्वर पुजारा, केएल राहुल दिनेश कार्तिक और दूसरे टेस्ट में विराट कोहली की नाकामी के चलते अब विकल्प भी सीमित हैं. अब यह कयास भी लगाए जा रहे हैं कि ऋषभ पंत और करुण नायर को भी मौके मिलने चाहिए. 

दूसरे टेस्ट में तो बुरी तरह नाकाम रही टीम इंडिया
पांच टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले टेस्ट में टीम इंडिया 194 रनों के लक्ष्य का पीछा नहीं कर सकी थी और 31 रनों से हार गई थी. इस मैच में विराट कोहली ने पहली पारी में दो जीवनदान के सहारे 149 रन और दूसरी पारी में 51 रनों की पारी खेली थी जबकि बाकी पूरी टीम नाकाम ही साबित हुई. इसके बाद लॉर्ड्स टेस्ट में तो  टीम का और भी बुरा हाल हो गया था. इस मैच की पहली पारी में टीम इंडिया 107 रनों पर ढेर हो गई थी. और उसके बाद दूसरी पारी में भी केवल 130 रन ही बना सकी, जिससे उसे पारी और 159 रनों की शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा. 

मुरली विजय लॉर्ड्स की दोनों पारियों में शून्य पर आउट होने का रिकॉर्ड बना बैठे, वहीं केएल राहुल ने 4 पारियों में सिर्फ 35 रन बनाए. दिनेश कार्तिक 4 पारियों में 21 और अजिंक्य रहाणे 48 रन बना पाए, तो मॉडर्न वॉल के नाम से मशहूर चेतेश्वर पुजारा दो पारियों में सिर्फ 18 रन बना पाए. अब तो यह सवाल भी उठने लगे हैं कि अगर बदलाव भी किए गए तो नए खिलाड़ी कितना चल पाएंगे. 

करुण का मौजूदा फॉर्म दिला सकता है टीम में जगह लेकिन…
करुण नायर को मौका मिलने की संभावना है. वह इस समय में अच्छे फॉर्म में भी हैं. करुण ने अपने करियर की शुरुआत इंग्लैंड के खिलाफ ही नवंबर, 2016 में की थी. इस सीरीज में करुण ने नाबाद 303 रनों की रिकॉर्ड पारी खेली थी, लेकिन उसके बाद वे कुछ खास नहीं कर पाए और टीम से बाहर हो गए. अब देखना होगा कि उन्होंने इस दौरान खुद में कितना सुधार किया है और वे कितने सफल हो पाते हैं…

You May Also Like

English News