INDvsENG: जानिए, क्या थे लॉर्ड्स टेस्ट में टीम इंडिया की हार के 5 कारण

टीम इंडिया की इंग्लैंड के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों की सीरीज के दूसरे टेस्ट में टीम इंडिया की बुरी हार में भारत की की खामियां निकल कर सामने आईं और भारत को मैच के चौथे दिन ही एक पारी और 159 रनों से हार का सामना करना पड़ा. इस मैच में इंग्लैंड के गेंदबाजों  ने हालात और मौसम का बखूबी फायदा उठाया और टीम इंडिया को पहली पारी में केवल 107 रनों पर समेट दिया. इसके बाद केवल 89 रनों पर ही चार अहम विकेट गंवाने के बाद इंग्लैंड ने वापसी की और 131 रनों पर पांच विकेट गंवाने के बाद इंग्लैंड ने 7 विकेट खोकर 396 रन बना डाले और 289 रनों की अहम बढ़त ले ली. इसके जवाब में टीम इंडिया केवल 130 रनों पर सिमट गई और भारत को बड़ी हार की शर्मिंदगी उठानी पड़ी. 

1 भारतीय बल्लेबाजी की नाकामी
इस मैच में टीम इंडिया की बल्लेबाजी खासतौर पर शीर्ष क्रम खासा नाकाम रहा. पहला दिन बारिश में धुलने के बाद दूसरे दिन जो रूट ने टॉस जीत कर पहले गेंदबाजी करने का जैसे ही फैसला लिया. साफ जाहिर हो गया था कि टीम इंडिया के लिए यह टेस्ट  आसान नहीं होने वाले, लेकिन जो जुझारूपन दिखाने की टीम इंडिया को दरकार थी. वह पूरी तरह से गायब दिखा. नतीजा यह हुआ कि इंग्लैंड कंडीशंस को फायदा उठाने में कामयाब रहा और एंडरसन के पांच विकेट की वजह से पहली पारी में टीम इंडिया केवल 107 रनों पर ढेर हो गई.  

2 भारतीय गेंदबाजों की नाकामी
पहली पारी में इंग्लैंड के गेंदबाजों ने जहां हालात और मौसम का फायदा उठाया लेकिन ऐसा भारत के गेंदबाज बिलकुल नहीं कर सके. तीसरे दिन के पहले सत्र में जरूर भारतीय गेंदबाजों ने लंच से पहले चार अहम विकेट गिरा दिए, लेकिन वे इंग्लैंड के बल्लेबाजों पर दबाव बनाने में पूरी तरह से नाकाम रहे. लंच से पहले चार विकेट गिरते गिरते 89 बन गए. उसके बाद बेयरस्टॉ और क्रिस वोक्स की 189 रनों की साझेदारी ने भारतीय गेंदबाजों की कलई खोल दी. आलम ये रहा कि दूसरे और तीसरे सत्र में टीम इंडिया के बल्लेबाज विकेट के लिए तरसते नजर आए. नतीजा यही हुआ कि तीसरे दिन के अंत तक इंग्लैंड का स्कोर 357 रन हुआ. चौथे दिन पहले 7.1 ओवर खेलकर इंग्लैंड ने 396 रनों का पहाड़ खड़ा कर दिया. टीम इंडिया बेशक इंग्लैंड के हालातों का फायदा उठाने में पूरी तरह से नाकाम रही. 

3 एंडरसन और ब्रॉड की घातक गेंदबाजी
टीम इंडिया की हार में इंग्लैंड के गेंदबाजी की खासी भूमिका रही. इंग्लिश गेंदबाजों ने मैच के दूसरे दिन मौसम और पिच के मिजाज का भऱपूर फायदा उठाया और एंडरसन ने पांच विकेट लेते हुए भारत को 107 रनों पर आउट कर दिया. इसके बाद दूसरी पारी में भी एंडरसन ने पहले दो विकेट लिए. उसके बाद स्टुअर्ट ब्रॉड ने विराट कोहली को आउट करते हुए कुल चार विकेट लेकर टीम इंडिया का स्कोर 66 पर 6 कर दिया. 

4 विराट कोहली की बल्लेबाजी और कप्तानी में नाकामी
इस मैच में विराट कोहली की बल्लेबाजी सहित कप्तानी में भी खासी नाकामी नजर आई. विराट पहली पारी में 23 रन और दूसरी पारी में  17 रन बनाकर आउट हुए. पहले मैच में विराट ने जबरदस्त फॉर्म दिखाते हुए दोनों पारियों में कुल 200 रन बनाए थे. लेकिन लॉर्ड्स में वे केवल 40 रन बना सके. इसके अलावा विराट कप्तानी के मोर्चे पर भी खासे नाकाम रहे. गेंदबाजी में परिवर्तन, कुलदीप को खिलाने का दावं, अश्विन का गेंदबाजी में सही इस्तेमाल न कर पाना भी विराट की कप्तानी में बड़ी नाकामी रहा. 

5 वोक्स- बेयरस्टॉ की 189 रनों की साझेदारी
इस मैच में जहां गेंदबाजी की चर्चा होती रही और गेंदबाजी हावी भी रही. वहीं जॉनी बेयरस्टॉ और क्रिस वोक्स की 189 रनों की साझेदारी ने टीम इंडिया की गेंदबाजी की कमर तोड़ते हुए मैच में भारत की वापसी नामुमकिन कर दी. लंच के समय इंग्लैंड का स्कोर 89 रनों पर 4 विकेट था. उसके बाद जब 131 रनों पर 5 विकेट गिर गए थे, तब क्रिस वोक्स और बेयरस्टॉ ने 189 रनों की साझेदारी की जिसमें वोक्स का शतक शामिल था. 320 रनों के बाद जब बेयरस्टॉ 93 रनों पर आउट हुए. उसके बाद वोक्स 137 रन बनाकर नाबाद वापस लौटे.

You May Also Like

English News