INDvsSA: टीम इंडिया के ये हैं वो खिलाड़ी, जिन्होंने भारत को दिलाई ऐतिहासिक जीत

टीम इंडिया ने पोर्ट एलिजाबेथ में मंगलवार को पांचवें वन-डे में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वह कामयाबी हासिल कर ही ली, जिसका इंतजार 26 साल से किया जा रहा था। विराट कोहली के नेतृत्व वाली टीम ने 6 मैचों की वन-डे सीरीज को 4-1 से अपने नाम किया और इसी के साथ प्रोटियाज के घर में पहली सीरीज जीती हासिल की। INDvsSA: टीम इंडिया के ये हैं वो खिलाड़ी, जिन्होंने भारत को दिलाई ऐतिहासिक जीत

इस पूरे दौरे पर बार-बार अपने बल्ले से फेल रहे रोहित शर्मा ने पांचवें वन-डे में शानदार 115 रन की पारी खेली। उन्होंने अपनी इस पारी में 11 चौके और 4 छक्के लगाए। उनके इस शानदार प्रदर्शन की बदौलत टीम इंडिया ने निर्धारित 50 ओवर में द. अफ्रीका के सामने 275 रन का लक्ष्य रखा। इस लक्ष्य का पीछा करने उतरी प्रोटियाज टीम महज 201 पर ही ढेर गई और भारत इस मैच को 73 रन से जीतने में कामयाब रहा। रोहित को उनकी इस पारी के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया। 

हार्दिक पांड्या भले ही इस पूरे वन-डे सीरीज में अपने बल्ले से कोई कमाल करने में कामयाब न रहे हों लेकिन इस मैच में उन्होंने न सिर्फ अपनी घातक गेंदबाजी बल्कि फील्डिंग से भी गजब का प्रदर्शन किया। इस मैच में उन्होंने द. अफ्रीका के दो सबसे अहम विकेट लेकर उनकी बैटिंग ऑर्डर की कमर ही तोड़ दी। 

पांड्या ने पहले जेपी डुमिनी और फिर एबी डीविलियर्स को विकेट के पीछे धोनी के हाथों आउट किया। इसके बाद मिड ऑन फील्डिंग करते हुए उन्होंने खतरनाक दिख रहे हाशिम अमला को भी रन आउट किया। यह रन आउट इस मैच का टर्निंग पॉइंट भी रहा। 

चौथे वन-डे में सबसे महंगे गेदबाज रहे कुलदीप यादव ने इस मैच में जबरदस्त वापसी की और 4 विकेट अपने नाम किए। उन्होंने इस अहम मुकाबले में 10 ओवर में 57 रन देकर 4 अहम शिकार किए। उन्होंने जोहानसबर्ग मैच के हीरो रहे हेनरिच क्लासेन और एंडिले फेहलुकवायो को अपना शिकार बनाया। इसके अलावा उन्होंने रबाडा और शम्सी को भी अपनी फिरकी में फंसाया।  

कुलदीप की तरह ही युजवेंद्र चहल ने इस मैच में कमाल की गेंदबाजी की और 9.2 ओवर में 43 रन देकर दो अफ्रीकी बल्लेबाजों को अपना शिकार बनाया। इस मैच में उन्होंने सबसे पहले डेविड मिलर को चकमा देकर क्लीन बोल्ड किया और फिर मॉर्ने मॉर्कल को LBW आउट किया। इसके अलावा उन्होंने एक जबरदस्त कैच भी पकड़ा।   

टीम इंडिया जब मैदान पर 275 रन के लक्ष्य को बचाने के लिए उतरी तो उसके सामने सबसे बड़ी चुनौती थी, द. अफ्रीकी को जल्द से शुरुआती झटका दिया जाए। कोहली और टीम के लिए यह काम जसप्रीत बुमराह ने किया। उन्होंने अफ्रीकी कप्तान एडेन मार्करमको 32 रन के निजी स्कोर पर मिड ऑफ पर कोहली के हाथों कैच आउट किया। इस तरह अफ्रीकी किले में भेद लगाने का काम बुमराह ने किया। 

You May Also Like

English News