IPL10: पुणे से मिली करारी हार के बाद कप्तान मैक्सवेल पर इस तरह जमकर बरसे सहवाग, और फिर कहा…

नई दिल्ली। महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम में रविवार को खेले गए मैच में किंग्स इलेवन पंजाब को राइजिंग पुणे सुपरजायंट के हाथों काफी करारी हार का सामना करना पड़ा जिसके बाद पंजाब के कोच वीरेंद्र सहवाग टीम के कप्तान ग्लेन मैक्सवेल भड़क पड़े। सहवाग ने हार के बाद मैक्सवेल को खूब खरी-खोटी सुनाई।IPL10: पुणे से मिली करारी हार के बाद कप्तान मैक्सवेल पर इस तरह जमकर बरसे सहवाग, और फिर कहा...

ग्लेन मैक्सवेल के अलावा मार्श और मॉर्गन पर भी भड़के सहवाग

बताते चलें, आईपीएल सीजन 10 में राइजिंग पुणे सुपरजायंट व किंग्स इलेवन पंजाब के बीच यह आखिरी लीग मैच था जिसमें पंजाब की पूरी-की-पूरी टीम मात्र 73 रन बनाकर ऑल-आउट हो गई इसलिए पंजाब के कोच सहवाग का गुस्सा ग्लेन मैक्सवेल पर फूट पड़ा।

यहीं नहीं, सहवाग दो और विदेशी खिलाड़ियों पर भी जमकर बरसे। मैक्सवेल के अलावा सहवाग ने शॉन मार्श और इयॉन मॉर्गन को भी खूब लताड़ा। पंजाब इस आखिरी लीग मैच में पुणे से 9 विकेट से हार गया जिसके बाद सहवाग ने अपने गुस्से का गुब्बारा इन तीन खिलाड़ियों पर फोड़ दिया। 

दोनों टीमें प्लेऑफ क्लियर करने के लिए यह मैच खेल रही थीं। आलम यह था कि जो भी टीम यह मैच जीतेगी, वही टीम प्लेऑफ क्वालीफाइ करने वाली चौथी टीम बन जाएगी इसलिए दोनों टीमों के लिए यह मैच बेहद अहम था। सहवाग ने पंजाब की इस हार पर कहा कि जब टीम के कप्तान यानी मैक्सवेल हर फॉर्मेट में क्रिकेट खेलते हैं तो उन्हें इस तरह की स्थिति से बखूबी निपटना आना चाहिए लेकिन बतौर कप्तान उन्होंने यह जिम्मेदारी नहीं ली।

पुणे के खिलाफ रविवार को हुए इस मैच से मैक्सवेल को बहुत उम्मीदें थी लेकिन स्टीव स्मिथ के धुरंधरों ने मैक्सवेल की उम्मीदों पर पानी फेरते हुए यह मैच अपने नाम कर लिया और साथ ही प्लेऑफ के लिए क्वालीफाइ भी कर लिया। वहीं, सहवाग ने सिर्फ मैक्सवेल पर ही बम नहीं फोड़ा बल्कि उन्होंने  शॉन मार्श और इयॉन मॉर्गन को भी अपना निशाना बनाया।

सहवाग ने कहा कि पंजाब की टीम में शॉन मार्श और इयॉन मॉर्गन सीनियर खिलाड़ी हैं तो इस हिसाब से इन्हें आगे आकर मोर्चा संभालना चाहिए और टीम को और मजबूत करना चाहिए लेकिन इन तीनों खिलाड़ियों ने ऐसा नहीं करके अपनी जिम्मेदारियों से मुंह मोड़ लिया। सहवाग ने आगे कहा कि इन खिलाड़ियों को कम से कम 12 से 14 ओवर तक विकेट पर टिके रहना चाहिए था और टीम के लिए अच्छा स्कोर बनाना चाहिए था लेकिन वो ऐसा नहीं कर पाएं।

 

You May Also Like

English News