IPL11: करिश्माई कप्तान एमएस धोनी ने बराबर किया रोहित शर्मा का यह रिकॉर्ड

करिश्माई कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपर किंग्स ने आईपीएल सीजन 11 के फाइनल मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद को 8 विकेट से मात देकर तीसरी बार आईपीएल की ट्रॉफी पर अपना कब्जा जमाया है.करिश्माई कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपर किंग्स ने आईपीएल सीजन 11 के फाइनल मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद को 8 विकेट से मात देकर तीसरी बार आईपीएल की ट्रॉफी पर अपना कब्जा जमाया है.  इसी के साथ ही महेंद्र सिंह धोनी रोहित शर्मा के खास क्लब में शामिल हो गए हैं. दरअसल, रोहित शर्मा की कप्तानी वाली मुंबई इंडियंस के नाम तीन बार आईपीएल खिताब जीतने का रिकॉर्ड दर्ज है.  मुंबई इंडियंस ने साल 2013, 2015 और 2017 का आईपीएल खिताब अपने नाम किया था और ये तीनों ही खिताब उसे रोहित शर्मा की कप्तानी में मिले हैं.  रोहित के बाद अब धोनी ने भी चेन्नई सुपर किंग्स को तीन बार आईपीएल चैंपियन बना दिया है.  इससे पहले चेन्नई सुपर किंग्स ने महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में साल  2010 और 2011 का खिताब अपने नाम किया था, लेकिन दो साल के प्रतिबंध के बाद वापसी करने वाली चेन्नई को धोनी ने उसी पुराने अंदाज में संवारते हुए IPL सीजन 11 का चैंपियन बना दिया.  IPL चैंपियन चेन्नई सुपर किंग्स को मिले 20 करोड़, हारकर हैदराबाद को मिले इतने रुपये  कौन कितनी बार बना आईपीएल चैंपियन  1. चेन्नई सुपर किंग्स - 3 बार (2010, 2011 और 2018) कप्तान महेंद्र सिंह धोनी  2. मुंबई इंडियंस - 3 बार (2013, 2015 और 2017) कप्तान रोहित शर्मा  3. कोलकाता नाइट राइडर्स - 2 बार (2012 और 2014) कप्तान गौतम गंभीर  4. सनराइजर्स हैदराबाद - 1 बार (2016) कप्तान डेविड वॉर्नर  5. डेक्कन चार्जर्स - 1 बार (2009) कप्तान एडम गिलक्रिस्ट  6. राजस्थान रॉयल्स - 1 बार (2008) कप्तान शेन वॉर्न  फाइनल में CSK ने ऐसे मारी बाजी  इस खिताबी मुकाबले में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी सनराइजर्स हैदराबाद की टीम ने 20 ओवर में 6 विकेट गंवा कर 178 रन बनाए और चेन्नई सुपर किंग्स के सामने 179 रनों की चुनौती रखी. जवाब में चेन्नई सुपर किंग्स ने शेन वॉटसन के तूफानी शतक की बदौलत 9 गेंदें शेष रहते 181 रन बनाते हुए तीसरी बार आईपीएल ट्रॉफी पर कब्जा कर लिया. फाइनल में शेन वॉटसन ने 51 गेंदों में शतक ठोककर चेन्नई के लिए जीत आसान कर दी.  शेन वॉटसन के 57 गेंदों में नाबाद 117 रन जड़ते हुए चेन्नई सुपर किंग्स को तीसरी बार आईपीएल का विजेता बना दिया. वॉटसन की बेहतरीन पारी की बदौलत चेन्नई ने IPL11 के फाइनल में सनराइजर्स हैदराबाद को हरा उसके दूसरे खिताब जीतने के सपने को तोड़ दिया. यह चेन्नई का सातवां आईपीएल फाइनल था और उसके कप्तान धोनी का आठवां. चेन्नई का नाम आईपीएल इतिहास की सबसे सफल टीमों में गिना जाता है क्योंकि उसने नौ सीजन खेले हैं और सभी बार प्लेऑफ में जगह बनाई.

इसी के साथ ही महेंद्र सिंह धोनी रोहित शर्मा के खास क्लब में शामिल हो गए हैं. दरअसल, रोहित शर्मा की कप्तानी वाली मुंबई इंडियंस के नाम तीन बार आईपीएल खिताब जीतने का रिकॉर्ड दर्ज है.

मुंबई इंडियंस ने साल 2013, 2015 और 2017 का आईपीएल खिताब अपने नाम किया था और ये तीनों ही खिताब उसे रोहित शर्मा की कप्तानी में मिले हैं.  रोहित के बाद अब धोनी ने भी चेन्नई सुपर किंग्स को तीन बार आईपीएल चैंपियन बना दिया है.

इससे पहले चेन्नई सुपर किंग्स ने महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में साल  2010 और 2011 का खिताब अपने नाम किया था, लेकिन दो साल के प्रतिबंध के बाद वापसी करने वाली चेन्नई को धोनी ने उसी पुराने अंदाज में संवारते हुए IPL सीजन 11 का चैंपियन बना दिया.

कौन कितनी बार बना आईपीएल चैंपियन

1. चेन्नई सुपर किंग्स – 3 बार (2010, 2011 और 2018) कप्तान महेंद्र सिंह धोनी

2. मुंबई इंडियंस – 3 बार (2013, 2015 और 2017) कप्तान रोहित शर्मा

3. कोलकाता नाइट राइडर्स – 2 बार (2012 और 2014) कप्तान गौतम गंभीर

4. सनराइजर्स हैदराबाद – 1 बार (2016) कप्तान डेविड वॉर्नर

5. डेक्कन चार्जर्स – 1 बार (2009) कप्तान एडम गिलक्रिस्ट

6. राजस्थान रॉयल्स – 1 बार (2008) कप्तान शेन वॉर्न

फाइनल में CSK ने ऐसे मारी बाजी

इस खिताबी मुकाबले में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी सनराइजर्स हैदराबाद की टीम ने 20 ओवर में 6 विकेट गंवा कर 178 रन बनाए और चेन्नई सुपर किंग्स के सामने 179 रनों की चुनौती रखी. जवाब में चेन्नई सुपर किंग्स ने शेन वॉटसन के तूफानी शतक की बदौलत 9 गेंदें शेष रहते 181 रन बनाते हुए तीसरी बार आईपीएल ट्रॉफी पर कब्जा कर लिया. फाइनल में शेन वॉटसन ने 51 गेंदों में शतक ठोककर चेन्नई के लिए जीत आसान कर दी.

शेन वॉटसन के 57 गेंदों में नाबाद 117 रन जड़ते हुए चेन्नई सुपर किंग्स को तीसरी बार आईपीएल का विजेता बना दिया. वॉटसन की बेहतरीन पारी की बदौलत चेन्नई ने IPL11 के फाइनल में सनराइजर्स हैदराबाद को हरा उसके दूसरे खिताब जीतने के सपने को तोड़ दिया. यह चेन्नई का सातवां आईपीएल फाइनल था और उसके कप्तान धोनी का आठवां. चेन्नई का नाम आईपीएल इतिहास की सबसे सफल टीमों में गिना जाता है क्योंकि उसने नौ सीजन खेले हैं और सभी बार प्लेऑफ में जगह बनाई.

You May Also Like

English News