ISI के कहने पर किया गया था जाधव का अपहरण : कदीर

 पाकिस्तान की जेल में कैद भारतीय कुलभूषण जाधव मामले में सक्रीय बलूच कार्यकर्त्ता मामा कदीर ने नया खुलासा किया है. मामा कदीर के मुताबिक जाधव को ईरान के चाबहार से पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI (इंटर सर्विसेज इंटेलीजेंस) के कहने पर अगवा किया गया था. कदीर वॉइस फॉर मिसिंग बलूच्स नामक संगठन के उपाध्यक्ष हैं और उन्हें यही से इस बात की जानकारी मिली है.ISI के कहने पर किया गया था जाधव का अपहरण : कदीर

कदीर ने एक न्यूज चैनल की ओर से प्रसारित अपने इंटरव्यू में दावा करते हुए कहा कि ISI के लिए काम करने वाले मुल्ला उमर बलूच ईरानी ने ही जाधव का अपहरण किया. मुल्ला उमर पूरे बलूचिस्तान में ISI के कुख्यात एजेंट के रूप में जाना जाता है ओर वह पाकिस्तान की सरकार के खिलाफ बोलने वालों को अगवा करने के लिए मशहूर है. 

अपने इंटरव्यू के दौरान कदीर ने कहा कि –  ‘‘हमारे संयोजक वहां मौजूद थे. जाधव का अपहरण करने के लिए आईएसआई की ओर से मुल्ला उमर को करोड़ों रुपये दिए गए थे.’’ जाधव को अगवा कर एक डबल डोर बाली कार में बैठाकर ले जाया गया. जाधव के हाथ पैर बाँध कर और आँखों पर काली पट्टी बाँध कर उन्हें ईरान से मशकेल ले जाय गया. मशकेल शहर बलूच और ईरान की सीमा पर स्थित है. मशकेल से फिर जाधव को बलूचिस्तान की राजधानी क्वेटा लाया गया और फिर यहाँ से उसे इस्लाबाद ले जाया गया.

You May Also Like

English News