ISRO ने बनाया ये बड़ा इतिहास, एक साथ लॉन्च किए इतने सारे सैटलाइट्स…

नई दिल्ली। भारत अंतरिक्ष संगठन इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गनाइजेशन (ISRO) शुक्रवार को एक बड़ा सैटलाइट लॉन्च किया। श्रीहरिकोटा स्थित लॉन्चपैड से कार्टोसैट के साथ 30 नैनो सैटलाइट्स को लॉन्च किया गया। इन सभी 31 सैटलाइट्स को PSLV-C38 लॉन्च वीइकल से छोड़ा गया। इस लॉन्च के साथ ही इसरो की ओर से कुल स्पेसक्राफ्ट मिशनों की संख्या 90 हो जाएगी। इसरो के सारे स्पेसक्राफ्ट ऑपरेशनल नहीं हुए हैं, लेकिन ये अंतरिक्ष में मौजूद हैं।

ISRO ने बनाया ये बड़ा इतिहास, एक साथ लॉन्च किए इतने सारे सैटलाइट्स...

धरती पर नजर रखने के लिए लॉन्च किए जा रहे 712 किलोग्राम वजनी कार्टोसैट-2 श्रृंखला के इस उपग्रह के साथ करीब 243 किलोग्राम वजनी 30 अन्य सह उपग्रहों को एक साथ प्रक्षेपित किया जायेगा। सभी उपग्रहों का कुल वजन करीब 955 किलोग्राम है। साथ भेजे जा रहे इन उपग्रहों में भारत के अलावा ऑस्ट्रिया, बेल्जियम, चिली, चेक गणराज्य, फिनलैंड, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान, ब्रिटेन और अमेरिका समेत 14 देशों के नैनो उपग्रह शामिल हैं।

 

#WATCH: ISRO launches PSLV-C38 rocket on a mission to put 31 satellites into orbit from Sriharikota in Andhra Pradesh

एक बार कक्षा में स्थापित हो जाने के बाद इसरो का मकसद इन सभी सैटलाइट्स को चालू कर देना है। हालांकि, इन अंतरिक्ष यानों को स्पेस में घूम रहे मलबों से टकराने से रोकना एजेंसी की सर्वोच्च प्राथमिकता है। यह मलबा पुराने खराब हो चुके सैटलाइट्स, रॉकेट के हिस्से, अंतरिक्ष यान के विभिन्न चरणों के लॉन्च के दौरान अलग हुए टुकड़े आदि होते हैं। अंतरिक्ष में तैरते ये मलबे बेहद खतरनाक होते हैं क्योंकि इनकी रफ्तार 30 हजार किमी प्रति घंटे तक होती है। कभी-कभी ये इतने छोटे या नुकीले होते हैं, जो सैटलाइट्स, अंतरिक्ष यानों और यहां तक कि स्पेस स्टेशनों तक के लिए बेहद खतरनाक होते हैं।

इन सैटलाइट्स की हिफाजत के लिए इसरो कई जरूरी कदम उठाता है। भारतीय एजेंसी अंतरराष्ट्रीय इंटर एजेंसी स्पेस डेबरीज कोऑर्डिनेशन कमिटी (IADC) का सदस्य है। यह कमिटी मानव निर्मित और प्राकृतिक अंतरिक्ष मलबे को कम करने की दिशा में काम करती है। इसका मकसद एजेंसियों के बीच मलबों से जुड़ी जानकारी का आदान-प्रदान है। इसके अलावा, मलबे की पहचान और इनसे जुड़ी रिसर्च को भी बढ़ावा देना है।

You May Also Like

English News