J-K में जवानों पर FIR: स्वामी ने रक्षामंत्री की चुप्पी पर उठाए सवाल, कहा- पार्टी ले संज्ञान

जम्मू-कश्मीर में सेना के खिलाफ एफआईआर का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. अब केंद्र की सत्ता पर काबिज भारतीय जनता पार्टी के अंदर से ही इस पर सवाल उठाए जाने लगे हैं. बीजेपी से राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने इस मामले में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण को घेरा है.J-K में जवानों पर FIR: स्वामी ने रक्षामंत्री की चुप्पी पर उठाए सवाल, कहा- पार्टी ले संज्ञानदुर्लभ व आनुवंशिक बीमारियों केसे पीड़ित मरीजों के इलाज के लिए 100 करोड़ का फंड बनाएगी सरकार

स्वामी ने इस संबंध में शनिवार सुबह एक ट्वीट किया है. ट्वीट में उन्होंने रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने लिखा है कि जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के विधानसभा में दिए गए बयान का रक्षामंत्री ने खंडन नहीं किया. स्वामी ने लिखा कि इस मसले पर रक्षा मंत्री खामोश हैं, पार्टी को उनकी चुप्पी पर संज्ञान लेना चाहिए.

बात दें कि शोपियां में सेना की गोलीबारी से पत्थरबाजों की मौत के बाद जवानों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. जिसे लेकर बवाल मचा हुआ है. अब सुब्रमण्यम स्वामी ने रक्षा मंत्री पर सवाल उठाए हैं और सीधे तौर पर कहा है कि सेना के खिलाफ केस दर्ज नहीं होना चाहिए था. 

इस घटना के बाद महबूबा ने कहा था कि शोपियां में गोलीबारी में शामिल सेना की एक यूनिट के खिलाफ पुलिस की प्राथमिकी को तार्किक अंत तक ले जाया जाएगा. महबूबा ने घटना को राजनीतिक प्रक्रिया के लिए एक ‘झटका’ बताते हुए कहा कि उन्होंने इसके बारे में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण से बात की है जिन्होंने मामले में जरूरी कार्रवाई करने को कहा है.

उन्होंने कहा था कि यदि किसी सैन्य अधिकारी ने कोई गलती की है, एक प्राथमिकी दर्ज की गई है और यह सरकार का कर्तव्य है कि उसे तार्किक अंत तक पहुंचाए.

You May Also Like

English News