JDU किसी के प्रयास से एलिमिनेट नहीं होगी- नीतीश कुमार

एक कार्यक्रम में बिहार के सीएम सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि उनकी पार्टी को राजनीतिक रूप से एलिमिनेट करने का कुछ लोगों का सपना पूरा नहीं होगा. उन्होंने पार्टी के युवा शाखा के एक कार्यक्रम में कहा कि आज कल राजनीति में बहुत लोगों का प्रयास है कि जनता दल यूनाइटेड को यहाँ से बिहार से एलिमिनेट करा दो, लेकिन चाहे जिस तरह की कोशिश लोग कर लें, वे ऐसा नहीं कर पाएंगे. एक कार्यक्रम में बिहार के सीएम सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि उनकी पार्टी को राजनीतिक रूप से एलिमिनेट करने का कुछ लोगों का सपना पूरा नहीं होगा. उन्होंने पार्टी के युवा शाखा के एक कार्यक्रम में कहा कि आज कल राजनीति में बहुत लोगों का प्रयास है कि जनता दल यूनाइटेड को यहाँ से बिहार से एलिमिनेट करा दो, लेकिन चाहे जिस तरह की कोशिश लोग कर लें, वे ऐसा नहीं कर पाएंगे.     सीएम नीतीश कुमार ने आगे कहा कि जातीय समीकरण में उनका कोई विश्वास नहीं है. लेकिन हार से निश्चित रूप से नीतीश दुखी दिखे. उन्होंने कहा कि बारह साल काम किया और उनका ध्यान न्याय, विकास और इंसाफ़ के साथ तरक़्क़ी पर रहा. नीतीश ने यहाँ मुस्लिम समुदाय के लोगों को विश्वाश दिलाया कि हार के बावजूद वे काम करते रहेंगे. उन्होंने याद दिलाया कि पहले मदरसा के लोगों को वेतन के लिए लाठी खानी पड़ती थी लेकिन अब सरकार का अल्पसंख्यक कल्याण का बजट इस और काम करता है.    यहाँ पर सीएम नीतीश ने युवा शाखा को इस बाबत पूरी तरह से विश्वास दिलाया.  नीतीश ने अपने भाषण के दौरान कहा कि काम के प्रति विश्वास करने वाले लोगों की कमी नहीं है. उन्होंने कहा कि कुछ लोगों को जातीय और सांप्रदायिक आधार पर, ध्रीवीकरण पर विश्वास है, लेकिन बहुत सारे लोग हैं जो इससे दूर रहकर काम के आधार पर वोट करते हैं.

सीएम नीतीश कुमार ने आगे कहा कि जातीय समीकरण में उनका कोई विश्वास नहीं है. लेकिन हार से निश्चित रूप से नीतीश दुखी दिखे. उन्होंने कहा कि बारह साल काम किया और उनका ध्यान न्याय, विकास और इंसाफ़ के साथ तरक़्क़ी पर रहा. नीतीश ने यहाँ मुस्लिम समुदाय के लोगों को विश्वाश दिलाया कि हार के बावजूद वे काम करते रहेंगे. उन्होंने याद दिलाया कि पहले मदरसा के लोगों को वेतन के लिए लाठी खानी पड़ती थी लेकिन अब सरकार का अल्पसंख्यक कल्याण का बजट इस और काम करता है.

यहाँ पर सीएम नीतीश ने युवा शाखा को इस बाबत पूरी तरह से विश्वास दिलाया.  नीतीश ने अपने भाषण के दौरान कहा कि काम के प्रति विश्वास करने वाले लोगों की कमी नहीं है. उन्होंने कहा कि कुछ लोगों को जातीय और सांप्रदायिक आधार पर, ध्रीवीकरण पर विश्वास है, लेकिन बहुत सारे लोग हैं जो इससे दूर रहकर काम के आधार पर वोट करते हैं.

You May Also Like

English News