J&K: गुलमर्ग में हिमस्खलन की चपेट में आने से एक रूसी नागरिक की मौत

उत्तरी कश्मीर के बारामुला जिले के गुलमर्ग में हिमस्खलन में रशियन स्कीइर की मौत हो गई। उसके साथ में गए चार स्कीइर को बचा लिया गया। इलाके में अभी भी हिमस्खलन का खतरा बना हुआ है। कश्मीर का ताज कहलाए जाने वाले और विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल गुलमर्ग के शिन्मोई बाउल में शुक्रवार को भारी हिमस्खलन हुआ। इसमें पांच विदेशी स्कीइर बर्फ में दब गए। घटना की खबर इलाके में फैलते ही गुलमर्ग स्की पेट्रोल, लोकल गाइड और स्नो मोबाइल के सदस्यों द्वारा साझा रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया गया।J&K: गुलमर्ग में हिमस्खलन की चपेट में आने से एक रूसी नागरिक की मौतसभी को बर्फ में से कड़ी मशक्कत के बाद निकाला गया। हादसे में रूस के स्टानिसलेव (31) की मौत हो गई। वहीं चार को सुरक्षित निकाल लिया गया। इसके पहले स्वीडिश स्कीइर की हिमस्खलन में मौत हो चुकी है।

गौरतलब है कि हाल ही में ताजा बर्फबारी के बाद गुलमर्ग में पहले से हिमस्खलन का खतरा जारी किया गया था। प्रशासन के अनुसार अभी भी हिमस्खलन का खतरा है। इसके लिए स्कीयर्स को सतर्क रहने को कहा गया है। 

गौरतलब है कि मौसम विभाग की ओर से गुरुवार शाम को घाटी के ऊंचाई वाले इलाकों में शुक्रवार और शनिवार को बर्फीले तूफान आने की चेतावनी जारी की गई थी। ऐसे में सवाल उठता है कि उसे स्किंग करने की इजाजत कैसे दे दी गई। बता दें कि इससे पहले 18 जनवरी को एक स्वीडिश नागरिक की हिमस्खन के चपेट में आने से मौत हो गई थी।

जबकि 12 फरवरी को कुछ विदेशी पर्यटको को सेना ने बर्फबारी के दौरान बचाया था। गुरुवार शाम को कश्मीर घाटी के ऊंचाई वाले इलाकों में शुक्रवार और शनिवार को हिमस्खलन की चेतावनी जारी की थी।

You May Also Like

English News