J&K: हनुमान मंदिर को सील करने पर गरमाया माहौल, जानें पूरा मामला

जम्मू डेवलपमेंट अथारिटी द्वारा प्राचीन हनुमान मंदिर को सील करने पर त्रिकुटा नगरवासी भड़क उठे। उन्होंने धरना-प्रदर्शन और चक्का जाम कर रोष जताया। इस दौरान बजरंग दल, आरएसएस, विश्व हिंदू परिषद के सदस्यों ने उप मुख्यमंत्री डा. निर्मल सिंह और जेडीए के अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी की। J&K: हनुमान मंदिर को सील करने पर गरमाया माहौल, जानें पूरा मामला

लगभग 300 के करीब कार्यकर्ताओं ने त्रिकुटानगर मंदिर के सामने चक्का जाम किया। इस दौरान दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लग गई। कार्यकर्ताओं ने कहा कि मंदिर को सील नहीं किया जाना चाहिए। जेडीए जल्द से जल्द मंदिर को खोले। मंदिरों में सैकड़ों श्रद्धालु माथा टेकने आते हैं। मंदिर काफी प्राचीन है, जिससे लोगों की भावनाएं आहत हुई हैं। 

मंदिर को खोलो वरना उग्र आंदोलन
बजरंग दल के मुखिया राकेश कुमार ने कहा कि अगर मंदिर को नहीं खोला गया तो उग्र आंदोलन शुरू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जम्मू मंदिरों का शहर है, लेकिन यहां मंदिरों को ही सील किया जा रहा है जोकि चिंताजनक है

वीसी जल्द दें मंदिर खोलने के आदेश
त्रिकुटानगर के रहने वाले पुजारी सर्वेश्वर सिंह ने कहा कि एडीसी अरुण मन्हास मौके पर आ कर मंदिर को खोलने को कहा था। उन्होंने कहा कि जेडीए के वीसी जल्द मंदिर खोलने के आदेश दें। मंदिर के बाहर जेडीए ने अपने पोस्टर भी चिपका दिए है, जिससे भक्तों में आक्रोश है। जेडीए ने मंदिर को सील करने पर तर्क दिया है कि मंदिर अवैध रूप से बनाया गया है। इस कारण इसे सील किया गया है।

मंदिर बंद करने की जांच जारी
एडीसी अरुण मन्हास ने बताया कि मंदिरों को खुलवाया गया है। लोगों ने मंदिर खुलवाने को लेकर धरना प्रदर्शन किया था। मंदिर बंद करने को लेकर जांच की जा रही है।

You May Also Like

English News