J&K: CRPF पर हमले के बाद 400 कमरों के स्कूल में छिपे है आतंकी, अभी भी लोग है डरे..

कश्मीर के श्रीनगर के पंथाचौक के पास आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ जारी है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शनिवार को हुए हमले के बाद आतंकी दिल्ली पब्लिक स्कूल की इमारत में छिपे हैं। आतंकियों से मुठभेड़ में 2 जवानों के घायल होने की भी सूचना है, हालांकि अब तक इसकी पुष्टि नहीं हुई है।J&K: CRPF पर हमले के बाद 400 कमरों के स्कूल में छिपे है आतंकी, अभी भी लोग है डरे..

बदरीनाथ ब्लास्ट: जांच र‌िपोर्ट में हुआ चौंकाने वाला बड़ा खुलासा.. जानिए..

आतंकी जिस स्कूल में छिपे हैं वहां कुल 400 कमरे हैं जिसके चलते सुरक्षाबलों को ये पता लगाने में मुश्किल हो रही है कि छिपे आतंकियों की सटीक लोकेशन कहां है। आतंकियों से ऑपरेशन के दौरान सेना, सीआरपीएफ और जम्मू कश्मीर पुलिस के जवान लगातार गोलाबारी कर रहे हैं।

हालांकि अब तक आतंकियों की ओर से किसी तरह की गोलीबारी की खबर नहीं है। सूत्रों के अनुसार सुरक्षाबल इस बात का प्रयास कर रहे हैं कि आतंकियों की सटीक लोकेशन का पता चल सके जिससे कि ऑपरेशन को पुख्ता तरीके से पूरा किया जा सके।

पंथाचौक में सीआरपीएफ की ROP पर हुआ था हमला

जानकारी के अनुसार श्रीनगर के बाहरी इलाके में स्थित पंथाचौक में आतंकियों द्वारा शाम करीब 6 बजे के आसपास सीआरपीएफ की एक रोड ओपनिंग पार्टी पर हमला किया था। इस हमले में सीआरपीएफ का एक जवान शहीद हुआ जबकि दो अन्य गंभीर रूप से घायल हुए थे।  

हमले के बाद आतंकी पंथाचौक के पास स्थित दिल्ली पब्लिक स्कूल में जा छिपे थे। इसके बाद सुरक्षाबलों द्वारा इस स्कूल को घेरकर इलाके में गहन तलाशी अभियान शुरू किया गया। जिसके बाद रात को सुरक्षाबलों द्वारा फायरिंग करके आतंकियों को नेस्तनाबूत करने की कोशिश की गई है।

अप्रैल में भी पंथाचौक पर निशाने पर आए थे सुरक्षाबल

इससे पहले 6 अप्रैल को भी श्रीनगर के पंथाचौक में आतंकियों द्वारा सीआरपीएफ के काफिले को निशाना बनाया गया था। इसमें एक जवान शहीद हो गया, जबकि पांच जवान सहित सात घायल हुए थे।

इसमें एक स्थानीय गाड़ी का चालक और बच्ची शामिल थे। घटना के बाद मची भगदड़ का फायदा उठाते हुए आतंकी मौके से भाग निकले। हमले की जिम्मेदारी लश्कर ने ली थी।

अप्रैल में हुई इस घटना के दौरान पंथा चौक में आतंकियों द्वारा जम्मू से श्रीनगर की ओर आ रहे सीआरपीएफ के काफिले को निशाना बनाया गया। इस हमले में करीब आधा दर्जन जवान घायल हो गए थे। 

You May Also Like

English News