LIVE: पद्मावत पर करणी सेना ने कहा- देशवासी तय करें वो राम हैं या रावण

संजय लीला भंसाली की फिल्‍म पद्मावत का विरोध कर रही करणी सेना ने रिलीज की तारीख 25 जनवरी सामने आते ही अपनी मुखालफत तेज कर दी है. हाल ही में संगठन के संरक्षक लोकेंद्र सिंह कल्वी ने गुरग्राम में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि मूवी हॉल मैनेजर हमारे ‘जनता कर्फ्यू’ का सपोर्ट करें. सबसे पहले उन्‍हें तय करना होगा कि वो खिलजी हैं या पद्मावती? वो देश के साथ या फिर देश के खिलाफ. वो राम का साथ देंगे या फिर रावण का?LIVE: पद्मावत पर करणी सेना ने कहा- देशवासी तय करें वो राम हैं या रावण

लाइव अपडेट्स….

लोकेंद्र सिंह कल्वी ने बताया कि संजयलीला भंसाली ने हमें फिल्‍म देखने का न्‍यौता भेजा है. वो सोच रहे होंगे कि हम इसे ठुकरा देंगे. लेकिन ऐसा नहीं होगा. हम फिल्‍म देखने जरूर जाएंगे. उन्‍होंने मुझे जो लेटर लिखकर स्‍क्रीनिंग के लिए बुलाया है उसमें स्‍क्रीनिंग की तारीख नहीं दर्ज है. ऐसे में यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि फिल्‍म हमें चार  से पांच सालों में दिखाई जाएगी.उन्‍होंने कहा कि हम फि‍ल्‍म देखने जरूर जाएंगे. सेंसर बोर्ड ने यह मूवी चुने हुए तीन लोगों को दिखाई, हम लोग चाहते हैं यह मूवी पत्रकारों को दिखाई जाए. उसके बाद सभी लोगों की राय सुनी जाए.

– अहमदाबाद के 10 सिनेमाघरों को मिलेगी अतिरिक्त सुरक्षा

ताजा जानकारी के मुताबिक, फिल्म पद्मावत अहमदाबाद के 10 मल्टीप्लेक्स और सिनेमाहॉल्स में रिलीज होगी. जिन मल्टीप्लेक्स और हॉल्स में फिल्म को रिलीज किया जाएगा वहां सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की जाएगी. एक पुलिस इंस्पेक्टर और एक SRP की टीम सुरक्षा में तत्पर रहेगी. आल्फावन सिनेपोलीश, हिमालया मॉल, एक्रोपोलिश सिनेमा, के सेरा सेरा, मुक्ता सिनेमा, सिनेमेक्स, पीवीआर, राजहंस सिनेमा, पीवीआर रेड कार्पेट, सीटी गोल्ड में पद्मावत की रिलीज के चलते अतिरिक्त सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी.

– 9 राज्‍यों में फिल्‍म का विरोध

इस फिल्‍म को 9 राज्‍यों (बिहार, छत्‍तीसगढ़, मध्‍यप्रदेश, उत्‍तरप्रदेश, राजस्‍थान, हरियाणा, हिमाचल, गुजरात, उत्‍त्‍रांचल) में बैन किया गया है. चार बीजेपी शासित राज्‍यों ने विरोध का बिगुल बजा दिया है. लोकेंद्र सिंह कल्वी ने यह साफ कर दिया कि सिनेमाघर के मालिकों ने हमें साफ कर दिया है कि वो फिल्‍म नहीं दिखाएंगे. हमने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है. उम्‍मीद करते हैं कि जल्‍द मामले पर हमारा पक्ष सुना जाएगा.

– सुप्रीम कोर्ट में रिव्यू पिटीशन 

अब खबरें आ रही हैं कि पद्मावत को बैन करने को लेकर अब राजस्थान और मध्यप्रदेश सरकार सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई है. इस मामले पर 23 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट करेगी सुनवाई. इन राज्यों ने एक SC में एक संशोधन याचिका दायर की है.  इस मामले में हरिष साल्वे वायाकॉम की सुनवाई के लिए मौजूद थे. वहीं हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि पद्मावत की स्‍क्रीनिंग होने पर सरकार की तरफ से पूरी सुरक्षा दी जाएगी. हम सुप्रीम कोर्ट के आदेश का सम्‍मान करते हैं.

– नेशनल हाइवे पर लगाया जाम

इंदौर में करणी सेना के 200 कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन के दौरान नेशनल हाइवे 3 को पूरी तरह जाम कर दिया. उन्‍हें रोकने के लिए पुलिस ने भगाना चाहा तो लोगों ने करणी सेना के लोगों ने आसपास पड़ी सुखी घास में लगा दी. करणी सेना समेत कई संगठनों ने फिल्म के बहिष्कार का एलान कर रखा है.  नतीजतन देश भर में करणी सेना और दूसरे संगठनों के बेकाबू लोग हिंसा पर उतर आए हैं. 

– कुरुक्षेत्र के मॉल में फायरिंग और तोड़फोड़

हरियाणा के कुरुक्षेत्र में फिल्म पद्मावत के विरोध का मामला सामने आया है. कुरुक्षेत्र के एकमात्र मॉल केसल मॉल में अज्ञात लोगों ने फायरिंग और तोड़फोड़ की. उपद्रवी बाइक पर सवार होकर आए थे. ये हमला शाम को करीब आठ बजे हुआ. बदमाशों की करतूत सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है. पुलिस इसकी जांच कर रही है. हरियाणा में मंत्री अनिल विज एक तरफ थिएटरों को पद्मावत दिखाने के लिए सुरक्षा देने को तैयार हैं, वहीं दूसरी तरफ बार-बार दोहरा रहे हैं कि किसी भी स्वाभिमानी और देशभक्त इंसान को ये फिल्म नहीं देखनी चाहिए.

– गुडगांव के थि‍एटर मालिकों को धमकी

फिल्म पद्मावती किसी हाल में भी रिलीज ना हो सके इस मिशन में पूरी तरह से करणी सेना जुट गई है. कई राज्यों में उत्पाद मचाने के बाद अब करणी सेना के लोग गुडगांव के थि‍एटर मालिकों को पर्चे बांटकर फिल्म की स्क्रीनिंग नहीं करने की हिदायायत दे रहे हैं.

You May Also Like

English News