Loot: लखनऊ में दिनदहाड़े बदमाशों ने लूट की वारदात को दिया अंजाम, पुलिस के तलाश में जुटी !

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के अलीगंज इलाके में अलसहाधारी बदमाश प्राइम मेगा मार्ट के कैशियर से दिनदहाड़े एक लाख रुपये की नकदी लूट ले गये। दिनदहाड़े लूट की सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस के अधिकारी भी पहुंच गये। बदमाशों की तलाश में चेकिंग भी करायी गयी पर कुछ हाथ नहीं लगा।


अंबेडकर नगर निवासी वीरेंद्र नाथ सेक्टर 14 विकासनगर में किराय के मकान में रहते हैं। वीरेंद्र चार माह पूर्व शुरू हुए प्राइम मेगा मार्ट में बतौर कैशियर काम करता है। बताया जाता है कि सोमवार दोपहर में वीरेंद्र प्राइम मेगा मार्ट से एक लाख रुपये लेकर बैंक जा रहे थे। पीडि़त के मुताबिक सेक्टर जी स्थित कोल्ड स्टोरेज के गेट के पास अचानक पीछे से आये दो बाइक पर सवार चार बदमाशों ने उसको दोनों तरफ से घेर लिया।

बाइक सवार बदमाश को देख वीरेन्द्र कुछ समझ पाता बदमाशों ने उस पर असलहा तान दिया। असलहा देख वीरेन्द्र सहम गया। बदमाशों ने वीरेन्द्र को गोली मारने की धमकी दी और वीरेन्द्र की जेब में रखे एक लाख रुपये नकद व मोबाइल फोन लूट ले गये।

बदमाश के भागने के बाद वीरेन्द्र ने मदद के लिए शोर मचाया। लोग मदद के लिए जमा भी हुए पर लुटेरे तब तक भाग चुके थे। वीरेन्द्र ने फौरन घटना की सूचना अपने मालिक व पुलिस कंट्रोल रूम को दी। दिनदहाड़े लूट की सूचना मिलते ही मौके पर अलीगंज पुलिस और एसपी टीजी हरेन्द्र कुमार भी पहुंच गये। पुलिस ने बदमाशों की तलाश में शहर भर में चेकिंग अभियान भी चलाया पर हाथ कुछ नहीं लगा। अंत में इस मामले में अलीगंज थाने में लूट की रिपोर्ट दर्ज की गयी।

सीसीटीवी कैमरे में कैद हुए बदमाश
वीरेंद्र के शोर मचाने पर आसपास मौजूद लोग मौके पर पहुंचे। घटना की जानकारी होने पर राहगीरों ने पुलिस को सूचना दी। हालांकि तब तक बदमाश अलग-अलग दिशा में भाग निकले। पड़ताल में पता चला कि दो बदमाश मामा चौराहे की तरफ और दो अन्य बदमाश पुरनिया की ओर भागे थे। पुलिस ने वारदात के बाद जब सीसीटीवी फुटेज खंगाले तो बदमाशों की फुटेज कैमरे में कैद मिली। अब पुलिस फुटेज के आधार पर बदमाशों की पहचान की कोशिश कर रही है।

रेकी कर वारदात को अंजाम दिया गया
वीरेंद्र ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि वह अक्सर तीन से चार दिन के अंतराल पर बैंक में रुपये जमा करने जाते थे। आशंका जताई जा रही है कि बदमाशों को इस बात की जानकारी पहले से थी, जिसके बाद उन्होंने लूट की साजिश रची। यही नहीं घटना के पीछे रेकी की बात भी सामने आयी है। पुलिस ने वीरेंद्र से कई बिंदुओं पर पूछताछ की है। पुलिस कुछ करीबियों की भूमिका के बारे में भी पता लगा रही है।

कई टीम को छानबीन में लगाया गया
लूट की सूचना मिलते ही मौके पर कई थानों की पुलिस पहुंच गयी। बदमाशों की धरपकड़ के लिए अलीगंज, महानगर व मडिय़ांव थाने की पुलिस के अलावा सर्विलांस और क्राइम ब्रांच की टीम को लगाया गया। पुसिल के अधिकारियों का दावा है कि जल्द ही बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया जायेगा।

You May Also Like

English News