यूपी इन्वेस्टर्स समिट से नाराज मायावती ने कहा-हुई सरकारी धन की बर्बादी

लखनऊ। योगी सरकार द्वारा आयोजित दो दिवसीय यूपी इन्वेस्टर्स समिट पर बसपा सुप्रीमो ने निशाना साधते हुए इसे सरकारी धन का दुरूपयोग बताया है। एक प्रेस रिलीज़ जारी कर मायावती ने कहा है कि इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन वर्तमान में एक फैशन बन गया है। जिसके नाम पर खासकर बीजेपी सरकारे सरकारी धन पानी की बहाती हैं। उन्होंने कहा कि जनता की इस गाढ़ी कमाई से गरीबों मजदूरों व बेरोजगार युवाओं के लिए काफी महत्वपूर्ण काम किए जा सकते थे। इतना ही नहीं इससे लाखों किसानों को कर्ज से मुक्ति भी मिल सकती थी।

 यूपी इन्वेस्टर्स समिट से नाराज मायावती ने कहा-हुई सरकारी धन की बर्बादी

मायावती ने कहा कि दरअसल यूपी इन्वेस्टर्स समिट बीजेपी सरकार द्वारा बेरोजगारी और महंगाई से ध्यान भटकाने की कोशिश है। मायवती ने कहा कि महाराष्ट्र समेत कई बीजेपी शासित राज्यों के बाद अब यूपी को भी इन्वेस्टर्स समिट का बुखार चढ़ गया है। उन्होंने कहा इन्वेस्टर्स समिट के नाम पर उसके प्रचार-प्रसार में सरकारी धन पानी की तरह बहाया गया। जबकि सबको पता है कि जिस प्रदेश में अपराध बढ़ा हो और कानून व्यवस्था धाराशायी हो वहां पर कोई उद्योग नहीं लगाता।

मायावती ने कहा कि अगर प्रदेश में अपराध नियंत्रण और कानून व्यवस्था सही होगी तभी यहां कोई उद्योग लगाएगा। लेकिन वर्तमान स्थिति को देखकर नहीं लगता कि कोई प्राइवेट निवेशक यहां पैसा लगाएगा। इसलिए इस बात की पूरी आशंका है कि जनता की गाढ़ी कमाई से अरबों रुपया खर्च कर किया गया यह इन्वेस्टर्स समिट सिर्फ राजनीतिक अखाड़ेबाजी के साथ-साथ शो बाजी ही साबित होगा।

इतना ही नहीं सरकार लाखों करोड़ रुपये के एमओयू साइन करने की बात कहकर जनता को बरगलाने की कोशिश कर रही है। 

You May Also Like

English News