MP में चुनाव आयोग की परीक्षा में फेल होने पर अफसरों को दोबारा मिलेगा मौका

चुनाव कराने वाले पीठासीन और सहायक पीठासीन अधिकारी का चयन परीक्षा से करने के फार्मूले में खरा नहीं उतरने वाले अफसरों को अब एक मौका और मिलेगा। चुनाव आयोग परीक्षा में 70 फीसदी से कम अंक लाने वाले अफसरों को तीन-चार दिन का प्रशिक्षण देकर फिर परीक्षा लेगा।

इसके बाद भी यदि अधिकारी खरे नहीं उतरते हैं तो उनकी चुनाव ड्यूटी नहीं लगेगी। उधर, यदि अफसर जानबूझकर चुनाव ड्यूटी से बचने के लिए फेल हो जाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई को लेकर तस्वीर अभी साफ नहीं है।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वीएल कांताराव ने बताया कि 18 अगस्त को भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर और रीवा में परीक्षा आयोजित की गई थी। इसमें 587 डिप्टी कलेक्टर, अनुविभागीय अधिकारी, तहसीलदार और नायब तहसीलदार ने हिस्सा लिया है। करीब एक सप्ताह बाद परिणाम घोषित किया जाएगा। प्रश्नपत्र चुनाव आयोग ने तैयार किए थे और परीक्षा भी उनके ही दिशा-निर्देश में हुई है।

इसके पीछे मकसद साफ है कि जो भी अधिकारी चुनाव का संचालन करे, उसे निर्वाचन संबंधी नियम-कायदों की पूरी जानकारी होनी चाहिए, ताकि चुनाव के दौरान कोई परेशानी न आए। एक सवाल के जवाब में उन्होंने बताया कि जो अधिकारी परीक्षा में पास नहीं होंगे, उनकी चुनाव ड्यूटी नहीं लगेगी। एक बार और परीक्षा कराई जाएगी।

You May Also Like

English News