Murder Case: पढि़ए कैसे नौकर ने की कारोबारी की पत्नी की हत्या, दिल में आ गया था लालच!

लखनऊ: यूपी की राजधानी नाका इलाके में 20 जनवरी को हुई कारोबारी की पत्नी की हत्या का खुलासा करते हुए पुलिस ने जेल बंदीरक्षक के बेटे को गिरफ्तार किया है। आरोपी ने लूट के इरादे से कारोबारी की पत्नी की हत्या की थी। आरेपी कारोबारी की दुकान पर चार साल से बतौर कर्मचारी काम करता था।


एसपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी ने बताया कि कारोबारी राजीव मेहरोत्रा की पत्नी वीना मेहरोत्रा की हत्या के मामले में शुरू से ही पुलिस को किसी करीबी पर शक था। पुलिस एक-एक करके कारोबारी के जानने वाले और करीबियों से पूछताछ कर रही थी। पुलिस ने जब सर्विलांस की मदद ली तो कारोबारी की दुकान में काम करने वाले कर्मचारी बाराबंकी जनपद निवासी लक्ष्मीकांत गोस्वामी की लोकेशन घटना के समय घटनास्थल पर ही मिली।

बस इसी के बाद पुलिस को लक्ष्मीकांत की भूमिका पर शक हो गया। पुलिस ने इस मामले में लक्ष्मीकांत गोस्वामी को बीती रात गिनरफ्तार किया। पूछताछ की गयी तो उसने पहले पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की, पर जब पुलिस ने उसके मोबाइल फोन की लोकेशन कारोबारी के घर होने की बात बतायी तो वह सन्न रह गया।

इसके बाद उसने अपना जुर्म कुबूल लिया। आरोपी ने बताया कि उसके दिल में लालच आ गयी थी और वह कारोबारी के घर में चोरी करना चाह रहा था। 20 जनवरी की दोपहर जब वह चुपके से घर में घुसा तो आहट पाकर कारोबारी की पत्नी वीना ने उसको देख लिया। वीना ने जब आरोपी की इस हरकत का विरोध किया तो आरोपी ने चाकू से वीना की गला रेंत कर हत्या कर दी।

आरोपी घर से हीरे की झुमकी ही लूटकर ले जा सका था। पुलिस ने आरोपी के पास से लूटी गयी झुमकी और खून का धब्बा लगे उसके कपड़े बरामद कर लिये हैं। पकड़े गये आरोपी लक्ष्मीकांत के पिता गोसाईगंज जेल मेंं प्रधान बंदी रक्षक हैं। एसपी पश्चिम ने बताया कि आरोपी चार साल से कारोबारी की दुकान पर काम कर रहा था। वह रोज बाराबंकी से अपनी ड्यूटी पर आता था और ड्यूटी खत्म कर ट्रेन से वापस बाराबंकी चला जाता था।

इस तरह वारदात को दिया था अंजाम
पूछताछ मेें आरोपी ने बताया कि कारोबारी को राजीव को चिटफण्ड कम्पनी से कुछ समय पहले 25 लाख रुपये मिले थे। इस बात की जानकारी उसको थी। घटना के दिन जब वह बाराबंकी से दुकान पहुंचा तो दुकान बंद थी। इस पर वह कारोबारी के घर पहुंच तो कारोबारी और उनकी पत्नी पहली मंजिल पर बने कमरे में थे। वह चुपके से घर के अंदर जाकर छुप गया। कुछ देर के बाद जब कारोबारी दुकान के निकल गये तो वह बाहर निकला।

इस बीच कारोबारी की पत्नी ने उसको देख लिया और उससे घर में आने की वजह से पूछी। इस पर उसने रुपये की जरूरत की बात कही। कारोबारी की पत्नी वीना ने पति से रूपये मांगे के लिए कहा और पति को फोन करने लगीं। इस पर आरोपी ने उनके हाथ से मोबाइल फोन छीन लिया। इस पर कारोबारी की पत्नी ने उसके गुप्तांग पर लाद कर दी, जिससे वह गिर पड़ा और कारोबारी की पत्नी किचन की तरफ दौड़ी।

आरोपी भी पीछे-पीछे किचन तक पहुंचा और किचन में रखे चाकू से पहले कारोबारी की पत्नी की गला रेत कर हत्या कर दी और हाथ की दो कलाई भी काट दी। इसके बाद उसने कमरे में रखी एक आलमारी का लॉकर तोडऩे की कोशिश की पर नाकाम रखा। इसके बाद वह दूसरे कमरे में पहुंचा तो देखा कि आलमारी का लॉकर खुला था।

उसने लॉकर में रखे 20 हजार रुपये और जेवरात से बैग उठा लिया। इसी बीच उसको नीचे दरवाजे पर दस्तक का एहसास हुआ। उसने चुपके से जेवरात और रूपये एक दराज में छुपा दिये। इसके बाद वह छत पर पहुंचा और बगल में बनी कोचिंग का दरवाजा खटखटाया। इस पर कोचिंग पर मौजूद दो लोगों ने दरवाजा खोला दिया। दरवाजा खुलते ही आरोपी दोनों लोगों को धक्का देते हुए वहां से भाग निकला।

You May Also Like

English News