जम्मू – कश्मीर – TOS News https://tosnews.com Latest Hindi Breaking News and Features Sat, 11 Aug 2018 12:16:09 +0000 en-US hourly 1 https://wordpress.org/?v=4.9.8 https://tosnews.com/wp-content/uploads/2017/03/tosnews-favicon-45x45.png जम्मू – कश्मीर – TOS News https://tosnews.com 32 32 J&K में आतंकियों का खौफ, 9 स्पेशल पुलिस ऑफिसर ने छोड़ी नौकरी! https://tosnews.com/jk-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%86%e0%a4%a4%e0%a4%82%e0%a4%95%e0%a4%bf%e0%a4%af%e0%a5%8b%e0%a4%82-%e0%a4%95%e0%a4%be-%e0%a4%96%e0%a5%8c%e0%a4%ab-9-%e0%a4%b8%e0%a5%8d%e0%a4%aa%e0%a5%87%e0%a4%b6/141672 Sat, 11 Aug 2018 12:12:50 +0000 https://tosnews.com/?p=141672 स्पेशल पुलिस ऑफिसर (एसपीओ) पर बढ़ते हमलों और उन्हें नौकरी छोड़ने के लिए सुनाए गए आतंकी फरमानों का असर अब नजर आने लगा है।

The post J&K में आतंकियों का खौफ, 9 स्पेशल पुलिस ऑफिसर ने छोड़ी नौकरी! appeared first on TOS News.

]]>
स्पेशल पुलिस ऑफिसर (एसपीओ) पर बढ़ते हमलों और उन्हें नौकरी छोड़ने के लिए सुनाए गए आतंकी फरमानों का असर अब नजर आने लगा है। शुक्रवार को दक्षिण कश्मीर के त्राल में नौ एसपीओ ने मस्जिदों में पुलिस की नौकरी छोड़ने का एलान किया और पुलिस के साथ काम करने के लिए माफी भी मांगी।स्पेशल पुलिस ऑफिसर (एसपीओ) पर बढ़ते हमलों और उन्हें नौकरी छोड़ने के लिए सुनाए गए आतंकी फरमानों का असर अब नजर आने लगा है। शुक्रवार को दक्षिण कश्मीर के त्राल में नौ एसपीओ ने मस्जिदों में पुलिस की नौकरी छोड़ने का एलान किया और पुलिस के साथ काम करने के लिए माफी भी मांगी।   हालांकि किसी भी पुलिस अधिकारी ने आतंकियों के डर से किसी एसपीओ के नौकरी छोड़ने की पुष्टि नहीं की है। गौरतलब है कि पिछले कुछ महीनों के दौरान दक्षिण कश्मीर के त्राल, पुलवामा, शोपियां और कुलगाम में आतंकियों ने आठ से ज्यादा पुलिस एसपीओ को गोली मारकर जख्मी कर दिया या मौत के घाट उतारा है।     इसके साथ ही आतंकी संगठनों ने त्राल, कुलगाम और शोपियां में धमकी भरे पोस्टर जारी कर एसपीओ को नौकरी छोड़ने और पुलिस की मदद के लिए माफी मांगने का फरमान सुनाया है।  फरमान न मानने वालों को आतंकी संगठनों की ओर से गंभीर परिणामों की धमकी भी दी गई है। त्राल से मिली जानकारी के अनुसार, पस्तुना स्थित मस्जिद में इमाम ने नमाज ए जुम्मा से पूर्व छह एसपीओ के नाम लेते हुए बताया कि इन लोगों ने पुलिस की नौकरी छोड़ दी है।

हालांकि किसी भी पुलिस अधिकारी ने आतंकियों के डर से किसी एसपीओ के नौकरी छोड़ने की पुष्टि नहीं की है। गौरतलब है कि पिछले कुछ महीनों के दौरान दक्षिण कश्मीर के त्राल, पुलवामा, शोपियां और कुलगाम में आतंकियों ने आठ से ज्यादा पुलिस एसपीओ को गोली मारकर जख्मी कर दिया या मौत के घाट उतारा है। 

इसके साथ ही आतंकी संगठनों ने त्राल, कुलगाम और शोपियां में धमकी भरे पोस्टर जारी कर एसपीओ को नौकरी छोड़ने और पुलिस की मदद के लिए माफी मांगने का फरमान सुनाया है।

फरमान न मानने वालों को आतंकी संगठनों की ओर से गंभीर परिणामों की धमकी भी दी गई है। त्राल से मिली जानकारी के अनुसार, पस्तुना स्थित मस्जिद में इमाम ने नमाज ए जुम्मा से पूर्व छह एसपीओ के नाम लेते हुए बताया कि इन लोगों ने पुलिस की नौकरी छोड़ दी है।

The post J&K में आतंकियों का खौफ, 9 स्पेशल पुलिस ऑफिसर ने छोड़ी नौकरी! appeared first on TOS News.

]]>
जम्मू-कश्मीर में महबूबा मुफ्ती के बिना पीडीपी के साथ फिर सरकार बना सकती है भाजपा https://tosnews.com/%e0%a4%9c%e0%a4%ae%e0%a5%8d%e0%a4%ae%e0%a5%82-%e0%a4%95%e0%a4%b6%e0%a5%8d%e0%a4%ae%e0%a5%80%e0%a4%b0-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%ae%e0%a4%b9%e0%a4%ac%e0%a5%82%e0%a4%ac%e0%a4%be-%e0%a4%ae/141481 Fri, 10 Aug 2018 12:32:59 +0000 https://tosnews.com/?p=141481 भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव के कश्मीर दौरे ने फिर राज्य की सियासत में अटकलों को जन्म दे दिया है। राम माधव ने

The post जम्मू-कश्मीर में महबूबा मुफ्ती के बिना पीडीपी के साथ फिर सरकार बना सकती है भाजपा appeared first on TOS News.

]]>
भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव के कश्मीर दौरे ने फिर राज्य की सियासत में अटकलों को जन्म दे दिया है। राम माधव ने गुरुवार श्रीनगर में न सिर्फ भाजपा नेताओं बल्कि कई गैर भाजपा सियासतदानों व वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से राज्य में अनुच्छेद 35ए के मुद्दे पर पैदा हुए हालात पर चर्चा की। भाजपा ने दौरे का कोई अधिकारिक बयान तो जारी नहीं किया है, लेकिन बताया जा रहा है कि अमरनाथ तीर्थयात्रा संपन्न होने के बाद भाजपा राज्य में फिर से सरकार बनाने की कवायद में जुटेगी।भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव के कश्मीर दौरे ने फिर राज्य की सियासत में अटकलों को जन्म दे दिया है। राम माधव ने गुरुवार श्रीनगर में न सिर्फ भाजपा नेताओं बल्कि कई गैर भाजपा सियासतदानों व वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से राज्य में अनुच्छेद 35ए के मुद्दे पर पैदा हुए हालात पर चर्चा की। भाजपा ने दौरे का कोई अधिकारिक बयान तो जारी नहीं किया है, लेकिन बताया जा रहा है कि अमरनाथ तीर्थयात्रा संपन्न होने के बाद भाजपा राज्य में फिर से सरकार बनाने की कवायद में जुटेगी।   सूत्रों के अनुसार, भाजपा, पीडीपी के साथ दोबारा गठजोड़ कर सकती है, लेकिन महबूबा मुफ्ती के बिना। इस विषय में राम माधव की प्रदेश भाजपा के वरिष्ठ नेताओं पूर्व उपमुख्यमंत्री कविंद्र गुप्ता, सत शर्मा, सुनील शर्मा, राजीव जसरोटिया और बाली भगत के साथ करीब ढाई घंटे मैराथन बैठक भी चली। सूत्रों के अनुसार, पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती के नेतृत्व को लेकर भाजपा में मतभेद हैं। इसलिए अगर पीडीपी की तरफ से महबूबा के बिना कोई प्रस्ताव आता है तो उस पर आगे बात हो सकती है।   जम्मू कश्मीर में कांग्रेस के 22 जिला प्रधान घोषित यह भी पढ़ें इसलिए खास है यह दौरा राम माधव के आगमन के बाद राज्य में भाजपा द्वारा दोबारा गठबंधन सरकार बनाने की अटकलें जोर नहीं पकड़तीं, अगर वह बीती रात पीपुल्स कांफ्रेंस के चेयरमैन सज्जाद अहमद गनी लोन से मुलाकात करने के अलावा गुरुवार सुबह नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व मंत्री गुलाम हसन मीर से करीब एक घंटे बैठक नहीं करते। गुलाम हसन मीर इस समय बेशक विधायक नहीं हैं, लेकिन वह माकपा विधायक मोहम्मद यूसुफ तारीगामी और पीपुल्स डेमोक्रेटिक फ्रंट के चेयरमैन एवं विधायक हकीम मोहम्मद यासीन के करीबी हैं। वह उनके साथ बीते कुछ समय से राज्य में एक तीसरे फ्रंट के गठन के प्रयास भी कर रहे हैं।  कश्मीर विवि में राष्ट्रविरोधी गतिविधियों पर लगाए लगाम सूत्रों ने बताया कि राम माधव ने नई दिल्ली लौटने से पूर्व कश्मीर विश्वविद्यालय के उपकुलपति और भाजपा एमएलसी रमेश अंबरदार से भी मुलाकात की। कश्मीर विश्वविद्यालय के उपकुलपति के साथ बैठक में भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव ने विश्वविद्यालय परिसर में राष्ट्रविरोधी गतिविधियों पर लगाम लगाने और मुख्यधारा की तरफ छात्रों को प्रेरित करने वाली अकादमिक व अन्य रचनात्मक गतिविधियों के संदर्भ में चर्चा की।   जम्मू-कश्मीर में चुनाव पर बंटे राजनीतिक दल यह भी पढ़ें सुरक्षा प्रबंधों पर विचार राम माधव ने सुबह कश्मीर रेंज के पुलिस आइजी एसपी पाणि और अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था एवं सुरक्षा) मुनीर अहमद खान से भी मुलाकात की। उन्होंने राज्य पुलिस के शीर्ष अधिकारियों के साथ कश्मीर में जारी आतंकी हिंसा, 35ए के मुद्दे पर अलगाववादियों द्वारा हालात बिगाड़ने की साजिशों को नाकाम बनाने और निकट भविष्य में होने वाले पंचायत व स्थानीय निकायों के चुनावों के लिए तैयार किए जा रहे सुरक्षा कवच पर भी चर्चा की।

सूत्रों के अनुसार, भाजपा, पीडीपी के साथ दोबारा गठजोड़ कर सकती है, लेकिन महबूबा मुफ्ती के बिना। इस विषय में राम माधव की प्रदेश भाजपा के वरिष्ठ नेताओं पूर्व उपमुख्यमंत्री कविंद्र गुप्ता, सत शर्मा, सुनील शर्मा, राजीव जसरोटिया और बाली भगत के साथ करीब ढाई घंटे मैराथन बैठक भी चली। सूत्रों के अनुसार, पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती के नेतृत्व को लेकर भाजपा में मतभेद हैं। इसलिए अगर पीडीपी की तरफ से महबूबा के बिना कोई प्रस्ताव आता है तो उस पर आगे बात हो सकती है।

इसलिए खास है यह दौरा
राम माधव के आगमन के बाद राज्य में भाजपा द्वारा दोबारा गठबंधन सरकार बनाने की अटकलें जोर नहीं पकड़तीं, अगर वह बीती रात पीपुल्स कांफ्रेंस के चेयरमैन सज्जाद अहमद गनी लोन से मुलाकात करने के अलावा गुरुवार सुबह नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व मंत्री गुलाम हसन मीर से करीब एक घंटे बैठक नहीं करते। गुलाम हसन मीर इस समय बेशक विधायक नहीं हैं, लेकिन वह माकपा विधायक मोहम्मद यूसुफ तारीगामी और पीपुल्स डेमोक्रेटिक फ्रंट के चेयरमैन एवं विधायक हकीम मोहम्मद यासीन के करीबी हैं। वह उनके साथ बीते कुछ समय से राज्य में एक तीसरे फ्रंट के गठन के प्रयास भी कर रहे हैं।

कश्मीर विवि में राष्ट्रविरोधी गतिविधियों पर लगाए लगाम
सूत्रों ने बताया कि राम माधव ने नई दिल्ली लौटने से पूर्व कश्मीर विश्वविद्यालय के उपकुलपति और भाजपा एमएलसी रमेश अंबरदार से भी मुलाकात की। कश्मीर विश्वविद्यालय के उपकुलपति के साथ बैठक में भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव ने विश्वविद्यालय परिसर में राष्ट्रविरोधी गतिविधियों पर लगाम लगाने और मुख्यधारा की तरफ छात्रों को प्रेरित करने वाली अकादमिक व अन्य रचनात्मक गतिविधियों के संदर्भ में चर्चा की।

सुरक्षा प्रबंधों पर विचार
राम माधव ने सुबह कश्मीर रेंज के पुलिस आइजी एसपी पाणि और अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था एवं सुरक्षा) मुनीर अहमद खान से भी मुलाकात की। उन्होंने राज्य पुलिस के शीर्ष अधिकारियों के साथ कश्मीर में जारी आतंकी हिंसा, 35ए के मुद्दे पर अलगाववादियों द्वारा हालात बिगाड़ने की साजिशों को नाकाम बनाने और निकट भविष्य में होने वाले पंचायत व स्थानीय निकायों के चुनावों के लिए तैयार किए जा रहे सुरक्षा कवच पर भी चर्चा की।

The post जम्मू-कश्मीर में महबूबा मुफ्ती के बिना पीडीपी के साथ फिर सरकार बना सकती है भाजपा appeared first on TOS News.

]]>
आतंकियों के आतंक से सहमे कश्मीरी युवक, अगवा कर छोड़ दिया अधमरा https://tosnews.com/%e0%a4%86%e0%a4%a4%e0%a4%82%e0%a4%95%e0%a4%bf%e0%a4%af%e0%a5%8b%e0%a4%82-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%86%e0%a4%a4%e0%a4%82%e0%a4%95-%e0%a4%b8%e0%a5%87-%e0%a4%b8%e0%a4%b9%e0%a4%ae%e0%a5%87-%e0%a4%95/141187 Thu, 09 Aug 2018 09:10:14 +0000 https://tosnews.com/?p=141187 कश्मीर में आतंकी ना केवल भारतीय सेना को अपना निशाना बना रहे हैं, बल्कि वे इस दौरान आम नागरिकों का जीना भी मुश्किल कर

The post आतंकियों के आतंक से सहमे कश्मीरी युवक, अगवा कर छोड़ दिया अधमरा appeared first on TOS News.

]]>
कश्मीर में आतंकी ना केवल भारतीय सेना को अपना निशाना बना रहे हैं, बल्कि वे इस दौरान आम नागरिकों का जीना भी मुश्किल कर रहे हैं. एक के बाद एक आतंकी यहां बड़ी घटनाओं को अंजाम दिए जा रहे है. आतंकियों ने कश्मीर में 2 युवकों को पहले तो अगवा किया इसके बाद उन्होंने दोनों युवकों की जमकर पिटाई की. जहां बाद में आतंकी वहां से भाग निकले. इस दौरान दोनों युवक मौत से लड़ते रहें. 

यह घटना जम्मू-कश्मीर के कुलगाम जिले की बताई जा रही है. यहां आए दिन आतंकी हमले की ख़बर सुनने को मिलती है. इस बार आतंकियों ने आरिफ और मेहराजउदीन नामक युवकों को निशाना बनाया. फ़िलहाल इस घटना में एक युवक आरिफ की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई. वहीं मेहराजउदीन का अस्पताल में इलाज चल रहा है. बताया जा रहा है कि आतंकियों ने आरिफ और मेहराजउदीन दोनों को ही उनके घर से अगवा किया था. 

आरिफ को काफी गंभीर अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई. बता दे कि इससे पहले बीते दिनों आतंकियों ने सेना के जवान सलीम को उनके घर से अगवा किया था. इसके बाद आतंकियों ने जवान की हत्या कर दी थी. 

The post आतंकियों के आतंक से सहमे कश्मीरी युवक, अगवा कर छोड़ दिया अधमरा appeared first on TOS News.

]]>
Big News: आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ 5 आतंकी ढेर, ऑपरेशन जारी! https://tosnews.com/big-news-%e0%a4%86%e0%a4%a4%e0%a4%82%e0%a4%95%e0%a4%bf%e0%a4%af%e0%a5%8b%e0%a4%82-%e0%a4%94%e0%a4%b0-%e0%a4%b8%e0%a5%81%e0%a4%b0%e0%a4%95%e0%a5%8d%e0%a4%b7%e0%a4%be%e0%a4%ac%e0%a4%b2%e0%a5%8b/141129 Thu, 09 Aug 2018 05:16:29 +0000 https://tosnews.com/?p=141129 जम्मू: उत्तरी कश्मीर के बारामुला जिले के रफियाबाद इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में अबतक 5 आतंकियों को ढेर कर दिया गया

The post Big News: आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ 5 आतंकी ढेर, ऑपरेशन जारी! appeared first on TOS News.

]]>
जम्मू: उत्तरी कश्मीर के बारामुला जिले के रफियाबाद इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में अबतक 5 आतंकियों को ढेर कर दिया गया है। 5वें आतंकी के मारे जाने की पुष्टि गुरुवार सुबह अधिकारियों द्वारा की गई है। सर्च ऑपरेशन अब भी जारी है।


बुधवार तड़के रफियाबाद इलाके में नियंत्रण रेखा से सटे जंगल क्षेत्र में सेना की 32 राष्ट्रिय राइफल्स आरआर और 9 पैरा कमांडोस द्वारा इलाके में आतंकियों के बड़े ग्रुप के मिले इनपुट के बाद तलाशी अभियान छेड़ा गया। इस तलाशी अभियान के दौरान आतंकियों ने जवानों पर फायरिंग की जिसका मुंहतोड़ जवाब जवानों द्वारा भी दिया गया।

सेना के एक अधिकारी ने बताया कि विजय टॉप इलाके में करीब 5 आतंकियों का एक ग्रुप होने की जानकारी मिली थीए जो इस इलाके में घुसपैठ कर दाखिल हुआ है। वहीं जंगल क्षेत्र होने के साथ साथ खराब मौसम के कारण जवानों को मुठभेड़ के दौरान सुबह से दिक्कतों का भी सामना करना पड़ा लेकिन उसके बावजूद भी जवानों को शाम तक 4 आतंकियों को मार गिराने में सफलता हाथ लगी जिसकी सेना द्वारा पुष्टि की गयी।

इस बीच ऑपरेशन के दौरान आतंकियों की सही लोकेशन को ट्रैक करने के लिए सेना द्वारा ऑपरेशन में ड्रोन और हेलीकॉप्टर भी इस्तेमाल में लाए गए। गौरतलब है कि इस बीच सेना की 9 पैरा के एक कमांडो के गंभीर रूप से घायल होने की खबर भी आ रही है लेकिन इसकी कोई भी आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई है। सूत्रों के अनुसार घायल जवान को तुरन नजदीक के अस्पताल इलाज के लिए भर्ती कराया गया है।

गुरेज में लगातार दूसरे दिन भी सेना का आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन जारी। ऑपरेशन को सेना की 36 आरआर और 4 पैरा के जवान अंजाम दे रहे हैं क्यूंकि उन्हें अंदेशा है कि इलाके में अभी भी कुछ आतंकी मौजूद हैं। इस बीच लगातार खराब मौसम एक बड़ी चुनौती बना हुआ है। बता दें कि इस ऑपरेशन के दौरान 2 आतंकियों को मार गिराने में सफलता हाथ लगी थी जबकि सेना के एक मेजर सहित चार जवान शहीद हुए थे।

The post Big News: आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ 5 आतंकी ढेर, ऑपरेशन जारी! appeared first on TOS News.

]]>
सैन्य सम्मानपूर्वक घर भेजे गए चार शहीदों के पार्थिव शरीर https://tosnews.com/%e0%a4%b8%e0%a5%88%e0%a4%a8%e0%a5%8d%e0%a4%af-%e0%a4%b8%e0%a4%ae%e0%a5%8d%e0%a4%ae%e0%a4%be%e0%a4%a8%e0%a4%aa%e0%a5%82%e0%a4%b0%e0%a5%8d%e0%a4%b5%e0%a4%95-%e0%a4%98%e0%a4%b0-%e0%a4%ad%e0%a5%87/141101 Wed, 08 Aug 2018 11:26:54 +0000 https://tosnews.com/?p=141101 उत्तरी कश्मीर के गुरेज में मंगलवार को आतंकवादियों के मंसूबों को नाकाम बनाते शहीद हुए सेना के चार वीराें के पार्थिव शरीर बुधवार को

The post सैन्य सम्मानपूर्वक घर भेजे गए चार शहीदों के पार्थिव शरीर appeared first on TOS News.

]]>
उत्तरी कश्मीर के गुरेज में मंगलवार को आतंकवादियों के मंसूबों को नाकाम बनाते शहीद हुए सेना के चार वीराें के पार्थिव शरीर बुधवार को सैन्य सम्मानपूवर्क घर भेजे गए।उत्तरी कश्मीर के गुरेज में मंगलवार को आतंकवादियों के मंसूबों को नाकाम बनाते शहीद हुए सेना के चार वीराें के पार्थिव शरीर बुधवार को सैन्य सम्मानपूवर्क घर भेजे गए।   श्रीनगर में सेना की चिनोर कोर के मुख्यालय बादामी बाग छावनी में कोर कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल एके भट्ट ने सुबह अपने शहीदों, मेजर केपी कुमार राणे, राइफलमैन हमीर सिंह, राइफलमैन मंदीप सिंह रावत व गन्नर विक्रमजीत सिंह को सलामी दी। इस मौके पर जम्मू कश्मीर पुलिस के डीजीपी डा एसपी वैद, सेना, पुलिस, सुरक्षा एजेंसियों के साथ राज्य प्रशासन के कई वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे। ये चारों वीर मंगलवार को गुरेज में भीषण मुठभेड़ में घायल हुए थे। बाद में उन्होंने सैन्य अस्पताल में दम तोड़ दिया।  सैन्य मेजर के पी कुमार राणे महाराष्ट्र के थाणे के निवासी थे। वर्ष 2011 में सेना में भर्ती हुए 29 वर्षीय राणे अपनी पीछे पत्नी व बेटा छोड़ गए हैं। वहीं 28 साल के राइफलमैन हमीर सिंह उत्तराखंड के उत्तर काशी इलाके के पाेखरियाल गांव के निवासी थे। वह अपने पीछे पत्नी व बेटी छाेड़ गए हैं।   दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग में आतंकी हमला दो सुरक्षाकर्मी घायल यह भी पढ़ें राइफलमैन मंदीप सिंह रावत, उत्तरखंड के कोट द्वार के शिवपुर गांव के निवासी हैं। वर्ष 2012 में सेना में भर्ती हुए मंदीप अपने पीछे अपनी माता को छोड़ गए हैं।  पच्चीस वर्षीय गन्नर विक्रमजीत सिंह हरियाणा के अंबाला के बरारा के टेपला गांव के रहने वाले थे। चार साल पहले ही सेना में भर्ती हुए विक्रम अपने पीछे पत्नी छोड़ गए हैं। सलामी देने के बाद शहीदों के पार्थिव शरीर बुधवार सुबह विमान से उनके घरों के लिए रवाना कर दिए गए।

श्रीनगर में सेना की चिनोर कोर के मुख्यालय बादामी बाग छावनी में कोर कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल एके भट्ट ने सुबह अपने शहीदों, मेजर केपी कुमार राणे, राइफलमैन हमीर सिंह, राइफलमैन मंदीप सिंह रावत व गन्नर विक्रमजीत सिंह को सलामी दी। इस मौके पर जम्मू कश्मीर पुलिस के डीजीपी डा एसपी वैद, सेना, पुलिस, सुरक्षा एजेंसियों के साथ राज्य प्रशासन के कई वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे। ये चारों वीर मंगलवार को गुरेज में भीषण मुठभेड़ में घायल हुए थे। बाद में उन्होंने सैन्य अस्पताल में दम तोड़ दिया।

सैन्य मेजर के पी कुमार राणे महाराष्ट्र के थाणे के निवासी थे। वर्ष 2011 में सेना में भर्ती हुए 29 वर्षीय राणे अपनी पीछे पत्नी व बेटा छोड़ गए हैं। वहीं 28 साल के राइफलमैन हमीर सिंह उत्तराखंड के उत्तर काशी इलाके के पाेखरियाल गांव के निवासी थे। वह अपने पीछे पत्नी व बेटी छाेड़ गए हैं।

राइफलमैन मंदीप सिंह रावत, उत्तरखंड के कोट द्वार के शिवपुर गांव के निवासी हैं। वर्ष 2012 में सेना में भर्ती हुए मंदीप अपने पीछे अपनी माता को छोड़ गए हैं।

पच्चीस वर्षीय गन्नर विक्रमजीत सिंह हरियाणा के अंबाला के बरारा के टेपला गांव के रहने वाले थे। चार साल पहले ही सेना में भर्ती हुए विक्रम अपने पीछे पत्नी छोड़ गए हैं। सलामी देने के बाद शहीदों के पार्थिव शरीर बुधवार सुबह विमान से उनके घरों के लिए रवाना कर दिए गए।

The post सैन्य सम्मानपूर्वक घर भेजे गए चार शहीदों के पार्थिव शरीर appeared first on TOS News.

]]>
जम्मू-कश्मीर में आतंकियों से मुठभेड़ में चार जवान शहीद https://tosnews.com/%e0%a4%ac%e0%a5%9c%e0%a5%80-%e0%a4%96%e0%a4%ac%e0%a4%b0-%e0%a4%9c%e0%a4%ae%e0%a5%8d%e0%a4%ae%e0%a5%82-%e0%a4%95%e0%a4%b6%e0%a5%8d%e0%a4%ae%e0%a5%80%e0%a4%b0-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82/140770 Tue, 07 Aug 2018 07:14:24 +0000 https://tosnews.com/?p=140770 जम्मू—कश्मीर के गुरेज सेक्टर में आज सुबह आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में चार जवान शहीद हो गए हैं। शहीदों में एक मेजर भी शामिल

The post जम्मू-कश्मीर में आतंकियों से मुठभेड़ में चार जवान शहीद appeared first on TOS News.

]]>
जम्मू—कश्मीर के गुरेज सेक्टर में आज सुबह आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में चार जवान शहीद हो गए हैं।

शहीदों में एक मेजर भी शामिल हैं। जानकारी के अनुसार,  सुरक्षाबलों ने सीमा में घुसपैठ कर रहे आतंकवादियों को रोकने की कोशिश की, जिसके बाद उनमें मुठभेड़ शुरू हो गई। सुरक्षाबलों ने आतंकियों को मार गिराया है। अभी सर्च आॅपरेशन जारी है। 

The post जम्मू-कश्मीर में आतंकियों से मुठभेड़ में चार जवान शहीद appeared first on TOS News.

]]>
शहीद एसपीओ के परिवारों के लिए ट्विटर पर डीजीपी की फंड जुटाने की मुहिम, पहले दिन जुटाए 2.85 लाख https://tosnews.com/%e0%a4%b6%e0%a4%b9%e0%a5%80%e0%a4%a6-%e0%a4%8f%e0%a4%b8%e0%a4%aa%e0%a5%80%e0%a4%93-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%aa%e0%a4%b0%e0%a4%bf%e0%a4%b5%e0%a4%be%e0%a4%b0%e0%a5%8b%e0%a4%82-%e0%a4%95%e0%a5%87/140715 Mon, 06 Aug 2018 12:09:52 +0000 https://tosnews.com/?p=140715 देशवासी जम्मू कश्मीर में आतंकवाद का सामना करते शहीद हुए 499 स्पेशल पुलिस आफिसरों (एसपीओ) के परिवारों के पुनर्वास के लिए आगे आएं। उनके

The post शहीद एसपीओ के परिवारों के लिए ट्विटर पर डीजीपी की फंड जुटाने की मुहिम, पहले दिन जुटाए 2.85 लाख appeared first on TOS News.

]]>
देशवासी जम्मू कश्मीर में आतंकवाद का सामना करते शहीद हुए 499 स्पेशल पुलिस आफिसरों (एसपीओ) के परिवारों के पुनर्वास के लिए आगे आएं। उनके लिए खड़े हों, जिन्होंने हमारी सुरक्षा के लिए अपनी जान दी है। जम्मू कश्मीर पुलिस के महानिदेशक डॉ एसपी वैद के सोमवार सुबह इस संदेश के साथ शहीद एसपीओ के परिवारों के लिए फंड जुटाने की मुहिम छेड़ते ही पहले दिन शाम चार बजे तक 2.85 लाख रुपये एकत्र हो गए। डीजीपी की अपील काे 398 देशवासियों ने शेयर कर मुहिम को तेजी दी।देशवासी जम्मू कश्मीर में आतंकवाद का सामना करते शहीद हुए 499 स्पेशल पुलिस आफिसरों (एसपीओ) के परिवारों के पुनर्वास के लिए आगे आएं। उनके लिए खड़े हों, जिन्होंने हमारी सुरक्षा के लिए अपनी जान दी है। जम्मू कश्मीर पुलिस के महानिदेशक डॉ एसपी वैद के सोमवार सुबह इस संदेश के साथ शहीद एसपीओ के परिवारों के लिए फंड जुटाने की मुहिम छेड़ते ही पहले दिन शाम चार बजे तक 2.85 लाख रुपये एकत्र हो गए। डीजीपी की अपील काे 398 देशवासियों ने शेयर कर मुहिम को तेजी दी।   डीजीपी ने इस फंड के तहत शहीद परिवारों के लिए तीन करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा है। इस फंड का इस्तेमाल सेंट्रल पुलिस वेल्फेयर फंड कमेटी के जरिए किया जाएगा। डीजीपी इस वेल्फेयर फंड कमेटी के चेयरमैन हैं। डीजी के पीआरओ एसपी मनोज शीरी ने जागरण को बताया कि जुटाए गए फंड का इस्तेमाल शहीद स्पेशल पुलिस आफिसरों के बच्चों को शिक्षा व प्रोफेसनल कोर्स आदि के लिए इस्तेमाल हाेगा। उन्होंने बताया कि समाज फंड जुटाने की मुहिम के प्रति भारी उत्साह दिखा रहा है।   कारगिल विजय दिवस पर सेना ने ली शहीदों से प्रेरणा यह भी पढ़ें राज्य में वर्ष 2010 तक आतंकवाद से लड़ते शहीद होने वाले एसपीओ के परिवार को सिर्फ ढ़ाई लाख रुपये का मुआवजा मिलता थे। अब शहीद के परिवार को अढ़ाई लाख रुपये की विशेष रात, 5 लाख रुपये का मुआवजा व जनता इंश्योरेंस के 10 लाख रुपये मिलते हैं। यह राशि कुल मिलाकर 17.50 लाख रुपये बनती है। अधिकतर एसपीओ समाज के कमजाेर वर्ग से हैं। ऐसे में शहीद परिवारों को आर्थिक सहयोग देने के बाद भी उन्हें सहारा दिया जाता है।  जम्मू कश्मीर में कानून एवं व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए स्पेशल पुलिस आफिसरों की अस्थाई नियुक्ति की जाती है। वे पुलिस के जवानों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर ने सिर्फ कानून एवं व्यवस्था सुनिश्चित करते हैं, अपितु आतंकवाद का सामना भी करते हैं। शहीद होने पर अस्थायी होने के कारण उन्हें वे लाभ नही मिलते हैं जो पुलिस के एक शहीद को मिलते हैं। डीजीपी के सुबह आठ बजे यह मुहिम छेड़ने के साथ ट्विटर पर अभियान को सहयोग देने संबंधी संदेश आने लगे। अलबत्ता कुछ फालोयर्स ने स्पेशल पुलिस अधिकारियों को लेकर स्पष्ट नीति न होने पर सरकार को भी घेरा। उन्होंने लिखा है कि जब एसपीओ, पुलिस कर्मियों के बराबर काम करते हैं, शहादतें देते हैं तो उनके परिवारों के पुनर्वास के लिए बराबर सहयोग क्यों नही दिया जाता है।   जवाहर सुरंग में दरारें, रोका गया ट्रैफिक; वाहनों की लगीं कतारें यह भी पढ़ें जम्मू कश्मीर में इस समय 31 हजार के करीब एसपीओ पुलिस के साथ मिलकर कार्य कर रहे हैं। उन्हें हर महीने छह हजार रुपये मानदेय के रूप में दिए जाते हैं। एसपीओ को मिलने वाले मानदेय केंद्र सरकार की ओर से जारी किया जाता है। कुछ समय पहले तक एसपीओ को राज्य में महज 3 हजार रुपये का मानदेय मिलता था। अब उनका मानदेय बढ़ाने के साथ सुविधाओं को बेहतर बनाने के लिए पुलिस की ओर से उचित कदम उठाए जा रहे हैं।   पहले ही दिन 136 ने दी सहायता शहीद एसपीओ के परिवारों के लिए फंड जुटाने की मुहिम के पहले दिन 136 देशवासियों ने आर्थिक सहायता दी। पहले ही दिन कास्मिक विजर्ड व स्मिता दीक्षित ने इक्कीस-इक्कीस हजार रूपये दे कर फंड जुटा रही जम्मू कश्मीर पुलिस का उत्साह बढ़ाया। दोनों पहले दिन के टाप डोनर्स थे।

डीजीपी ने इस फंड के तहत शहीद परिवारों के लिए तीन करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा है। इस फंड का इस्तेमाल सेंट्रल पुलिस वेल्फेयर फंड कमेटी के जरिए किया जाएगा। डीजीपी इस वेल्फेयर फंड कमेटी के चेयरमैन हैं। डीजी के पीआरओ एसपी मनोज शीरी ने जागरण को बताया कि जुटाए गए फंड का इस्तेमाल शहीद स्पेशल पुलिस आफिसरों के बच्चों को शिक्षा व प्रोफेसनल कोर्स आदि के लिए इस्तेमाल हाेगा। उन्होंने बताया कि समाज फंड जुटाने की मुहिम के प्रति भारी उत्साह दिखा रहा है।

राज्य में वर्ष 2010 तक आतंकवाद से लड़ते शहीद होने वाले एसपीओ के परिवार को सिर्फ ढ़ाई लाख रुपये का मुआवजा मिलता थे। अब शहीद के परिवार को अढ़ाई लाख रुपये की विशेष रात, 5 लाख रुपये का मुआवजा व जनता इंश्योरेंस के 10 लाख रुपये मिलते हैं। यह राशि कुल मिलाकर 17.50 लाख रुपये बनती है। अधिकतर एसपीओ समाज के कमजाेर वर्ग से हैं। ऐसे में शहीद परिवारों को आर्थिक सहयोग देने के बाद भी उन्हें सहारा दिया जाता है।

जम्मू कश्मीर में कानून एवं व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए स्पेशल पुलिस आफिसरों की अस्थाई नियुक्ति की जाती है। वे पुलिस के जवानों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर ने सिर्फ कानून एवं व्यवस्था सुनिश्चित करते हैं, अपितु आतंकवाद का सामना भी करते हैं। शहीद होने पर अस्थायी होने के कारण उन्हें वे लाभ नही मिलते हैं जो पुलिस के एक शहीद को मिलते हैं। डीजीपी के सुबह आठ बजे यह मुहिम छेड़ने के साथ ट्विटर पर अभियान को सहयोग देने संबंधी संदेश आने लगे। अलबत्ता कुछ फालोयर्स ने स्पेशल पुलिस अधिकारियों को लेकर स्पष्ट नीति न होने पर सरकार को भी घेरा। उन्होंने लिखा है कि जब एसपीओ, पुलिस कर्मियों के बराबर काम करते हैं, शहादतें देते हैं तो उनके परिवारों के पुनर्वास के लिए बराबर सहयोग क्यों नही दिया जाता है।

जम्मू कश्मीर में इस समय 31 हजार के करीब एसपीओ पुलिस के साथ मिलकर कार्य कर रहे हैं। उन्हें हर महीने छह हजार रुपये मानदेय के रूप में दिए जाते हैं। एसपीओ को मिलने वाले मानदेय केंद्र सरकार की ओर से जारी किया जाता है। कुछ समय पहले तक एसपीओ को राज्य में महज 3 हजार रुपये का मानदेय मिलता था। अब उनका मानदेय बढ़ाने के साथ सुविधाओं को बेहतर बनाने के लिए पुलिस की ओर से उचित कदम उठाए जा रहे हैं। 

पहले ही दिन 136 ने दी सहायता
शहीद एसपीओ के परिवारों के लिए फंड जुटाने की मुहिम के पहले दिन 136 देशवासियों ने आर्थिक सहायता दी।
पहले ही दिन कास्मिक विजर्ड व स्मिता दीक्षित ने इक्कीस-इक्कीस हजार रूपये दे कर फंड जुटा रही जम्मू कश्मीर पुलिस का उत्साह बढ़ाया। दोनों पहले दिन के टाप डोनर्स थे।

The post शहीद एसपीओ के परिवारों के लिए ट्विटर पर डीजीपी की फंड जुटाने की मुहिम, पहले दिन जुटाए 2.85 लाख appeared first on TOS News.

]]>
राज्यपाल संभालेंगे नई उद्योग नीति बनाने की जिम्मेदारी https://tosnews.com/%e0%a4%b0%e0%a4%be%e0%a4%9c%e0%a5%8d%e0%a4%af%e0%a4%aa%e0%a4%be%e0%a4%b2-%e0%a4%b8%e0%a4%82%e0%a4%ad%e0%a4%be%e0%a4%b2%e0%a5%87%e0%a4%82%e0%a4%97%e0%a5%87-%e0%a4%a8%e0%a4%88-%e0%a4%89%e0%a4%a6/140323 Sat, 04 Aug 2018 12:19:31 +0000 https://tosnews.com/?p=140323 राज्य में नई उद्योग नीति बनाकर देश से बड़े उद्यमियों को यहां आकर्षित करने के अभियान की कमान राज्यपाल एनएन वोहरा खुद संभालेंगे। शुक्रवार

The post राज्यपाल संभालेंगे नई उद्योग नीति बनाने की जिम्मेदारी appeared first on TOS News.

]]>
राज्य में नई उद्योग नीति बनाकर देश से बड़े उद्यमियों को यहां आकर्षित करने के अभियान की कमान राज्यपाल एनएन वोहरा खुद संभालेंगे। शुक्रवार को राज्य सरकार ने तीन साल पहले बनी कमेटी को निरस्त करते हुए राज्यपाल की अध्यक्षता वाली 21 सदस्यीय कमेटी बना दी।राज्य में नई उद्योग नीति बनाकर देश से बड़े उद्यमियों को यहां आकर्षित करने के अभियान की कमान राज्यपाल एनएन वोहरा खुद संभालेंगे। शुक्रवार को राज्य सरकार ने तीन साल पहले बनी कमेटी को निरस्त करते हुए राज्यपाल की अध्यक्षता वाली 21 सदस्यीय कमेटी बना दी।   यह कमेटी राज्य में उद्योग के फलने फूलने का माहौल बनाने के साथ औद्योगिक संगठनों द्वारा समय-समय पर उठाए जाने वाले मसलों को हल करने की कारवाई करेगी। उच्च स्तरीय यह कमेटी हर तीन महीने बाद बैठक कर राज्य में उद्योग को सरकार बनाने की दिशा में उठाए जा रहे कदमों पर विचार विमर्श करेगी।  भाजपा-पीडीपी सरकार के कार्यकाल में जुलाई 2015 में शुरू ईज आफ डुइंग बिजनेस अभियान आगे नहीं बढ़ पाया। अब राज्यपाल शासन में इस दिशा में नए सिरे से पहल की गई है। ऐसे में नए सिरे से बनाई गई कमेटी के सदस्यों में उद्योग विभाग का जिम्मा संभालने वाले राज्यपाल के सलाहकार, मुख्यसचिव, योजना, उद्योग, रोजगार, वन, बिजली, राजस्व, सूचना एवं तकनीक, कृषि विभागों के प्रशासनिक सचिव शामिल हैं।   जम्मू कश्मीर में कांग्रेस के 22 जिला प्रधान घोषित यह भी पढ़ें उनके साथ प्रदूषण नियंत्रक बोर्ड के चेयरमैन, कमिश्नर कमर्शियल टैक्स, केंद्र सरकार के उद्योग विभाग के संयुक्त सचिव, संयुक्त सचिव डीआइपीपी, चैंबर ऑफ कॉमर्स जम्मू व कश्मीर के प्रधान व कन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री के प्रधान भी इसके साथ सदस्य होंगे।  इसी बीच कमेटी के चेयरमैन चाहें तो वह किसी अधिकारी या अन्य व्यक्ति को विशेष आमंत्रित सदस्य के रूप में इस कमेटी में शामिल कर सकते हैं। उच्च स्तरीय इस कमेटी को काम करने में उद्योग एवं वाणिज्य विभाग की ओर से सहयोग दिया जाएगा।

यह कमेटी राज्य में उद्योग के फलने फूलने का माहौल बनाने के साथ औद्योगिक संगठनों द्वारा समय-समय पर उठाए जाने वाले मसलों को हल करने की कारवाई करेगी। उच्च स्तरीय यह कमेटी हर तीन महीने बाद बैठक कर राज्य में उद्योग को सरकार बनाने की दिशा में उठाए जा रहे कदमों पर विचार विमर्श करेगी।

भाजपा-पीडीपी सरकार के कार्यकाल में जुलाई 2015 में शुरू ईज आफ डुइंग बिजनेस अभियान आगे नहीं बढ़ पाया। अब राज्यपाल शासन में इस दिशा में नए सिरे से पहल की गई है। ऐसे में नए सिरे से बनाई गई कमेटी के सदस्यों में उद्योग विभाग का जिम्मा संभालने वाले राज्यपाल के सलाहकार, मुख्यसचिव, योजना, उद्योग, रोजगार, वन, बिजली, राजस्व, सूचना एवं तकनीक, कृषि विभागों के प्रशासनिक सचिव शामिल हैं।

उनके साथ प्रदूषण नियंत्रक बोर्ड के चेयरमैन, कमिश्नर कमर्शियल टैक्स, केंद्र सरकार के उद्योग विभाग के संयुक्त सचिव, संयुक्त सचिव डीआइपीपी, चैंबर ऑफ कॉमर्स जम्मू व कश्मीर के प्रधान व कन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री के प्रधान भी इसके साथ सदस्य होंगे।

इसी बीच कमेटी के चेयरमैन चाहें तो वह किसी अधिकारी या अन्य व्यक्ति को विशेष आमंत्रित सदस्य के रूप में इस कमेटी में शामिल कर सकते हैं। उच्च स्तरीय इस कमेटी को काम करने में उद्योग एवं वाणिज्य विभाग की ओर से सहयोग दिया जाएगा।

The post राज्यपाल संभालेंगे नई उद्योग नीति बनाने की जिम्मेदारी appeared first on TOS News.

]]>
पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला के घर में जबरन घुसने की कोशिश, सुरक्षाबलों ने एक घुसपैठिए को मार गिराया https://tosnews.com/%e0%a4%aa%e0%a5%82%e0%a4%b0%e0%a5%8d%e0%a4%b5-%e0%a4%ae%e0%a5%81%e0%a4%96%e0%a5%8d%e0%a4%af%e0%a4%ae%e0%a4%82%e0%a4%a4%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a5%80-%e0%a4%ab%e0%a4%be%e0%a4%b0%e0%a5%82%e0%a4%95/140320 Sat, 04 Aug 2018 12:17:26 +0000 https://tosnews.com/?p=140320 पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस के प्रधान डा. फारूक अब्दुल्ला के घर घुसे घुसपैठिए को सुरक्षाबलों ने मार गिराया। जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग के साथ

The post पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला के घर में जबरन घुसने की कोशिश, सुरक्षाबलों ने एक घुसपैठिए को मार गिराया appeared first on TOS News.

]]>
पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस के प्रधान डा. फारूक अब्दुल्ला के घर घुसे घुसपैठिए को सुरक्षाबलों ने मार गिराया। जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग के साथ लगते भठिंढी में यह घटना जब हुई, उस समय डा. फारूक अब्दुल्ला घर में नहीं थे। सुबह करीब दस बजे एक व्यक्ति एसयूवी गाड़ी में सवार होकर पूर्व मुख्यमंत्री के घर के भीतर जबरन घुस गया। घर की सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मियों ने उसे रोकने का प्रयास किया लेकिन जब वह नहीं रूका तो उसे गोली चलाकर मार गिराया गया।पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस के प्रधान डा. फारूक अब्दुल्ला के घर घुसे घुसपैठिए को सुरक्षाबलों ने मार गिराया। जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग के साथ लगते भठिंढी में यह घटना जब हुई, उस समय डा. फारूक अब्दुल्ला घर में नहीं थे। सुबह करीब दस बजे एक व्यक्ति एसयूवी गाड़ी में सवार होकर पूर्व मुख्यमंत्री के घर के भीतर जबरन घुस गया। घर की सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मियों ने उसे रोकने का प्रयास किया लेकिन जब वह नहीं रूका तो उसे गोली चलाकर मार गिराया गया।   जम्‍मू-कश्‍मीर के पूर्व मुख्‍यमंत्री फारूक अब्‍दुल्‍ला के आवास में जबरन घुसे एक व्‍यक्ति को सुरक्षा बलों ने मार गिराया है। बताया जा रहा है कि यह व्‍यक्ति एसयूवी में सवार था और अब्‍दुल्‍ला के जम्‍मू स्थित आवास में जबरन घुस गया था। सुरक्षाबलों ने उसे रोकने की कोशिश की लेकिन वह नहीं रुका। इसके बाद अब्‍दुल्‍ला के आवास पर तैनात सुरक्षाकर्मियों ने गोली चला दी।     कारगिल युद्ध में भी एलओसी की गरिमा बनी रही : फारूक यह भी पढ़ें जम्मू के इंस्पेक्टर जनरल आफ पुलिस एसडी सिंह जम्वाल, डीआईजी सहित पुलिस के कई वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। इस मामले में अभी वह कुछ भी नहीं कह रहे हैं।   इस घटना के बाद जम्मू के एसएसपी विवेक गुप्ता ने बताया कि, कार में बैठा घुसपैठिया मेन गेट को पार करके अंदर घुस गया था। वहां ड्यूटी पर तैनात अफसर से उसकी भिडंत हुई। जिसमें ड्यूटी ऑफिसर घायल हो गया है। जैसे ही वो घर में घुसा तो सुरक्षाबलों ने उसे मार गिराया

जम्‍मू-कश्‍मीर के पूर्व मुख्‍यमंत्री फारूक अब्‍दुल्‍ला के आवास में जबरन घुसे एक व्‍यक्ति को सुरक्षा बलों ने मार गिराया है। बताया जा रहा है कि यह व्‍यक्ति एसयूवी में सवार था और अब्‍दुल्‍ला के जम्‍मू स्थित आवास में जबरन घुस गया था। सुरक्षाबलों ने उसे रोकने की कोशिश की लेकिन वह नहीं रुका। इसके बाद अब्‍दुल्‍ला के आवास पर तैनात सुरक्षाकर्मियों ने गोली चला दी।

जम्मू के इंस्पेक्टर जनरल आफ पुलिस एसडी सिंह जम्वाल, डीआईजी सहित पुलिस के कई वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। इस मामले में अभी वह कुछ भी नहीं कह रहे हैं। 

इस घटना के बाद जम्मू के एसएसपी विवेक गुप्ता ने बताया कि, कार में बैठा घुसपैठिया मेन गेट को पार करके अंदर घुस गया था। वहां ड्यूटी पर तैनात अफसर से उसकी भिडंत हुई। जिसमें ड्यूटी ऑफिसर घायल हो गया है। जैसे ही वो घर में घुसा तो सुरक्षाबलों ने उसे मार गिराया

The post पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला के घर में जबरन घुसने की कोशिश, सुरक्षाबलों ने एक घुसपैठिए को मार गिराया appeared first on TOS News.

]]>
जम्मू-कश्मीर: सोपोर में सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को किया ढेर, सर्च ऑपरेशन जारी https://tosnews.com/%e0%a4%9c%e0%a4%ae%e0%a5%8d%e0%a4%ae%e0%a5%82-%e0%a4%95%e0%a4%b6%e0%a5%8d%e0%a4%ae%e0%a5%80%e0%a4%b0-%e0%a4%b8%e0%a5%8b%e0%a4%aa%e0%a5%8b%e0%a4%b0-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%b8%e0%a5%81/139957 Fri, 03 Aug 2018 06:16:25 +0000 https://tosnews.com/?p=139957 जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी मिली है। सुरक्षाबलों और आतंकियों की मुठभेड़ हुई। जिसमें सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को ढेर कर दिया। मुठभेड़ सोपोर

The post जम्मू-कश्मीर: सोपोर में सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को किया ढेर, सर्च ऑपरेशन जारी appeared first on TOS News.

]]>
जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी मिली है। सुरक्षाबलों और आतंकियों की मुठभेड़ हुई। जिसमें सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को ढेर कर दिया। जम्मू-कश्मीर: सोपोर में सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को किया ढेर, सर्च ऑपरेशन जारीमुठभेड़ सोपोर के बहरामपोरा गांव में हुई है। दरअसल सुरक्षा बलों को इस गांव में आतंकियों के छिपे होने की जानकारी मिली थी। जिसके बाद सुरक्षाबलों ने गांव को घेरकर सर्च ऑपरेशन चलाया। 

आतंकियों ने खुद को घिरा देख सुरक्षाबलों पर फायरिंग कर दी। सुरक्षाबलों ने भी मुंहतोड़ जवाब दिया। मुठभेड़ में अभी तक दो आतंकियों को ढेर कर दिया है। 

आपको बता दें कि बहरामपोरा गांव में गुरूवार देर रात सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ शुरू हुई थी। सूत्रों का कहना है कि ये दोनों आतंकी गत शनिवार की रात सोपोर में 22 राष्ट्रीय राइफल्स कैंप पर यूबीजीएल दागने में शामिल थे।

गुरूवार की रात इनके गांव में मौजूद रहने की सूचना पर सुरक्षा बलों ने घेरेबंदी की। घेरा सख्त होता देख आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग की। जवाबी कार्रवाई के बाद मुठभेड़ शुरू हो गई।

वहीं उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में सुरक्षाबलों ने गुरूवार दोपहर हिज्ब के दो आतंकियों को ढेर कर दिया था। मारे गए आतंकी हिज्ब से जुड़े हुए थे। आतंकियों के पास से हथियार भी बरामद हुए हैं।

जिले के खुम्रियाल इलाके में पहले से मिले इनपुट्स के आधार पर एसएसपी कुपवाड़ा (ऑपरेशन) शफकत हुसैन की अगुवाही में जम्मू कश्मीर पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप ने सेना की 28 आरआर और 41 आरआर के साथ मिलकर इलाके में एक नाका लगाया था।

तलाशी के दौरान एक गाड़ी में सवार आतंकियों ने नाके पर तैनात जवानों पर फायरिंग की, जिसके जवाब में जवानों ने भी फायरिंग की गई। इसमे हिज्ब के दो स्थानीय आतंकी मार गिराए गया।

The post जम्मू-कश्मीर: सोपोर में सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को किया ढेर, सर्च ऑपरेशन जारी appeared first on TOS News.

]]>