राज्य – TOS News https://tosnews.com Latest Hindi Breaking News and Features Mon, 06 Aug 2018 05:39:17 +0000 en-US hourly 1 https://wordpress.org/?v=4.9.8 https://tosnews.com/wp-content/uploads/2017/03/tosnews-favicon-45x45.png राज्य – TOS News https://tosnews.com 32 32 Big News: बिहार के बाद अब यूपी के शेल्टर होम में देह व्यापार का हुआ खुलासा, संचालिका व उसका पति गिरफ्तार! https://tosnews.com/big-news-%e0%a4%ac%e0%a4%bf%e0%a4%b9%e0%a4%be%e0%a4%b0-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%ac%e0%a4%be%e0%a4%a6-%e0%a4%85%e0%a4%ac-%e0%a4%af%e0%a5%82%e0%a4%aa%e0%a5%80-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%b6%e0%a5%87/140542 Mon, 06 Aug 2018 05:35:30 +0000 https://tosnews.com/?p=140542 देवरिया: बिहार के मुजफ्फरपुर शेल्टर होम का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि अब उत्तर प्रदेश के देवरिया जनपद में ही ऐसा एक

The post Big News: बिहार के बाद अब यूपी के शेल्टर होम में देह व्यापार का हुआ खुलासा, संचालिका व उसका पति गिरफ्तार! appeared first on TOS News.

]]>
देवरिया: बिहार के मुजफ्फरपुर शेल्टर होम का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि अब उत्तर प्रदेश के देवरिया जनपद में ही ऐसा एक मामला निकल कर सामने आया है। देवरिया नारी संरक्षण गृह में भी देह व्यापार कराए जाने का खुलासा हुआ है। संरक्षण गृह से भागी एक बालिका ने रविवार शाम को यह जानकारी दी। रात में पुलिस ने छापा मारा तो संरक्षण गृह से 18 लड़कियां गायब मिलीं। पुलिस ने संचालिका और उसके पति को गिरफ्तार कर लिया।


रविवार देर रात पुलिस अधीक्षक रोहन पी. कनय ने बताया कि मां विंध्यवासिनी महिला एवं बालिका संरक्षण गृह की सूची में 42 लडकियां दर्ज हैं। लेकिन छापे में मौके पर केवल 24 मिलीं। बाकी का पता किया जा रहा है। नारी संरक्षण गृह के बारे में लंबे समय से शिकायत मिल रही थी। अनियमितताओं के कारण इसकी मान्यता जून.2017 में समाप्त कर दी गई थी।

एसपी ने बताया कि बिहार के बेतिया जिले की 10 साल की बच्ची देर शाम को किसी तरह संरक्षण गृह से निकलकर महिला थाने पहुंची। वहां उसने संरक्षण गृह की अनियमितताओं के बारे में जानकारी दी। बच्ची के मुताबिक वहां शाम चार बजे के बाद रोजाना कई लोग काले और सफेद रंग की कारों से आते थे और मैडम के साथ लड़कियों को लेकर जाते थे। वे देर रात लौटती थीं।

संरक्षण गृह में भी गलत काम होता है। बच्ची ने बताया उससे भी झाड़ू.पोंछा तथा घर के अन्य काम कराए जाते थे। एसपी ने बताया कि पुलिस ने रात में ही नारी संरक्षण गृह में छापा मारा। वहां रजिस्टर में अलग.अलग आयु वर्ग की 42 लड़कियां दर्ज हैं। मिलान करने पर 18 लड़कियां नहीं मिलीं। संचालिका गिरिजा त्रिपाठी और उनके पति मोहन इनके बारे में संतोषजनक जवाब नहीं दे रहे हैं। दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया है। एसपी के साथ जिला प्रोबेशन अधिकारी प्रभात कुमार और बाल संरक्षण अधिकारी जेडी तिवारी मौजूद थे।

The post Big News: बिहार के बाद अब यूपी के शेल्टर होम में देह व्यापार का हुआ खुलासा, संचालिका व उसका पति गिरफ्तार! appeared first on TOS News.

]]>
Big Breaking: पूर्व सांसद रामविलास वेदांती को मिली धमकी,एफआईआर दर्ज! https://tosnews.com/big-breaking-%e0%a4%aa%e0%a5%82%e0%a4%b0%e0%a5%8d%e0%a4%b5-%e0%a4%b8%e0%a4%be%e0%a4%82%e0%a4%b8%e0%a4%a6-%e0%a4%b0%e0%a4%be%e0%a4%ae%e0%a4%b5%e0%a4%bf%e0%a4%b2%e0%a4%be%e0%a4%b8-%e0%a4%b5%e0%a5%87/140537 Mon, 06 Aug 2018 05:20:59 +0000 https://tosnews.com/?p=140537 लखनऊ: राम मंदिर आनदेलन से जुड़े और प्रतापगढ़ से पूर्व सांसद रामविलास वेदांती को फोन पर जान से मारने की धमकी मिली है। इस संबंध

The post Big Breaking: पूर्व सांसद रामविलास वेदांती को मिली धमकी,एफआईआर दर्ज! appeared first on TOS News.

]]>
लखनऊ: राम मंदिर आनदेलन से जुड़े और प्रतापगढ़ से पूर्व सांसद रामविलास वेदांती को फोन पर जान से मारने की धमकी मिली है। इस संबंध में विभूतिखण्ड थाने में पूर्व सांसद ने अज्ञात लोगों के खिलाफ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करायी है। पूर्व सांसद को अब तक दो बार फोन से धमकी मिल चुकी है।


फैजाबाद के अयोध्या हिंदूधाम में रहते हैं। उनका कहना है कि 27 जून को वह अपने काम से लखनऊ आये थे। वह अपने एक परिचित के घर विभूतिखण्ड के विनम्रखण्ड में रुके थे। 28 जून को उनके पास से एक मोबाइल नम्बर 7226035381 से फोन आया। फोनकर्ता ने सबसे पहले पूर्व सांसद से उनका नाम पूछा। नाम बताने पर फोनकर्ता पूर्व सांसद को गाली देने लगा।

इसके बाद आरोपी ने फोन काट दिया। इस फोन कॉल के आने के बाद पूर्व सांसद ने फौरन इस बात की शिकायत डीएम फैजाबाद से की। इसके बाद बीते 3 अगस्त को एक बार फिर पूर्व सांसद रामविलास वेदांती के पास मोबाइल नम्बर 7523076034 से फोन आया। इस बार फोन करने वाले ने पूर्व सासंद को धमकी देते हुए एक समुदाय विशेष का नाम लेकर उसके आरक्षण के खिलाफ न बोलने की बात कही। इसी के साथ फोनकर्ता ने पूर्व सांसद को गाली देते हुए उनको जान से मारने की धमकी दी।

इस संबंध में अब पूर्व सांसद ने प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार ,एसएसपी लखनऊ, एसएसपी फैजाबाद और डीएम फैजाबाद को पत्र भेजकर शिकायत करते हुए सुरक्षा प्रदान करने की मांग की है। फिलहाल पूर्व सांसद की शिकायत पर विभूतिखण्ड थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 504, 506 और 507 के तहत रिपोर्ट दर्ज कर ली गयी है। अब इस मामले में पुलिस पूर्व सांसद को फोन कर धमकी देने वाले के बारे में सर्विलांस की मदद से पता लगा रही है।

The post Big Breaking: पूर्व सांसद रामविलास वेदांती को मिली धमकी,एफआईआर दर्ज! appeared first on TOS News.

]]>
मुजफ्फरपुर रेप मामले में बृजेश ठाकुर पर सरकार ने कसा शिकंजा, आर्म्स लाइसेंस किया रद्द https://tosnews.com/%e0%a4%ae%e0%a5%81%e0%a4%9c%e0%a4%ab%e0%a5%8d%e0%a4%ab%e0%a4%b0%e0%a4%aa%e0%a5%81%e0%a4%b0-%e0%a4%b0%e0%a5%87%e0%a4%aa-%e0%a4%ae%e0%a4%be%e0%a4%ae%e0%a4%b2%e0%a5%87-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82/140522 Sun, 05 Aug 2018 12:11:29 +0000 https://tosnews.com/?p=140522 मुजफ्फरपुर में 34 लड़कियों के साथ रेप मामले में गैर सरकारी संगठन (NGO) सेवा संकल्प एवं विकास समिति के संचालक बृजेश ठाकुर के खिलाफ

The post मुजफ्फरपुर रेप मामले में बृजेश ठाकुर पर सरकार ने कसा शिकंजा, आर्म्स लाइसेंस किया रद्द appeared first on TOS News.

]]>
मुजफ्फरपुर में 34 लड़कियों के साथ रेप मामले में गैर सरकारी संगठन (NGO) सेवा संकल्प एवं विकास समिति के संचालक बृजेश ठाकुर के खिलाफ बिहार सरकार का शिकंजा कसता जा रहा है. इस बार सरकार ने बृजेश ठाकुर का आर्म्स लाइसेंस रद्द कर दिया है.

इसके साथ ही मुजफ्फरपुर के जिलाधिकारी मोहम्मद सोहेल ने बृजेश ठाकुर को जारी किए गए सभी हथियार को 48 घंटे के अंदर वापस जमा करने का आदेश दिया है.  मिली जानकारी के मुताबिक बृजेश ठाकुर के पास एक पिस्टल और एक राइफल का लाइसेंस निर्गत किया हुआ है लेकिन जिलाधिकारी के फरमान के बाद उसे 2 दिनों के अंदर अपने दोनों हथियार सरकार को वापस जमा करना है.

गौरतलब है कि मुजफ्फरपुर के बालिका गृह में 34 लड़कियों के साथ बलात्कार के मामले में बृजेश ठाकुर मुख्य आरोपी है. बृजेश के खिलाफ 31 मई को FIR दर्ज की गई थी और गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया था.

मुजफ्फरपुर में बालिका गृह कांड को लेकर बिहार सरकार पर विपक्ष लगातार दबाव बना रहा है. इस मामले में आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने शनिवार को दिल्ली के जंतर-मंतर पर विरोध प्रदर्शन किया और कैंडल मार्च निकाला.

इस दौरान तेजस्वी के समर्थन में उनकी बहन मीसा भारती, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल, जेडीयू से अलग हुए शरद यादव, सीपीआई नेता डी राजा, सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी, आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह समेत अन्य नेता और छात्र नेता भी जंतर-मंतर पहुंचे.

तेजस्वी यादव ने नीतीश सरकार पर बोला हमला

जंतर- मंतर पर प्रदर्शन के दौरान तेजस्वी यादव ने कहा कि मुजफ्फपुर की घटना से खून खौलता है. उन्होंने कहा कि आज हम दिल्ली इसलिए पहुंचे हैं कि हमारे चाचा (नीतीश कुमार) की अंतरआत्मा नहीं जाती है. तेजस्वी यादव ने कहा कि जो बच्ची दरिंदों के बारे में ज्यादा जानती थी, उसको सबसे पहले दूसरे शेल्टर होम में शिफ्ट किया गया. नीतीश सरकार पर निशाना साधते हुए तेजस्वी ने कहा कि आज बिहार में जंगलराज नहीं, बल्कि राक्षस राज चल रहा है. उन्होंने कहा कि मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में होनी चाहिए.

The post मुजफ्फरपुर रेप मामले में बृजेश ठाकुर पर सरकार ने कसा शिकंजा, आर्म्स लाइसेंस किया रद्द appeared first on TOS News.

]]>
दिल्ली में राजद ने नीतीश सरकार के खिलाफ बोला हल्ला, बोली ये बातें https://tosnews.com/%e0%a4%a6%e0%a4%bf%e0%a4%b2%e0%a5%8d%e0%a4%b2%e0%a5%80-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%b0%e0%a4%be%e0%a4%9c%e0%a4%a6-%e0%a4%a8%e0%a5%87-%e0%a4%a8%e0%a5%80%e0%a4%a4%e0%a5%80%e0%a4%b6-%e0%a4%b8/140509 Sun, 05 Aug 2018 12:10:52 +0000 https://tosnews.com/?p=140509 पटना। मुजफ्फरपुर बालिका गृह में बच्चियों के साथ हुई हैवानियत के खिलाफ राजद नेता तेजस्वी यादव ने आज दिल्ली के जंतर-मंतर पर धरना-प्रदर्शन का आह्वान

The post दिल्ली में राजद ने नीतीश सरकार के खिलाफ बोला हल्ला, बोली ये बातें appeared first on TOS News.

]]>
पटना। मुजफ्फरपुर बालिका गृह में बच्चियों के साथ हुई हैवानियत के खिलाफ राजद नेता तेजस्वी यादव ने आज दिल्ली के जंतर-मंतर पर धरना-प्रदर्शन का आह्वान किया, जिसमें तमाम विपक्षी दल के नेताओं ने हिस्सा लिया। राष्ट्रीय जनता दल बिहार के विभिन्न शेल्टर होम में यौन शोषण के मामलों के खिलाफ नीतीश कुमार से इस्तीफे की मांग को लेकर आज दिल्ली के जंतर-मंतर पर धरना और कैंडिल मार्च निकाल रहा है।

राजद का साथ देंगे राहुल-ममता-केजरीवाल 

राजद ने 4 अगस्त को मुजफ्फरपुर कांड के खिलाफ धरना में शामिल होने के लिए राहुल गांधी, अखिलेश यादव, ममता बनर्जी तमाम विपक्षी नेताओं सहित सिविल सोसाइटी के तमाम प्रतिनिधियों से आग्रह किया जिसके बाद ये सभी उनके साथ आए। राजद ने धरने को गैर राजनीतिक कहा है। राजद नेता तेजस्वी यादव ने सोशल मीडिया पर भी इससे संबंधित पोस्ट किया है। 

तेजस्वी ने किया ट्वीट

शुक्रवार को तेजस्वी यादव ने ट्वीट किया, ‘ एक आवाज़ ऐसी उठाई जाए जिसका शोर आने वाली पीढ़ियों की आत्माओं को झकझोरती रहे। हमारी आने वाली नस्लें ये ना कहें कि हमारे पूर्वज कायर और नामर्द थे।मुज़फ़्फ़रपुर के ‘बालिका गृह’ में बेटियों के साथ हुई हैवानियत के विरोध में विशाल धरना एवं कैंडल मार्च, 4 अगस्त, 5:30 बजे

तेजस्वी ने लगाया बड़ा आरोप, मांगा ब्रजेश का फोन डिटेल

तेजस्वी यादव ने बिहार सरकार पर बड़ा आरोप लगाते हुए ट्वीट कर कहा है कि ब्रजेश ठाकुर की जब गिरफ्तारी हुई तो सीनियर पुलिस अॉफिसर को कई केंद्रीय मंत्रियों और राज्य के सत्तासीन मंत्रियों के फोन आने लगे। ये मंत्री कौन हैं? ये सब सीएम के निकटस्थ हैं। इसीलिए मैं ब्रजेश ठाकुर के फोन के एक साल की कॉल डिटेल्स की मांग करता हूं। ये सबलोग इस केस में उजागर हो जाएंगे।

जदयू ने तेजस्वी-तेजप्रताप पर लगाए गंभीर आरोप  

वहीं राजद के धरने और तेजस्वी के आह्वान पर जदयू नेताओं ने तंज कसा है। जदयू नेता संजय सिंह ने तेजस्वी और तेजप्रताप पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि 2008 में दिल्ली के फाइव स्टार होटल में छेड़ छाड़ किया तो दोनों भाइयों की जमकर पिटाई हुई थी। दिल्ली में तीन-तीन जगहों पर छेड़छाड़ का आरोप लगा था वो भूल गए। 

जदयू नेता नीरज कुमार ने कहा कि तेजस्वी यादव के निजी सचिव मणि यादव पर अनैतिक देह वयापार का आरोप है। इस मामले में 2011 में गांधी मैदान थाना में दर्ज हुआ केस। इस मामले में वो जेल भी जा चुके हैं। अब तेजस्वी ये बताएं कि अनैतिक देह व्यापार के आरोपी को अपने निजी सहायक के पद से हटाएंगे क्या? 

तेजस्वी ने लालू के साथ ब्रजेश की तस्वीर पर दी सफाई 

तेजस्वी ने इस घटना पर बिहार की नीतीश कुमार सरकार को घेरा है और कहा है कि नीतीश कुमार के राज में पूरे राज्य में कानून व्यवस्था चरमरा गई है। तेजस्वी यादव ने मुज़फ्फ़रपुर बालिका रेप गृह कांड के मुख्य संरक्षक ब्रजेश ठाकुर के साथ अपने पिता लालू यादव की फोटो को लेकर भी अपनी बात रखी।

उन्होंने कहा कि ये फोटो काफी पुरानी है। उन्होंने कहा कि यह फोटों 1990 के आस-पास की है, जब ब्रजेश ठाकुर एक मामूली रिपोर्टर था और उस वक्त यह एनजीओ भी नहीं खुला था। तेजस्वी ने कहा कि यह फोटो इसलिए वायरल की जा रही है ताकि पूरे मामले से लोगों का ध्यान हटाया जा सके।

तेजस्वी यादव ने ब्रजेश ठाकुर की जेडीयू के नेताओं के साथ फोटो होने पर सवाल उठाते हुए कहा कि कहीं ना कहीं जेडीयू के बडे़ नेता इस पूरे मामले में फंसे हैं। वहीं सीएम नीतीश कुमार आरोपियों को बचाने की कोशिश कर रहे हैं।

The post दिल्ली में राजद ने नीतीश सरकार के खिलाफ बोला हल्ला, बोली ये बातें appeared first on TOS News.

]]>
बालिका गृह यौनशोषण मामला: फूट-फूट कर रोये सांसद पप्‍पू यादव, जानिए कारण https://tosnews.com/%e0%a4%ac%e0%a4%be%e0%a4%b2%e0%a4%bf%e0%a4%95%e0%a4%be-%e0%a4%97%e0%a5%83%e0%a4%b9-%e0%a4%af%e0%a5%8c%e0%a4%a8%e0%a4%b6%e0%a5%8b%e0%a4%b7%e0%a4%a3-%e0%a4%ae%e0%a4%be%e0%a4%ae%e0%a4%b2%e0%a4%be/140514 Sun, 05 Aug 2018 12:10:39 +0000 https://tosnews.com/?p=140514 पटना। जन अधिकार पार्टी (लो) की महिला प्रकोष्‍ठ जन अधिकार महिला परिषद ने आज गर्दनीबाग धरना स्‍थल से राजभवन मार्च निकाला, जिसे थोड़ी दूर आगे

The post बालिका गृह यौनशोषण मामला: फूट-फूट कर रोये सांसद पप्‍पू यादव, जानिए कारण appeared first on TOS News.

]]>
पटना। जन अधिकार पार्टी (लो) की महिला प्रकोष्‍ठ जन अधिकार महिला परिषद ने आज गर्दनीबाग धरना स्‍थल से राजभवन मार्च निकाला, जिसे थोड़ी दूर आगे बढ़ने के बाद पुलिस ने रोक दिया। इस दौरान आगे बढ़ रही महिलाओं के साथ पुलिस ने दुर्व्‍यवाहर किया और मारपीट भी की। कुछ युवतियों के कपड़े भी पुलिसकर्मियों ने फाड़ दिये।

इससे आक्रोशित महिलाओं ने सरकार विरोधी नारे भी लगाये। जन अधिकार महिला परिषद मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौन उत्‍पीड़न कांड के खिलाफ और समा‍ज कल्‍याण मंत्री के इस्‍तीफे की मांग को लेकर राजभवन मार्च का आयोजन किया था। राजभवन मार्च का नेतृत्‍व पार्टी के संरक्षक और सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्‍पू यादव ने किया। वे महिलाओं के साथ पुलिस द्वारा किये गये दुर्व्‍यवहार से काफी भावविह्वल हो गये और फूट-फूट कर रोने लगे। इस दौरान मीडिया से चर्चा में उन्‍होंने कहा कि इस राज्‍य में कोई सु‍रक्षित नहीं है। सत्‍ता के लिए और कितना सौदा करेंगे राजनीति करने वाले। बहू-बेटियों का सौदा करने का घिनौना खेल कब तक चलेगा।

सांसद ने कहा कि बाल व बालिका गृह यौन उत्‍पीड़न और दुष्कर्म का अड्डा बन गये हैं। दुष्कर्मियों को सरकार का संरक्षण मिलता है। बाल सुधार गृह की लड़कियों को नेता और अधिकारियों तक पहुंचाया जाता है और उनका यौन शोषण किया जाता है। यादव ने कहा कि राज्य के सभी बाल सुधार गृहों की जांच होनी चाहिए और वहां होने देह-व्‍यापार का खुलासा होना चाहिए। इसमें शामिल लोगों को पर्दाफाश किया जाना चाहिए। सांसद ने कहा कि वे मुजफ्फरपुर बालिका गृह के गंदे खेल को लेकर कई बार आंदोलन भी कर चुके थे। इस मुद्दे को लोकसभा में उठाया।

यादव ने कहा कि वे और कांग्रेस सांसद रंजीत रंजन ने इस मामले को प्रमुखता से उठाया। इसको लेकर लोकसभा की कार्यवाही बाधित की, तब जाकर राज्‍य सरकार मामले की सीबीआई जांच के लिए तैयार हुई। श्री यादव ने कहा कि पार्टी और उसके प्रकोष्‍ठ मुजफ्फरपुर यौनशोषण कांड के खिलाफ राज्‍यव्‍यापी आंदोलन चलाएंगे और पीडि़ताओं को न्‍याय मिलने तक आंदोलन जारी रहेगा। उन्‍होंने कहा कि वे खुद इस आंदोलन को आगे बढ़ाएंगे और न्‍याय की लड़ाई मजबूती लड़ेंगे। इस मामले को लोकसभा में उठाएंगे। 

राजभवन मार्च के बाद जन अधिकार महिला परिषद का एक प्रतिनिधिमंडल ने राजभवन जाकर राज्‍यपाल के नाम का ज्ञापन एडीसी हिमांशु तिवारी को सौंपा। इसमें मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौनशोषण कांड की सीबीआई जांच सुप्रीम कोर्ट या हाईकोर्ट की निगरानी में करने मांग की गयी थी। प्रतिनिधिमंडल में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष  रघुपति सिंह, राष्ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज अहमद, राष्ट्रीय महासचिव सह प्रवक्ता राघवेंद्र कुशवाहा महिला परिषद की कार्यकारी अध्यक्ष ज्योति चंद्रवंशी,  प्रीति  साहा, सुनीता गुप्ता, प्रिया राज, कंचनमाला, वंदना देवी शामिल थीं।

The post बालिका गृह यौनशोषण मामला: फूट-फूट कर रोये सांसद पप्‍पू यादव, जानिए कारण appeared first on TOS News.

]]>
हैवान ब्रजेश ठाकुर को तो फांसी दे देनी चाहिए: तेजस्वी https://tosnews.com/%e0%a4%b9%e0%a5%88%e0%a4%b5%e0%a4%be%e0%a4%a8-%e0%a4%ac%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a4%9c%e0%a5%87%e0%a4%b6-%e0%a4%a0%e0%a4%be%e0%a4%95%e0%a5%81%e0%a4%b0-%e0%a4%95%e0%a5%8b-%e0%a4%a4%e0%a5%8b-%e0%a4%ab/140507 Sun, 05 Aug 2018 12:09:35 +0000 https://tosnews.com/?p=140507  पटना। दिल्ली के जंतर-मंतर से बिहार के मुजफ्फरपुर बालिका गृह में हुए बच्चियों पर अत्याचार के खिलाफ राजद ने धरना का आयोजन किया है। धरने

The post हैवान ब्रजेश ठाकुर को तो फांसी दे देनी चाहिए: तेजस्वी appeared first on TOS News.

]]>
 पटना। दिल्ली के जंतर-मंतर से बिहार के मुजफ्फरपुर बालिका गृह में हुए बच्चियों पर अत्याचार के खिलाफ राजद ने धरना का आयोजन किया है। धरने पर बैठने से पहले राजद नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि इतनी बच्चियों से हैवानियत करने वाले ब्रजेश ठाकुर को तो फांसी पर लटका देना चाहिए। 

उन्होंने बालिका गृह मामले पर कहा कि इसमें ब्रजेश ठाकुर को बचाने की कोशिश की गई। दो महीने पहले टिस संस्था कोशिश ने इसकी जानकारी दी थी। लेकिन, रिपोर्ट को बाल संरक्षण आयोग ने नजरअंदाज कर दो महीने का वक्त दिया। मामले को दबाने की कोशिश की गई क्योंकि ब्रजेश ठाकुर नीतीश कुमार जी का प्रिय है।  

तेजस्वी ने कहा कि एक लड़की जो इस मामले की मुख्य गवाह है उसे कांड का खुलासा होने के बाद मधुबनी बालिका गृह में रखा गया लेकिन वो वहां से गायब है। वो कहां है? इसकी जानकारी किसी को नहीं। यदि उसे मार दिया गया होगा तो इसका खुलासा कैसे होगा? हो सकता है उसकी हत्या हो गई हो। 

बिहार में कानून व्यवस्था ध्वस्त होने का आरोप लगाते हुए तेजस्वी ने कहा कि पिछले एक साल में प्रदेश में अपराध का ग्राफ तेजी से बढ़ा है। राज्य के हर कोने में महिलाओं से दुष्कर्म की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं। ये चिंता का विषय है। बता दें कि आज राजद ने दिल्ली के जंतर-मंतर पर बालिका गृह में हुए यौनशोषण के मामले को लेकर धरने का आयोजन किया है और तेजस्वी यादव ने इस धरने में शामिल होने के लिए सभी विपक्षी पार्टियों से अपील की है। 

The post हैवान ब्रजेश ठाकुर को तो फांसी दे देनी चाहिए: तेजस्वी appeared first on TOS News.

]]>
बालिका गृह यौन कांड: फिर सवालों में फंसी मंत्री मंजू वर्मा https://tosnews.com/%e0%a4%ac%e0%a4%be%e0%a4%b2%e0%a4%bf%e0%a4%95%e0%a4%be-%e0%a4%97%e0%a5%83%e0%a4%b9-%e0%a4%af%e0%a5%8c%e0%a4%a8-%e0%a4%95%e0%a4%be%e0%a4%82%e0%a4%a1-%e0%a4%ab%e0%a4%bf%e0%a4%b0-%e0%a4%b8%e0%a4%b5/140502 Sun, 05 Aug 2018 12:08:43 +0000 https://tosnews.com/?p=140502 पटना। बिहार के मुजफ्फरपुर स्थित बालिका गृह में यौन हिंसा कांड को लेकर समाज कल्‍याण मंत्री मंजू वर्मा एक बार फिर विवादों में हैं। यह

The post बालिका गृह यौन कांड: फिर सवालों में फंसी मंत्री मंजू वर्मा appeared first on TOS News.

]]>
पटना। बिहार के मुजफ्फरपुर स्थित बालिका गृह में यौन हिंसा कांड को लेकर समाज कल्‍याण मंत्री मंजू वर्मा एक बार फिर विवादों में हैं। यह मामला उन्‍हीं के विभाग से जुड़ा है। इस कांड को रोका जा सकता था, अगर मंत्रालय पहले मिली सूचना पर कार्रवाई करता। ऐसा हम नहीं कह रहे, सरकारी तंत्र ही कह रहा है। हम बात कर रहे हैं बाल संरक्षण आयोग की नौ महीने पहले की उस रिपोर्ट की, जिसमें बालिका गृह की अनियमितताओं पर विस्‍तार से लिखा गया है। आयोग की अध्यक्ष हरपाल कौर के अनुसार सरकार को इसपर कार्रवाई करनी चाहिए थी।

आयोग की रिपोर्ट में कई अनियमितताएं दर्ज

मिली जानकारी के अनुसार मुजफ्फरपुर बालिका गृह की जांच बीते नवंबर 2017 में बाल संरक्षण आयोग की अध्‍यक्ष हरपाल कौर ने की थी। उन्‍होंने जांच में बड़े पैमाने पर अनियमितताएं पाई थीं। बालिका गृह की ऊपरी मंजिल के दरवाजे बंद थे। साथ ही वहां क्षमता से अधिक लड़कियों के रखे जाने का जिक्र भी रिपोर्ट में है।

रिपोर्ट पर नहीं हुई कार्रवाई

बाल संरक्षण आयोग ने यह रिपोर्ट समाज कल्याण विभाग को सौंप दी थी। लेकिन विभाग ने इसे ठंडे बस्‍ते में डाल दिया। आयोग की अध्यक्ष हरपाल कौर कहतीं हैं कि अगर रिपोर्ट पर कार्रवाई की जाती तो यह मामला काफी पहले ही उजागर हो जाता। ऐसे में कई लड़कियों का उत्‍पीड़न बच जाता।

मामले में मंत्री पति पर लगे गंभीर आरोप

विदित हो कि बालिका गृह में यौन उत्‍पीड़न के मामले को लेकर समाज कल्‍याण मंत्री मंजू वर्मा के पति चंद्रशेखर वर्मा पर बालिका गृह में जाने का आरोप लगाया गया है। इस मामले में गिरफ्तार जिला बाल संरक्षण अधिकारी रवि रोशन की पत्नी ने यह आरोप लगाकर सनसनी फैला दी है। हालांकि, मंजू वर्मा ने आरोप को बेबुनियाद बताया है। अब देखना यह है कि बाल संरक्षण आयोग की रिपोर्ट पर कार्रवाई में विलंब को लेकर मंत्री क्‍या और किसपर कार्रवाई करतीं हैं।

The post बालिका गृह यौन कांड: फिर सवालों में फंसी मंत्री मंजू वर्मा appeared first on TOS News.

]]>
मुजफ्फरपुर कांड: जंतर-मंतर पहुँचे राहुल गांधी, और कहा- कमजोर को दबाया जा रहा है https://tosnews.com/%e0%a4%ae%e0%a5%81%e0%a4%9c%e0%a4%ab%e0%a5%8d%e0%a4%ab%e0%a4%b0%e0%a4%aa%e0%a5%81%e0%a4%b0-%e0%a4%95%e0%a4%be%e0%a4%82%e0%a4%a1-%e0%a4%9c%e0%a4%82%e0%a4%a4%e0%a4%b0-%e0%a4%ae%e0%a4%82%e0%a4%a4/140499 Sun, 05 Aug 2018 12:08:19 +0000 https://tosnews.com/?p=140499 नई दिल्ली। बिहार के मुजफ्फरपुर में बालिका गृह यौन शोषण कांड मामले को लेकर आरजेडी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

The post मुजफ्फरपुर कांड: जंतर-मंतर पहुँचे राहुल गांधी, और कहा- कमजोर को दबाया जा रहा है appeared first on TOS News.

]]>
नई दिल्ली। बिहार के मुजफ्फरपुर में बालिका गृह यौन शोषण कांड मामले को लेकर आरजेडी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। नीतीश कुमार के इस्तीफे की मांग को लेकर दिल्ली के जंतर-मंतर पर आरजेडी नेता तेजस्वी यादव का धरना और विरोध प्रदर्शन जारी है। जंतर-मंतर पर मुजफ्फरपुर कांड के विरोध में विपक्षी नेताओं ने कैंडल मार्च भी निकाला।

कमजोर को दबाया जा रहा है

जंतर-मंतर पर तेजस्वी यादव के धरने में शामिल होने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी पहुंचे। मुजफ्फरपुर कांड के खिलाफ प्रदर्शन में लोगों को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि शेल्टर होम कांड में नीतीश जी को जल्द से जल्द कार्रवाई करनी चाहिए। राहुल ने कहा कि देश में जो भी कमजोर हैं उनको दबाया जा रहा है। एक तरफ भाजपा और संघ के लोग हैं और दूसरी तरफ पूरा देश है। 

शर्म से झुक गया है सिर 

जंतर-मंतर पर लोगों को संबोधित करते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि सरकार की ओर से लगातार ब्रजेश ठाकुर को बचाने का काम किया गया। हमने आवाज उठाई तो कहा कि ये विकास में बाधा कर रहे हैं। सुशासन की बात करने वाले नीतीश कुमार ने मामले में सबूत मिटाने की कोशिश की। मुजफ्फरपुर में जो हुआ उसने एक बिहारी के तौर पर मेरा सिर शर्म से झुक गया है। मैं एक भाई, एक बेटा हूं, मेरी बहनों की बेटियां हैं, उनके साथ वो हो, जो मुजफ्फरपुुर में हुआ, हम में से किसी की भी बेटी बहन के साथ ये हो तो सोच के देखिए कैसा लगेगा। शेल्टर होम उन बच्चियों के लिए बनाए जाते हैं, जिनका कोई नहीं होता, जो अनाथ होती हैं लेकिन इन बच्चियों का सरकार की नाक के नीचे यौन शोषण किया गया। मुजफ्फरपुर में जो सामने आया उससे बेहद दुख हुआ है। जंतर-मंजर पर जुटी भीड़ बताती है कि हम अभी न्याय के लिए खड़ा होना नहीं भूले हैं।

40 निर्भया के साथ अत्याचार हुआ

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम कांड को लेकर सियासत जारी है। तेजस्वी यादव के धरने में शामिल होने के लिए जंतर-मंतर पर पहुंचे केजरीवाल ने कहा कि मुजफ्फरपुर कांड की जांच 3 महीने के अंदर करवाई जाए और दोषियों को फांसी दी जाए। उन्होंने कहा कि कई पार्टियों के नेता मुजफ्फरपुर कांड में शामिल हैं, निर्भया कांड के बाद यूपीए का सिंहासन डोला था, यहां तो कई बच्चियों के साथ गंदी हरकत हुई है। केजरीवाल ये यह भी कहा कि बिहार में 40 निर्भया के साथ अत्याचार हुआ है।

धरने में शामिल होने की अपील 

इससे पहले तेजस्वी यादव धरने को गैर राजनीतिक करार देते हुए सभी लोगों से इसमें शामिल होने की अपील की थी। तेजस्वी ने ट्वीट कर धरने की जानकारी दी। अपने ट्वीट में तेजस्वी ने कहा- ‘मुजफ्फरपुर में प्रायोजित और नीतीश सरकार द्वारा संरक्षित जघन्य संस्थागत जन बलात्कार के खिलाफ हम शनिवार को जंतर-मंतर पर धरना करेंगे।’ तेजस्वी ने कहा कि वह मंच से इन जघन्य अपराध पर जवाब मांगेंगे। तेजस्वी के मुताबिक, मुजफ्परपुर कांड की वजह से पूरा देश शर्मसार हुआ है। तेजस्वी ने कहा कि दिल्ली में धरना आयोजित कर पीड़ित लड़कियों के लिए न्याय की मांग करेंगे, साथ ही देश की जनता से पीड़ितों के लिए न्याय के पक्ष में खड़ा होने की मांग करेंगे।

दिल्ली के अलावा अन्य शहरों में भी होगा धरना

तेजस्वी शुक्रवार को ही दिल्ली के लिए रवाना हो गए थे। दिल्ली के बाद अन्य शहरों में भी आंदोलन की तैयारी है। तेजस्वी ने बिहार में साइकिल यात्रा भी निकाली थी। नेता प्रतिपक्ष का आरोप है कि मुजफ्फरपुर कांड के ब्रजेश ठाकुर पर राज्य सरकार के कई मंत्री एवं अधिकारी मेहरबान रहे हैं।

ब्रजेश मंजू वर्मा और सुरेश शर्मा को बचाने की कोशिश कर रही सरकार

तेजस्वी के मुताबिक ब्रजेश समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा के साथ-साथ नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा का भी करीबी है। राज्य सरकार दोनों मंत्रियों को बचाने की कोशिश कर रही है। तेजस्वी ने कहा कि राज्य में खराब विधि-व्यवस्था पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को जवाब देना पड़ेगा। तेजस्वी ने ब्रजेश ठाकुर के साथ लालू प्रसाद की वायरल हो रही तस्वीर पर भी चुप्पी तोड़ी है। उन्होंने कहा कि जिस तस्वीर को लेकर सत्ता पक्ष के प्रवक्ता हाय-तौबा मचा रहे हैं, वह 1990 की है। उस समय ब्रजेश रिपोर्टर था और उसके पास कोई एनजीओ नहीं था। तेजस्वी ने कहा कि सीबीआइ को जांच सौंपने में जानबूझकर देरी की गई ताकि सबूतों को नष्ट किया जा सके। राज्य सरकार की कोशिश इस घटना से जनता का ध्यान भटकाने पर भी है।

बालिका गृह दुष्कर्म कांड पर केंद्र और बिहार को नोटिस

वहीं, बृहस्पतिवार को सुप्रीम कोर्ट ने बिहार के मुजफ्फरपुर में बालिका गृह दुष्कर्म कांड में स्वत: संज्ञान लेते हुए बिहार व केंद्र सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। अगली सुनवाई सात अगस्त को तय की है। इसके साथ ही कोर्ट ने घटना की रिपोर्टिंग पर मीडिया को संयम बरतने को कहा है। कोर्ट ने इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में इंटरव्यू पर टिप्पणी करते हुए कहा कि पीड़िता के दर्द को बार-बार ताजा नहीं किया जाना चाहिए। कोर्ट ने मीडिया को पीड़ितों का इंटरव्यू लेने और यहां तक धुंधली फोटो भी दिखाने से मना किया है।

सीबीआइ कर ही मामले की जांच

मुजफ्फरपुर में बालिका गृह में नाबालिग बच्चियों से दुष्कर्म की घटना का रहस्योद्घाटन टाटा इंस्टीट्यूट आफ सोशल साइंस मुंबई की ऑडिट रिपोर्ट से हुआ था, जिसे इंस्टीट्यूट ने राज्य समाज कल्याण विभाग को दिया था। इस बालिका गृह को बृजेश ठाकुर का एनजीओ चला रहा था। एनजीओ को सरकार से आर्थिक मदद मिलती थी। इन मामले में गत मई में बृजेश ठाकुर सहित 11 लोगों के खिलाफ एफआइआर दर्ज हुई थी। बिहार सरकार ने फिलहाल मामले की जांच सीबीआइ को सौंप दी है और सीबीआइ ने जांच शुरू कर दी है।

The post मुजफ्फरपुर कांड: जंतर-मंतर पहुँचे राहुल गांधी, और कहा- कमजोर को दबाया जा रहा है appeared first on TOS News.

]]>
दिल्ली सरकार को हाई कोर्ट से लगा झटका, कहा… https://tosnews.com/%e0%a4%a6%e0%a4%bf%e0%a4%b2%e0%a5%8d%e0%a4%b2%e0%a5%80-%e0%a4%b8%e0%a4%b0%e0%a4%95%e0%a4%be%e0%a4%b0-%e0%a4%95%e0%a5%8b-%e0%a4%b9%e0%a4%be%e0%a4%88-%e0%a4%95%e0%a5%8b%e0%a4%b0%e0%a5%8d%e0%a4%9f/140494 Sun, 05 Aug 2018 12:06:04 +0000 https://tosnews.com/?p=140494 नई दिल्ली। हाई कोर्ट ने दिल्ली सरकार को तगड़ा झटका देते हुए उनके द्वारा 2017 में लागू की गई न्यूनतम वेतन की अधिसूचना खारिज कर

The post दिल्ली सरकार को हाई कोर्ट से लगा झटका, कहा… appeared first on TOS News.

]]>
नई दिल्ली। हाई कोर्ट ने दिल्ली सरकार को तगड़ा झटका देते हुए उनके द्वारा 2017 में लागू की गई न्यूनतम वेतन की अधिसूचना खारिज कर दी है। इसके साथ ही न्यूनतम वेतन सलाहकार समिति बनाने के लिए जारी की गई अधिसूचना को भी गलत बताया है। कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश गरिमा मित्तल और न्यायमूर्ति सी. हरिशंकर की पीठ ने कहा कि सरकार के दोनों ही निर्णय प्राकृतिक न्याय के सिद्धांतों का उल्लंघन करते हैं। यह निर्णय लेते समय पर्याप्त संसाधन भी ध्यान में नहीं रखे गए।

बता दें कि दिल्ली सरकार ने दो अधिसूचनाएं जारी की थी। एक के जरिये न्यूनतम वेतन सलाहकार समिति बनाने के लिए कहा गया था। दूसरी में न्यूनतम वेतन के संबंध में निर्देश दिए गए थे। इसके अनुसार, अकुशल कर्मचारी के लिए 13,500, अर्ध कुशल के 14,698 और कुशल कर्मचारी के लिए 16182 रुपये प्रति माह न्यूनतम वेतन के रूप में तय किए गए थे। इन अधिसूचनाओं के बाद विभिन्न औद्योगिक इकाइयों की तरफ से अलग-अलग याचिकाएं हाई कोर्ट में दायर की गई थीं, जिनमें आरोप लगाया गया था कि न्यूनतम वेतन तय करने से पहले उनका पक्ष नहीं सुना गया था।

आदेश पढ़कर रणनीति तय करेंगे: केजरीवाल

हाई कोर्ट के फैसले के बाद सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया है कि हमने गरीब मजदूरों का वेतन बढ़ाकर बड़ी राहत दी थी। कोर्ट का आदेश पढ़कर आगे की रणनीति तय करेंगे। गरीबों को राहत दिलवाने के लिए हम प्रतिबद्ध हैं। वहीं श्रम मंत्री गोपाल राय ने कहा कि जंग आगे भी जारी रहेगी।

The post दिल्ली सरकार को हाई कोर्ट से लगा झटका, कहा… appeared first on TOS News.

]]>
दिल्ली में बिना टेंडर 1000 बसें चलाने की तैयारी, एक साल में 50 लाख किराया https://tosnews.com/%e0%a4%a6%e0%a4%bf%e0%a4%b2%e0%a5%8d%e0%a4%b2%e0%a5%80-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%ac%e0%a4%bf%e0%a4%a8%e0%a4%be-%e0%a4%9f%e0%a5%87%e0%a4%82%e0%a4%a1%e0%a4%b0-1000-%e0%a4%ac%e0%a4%b8%e0%a5%87/140491 Sun, 05 Aug 2018 12:05:47 +0000 https://tosnews.com/?p=140491 नई दिल्ली। दिल्ली सरकार राजधानी में बगैर टेंडर के एक हजार लो फ्लोर बसें किराये पर लेने की तैयारी कर रही है। इसके लिए एसोसिएशन

The post दिल्ली में बिना टेंडर 1000 बसें चलाने की तैयारी, एक साल में 50 लाख किराया appeared first on TOS News.

]]>
नई दिल्ली। दिल्ली सरकार राजधानी में बगैर टेंडर के एक हजार लो फ्लोर बसें किराये पर लेने की तैयारी कर रही है। इसके लिए एसोसिएशन ऑफ स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट अंडरटेकिंग्स (एएसआरटीयू) द्वारा निर्धारित दरों पर जेबीएम कंपनी को काम सौंपा जा रहा है। आरोप है कि प्रस्ताव में भारी अनियमितताओं के कारण परिवहन सचिव व आयुक्त वर्षा जोशी ने परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत के कार्यालय द्वारा तैयार किए गए इस प्रस्ताव के मिनट्स जारी करने से इन्कार कर दिया है। जिसके कारण उन्हें निशाना बनाया जा रहा है।

इस मसले पर पंडारा रोड स्थित अपने निवास पर प्रेसवार्ता कर दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता ने आरोप लगाया कि दिल्ली सरकार द्वारा परिवहन के क्षेत्र में बड़े घोटाले की तैयारी कर ली गई है। विपक्ष इस मुद्दे को विधानभा में उठाएगा और सरकार और प्राइवेट कंपनी द्वारा किए जाने वाले करार को रद किए जाने की मांग करेगा। उन्होंने कहा कि परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत प्राइवेट कंपनी मैसर्स जेबीएम ऑटो लिमिटेड से 1000 लो फ्लोर बसें 14,000 रुपये प्रतिदिन किराये पर लेने की योजना को अंतिम रूप दे चुके हैं। इस प्रकार कंपनी को प्रति बस 4.20 लाख रुपये प्रतिमाह किराया देना होगा। इस तरह एक वर्ष में 50.40 लाख रुपये देने होंगे। इस प्रकार वर्ष में 70 लाख रुपये की बस पर सरकार लगभग 5 करोड़ रुपये प्राइवेट कंपनी को देगी।

कंपनी की यह भी शर्त स्वीकार की गई है कि कंडक्टर का वेतन, सीएनजी पर व्यय तथा जीएसटी सहित सभी कर सरकार द्वारा वहन किए जाएंगे। साथ ही यह शर्त भी स्वीकार की गई है कि इन बसों का पंजीकरण डीटीसी और जेबीएम कंपनी के नाम में होगा। चूंकि डीटीसी इन बसों की सह-मालिक होगी तथा परमिट डीटीसी के नाम में होगा। इन बसों को 10,000 रुपये प्रतिमाह प्रति बस की फीस से भी मुक्त रखा जाएगा।

विजेन्द्र गुप्ता का आरोप है कि इस प्रस्ताव का विरोध परिवहन सचिव वर्षा जोशी ने किया। उन्होंने मंत्री के कार्यालय द्वारा जिस बैठक में इस अवैध प्रस्ताव को तैयार किया गया उसके मिनट्स जारी करने से इन्कार कर दिया। इसके बाद उनके खिलाफ जमकर भड़ास निकाली जा रही है। वहीं इस बारे में पक्ष लेने के लिए परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत के मोबाइल नंबर पर संदेश भेजा गया तथा उन्हें फोन भी किया गया। मगर उनकी ओर से कोई जवाब नहीं आया।

विजेन्द्र गुप्ता के अनुसार कंपनी का प्रस्ताव परिवहन विभाग की ओर से आना चाहिए था। मगर कंपनी ने जून में सीधे दिल्ली सरकार को सीएनजी आधारित एसी तथा नॉन एसी बसें किराये पर देने की पेशकश की। कंपनी की पेशकश को परिवहन मंत्री द्वारा बिना टेंडर स्वीकार कर लिया गया। यह वित्तीय नियमों का उल्लंघन है। कंपनी को इतनी बड़ी संख्या में बसों का निर्माण करने और चलाने का अनुभव भी नहीं है।

कंपनी की मात्र 50 बसें ही चल रही हैं

इस कंपनी की पूरे भारत में मात्र 50 बसें सिर्फ नोएडा में चल रही हैं। यह बसों को बनाने वाली एक नई कंपनी है। जबकि टाटा, लेलैंड, वोल्वो, महेन्द्रा व आयशर जैसी कंपनियां लंबे समय से बसें बना रहीं हैं। बावजूद इन्हें नहीं पूछा गया। जिस प्रकार एक नई कंपनी को बिना टेंडर के काम सौंपा जा रहा है, उसमें भ्रष्टाचार की बू आ रही है।

परिवहन मंत्री ने बनाया दबाव

आरोप है कि परिवहन मंत्री गहलोत अधिकारियों पर इस प्रस्ताव को स्वीकार करने के लिए भारी दबाव बना रहे हैं। मंत्री ने इस मसले पर पहले 27 जुलाई को बैठक की फिर 31 जुलाई को फिर से बैठक की। जिसमें इस प्रस्ताव पर मना करने के बाद भी मंत्री ने अधिकारियों पर आदेश स्वीकार करने का दबाव बनाया। इस 5 हजार करोड़ के प्रोजक्ट के लिए परिवहन विभाग को 3 कार्य दिवस के अंदर कैबिनेट नोट तैयार करने को कहा गया।

The post दिल्ली में बिना टेंडर 1000 बसें चलाने की तैयारी, एक साल में 50 लाख किराया appeared first on TOS News.

]]>