जानें कैसे – TOS News https://tosnews.com Latest Hindi Breaking News and Features Wed, 22 Aug 2018 12:02:50 +0000 en-US hourly 1 https://wordpress.org/?v=4.9.8 https://tosnews.com/wp-content/uploads/2017/03/tosnews-favicon-45x45.png जानें कैसे – TOS News https://tosnews.com 32 32 ऐसे महफूज रहेगा आपका आधार और कोई भी न कर पाएगा मिसयूज, जानें कैसे https://tosnews.com/%e0%a4%90%e0%a4%b8%e0%a5%87-%e0%a4%ae%e0%a4%b9%e0%a4%ab%e0%a5%82%e0%a4%9c-%e0%a4%b0%e0%a4%b9%e0%a5%87%e0%a4%97%e0%a4%be-%e0%a4%86%e0%a4%aa%e0%a4%95%e0%a4%be-%e0%a4%86%e0%a4%a7%e0%a4%be%e0%a4%b0/140617 Mon, 06 Aug 2018 08:38:27 +0000 https://tosnews.com/?p=140617 बीते शुक्रवार को भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) के एक नंबर ने हड़कंप मचाकर रख दिया। एंड्रॉयड यूजर्स के फोन बुक में यूआईडीएआई का

The post ऐसे महफूज रहेगा आपका आधार और कोई भी न कर पाएगा मिसयूज, जानें कैसे appeared first on TOS News.

]]>
बीते शुक्रवार को भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) के एक नंबर ने हड़कंप मचाकर रख दिया। एंड्रॉयड यूजर्स के फोन बुक में यूआईडीएआई का एक टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर नजर आने लगा था। इस पर यूआईडीएआई का कहना था कि यह नंबर (1800-300-1947) गलत और आउटडेटेड है और उनका नया टोल फ्री नंबर 1947 है, जो पिछले दो साल से काम कर रहा है। इस नंबर को लेकर जारी कन्फ्यूजन के बीच गूगल ने भी माफी मांग ली और कहा कि वो एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम से ये नंबर हटाना भूल गए थे। एक जानकारी में यह बात भी सामने आई कि जिन यूजर्स की फोनबुक गूगल से सिंक थी। इस बीच आधार की सिक्योरिटी और उससे जुड़े जोखिम की चिंताएं एक बार फिर से गहरा गई हैं। अगर आप भी आधार से जुड़ी इसी तरह की समस्या को लेकर परेशान हैं तो जाहिर तौर पर यह खबर आपके काम की है।बीते शुक्रवार को भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) के एक नंबर ने हड़कंप मचाकर रख दिया। एंड्रॉयड यूजर्स के फोन बुक में यूआईडीएआई का एक टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर नजर आने लगा था। इस पर यूआईडीएआई का कहना था कि यह नंबर (1800-300-1947) गलत और आउटडेटेड है और उनका नया टोल फ्री नंबर 1947 है, जो पिछले दो साल से काम कर रहा है। इस नंबर को लेकर जारी कन्फ्यूजन के बीच गूगल ने भी माफी मांग ली और कहा कि वो एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम से ये नंबर हटाना भूल गए थे। एक जानकारी में यह बात भी सामने आई कि जिन यूजर्स की फोनबुक गूगल से सिंक थी। इस बीच आधार की सिक्योरिटी और उससे जुड़े जोखिम की चिंताएं एक बार फिर से गहरा गई हैं। अगर आप भी आधार से जुड़ी इसी तरह की समस्या को लेकर परेशान हैं तो जाहिर तौर पर यह खबर आपके काम की है।   आपकी फोनबुक में यूआईडीएआई के एक नंबर का सेव होना भला जोखिमभरा कैसे?  जानकार बताते हैं कि अगर कोई आपकी मोबाइल फोन बुक तक पहुंच सकता है तो आसानी से आपकी प्रोफाइलिंग की जा सकती है और आपको ट्रैक भी। आपकी फोनबुक में मात्र एक नंबर भर सेव हो जाने से कोई भी कंपनी आपकी लोकेशन, गतिविधियों, पसंद-नापसंद, विचारधारा और धार्मिक पहचान के बारे में आसानी से जान सकती है।   अब आधार का विकल्प बनेगा वर्चुअल आईडी, जानिए कैसे करें इसे जेनरेट यह भी पढ़ें खैर आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है हम अपनी इस खबर के माध्यम से जानकारी देने की कोशिश कर रहे हैं कि आप कैसे अपने आधार के हो रहे दुरुपयोग के बारे में जान सकते हैं और साथ ही आप कैसे अपने आधार के मिसयूज को रोक सकते हैं।  ऐसे चेक करें अपने आधार कार्ड का दुरुपयोग:-   आधार कार्ड की डिटेल में कराना चाहते हैं बदलाव तो जरूर जानें ये 5 बातें यह भी पढ़ें इसके लिए आपको uidai. Gov.in पर लॉग इन करना होगा। होम पेज पर ही आपको आधार ऑनलाइन सर्विस के आधार सर्विस सेक्शन में नीचे की ओर आपको आधार ऑथेंटिकेशन हिस्ट्री का विकल्प दिखेगा। इस पर क्लिक करें।   यहां आपको एक ऑप्शन दिखेगा जिस पर आपको अपना आधार डालना होगा। यहां पर सिक्योरिटी कोड का ऑप्शन दिखेगा, इसे एंटर करें और फिर सेंड ओटीपी पर क्लिक करें।    आधार कार्ड में जानकारी अपडेट करवाने से पहले जान लीजिए ये 5 बातें यह भी पढ़ें ऐसा करते ही आप एक नए पेज पर पहुंच जाएंगे और आपके आधार नंबर से लिंक मोबाइल पर एक ओटीपी भेजा जाएगा। नए पेज पर आपसे ऑथेंटिकेशन टाइप पूछा जाएगा। इस बॉक्स के ड्रॉप डाउन में जाकर आप डेमोग्राफिक, बायोमेट्रिक, ऑल जैसे ऑप्शन्स में से AII को चुन लीजिए। इसके नीचे तारीख सिलेक्ट पर आप जब तक की हिस्ट्री देखना चाहते हैं उसे सेलेक्ट कर लें। यहां आपको नंबर ऑफ रिकॉर्ड्स का चयन करना होगा। इतना करते ही आधार से इस्तेमाल से जुड़ी सारी हिस्ट्री आपके सामने होगी। अगर आपको यहां कोई ऐसी ऑथेंटिकेशन दिखती है जिसे आपने नहीं किया है तो आप उसकी शिकायत भी कर सकते हैं। कहां करें शिकायत?  आप अपने आधार से जुड़ी किसी भी जानकारी से संबंधित शिकायत 1947 नंबर डॉयल करके कर सकते हैं। आप इस पर रविवार सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक और सोमवार से शनिवार तक सुबह 7 बजे से रात 11 बजे तक शिकायत दर्ज करा सकते हैं।   घर बैठे चेक करें आधार कार्ड का स्टेटस, समझिए स्टेप बाइ स्टेप प्रोसेस यह भी पढ़ें आप ऐसे रोक सकते हैं मिसयूज?  अगर आप चाहते हैं कि आपका आधार और इससे जुड़ी जानकारियों का मिसयूज न हो तो आप वर्चुअल आईडी को जेनरेट कर सकते हैं। यह 16 अंकों का एक तरह का अस्थायी नंबर होता है। आप इसे जितनी बार चाहे जेनरेट कर सकते हैं। आप इसे जब तक बदलेंगे नहीं यह तब तक वैलिड रहेगा। अगर आपको लगता है कि आपके किसी दोस्त ने आपसे धोखे से इसकी जानकारी ले ली है तो इसे तुरंत बदल लें। आप सेफ रहेंगे।  जानें कैसे जेनरेट करें VID: आधार धारकों की सुरक्षा के मद्देनजर UIDAI ने Virtual ID जारी कर दी है। इसे आधार धारक UIDAI की वेबसाइट से जनरेट कर सकते हैं। यह 16 डिजिट का नंबर है जिसे आधार के विकल्प के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकेगा।  जानिए कैसे कर सकते हैं इसे जनरेट  - UIDAI के होम पेज पर आधार सर्विसेज के अंदर VID जनरेटर पर जाएं।    - अपना आधार नंबर, सिक्योरिटी कोड एंटर करें। इसके बाद सेंड ओटीपी पर क्लिक करें। आपको UIDAI साथ रजिस्टर मोबाइल नंबर पर ओटीपी आ जाएगा।    - ओटीपी को एंटर करें। इसके बाद आपके पास VID यानि की वर्चुअल आईडी जनरेट करने का विकल्प आएगा। इसके अलावा अगर आपने पहले से आईडी जनरेट किया हुआ है तो उस आईडी का भी पता इसी तरह से लगाया जा सकता है। इसके बाद सब्मिट करें। सब्मिट करने पर आपको मोबाइल नंबर पर वर्चुअल आईडी मिल जाएगा।

आपकी फोनबुक में यूआईडीएआई के एक नंबर का सेव होना भला जोखिमभरा कैसे?

जानकार बताते हैं कि अगर कोई आपकी मोबाइल फोन बुक तक पहुंच सकता है तो आसानी से आपकी प्रोफाइलिंग की जा सकती है और आपको ट्रैक भी। आपकी फोनबुक में मात्र एक नंबर भर सेव हो जाने से कोई भी कंपनी आपकी लोकेशन, गतिविधियों, पसंद-नापसंद, विचारधारा और धार्मिक पहचान के बारे में आसानी से जान सकती है।

खैर आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है हम अपनी इस खबर के माध्यम से जानकारी देने की कोशिश कर रहे हैं कि आप कैसे अपने आधार के हो रहे दुरुपयोग के बारे में जान सकते हैं और साथ ही आप कैसे अपने आधार के मिसयूज को रोक सकते हैं।

ऐसे चेक करें अपने आधार कार्ड का दुरुपयोग:

  • इसके लिए आपको uidai. Gov.in पर लॉग इन करना होगा। होम पेज पर ही आपको आधार ऑनलाइन सर्विस के आधार सर्विस सेक्शन में नीचे की ओर आपको आधार ऑथेंटिकेशन हिस्ट्री का विकल्प दिखेगा। इस पर क्लिक करें।
  • यहां आपको एक ऑप्शन दिखेगा जिस पर आपको अपना आधार डालना होगा। यहां पर सिक्योरिटी कोड का ऑप्शन दिखेगा, इसे एंटर करें और फिर सेंड ओटीपी पर क्लिक करें।
  • ऐसा करते ही आप एक नए पेज पर पहुंच जाएंगे और आपके आधार नंबर से लिंक मोबाइल पर एक ओटीपी भेजा जाएगा। नए पेज पर आपसे ऑथेंटिकेशन टाइप पूछा जाएगा। इस बॉक्स के ड्रॉप डाउन में जाकर आप डेमोग्राफिक, बायोमेट्रिक, ऑल जैसे ऑप्शन्स में से AII को चुन लीजिए। इसके नीचे तारीख सिलेक्ट पर आप जब तक की हिस्ट्री देखना चाहते हैं उसे सेलेक्ट कर लें। यहां आपको नंबर ऑफ रिकॉर्ड्स का चयन करना होगा। इतना करते ही आधार से इस्तेमाल से जुड़ी सारी हिस्ट्री आपके सामने होगी। अगर आपको यहां कोई ऐसी ऑथेंटिकेशन दिखती है जिसे आपने नहीं किया है तो आप उसकी शिकायत भी कर सकते हैं।

कहां करें शिकायत?

आप अपने आधार से जुड़ी किसी भी जानकारी से संबंधित शिकायत 1947 नंबर डॉयल करके कर सकते हैं। आप इस पर रविवार सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक और सोमवार से शनिवार तक सुबह 7 बजे से रात 11 बजे तक शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

आप ऐसे रोक सकते हैं मिसयूज?

अगर आप चाहते हैं कि आपका आधार और इससे जुड़ी जानकारियों का मिसयूज न हो तो आप वर्चुअल आईडी को जेनरेट कर सकते हैं। यह 16 अंकों का एक तरह का अस्थायी नंबर होता है। आप इसे जितनी बार चाहे जेनरेट कर सकते हैं। आप इसे जब तक बदलेंगे नहीं यह तब तक वैलिड रहेगा। अगर आपको लगता है कि आपके किसी दोस्त ने आपसे धोखे से इसकी जानकारी ले ली है तो इसे तुरंत बदल लें। आप सेफ रहेंगे।

जानें कैसे जेनरेट करें VID: आधार धारकों की सुरक्षा के मद्देनजर UIDAI ने Virtual ID जारी कर दी है। इसे आधार धारक UIDAI की वेबसाइट से जनरेट कर सकते हैं। यह 16 डिजिट का नंबर है जिसे आधार के विकल्प के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकेगा।

जानिए कैसे कर सकते हैं इसे जनरेट

– UIDAI के होम पेज पर आधार सर्विसेज के अंदर VID जनरेटर पर जाएं।

– अपना आधार नंबर, सिक्योरिटी कोड एंटर करें। इसके बाद सेंड ओटीपी पर क्लिक करें। आपको UIDAI साथ रजिस्टर मोबाइल नंबर पर ओटीपी आ जाएगा।

– ओटीपी को एंटर करें। इसके बाद आपके पास VID यानि की वर्चुअल आईडी जनरेट करने का विकल्प आएगा। इसके अलावा अगर आपने पहले से आईडी जनरेट किया हुआ है तो उस आईडी का भी पता इसी तरह से लगाया जा सकता है। इसके बाद सब्मिट करें। सब्मिट करने पर आपको मोबाइल नंबर पर वर्चुअल आईडी मिल जाएगा।

The post ऐसे महफूज रहेगा आपका आधार और कोई भी न कर पाएगा मिसयूज, जानें कैसे appeared first on TOS News.

]]>
इंग्लैंड में अकेले कार्तिक सभी भारतीय बल्लेबाजों पर भारी, जानें कैसे https://tosnews.com/%e0%a4%87%e0%a4%82%e0%a4%97%e0%a5%8d%e0%a4%b2%e0%a5%88%e0%a4%82%e0%a4%a1-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%85%e0%a4%95%e0%a5%87%e0%a4%b2%e0%a5%87-%e0%a4%95%e0%a4%be%e0%a4%b0%e0%a5%8d%e0%a4%a4/137853 Tue, 24 Jul 2018 08:24:47 +0000 https://tosnews.com/?p=137853 इंग्लैंड की धरती पर चार साल बाद भारतीय टीम टेस्ट सीरीज खेलेगी. मौजूदा पांच टेस्ट मैचों की सीरीज की शुरुआत एक अगस्त को होगी,

The post इंग्लैंड में अकेले कार्तिक सभी भारतीय बल्लेबाजों पर भारी, जानें कैसे appeared first on TOS News.

]]>
इंग्लैंड की धरती पर चार साल बाद भारतीय टीम टेस्ट सीरीज खेलेगी. मौजूदा पांच टेस्ट मैचों की सीरीज की शुरुआत एक अगस्त को होगी, जब टीम इंडिया बर्मिंघम में इंग्लिश टीम का सामना करेगी.इंग्लैंड की धरती पर चार साल बाद भारतीय टीम टेस्ट सीरीज खेलेगी. मौजूदा पांच टेस्ट मैचों की सीरीज की शुरुआत एक अगस्त को होगी, जब टीम इंडिया बर्मिंघम में इंग्लिश टीम का सामना करेगी.  भारतीय टीम में इस दौरे के लिए सात विशेषज्ञ बल्लेबाजों के अलावा दो विकेटकीपर बेट्समैन को चुना गया है. इनमें से कई तो इंग्लैंड में टेस्ट खेलने का अनुभव रखते हैं, जबकि केएल राहुल, करुण नायर और ऋषभ पंत के लिए पहला मौका होगा.  वर्तमान भारतीय दल के जिन छह बल्लेबाजों ने इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज खेली है. उनके प्रदर्शन पर नजर डालें, तो चौंकाने वाले फैक्ट सामने आते हैं.  इन छह बल्लेबाजों में विराट कोहली, शिखर धवन, चेतेश्वर पुजारा, अजिक्य रहाणे, मुरली विजय और दिनेश कार्तिक शामिल हैं. इंग्लैंड में सबसे अच्छी बल्लेबाजी औसत की बात करें, तो दिनेश कार्तिक सबसे आगे हैं.  कोहली: सबसे खराब औसत  इंग्लैंड की धरती पर एकमात्र टेस्ट सीरीज का अनुभव रखने वाले कोहली को 2014 में रन बनाने के लिए जूझना पड़ा था. वह पांच टेस्ट मैचों की दस पारियों में 13.40 की औसत से 134 रन ही बना पाए थे. उनका उच्चतम स्कोर 39 रन था.  हालांकि 2014 के निराशाजनक दौरे के बाद विराट बहुत आगे बढ़ चुके हैं, बहुत कुछ बदल गया है. उन्होंने दुनियाभर में रन बनाए हैं. लेकिन, भारत को अगर इस बार इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज जीतनी है, तो कैप्टन कोहली का रन बनाने ही होंगे .  दिनेश कार्तिक: सबसे आगे  कमाल की बात तो यह कि बल्लेबाजी औसत में दिनेश कार्तिक सबसे आगे हैं. कार्तिक ने आखिरी बार 2007 में इंग्लैंड के खिलाफ उसकी धरती पर तीन टेस्ट मैचों की सीरीज खेली थी. भारत ने वह सीरीज 1-0 से जीती थी, जो इंग्लैंड की सरजमीं पर भारत की आखिरी सीरीज जीत भी है.  दिनेश कार्तिक ने तब तीनों टेस्ट मैचों में पारी की शुरुआत की थी. उन्होंने जेम्स एंडरसन, रेयान साइडबॉटम और क्रिस ट्रेमलेट जैसे गेंदबाजों के आगे सभी टेस्ट मैंचों में अर्धशतक जमाए थे. कार्तिक ने 43.83 की औसत से 263 रन बनाए, जिसमें उनके तीन अर्धशतक शामिल रहे. उनका उच्चतम स्कोर 91 रहा था.  रहाणेः लॉर्ड्स में शतक  2014 के दौरे में चेतेश्वर पुजारा ने 22.20 की औसत से 222 रन बनाए थे. उनका उच्चतम स्कोर 55 रहा था. अजिंक्य रहाणे मौजूदा भारतीय टीम के ऐसे दो बल्लेबाजों में शामिल हैं, जिनके नाम इंग्लैंड में टेस्ट शतक है. रहाणे ने 2014 दौरे में लॉर्ड्स में विजयी शतक (103 रन) जमाया था. रहाणे ने उसे दौर में 33.22 के एवरेज से 299 रन बनाए थे.  मुरली विजय: सबसे सफल  सलामी बल्लेबाज मुरली विजय 2014 की सीरीज में सबसे सफल भारतीय बल्लेबाज रहे. विजय ने उस दौरे में 40.20 की औसत से 402 रन बनाए थे. उन्होंने दौरे के पहले दो टेस्ट मैचों में शानदार बल्लेबाजी की. पहले टेस्ट में विजय ने 146 रन बनाए. लॉर्ड्स में खेले गए अगले टेस्ट के दौरान भारत की जीत में उन्होंने 95 रनों की बेशकीमती पारी खेली थी.

भारतीय टीम में इस दौरे के लिए सात विशेषज्ञ बल्लेबाजों के अलावा दो विकेटकीपर बेट्समैन को चुना गया है. इनमें से कई तो इंग्लैंड में टेस्ट खेलने का अनुभव रखते हैं, जबकि केएल राहुल, करुण नायर और ऋषभ पंत के लिए पहला मौका होगा.

वर्तमान भारतीय दल के जिन छह बल्लेबाजों ने इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज खेली है. उनके प्रदर्शन पर नजर डालें, तो चौंकाने वाले फैक्ट सामने आते हैं.

इन छह बल्लेबाजों में विराट कोहली, शिखर धवन, चेतेश्वर पुजारा, अजिक्य रहाणे, मुरली विजय और दिनेश कार्तिक शामिल हैं. इंग्लैंड में सबसे अच्छी बल्लेबाजी औसत की बात करें, तो दिनेश कार्तिक सबसे आगे हैं.

इंग्लैंड की धरती पर एकमात्र टेस्ट सीरीज का अनुभव रखने वाले कोहली को 2014 में रन बनाने के लिए जूझना पड़ा था. वह पांच टेस्ट मैचों की दस पारियों में 13.40 की औसत से 134 रन ही बना पाए थे. उनका उच्चतम स्कोर 39 रन था.

हालांकि 2014 के निराशाजनक दौरे के बाद विराट बहुत आगे बढ़ चुके हैं, बहुत कुछ बदल गया है. उन्होंने दुनियाभर में रन बनाए हैं. लेकिन, भारत को अगर इस बार इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज जीतनी है, तो कैप्टन कोहली का रन बनाने ही होंगे .

कमाल की बात तो यह कि बल्लेबाजी औसत में दिनेश कार्तिक सबसे आगे हैं. कार्तिक ने आखिरी बार 2007 में इंग्लैंड के खिलाफ उसकी धरती पर तीन टेस्ट मैचों की सीरीज खेली थी. भारत ने वह सीरीज 1-0 से जीती थी, जो इंग्लैंड की सरजमीं पर भारत की आखिरी सीरीज जीत भी है.

दिनेश कार्तिक ने तब तीनों टेस्ट मैचों में पारी की शुरुआत की थी. उन्होंने जेम्स एंडरसन, रेयान साइडबॉटम और क्रिस ट्रेमलेट जैसे गेंदबाजों के आगे सभी टेस्ट मैंचों में अर्धशतक जमाए थे. कार्तिक ने 43.83 की औसत से 263 रन बनाए, जिसमें उनके तीन अर्धशतक शामिल रहे. उनका उच्चतम स्कोर 91 रहा था.

रहाणेः लॉर्ड्स में शतक

2014 के दौरे में चेतेश्वर पुजारा ने 22.20 की औसत से 222 रन बनाए थे. उनका उच्चतम स्कोर 55 रहा था. अजिंक्य रहाणे मौजूदा भारतीय टीम के ऐसे दो बल्लेबाजों में शामिल हैं, जिनके नाम इंग्लैंड में टेस्ट शतक है. रहाणे ने 2014 दौरे में लॉर्ड्स में विजयी शतक (103 रन) जमाया था. रहाणे ने उसे दौर में 33.22 के एवरेज से 299 रन बनाए थे.

मुरली विजय: सबसे सफल

सलामी बल्लेबाज मुरली विजय 2014 की सीरीज में सबसे सफल भारतीय बल्लेबाज रहे. विजय ने उस दौरे में 40.20 की औसत से 402 रन बनाए थे. उन्होंने दौरे के पहले दो टेस्ट मैचों में शानदार बल्लेबाजी की. पहले टेस्ट में विजय ने 146 रन बनाए. लॉर्ड्स में खेले गए अगले टेस्ट के दौरान भारत की जीत में उन्होंने 95 रनों की बेशकीमती पारी खेली थी.

The post इंग्लैंड में अकेले कार्तिक सभी भारतीय बल्लेबाजों पर भारी, जानें कैसे appeared first on TOS News.

]]>
Paytm से अब बिना इंटरनेट भी कर पाएंगे पेमेंट, जानें कैसे https://tosnews.com/paytm-%e0%a4%b8%e0%a5%87-%e0%a4%85%e0%a4%ac-%e0%a4%ac%e0%a4%bf%e0%a4%a8%e0%a4%be-%e0%a4%87%e0%a4%82%e0%a4%9f%e0%a4%b0%e0%a4%a8%e0%a5%87%e0%a4%9f-%e0%a4%ad%e0%a5%80-%e0%a4%95%e0%a4%b0-%e0%a4%aa/122943 Wed, 09 May 2018 11:01:13 +0000 https://tosnews.com/?p=122943 पेटीएम ने यूजर्स तक अपनी पहुंच बढ़ाने और अन्य प्रतिस्पर्धी एप्स को टक्कर देने के लिए नया कदम उठाया है। कंपनी ने पेटीएम ‘टैप

The post Paytm से अब बिना इंटरनेट भी कर पाएंगे पेमेंट, जानें कैसे appeared first on TOS News.

]]>
पेटीएम ने यूजर्स तक अपनी पहुंच बढ़ाने और अन्य प्रतिस्पर्धी एप्स को टक्कर देने के लिए नया कदम उठाया है। कंपनी ने पेटीएम ‘टैप कार्ड’ लॉन्च किया है। इस कार्ड के इस्तेमाल से यूजर्स ऑफलाइन पेमेंट कर पाएंगे यानी बिना इंटरनेट की मदद के भी पेटीएम के जरिये पेमेंट किया जा सकेगा।पेटीएम ने यूजर्स तक अपनी पहुंच बढ़ाने और अन्य प्रतिस्पर्धी एप्स को टक्कर देने के लिए नया कदम उठाया है। कंपनी ने पेटीएम 'टैप कार्ड' लॉन्च किया है। इस कार्ड के इस्तेमाल से यूजर्स ऑफलाइन पेमेंट कर पाएंगे यानी बिना इंटरनेट की मदद के भी पेटीएम के जरिये पेमेंट किया जा सकेगा।    ऐसे कर सकेंगे भुगतान -   कंपनी ने दावा किया है की इसके जरिये 0.5 सेकंड से भी कम समय में लेन-देन किया जा सकेगा। कंपनी ने बताया कि इसके तहत व्यापारियों को एनएफसी पीओएस टर्मिनल मिलेंगे जिसके जरिये भुगतान हो सकेगा।  पेमेंट करने के लिए यूजर्स को टैप कार्ड पर QR कोड स्कैन करना होगा। इसके बाद किसी भी एड वैल्यू मशीन से इसे वेरिफाई करके पेटीएम अकाउंट में एड किया जा सकता है।  डिजिटल इंडिया की ओर कदम बढ़ाते हुए पेटीएम ने पेमेंट सिस्टम को आसान बनाने का प्रयास किया है। इसके तहत कंपनी पहले भाग के रूप में कॉर्पोरेट ओर शैक्षणिक संस्थानों के साथ साझेदारी कर रहा है।  पेटीएम के सीईओ किरण के अनुसार, 'ऐसे कई लोग है जो पेमेंट तो करना चाहते हैं, लेकिन इंटरनेट ना होने के कारण ऑनलाइन भुगतान का इस्तेमाल नहीं करते। लोगों को ऑनलाइन भुगतान करने में सक्षम बनाने के लिए ही पेटीएम टैप कार्ड को पेश किया गया है।'  इन एप्स से है पेटीएम का कड़ा मुकाबला:  गूगल तेज -   गूगल ने भारतीय डिजिटल पेमेंट सेवा में पिछले सितम्बर तेज लॉन्च कर के एंट्री की। सर्च दिग्गज गूगल की मोबाइल पेमेंट सेवा गूगल तेज आईओएस और एंड्रॉयड पर उपलब्ध है।   गूगल तेज के जरिये यूजर्स अपने बैंक अकाउंट और अन्य सेवाएं जैसे- UPI, क्यूआर कोड और फोन नंबर से पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं। इसके अलावा गूगल तेज में कैश मोड का दिलचस्प फीचर भी मौजूद है। इस फीचर की मदद से यूजर्स अपने आस-पास के लोगों को पैसे भेज पाते हैं। इस फीचर में यूजर्स को पैसे ट्रांसफर करते समय बैंक अकाउंट नंबर या फोन नंबर भरने की जरुरत नहीं होती।  हाइक -   इन-हाउस मैसेजिंग ऐप हाइक, व्हाट्सएप को सीधी टक्कर देता है। पिछले कुछ महीनों में हाइक ने कई नए फीचर्स पेश किए हैं। इसमें से कुछ- स्नैपचैट-लाइक स्टोरीज, टाइमलाइन फॉर पोस्ट्स और सबसे जरुरी हाइक वॉलेट है। 2017 जून में लॉन्च हुए हाइक की भी पेटीएम की तरह अपनी वॉलेट सर्विस है। हाइक वॉलेट के जरिये यूजर्स पैसे भेज और रिसीव कर सकते हैं और मोबाइल नंबर रिचार्ज करा सकते हैं। हाइक वॉलेट में ही UPI का विकल्प मौजूद है।  ट्रूकॉलर -   ट्रूकॉलर एक ऐसी ऐप है, जिसने अपने प्लेटफार्म पर कई अलग-अलग फीचर्स उपलब्ध करवाने की कोशिश की है। इस ऐप की शुरुआत एक कॉलर आईडी की तरह हुई थी। इस फोन नंबर ढूंढ़ने वाली ऐप में ऑफर करने के लिए कई टूल्स मौजूद हैं। ट्रूकॉलर अपना कस्टम डायलर, कांटेक्ट लिस्ट और मैसेजिंग इनबॉक्स ऑफर करता है। ट्रूकॉलर का UPI तीन अलग-अलग तरीकों से कार्य करता है। इसमें पैसे भेजना, स्कैन कर के पे करना और मोबाइल बिल्स रिचार्ज करना सम्मिलित है।

ऐसे कर सकेंगे भुगतान –

कंपनी ने दावा किया है की इसके जरिये 0.5 सेकंड से भी कम समय में लेन-देन किया जा सकेगा। कंपनी ने बताया कि इसके तहत व्यापारियों को एनएफसी पीओएस टर्मिनल मिलेंगे जिसके जरिये भुगतान हो सकेगा।

पेमेंट करने के लिए यूजर्स को टैप कार्ड पर QR कोड स्कैन करना होगा। इसके बाद किसी भी एड वैल्यू मशीन से इसे वेरिफाई करके पेटीएम अकाउंट में एड किया जा सकता है।

डिजिटल इंडिया की ओर कदम बढ़ाते हुए पेटीएम ने पेमेंट सिस्टम को आसान बनाने का प्रयास किया है। इसके तहत कंपनी पहले भाग के रूप में कॉर्पोरेट ओर शैक्षणिक संस्थानों के साथ साझेदारी कर रहा है।

पेटीएम के सीईओ किरण के अनुसार, ‘ऐसे कई लोग है जो पेमेंट तो करना चाहते हैं, लेकिन इंटरनेट ना होने के कारण ऑनलाइन भुगतान का इस्तेमाल नहीं करते। लोगों को ऑनलाइन भुगतान करने में सक्षम बनाने के लिए ही पेटीएम टैप कार्ड को पेश किया गया है।’

इन एप्स से है पेटीएम का कड़ा मुकाबला:

गूगल तेज – 

गूगल ने भारतीय डिजिटल पेमेंट सेवा में पिछले सितम्बर तेज लॉन्च कर के एंट्री की। सर्च दिग्गज गूगल की मोबाइल पेमेंट सेवा गूगल तेज आईओएस और एंड्रॉयड पर उपलब्ध है। 

गूगल तेज के जरिये यूजर्स अपने बैंक अकाउंट और अन्य सेवाएं जैसे- UPI, क्यूआर कोड और फोन नंबर से पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं। इसके अलावा गूगल तेज में कैश मोड का दिलचस्प फीचर भी मौजूद है। इस फीचर की मदद से यूजर्स अपने आस-पास के लोगों को पैसे भेज पाते हैं। इस फीचर में यूजर्स को पैसे ट्रांसफर करते समय बैंक अकाउंट नंबर या फोन नंबर भरने की जरुरत नहीं होती।

हाइक –

इन-हाउस मैसेजिंग ऐप हाइक, व्हाट्सएप को सीधी टक्कर देता है। पिछले कुछ महीनों में हाइक ने कई नए फीचर्स पेश किए हैं। इसमें से कुछ- स्नैपचैट-लाइक स्टोरीज, टाइमलाइन फॉर पोस्ट्स और सबसे जरुरी हाइक वॉलेट है। 2017 जून में लॉन्च हुए हाइक की भी पेटीएम की तरह अपनी वॉलेट सर्विस है। हाइक वॉलेट के जरिये यूजर्स पैसे भेज और रिसीव कर सकते हैं और मोबाइल नंबर रिचार्ज करा सकते हैं। हाइक वॉलेट में ही UPI का विकल्प मौजूद है।

ट्रूकॉलर –

ट्रूकॉलर एक ऐसी ऐप है, जिसने अपने प्लेटफार्म पर कई अलग-अलग फीचर्स उपलब्ध करवाने की कोशिश की है। इस ऐप की शुरुआत एक कॉलर आईडी की तरह हुई थी। इस फोन नंबर ढूंढ़ने वाली ऐप में ऑफर करने के लिए कई टूल्स मौजूद हैं। ट्रूकॉलर अपना कस्टम डायलर, कांटेक्ट लिस्ट और मैसेजिंग इनबॉक्स ऑफर करता है। ट्रूकॉलर का UPI तीन अलग-अलग तरीकों से कार्य करता है। इसमें पैसे भेजना, स्कैन कर के पे करना और मोबाइल बिल्स रिचार्ज करना सम्मिलित है।

The post Paytm से अब बिना इंटरनेट भी कर पाएंगे पेमेंट, जानें कैसे appeared first on TOS News.

]]>
Redmi Note 5 Pro फ्री में हो जाएगा आपका, जानें कैसे https://tosnews.com/redmi-note-5-pro-%e0%a4%ab%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a5%80-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%b9%e0%a5%8b-%e0%a4%9c%e0%a4%be%e0%a4%8f%e0%a4%97%e0%a4%be-%e0%a4%86%e0%a4%aa%e0%a4%95%e0%a4%be-%e0%a4%9c/122937 Wed, 09 May 2018 10:57:06 +0000 https://tosnews.com/?p=122937 Xiaomi अपने ग्राहकों के लिए नए-नए ऑफर्स पेश करते रहती है. इस बीच अब कंपनी अपने सबसे पॉपुलर स्मार्टफोन Redmi Note 5 Pro को

The post Redmi Note 5 Pro फ्री में हो जाएगा आपका, जानें कैसे appeared first on TOS News.

]]>
Xiaomi अपने ग्राहकों के लिए नए-नए ऑफर्स पेश करते रहती है. इस बीच अब कंपनी अपने सबसे पॉपुलर स्मार्टफोन Redmi Note 5 Pro को फ्री में पाने का मौका दे रही है. कंपनी ने इसके लिए एक कैंपेन की शुरुआत की है. कैंपेन की जानकारी शाओमी इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर मनु कुमार जैन ने ट्वीट कर दी है.कंपनी ने ग्राहकों के लिए सवाल रखा है कि वो कौन सा प्रोडक्ट Mi Home से घर ले जाना चाहेंगे और क्यों?. सवाल का जवाब देने के बाद आपको इस पेज को लाइक करना होगा और पोस्ट को शेयर भी करना होगा. साथ ही (@mihomein) को इंस्टाग्राम पर भी फॉलो करना होगा. पोस्ट में अपने दोस्तों को टैग कर उन्हें भी कमेंट करने को भी कहना होगा. इन सबके बाद कंपनी के मुताबिक सबसे अलग जवाब देने वाले को विजेता के रूप में एक Redmi Note 5 Pro स्मार्टफोन दिया जाएगा. एमआई होम का फेसबुक लिंक- https://www.facebook.com/MiHomeIN/?ref=br_rs है.

इस कैंपेन का नाम #FutureLivesHere रखा गया है. इस कैंपेन के तहत Note 5 Pro मुफ्त में पाने के लिए एक आसान से सवाल का जवाब देना है साथ ही Mi Home के फेसबुक और इंस्टाग्राम पेज को फॉलो भी करना है.

कंपनी ने ग्राहकों के लिए सवाल रखा है कि वो कौन सा प्रोडक्ट Mi Home से घर ले जाना चाहेंगे और क्यों?. सवाल का जवाब देने के बाद आपको इस पेज को लाइक करना होगा और पोस्ट को शेयर भी करना होगा. साथ ही (@mihomein) को इंस्टाग्राम पर भी फॉलो करना होगा. पोस्ट में अपने दोस्तों को टैग कर उन्हें भी कमेंट करने को भी कहना होगा.

इन सबके बाद कंपनी के मुताबिक सबसे अलग जवाब देने वाले को विजेता के रूप में एक Redmi Note 5 Pro स्मार्टफोन दिया जाएगा. एमआई होम का फेसबुक लिंक- https://www.facebook.com/MiHomeIN/?ref=br_rs है.

The post Redmi Note 5 Pro फ्री में हो जाएगा आपका, जानें कैसे appeared first on TOS News.

]]>
जिम जाने का न हो टाइम तो घर के इन कामों में ढूंढें फिट रहने का राज, जानें कैसे https://tosnews.com/%e0%a4%9c%e0%a4%bf%e0%a4%ae-%e0%a4%9c%e0%a4%be%e0%a4%a8%e0%a5%87-%e0%a4%95%e0%a4%be-%e0%a4%a8-%e0%a4%b9%e0%a5%8b-%e0%a4%9f%e0%a4%be%e0%a4%87%e0%a4%ae-%e0%a4%a4%e0%a5%8b-%e0%a4%98%e0%a4%b0-%e0%a4%95/114781 Tue, 27 Mar 2018 10:44:06 +0000 https://tosnews.com/?p=114781 अक्सर घर-परिवार संभालने वाली औरतों के पास फिटनेस के लिए वक्त नहीं रहता है। इस वजह से वे अपनी सेहत पर बहुत ज्यादा ध्यान

The post जिम जाने का न हो टाइम तो घर के इन कामों में ढूंढें फिट रहने का राज, जानें कैसे appeared first on TOS News.

]]>
अक्सर घर-परिवार संभालने वाली औरतों के पास फिटनेस के लिए वक्त नहीं रहता है। इस वजह से वे अपनी सेहत पर बहुत ज्यादा ध्यान नहीं दे पाती हैं। समय की कमी की वजह से अगर आप भी एक्सरसाइज के लिए वक्त नहीं निकाल पा रही हैं, तो चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है। आप घर के काम को ही व्यायाम में तब्दील कर सकती हैं। शुरुआत उन कामों से करें, जिनको आप खुद से बिना मशीन की मदद के कर सकती हैं।जिम जाने का न हो टाइम तो घर के इन कामों में ढूंढें फिट रहने का राज, जानें कैसे

बिस्तर ठीक करना
जो लोग सुबह-सुबह उठकर सबसे पहले अपने बिस्तर को ठीक करते हैं, उनको न केवल अच्छा महसूस होता है, बल्कि बिस्तर को सही करने के क्रम में शारीरिक श्रम भी होता है। शोध बताते हैं कि साफ-सुथरा और व्यवस्थित बेड मन को सुकून देते हैं। कहने का मतलब यह है कि जब आप अपने बेड को व्यवस्थित करती हैं, तब आप खुद को और ज्यादा तरोताजा महसूस कर पाती हैं।

बर्तनों को साफ करना
जब बात बर्तनों को साफ करने की आती है, तो लोग मुंह बनाने लगते हैं। हम चाहते हैं कि जूठे बर्तनों को साफ न करना पड़े, लेकिन यह भी एक सच्चाई है कि बर्तनों को साफ करने से आपको लगभग 30 प्रतिशत बैचेनी दूर कम करने में मदद मिलती है। इसके साथ इस दौरान शांत रहने और श्वांस लेने का भी अभ्यास कर सकती हैं। यही नहीं बर्तन धोकर आप एक घंटे में 122 से 183 कैलोरी भी बर्न कर सकती हैं।

बाथरूम साफ करना
बाथरूम साफ करने से आपके शरीर को बहुत फायदा पहुंचता है। जब बाथरूम की सफाई करना हो, तो उस दौरान स्क्वैट्स करें। इस अवस्था में तब तक रहें, जब तक कि आपकी जांघों में दर्द या खिंचाव न महसूस हो। इसके साथ जब आप बाथरूम को साफ-सुथरा रखती हैं, तो इससे बीमारियां भी नहीं फैलती हैं।

किचन को व्यवस्थित करना
खाना बनाने के लिए आपको किचन में काफी मेहनत करनी पड़ती है। लेकिन सेहत की दृष्टि से यह आपके लिए फायदेमंद ही है। किचन में एक घंटे काम करने से आपको 144 से 215 कैलोरी बर्न करने में मदद मिल सकती है। लेकिन इस दौरान यह ध्यान रखें कि आपका किचन व्यवस्थित हो। आप विश्वास करें या न करें, लेकिन किचन के सामन को व्यवस्थित करने से हमें अपने बढ़ते वजन के बारे में पता चलता है। तो क्यों न किचन का सामान व्यवस्थित करते समय थोड़ा शारीरिक अभ्यास भी हो जाए।

कपड़े धोना
हाथों से एक घंटे कपड़े धोकर आप 125-173 कैलोरी बर्न कर सकती हैं। वहीं कपड़े प्रेस करने से एक घंटे में आप 122 से 183 कैलोरी खर्च कर सकती हैं। इसी तरह गार्डनिंग से भी एक घंटे में आप 282 से 442 तक कैलोरी बर्न कर सकती हैं। वजन कम करना चाहती हैं, तो थोड़ा ध्यान गार्डनिंग की तरफ भी दे सकती हैं।

सफाई करना
घर को वैक्यूम क्लीनर से साफ करना आपको भले ही थकावट देने वाली गतिविधि लगे, लेकिन इसका लाभ बिल्कुल किक बॉक्सिंग की तरह होता है। वैक्यूम क्लीनर से आपके हाथ, पैर और शरीर के अन्य भागों का अच्छा अभ्यास हो जाता है। इस गतिविधि को अपने कमरे तक ही सीमित नहीं रखें, बल्कि पूरे घर में करने की कोशिश करें। घर की सफाई अगर वैक्यूम क्लीनर से नहीं करती हैं, तो कोई बात नहीं।

झाडू़ और पोछा के माध्यम से भी शारीरिक गतिविधि कर सकती हैं। बस समय निर्धारित करें और इस काम को थोड़ा जल्दी-जल्दी करें। म्यूजिक सुनते हुए घर की सफाई करें। आपको आश्चर्य होगा कि इन 30-40 मिनट में आपने कितनी कार्डियो कर डाली है।

The post जिम जाने का न हो टाइम तो घर के इन कामों में ढूंढें फिट रहने का राज, जानें कैसे appeared first on TOS News.

]]>
जानें कैसे, बेहद सस्ता और टिकाऊ साबित हुआ ‘Nokia 3’ https://tosnews.com/nokia-3-%e0%a4%9f%e0%a4%bf%e0%a4%95%e0%a4%be%e0%a4%8a-%e0%a4%b9%e0%a5%88%e0%a4%82%e0%a4%a1%e0%a4%b8%e0%a5%87%e0%a4%9f-%e0%a4%a8%e0%a4%bf%e0%a4%95%e0%a4%b2%e0%a4%be-%e0%a4%9c%e0%a4%be%e0%a4%a8/68942 Wed, 30 Aug 2017 12:31:10 +0000 https://tosnews.com/?p=68942 एचएमडी ग्लोबल द्वारा इस साल लॉन्च किए गए नोकिया ब्रांड के स्मार्टफोन में से नोकिया 3 सबसे सस्ता है। अब JerryRigEverything ने नोकिया 3

The post जानें कैसे, बेहद सस्ता और टिकाऊ साबित हुआ ‘Nokia 3’ appeared first on TOS News.

]]>
एचएमडी ग्लोबल द्वारा इस साल लॉन्च किए गए नोकिया ब्रांड के स्मार्टफोन में से नोकिया 3 सबसे सस्ता है। अब JerryRigEverything ने नोकिया 3 की बेंड, स्क्रैच और फायर टेस्टिंग की है। आम तौर पर बजट स्मार्टफोन स्क्रैच या बेंड टेस्ट में टिक नहीं पाते। लेकिन Nokia 3 ज़्यादातर टेस्ट में टिकाऊ साबित हुआ।जानें कैसे, बेहद सस्ता और टिकाऊ साबित हुआ 'Nokia 3'

ये भी पढ़े: तो इन बातों से पता चलता है, कि उनको भी हो गया है आपसे प्यार

JerryRigEverything ने अपने यूट्यूब चैनल पर Nokia 3 की ड्यूरेब्लिटी टेस्ट का वीडियो जारी किया। जैरी ने सबसे पहले नोकिया 3 के डिस्प्ले पर स्क्रैच टेस्टिंग की। और यह फोन बहुत देर तक टिका रहा। लेकिन मॉक स्केल के छठे स्तर पर आखिरकार फोन के डिस्प्ले पर स्क्रैच पड़ ही गए। फाइबर ग्लास से फ्रंट कैमरे को अच्छी खासी प्रोटेक्शन मिलती है। कैपसिटिव बटन भी किसी किस्म के स्क्रैच से सुरक्षित रहते हैं।

पहली कमी पिछले हिस्से पर सामने आती है। जहां पर कैमरा लेंस प्लास्टिक कवर से प्रोटेक्टेड है। इसपर आसानी से स्क्रैच के निशान पड़ जाते हैं। अब कोई भी यूज़र अपने कैमरा लेंस पर खरोंच के निशान नहीं ही चाहेगा, चाहे डिवाइस की कीमत कुछ भी हो। पूरे पिछले हिस्से पर आसानी से खरोच के निशान पड़ जाते हैं। ऐसा प्लास्टिक प्रोटेक्शन के कारण होता है।

जब हैंडसेट की फायर टेस्टिंग हुई तो स्मार्टफोन का डिस्प्ले तेजी से ब्लैक हो गया। लेकिन फोन ने तेजी से रिकवर भी कर लिया। चौंकाने वाली बात है कि Nokia 3 काफी मज़बूत है। और यह बैंड टेस्ट में भी टिक गया।

नोकिया 3 का रिव्यू

नोकिया 3 भारत में 9,499 रुपये में बिकता है। नोकिया को हमने हाल ही में रिव्यू किया था। यह दिखने में एक अच्छा हैंडसेट है और आपको 4जी के साथ वीओएलटीई सपोर्ट मिलेगा। एक और अच्छी बात यह है कि कंपनी ने भविष्य में एंड्रॉयड अपडेट का वादा किया है, यानी एंड्रॉयड ओ की भी अपडेट की संभावना है। हर डिपार्टमेंट में इसकी परफॉर्मेंस और कैमरा इसके पक्ष में नहीं जाते। हमें फिंगरप्रिंट सेंसर की भी कमी खली, इसे अब आम फीचर होना चाहिए। हमारे विचार से नोकिया 3 पहली बार स्मार्टफोन इस्तेमाल करने वाले यूज़र के लिए बना है, अगर आप इसे पास के दुकान से खरीदने में सफल रहे तो।
 

Nokia 3 के स्पेसिफिकेशन

नोकिया 3 में पॉलीकार्बोनेट बॉडी है। इसपर कॉर्निंग गोरिल्ला ग्लास लेमिनेशन दी गई है। यह सिल्वर व्हाइट, मैटे ब्लैक, ब्लू और कॉपर व्हाइट रंग में मिलेगा। इसमें 5 इंच का एचडी (720×1280 पिक्सल) आईपीएस डिस्प्ले है। इसमें 1.3 गीगाहर्ट्ज़ क्वाड-कोर मीडियाटेक एमटी6737 प्रोसेसर है। और साथ में मौज़ूद है 2 जीबी रैम। इनबिल्ट स्टोरेज 16 जीबी है और फोन में 128 जीबी तक के माइक्रोएसडी कार्ड के लिए सपोर्ट मौज़ूद है।

ये भी पढ़े: अगर देना है चीन को कड़ा संदेश, तो इंडियन टीम से कहिए उतार फेंके अपने कपड़े!

नोकिया 3 में 8 मेगापिक्सल के रियर और फ्रंट कैमरे हैं। दोनों ही कैमरे ऑटोफोकस से लैस हैं। कंपनी ने जानकारी दी है कि बेहतर सेल्फी के लिए नोकिया 3 में डिस्प्ले फ्लैश होगा। नोकिया 3 में 2650 एमएएच की बैटरी है। इसका डाइमेंशन 143.4×71.4×8.4 मिलीमीटर है और यह 4जी एलटीई को सपोर्ट करता है।

The post जानें कैसे, बेहद सस्ता और टिकाऊ साबित हुआ ‘Nokia 3’ appeared first on TOS News.

]]>
योग से दूर होगी प्रेग्नेंसी की हर तकलीफ, जानें कैसे https://tosnews.com/%e0%a4%af%e0%a5%8b%e0%a4%97-%e0%a4%b8%e0%a5%87-%e0%a4%a6%e0%a5%82%e0%a4%b0-%e0%a4%b9%e0%a5%8b%e0%a4%97%e0%a5%80-%e0%a4%aa%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a5%87%e0%a4%97%e0%a5%8d%e0%a4%a8%e0%a5%87%e0%a4%82/65365 Mon, 21 Aug 2017 07:49:44 +0000 https://tosnews.com/?p=65365 महिलाओं के जीवन में प्रेग्नेंसी का दौर काफी महत्वपूर्ण होता है। चेहरे पर आने वाले बच्चे की खुशी होती है तो साथ ही साथ

The post योग से दूर होगी प्रेग्नेंसी की हर तकलीफ, जानें कैसे appeared first on TOS News.

]]>
महिलाओं के जीवन में प्रेग्नेंसी का दौर काफी महत्वपूर्ण होता है। चेहरे पर आने वाले बच्चे की खुशी होती है तो साथ ही साथ कुछ तकलीफें भी उन्हें परेशान करती रहती हैं। प्रेगनेंसी के समय में महिलाओं का शरीर कई तरह के हार्मोनल परिवर्तन के दौर से गुजर रहा होता है। ऐसे में स्वभाव में चिड़चिड़ापन, कुछ भी अच्छा न लगना, कमजोरी, थकान, पांवों में दर्द आदि कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में इन समस्याओं से निपटने में योग का सहारा लिया जा सकता है। नियमित योग से गर्भवती महिलाएं हर तरह की तकलीफ से छुटकारा पा सकती हैं।योग से दूर होगी प्रेग्नेंसी की हर तकलीफ, जानें कैसे

गर्भावस्था के दौरान योग करने से न सिर्फ तात्कालिक तकलीफों से छुटकारा मिलता है बल्कि इससे भ्रूण के समुचित विकास में भी काफी मदद मिलती है। प्रेगनेंसी में योग करने से बहुत से हैप्पी हार्मोंस शरीर से रिलीज होते हैं जिन्हें एंडॉर्फिंस कहा जाता है। यह होने वाली मां को एनर्जटिक और पॉजिटिव बनाए रखता है। आज हम ऐसे ही कुछ योगासनों की बात करेंगे जो प्रेग्नेंसी के दौरान किए जा सकते हैं।

पीएम मोदी ने बदला अपना रवैया , मंत्रियों को भी किया सचेत, बोले- जाग जाओ अब चुनाव को सिर्फ 2 साल बचे 

वक्रासन – अपने पांवों को सीधा फैलाकर बैठ जाएं।सांस खींचते हुए हाथों को कंधे के समानांतर ले आएं। हथेलियां नीचे की ओर हों। अब सांस छोड़ते हुए अपने शरीर को कमर से मोड़ते हुए हाथ और सिर साथ साथ दाईं ओर ले जाएं।हाथ को जितना हो सके उतना पीछे ले जाने की कोशिश करें। अब सांस खींचते हुए पूर्व अवस्था में लौट आएं। इस आसन को करने से स्पाइन. हाथ, पैर और गले का एक्सरसाइज हो जाता है।

कोणासन- इसमें अपने दोनों पैरों को 24 इंच तक फैला लें। अब सांस लेते हुए कमर को धीरे-धीरे बाईं तरफ झुकाते हुए बाएं हाथ से बाएं पैर की उंगलियों को छूने की कोशिश करें। दायां हाथ बिल्कुल सीधा कनपटियों से लगाकर सिर की सीध में रखें। अब सांस छोड़ते हुए पूर्वावस्था में लौट आएँ। दाएं तरफ भी इसी क्रिया को दुहराएं। इस आसन को करने से कमरदर्द से राहत मिलती है। कमर लचीला होता है जिससे प्रसव के दौरान काफी मदद मिलती है।

पर्वतासन- इसे करने के लिए सबसे पहले पद्मासन या सिद्धासन में बैठ जाएं। सांस खींचते हुए अपने दोनों हाथों को ऊपर उठाएं और कानों से सटाते हुए दोनों हथेलियों को आपस में जोड़ें। कुछ सेकंड ऐसे रहने के बाद पहले की स्थिति में लौट आएँ। यह आसन पीठदर्द में काफी राहत देता है।

The post योग से दूर होगी प्रेग्नेंसी की हर तकलीफ, जानें कैसे appeared first on TOS News.

]]>
दाम्पत्य जीवन में नियमित सेक्स से दूर होते है कई रोग, जानें कैसे… https://tosnews.com/%e0%a4%a6%e0%a4%be%e0%a4%ae%e0%a5%8d%e0%a4%aa%e0%a4%a4%e0%a5%8d%e0%a4%af-%e0%a4%9c%e0%a5%80%e0%a4%b5%e0%a4%a8-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%a8%e0%a4%bf%e0%a4%af%e0%a4%ae%e0%a4%bf%e0%a4%a4/54392 Thu, 03 Aug 2017 09:42:03 +0000 https://tosnews.com/?p=54392 आप शीर्षक पढ़कर चौंक गए होंगे कि भला सेक्स भी रोगों की दवा हो सकता है? तो इसमें चौंकने जैसी कोई बात नहीं है।

The post दाम्पत्य जीवन में नियमित सेक्स से दूर होते है कई रोग, जानें कैसे… appeared first on TOS News.

]]>
आप शीर्षक पढ़कर चौंक गए होंगे कि भला सेक्स भी रोगों की दवा हो सकता है? तो इसमें चौंकने जैसी कोई बात नहीं है। डॉक्टरों व वैज्ञानियों ने शोध करके यह पता लगाया है कि सेक्स अनेक रोगों की दवा भी है। जहां विवाहित जीवन में सेक्स एक-दूजे के बीच सुख, आनन्द, अपनापन लाता है, वही एक-दूजे के स्वास्थ्य एवं सौंदर्य को भी बनाए रखता है।

दाम्पत्य जीवन में नियमित सेक्स से दूर होते है कई रोग, जानें कैसे...

सेक्स से शरीर में अनेक प्रकार के हार्मोन उत्पन्न होते हैं, जो शरीर के स्वास्थ्य एवं सौंदर्य को बनाए रखने में सहायक होते हैं। सेक्स से शरीर में उत्पन्न एस्ट्रोजन हार्मोन ऑस्टियोपोरोसिस नामक बीमारी नहीं होने देता है। सेक्स करने से एब्*डराफिन हार्मोन की मात्रा बढ़ जाती है, जिससे त्वचा सुंदर, चिकनी व चमकदार बनी रहती है।

एस्ट्रोजन हार्मोन शरीर के लिए एक चमत्कार है, जो एक अनोखे सुख की अनुभूति कराता है। सफल व नियमित सेक्स करने वाले दंपति अधिक स्वस्थ देखे गए हैं। उनका सौंदर्य भी लंबी उम्र तक बना रहता है। उनमें उत्*तेजना, उत्साह, उमंग और आत्मविश्*वास भी अधिक होता है। सेक्स से परहेज करने वाले शर्म, संकोच, अपराधबोध व तनाव से पीड़ित रहते हैं।

दिमाग को तरोताजा रखने व तनाव को दूर करने के लिए नियमित सेक्स एक अच्छा उपाय है। सेक्स के समय फेरोमोंस नामक रसायन शरीर में एक प्रकार की गंध उत्पन्न करता है, जिसे आप सेक्स परफ्यूम भी कह सकते हैं। यह सेक्स परफ्यूम दिल व दिमाग को असाधारण सुख व शांति देता है। सेक्स हृदय रोग, मानसिक तनाव, रक्*तचाप और दिल के दौरे से दूर रखता है। सेक्स से दूर भागने वाले इन रोगों से अधिक पीड़ित रहते हैं।

सेक्स व्यायाम भी है 

सेक्स एक प्रकार का व्यायाम भी है। इसके लिए खास किस्म के सूट, शू या महंगी एक्सरसाइज सामग्री की आवश्यकता नहीं होती। जरूरत होती है बस शयनकक्ष का दरवाजा बंद करने की। सेक्स व्यायाम शरीर की मांसपेशियों के खिंचाव को दूर करता है और शरीर को लचीला बनाता है। एक बार की संभोग क्रिया, किसी थका देने वाले व्यायाम या तैराकी के 10-20 चक्करों से अधिक असरदार होती है। सेक्स विशेषज्ञों के अनुसार मोटापा दूर करने में सेक्स काफी सहायक सिद्ध होता है। सेक्स करने से शारीरिक ऊर्जा खर्च होती है, जिससे कि चर्बी घटती है। एक बार की संभोग क्रिया में 500-1000 कैलोरी ऊर्जा खर्च होती है। सेक्स के समय लिया गया चुंबंन भी मोटापा दूर करने में सहायक सिद्ध होता है। विशेषज्ञों के अनुसार सेक्स के समय लिए गए एक चुंबन से लगभग 9 कैलोरी ऊर्जा खर्च होती है। इस तरह 390 बार चुंबन लेने से आधा किलो वजन घट सकता है।

दर्दो की अचूक दवा 

आह, उह, आउच, कमर दर्द, पीठ दर्द से परेशान पत्नी आज नहीं, अभी नहीं करती है, लेकिन यदि वह बिना किसी भय के पति के साथ संभोग क्रिया में शामिल हो जाए तो उसके दर्द को उड़न-छू होने में देर नहीं लगती। सिरदर्द, माइग्रेन, दिमाग की नसों में सिकुड़न, उन्माद, हिस्टीरिया आदि का सेक्स एक सफल इलाज है। अनिद्रा की बीमारी में बिस्तर पर करवट बदलने या बालकनी में रातभर टहलने के बजाय बेड पर बगल में लेटी या लेटे साथी से सेक्स की पहल करें, फिर देखें कि खर्राटे आने में ज्यादा देर नहीं लगती। नियमित रूप से संभोग क्रिया में पति को सहयोग देने वाली पत्नी माहवारी के विकारों से दूर रहती है। रात्रि के अंतिम पहर में किया गया सेक्स दिनभर के लिए तरोताजा कर देता है।

सेक्स को सिर्फ यौन संबंध बनाने तक ही सीमित न रखें। इसमें अपनी दिनचर्या की छोटी-छोटी बातें, हंसी-मजाक, स्पर्श, आलिंगन, चुंबंन आदि को भी शामिल करें, संभोग क्रिया तभी पूर्ण मानी जाएगी। सेक्स के बारे में यह बात ध्यान रखें कि अपनी पत्नी के साथ या पति के साथ किया गया सेक्स स्वास्थ्य एवं सौंदर्य को बनाए रखता है। इस प्रसंग में यह बात विशेष ध्यान देने योग्य है कि जहां विवाहित जीवन में पत्नी के साथ संभोग क्रिया अनेक तरह से लाभप्रद है, वहीं अवैध रूप से बनाए गए सेक्स संबंधों से अनिद्रा, हृदय रोग, मानसिक विकार, ठंडापन, सिफलिस, सूजाक, गनोरिया, एड्स जैसे अनेक प्रकार की बीमारियां उत्पन्न हो सकती है।

 

The post दाम्पत्य जीवन में नियमित सेक्स से दूर होते है कई रोग, जानें कैसे… appeared first on TOS News.

]]>
पालक बच्‍चों की सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होती है, जानें कैसे https://tosnews.com/%e0%a4%aa%e0%a4%be%e0%a4%b2%e0%a4%95-%e0%a4%ac%e0%a4%9a%e0%a5%8d%e2%80%8d%e0%a4%9a%e0%a5%8b%e0%a4%82-%e0%a4%95%e0%a5%80-%e0%a4%b8%e0%a5%87%e0%a4%b9%e0%a4%a4-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%b2%e0%a4%bf/56480 Thu, 27 Jul 2017 09:42:05 +0000 https://tosnews.com/?p=56480   बच्‍चों के लिए पालक छोटी इलायची खाने से दूर होती है ये बीमारियां, ऐसे करे इस्तेमाल शायद आपके बच्‍चों को भी पपई द

The post पालक बच्‍चों की सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होती है, जानें कैसे appeared first on TOS News.

]]>
 

बच्‍चों के लिए पालकपालक बच्‍चों की सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होती है, जानें कैसे

छोटी इलायची खाने से दूर होती है ये बीमारियां, ऐसे करे इस्तेमाल

शायद आपके बच्‍चों को भी पपई द सेलर मैन जैसे कॉर्टून से पालक खाने की प्रेरणा मिली हो। पालक को खाते ही उसमें गजब की शक्ति आ जाती है। अगर आदत नहीं तो आज ही अपने बच्‍चे को पालक खाने की आदत डालें। जी हां पालक को आयरन का पावरहाउस कहा जाता है। लेकिन क्‍या आप जानते है कि पालक में कैलोरी, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, फैट, फाइबर और मिनरल तत्‍व होता हैं। साथ ही पालक में विभिन्न मिनरल तत्‍व जैसे कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन तथा विटामिन ए, बी, सी आदि प्रचुर मात्रा में पाया जाते हैं। इसलिए इसमें मौजूद यह सभी तत्‍व बढ़ते बच्‍चों की सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होता है। आइए जानें पालक बच्‍चों की सेहत को किस तरह फायदेमंद होता है। 

हड्डियां और मसल्‍स बनती है मजबूत

कैल्शियम, मैग्नेश्यिम और फोस्‍फोरस से भरपूर पालक हड्डियों के लिए फायदेमंद है। यह हड्डियों को स्वस्थ बनाने के साथ मजबूत बनाता है। इसके अलावा पालक विटामिन ‘के’ का एक बहुत अच्छा स्रोत है, जो हड्डियों में कैल्शियम को बनाए रखने में मदद करता है। आयरन के साथ-साथ इसमें प्रोटीन के साथ एमिनो एसिड भी पाया जाता है। जो किसी भी हाई प्रोटीन फूड से बेहतर होता है। 

इम्‍यूनिटी को बेहतर बनाएं

मल्टीविटामिन पालक में सभी तरह के खास विटामिन पाए जाते है। जिससे बच्चे का इम्यून सिस्टम मजबूत रहता है। इतना ही नहीं, पालक विटामिन ‘के’ का सबसे अच्‍छा स्रोत है। और इसमें पाया जाने वाला बीटा कैरोटिन के कारण इसके सेवन से बच्‍चों का पाचनतंत्र मजबूत होता है और यह भूख बढ़ाने में सहायक होता है। अगर आपका बच्‍चा खाना खाने में अनाकानी करता है तो उसे आज से ही पालक खाने को दें। 

The post पालक बच्‍चों की सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होती है, जानें कैसे appeared first on TOS News.

]]>
खुद के ‌लिए मुसीबत बन जाते हैं ऐसी हथेली वाले लोग, जानें कैसे https://tosnews.com/%e0%a4%96%e0%a5%81%e0%a4%a6-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e2%80%8c%e0%a4%b2%e0%a4%bf%e0%a4%8f-%e0%a4%ae%e0%a5%81%e0%a4%b8%e0%a5%80%e0%a4%ac%e0%a4%a4-%e0%a4%ac%e0%a4%a8-%e0%a4%9c%e0%a4%be%e0%a4%a4%e0%a5%87/55134 Fri, 21 Jul 2017 09:58:04 +0000 https://tosnews.com/?p=55134 हाथों की रेखाओं में व्यक्ति की किस्मत का राज छुपा रहता है। हाथ की रेखाएं आम लोग पढ़ भी नहीं पाते, जिसके कारण वे अपने कई राज

The post खुद के ‌लिए मुसीबत बन जाते हैं ऐसी हथेली वाले लोग, जानें कैसे appeared first on TOS News.

]]>
हाथों की रेखाओं में व्यक्ति की किस्मत का राज छुपा रहता है। हाथ की रेखाएं आम लोग पढ़ भी नहीं पाते, जिसके कारण वे अपने कई राज से दूर रहते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि आपकी हथेली का आकार भी आपके स्वभाव को प्रभावित करती है, जिसे आप आसानी से समझ भी सकते हैं।  

लोगों के चेहरे की ही तरह उनके हथेली का भी एक खास शेप होता है, जो उनके भविष्य और उनके स्वभाव को प्रभावित करता है। इन खास शेप में समतल और आयताकर शेप खास है। 

जिनकी हथेली समतल यानि स्क्वॉयर शेप के होते हैं, ऐसे लोग दिमाग से अधिक सोचते हैं। ये लोग हर बात में कोई न कोई तर्क आसानी से निकाल लेते हैं। 

समतल शेप वाले फैसले के समय अपने दिल की बात नहीं सुनते और हालातों को देखते हुए उसी के अनुसार फैसला लेते हैं। 

आयताकार शेप वाले अपनी जिंदगी अपने दिल की ही बात सुनते हैं। जहां दिमाग से काम लेना होता है, वहां पर भी दिल का ही इस्तेमाल करते हैं।

आयताकार शेप वाले अपनी पूरी जिंदगी में चाहे कितना ही बड़ा फैसला क्यों न हों, अपने दिल की बात सुनकर ही फैसला लेते हैं। उनके इस स्वभाव के चलते वे कई बार तो बड़ी मुसीबत भी फंस जाते हैं।

 

The post खुद के ‌लिए मुसीबत बन जाते हैं ऐसी हथेली वाले लोग, जानें कैसे appeared first on TOS News.

]]>