#areas – TOS News https://tosnews.com Latest Hindi Breaking News and Features Tue, 14 Aug 2018 12:12:41 +0000 en-US hourly 1 https://wordpress.org/?v=4.9.8 https://tosnews.com/wp-content/uploads/2017/03/tosnews-favicon-45x45.png #areas – TOS News https://tosnews.com 32 32 Power Cut: मुम्बई के इन इलाकों 37 घंटे से है पावर कट, जानिए क्यों ! https://tosnews.com/power-cut-%e0%a4%ae%e0%a5%81%e0%a4%ae%e0%a5%8d%e0%a4%ac%e0%a4%88-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%87%e0%a4%a8-%e0%a4%87%e0%a4%b2%e0%a4%be%e0%a4%95%e0%a5%8b%e0%a4%82-37-%e0%a4%98%e0%a4%82%e0%a4%9f%e0%a5%87/135673 Fri, 13 Jul 2018 05:24:15 +0000 https://tosnews.com/?p=135673 मुंबई : मुंबई में बारिश को थमे 48 घंटे बीत चुके हैं लेकिन वसई- विरार क्षेत्र के कई इलाकों में अभी भी जल की निकासी

The post Power Cut: मुम्बई के इन इलाकों 37 घंटे से है पावर कट, जानिए क्यों ! appeared first on TOS News.

]]>
मुंबई : मुंबई में बारिश को थमे 48 घंटे बीत चुके हैं लेकिन वसई- विरार क्षेत्र के कई इलाकों में अभी भी जल की निकासी हुई नहीं है। गुरुवार को चौथे दिन भी इलाके की बिजली गुल रही। इसके साथ ही मौसम विभाग के अनुसारए शुक्रवार को दोबारा बारिश शुरू हो सकती है।


बता दें कि तीन दिन तक हुई लगातार बारिश से मुंबई के वसई.विरार इलाके में सबसे ज्यादा जलभराव हुआ था। सड़केंए रेलवे स्टेशनए घरए दुकानें और फैक्ट्रियों में कमर तक पानी भर गया जिसकी वजह से इलाके में 37 घंटे से ज्यादा समय तक पावर कट रहा। गुरुवार को वसई के 100 फीट रोड, सन सिटी, दीवानमन, साई नगर, पंडित दीनदयाल नगर और अश्विन नगर इलाकों में जलभराव की स्थिति बनी रही।

नालासोपारा पश्चिम में भी जलभराव की वजह से पावर सप्लाई ठप रही। इलाके के लोग वसई विरार महानगरपालिका को इमर्जेंसी में भी प्रतिक्रिया न देने के लिए जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। उन्होंने कहा कि न ही चुने हुए प्रतिनिधि और न कोई निकाय का स्टाफ यहां देखने तक आया। नालासोपारा पश्चिम में रहने वाले लोगों का कहना है कि बारिश का पानी साफ करने के लिए पंप की भी कमी है।

महानगरपालिका को पानी हटाने के लिए पंप की व्यवस्था करानी चाहिए। इसके  रिणामस्वरूप इलाके के लोगों को खुद ही प्राइवेट पंप मैनेज करने पड़ रहे हैं। वहीं नगर निकाय का दावा है कि करीब 60 से ज्यादा इलाकों में 150 पंपों से ज्यादा की मदद से पानी साफ कराया जा चुका है। साथ ही पश्चिमी इलाकों में भरा पानी समुद्र में जाकर सूख चुका है।

The post Power Cut: मुम्बई के इन इलाकों 37 घंटे से है पावर कट, जानिए क्यों ! appeared first on TOS News.

]]>
Volcano Blast: फुगो ज्वालामुखी विस्फोट में अब तक 65 की गयी जान, दर्जनों घायल भी! https://tosnews.com/128345-2/128345 Wed, 06 Jun 2018 06:09:55 +0000 https://tosnews.com/?p=128345 ग्वाटेमाला: ग्वाटेमाला में फुगो ज्वालामुखी में भयानक विस्फोट होने के बाद मलबे से और शव निकाले गए। इस आपदा में मरने वालों की संख्या 65

The post Volcano Blast: फुगो ज्वालामुखी विस्फोट में अब तक 65 की गयी जान, दर्जनों घायल भी! appeared first on TOS News.

]]>
ग्वाटेमाला: ग्वाटेमाला में फुगो ज्वालामुखी में भयानक विस्फोट होने के बाद मलबे से और शव निकाले गए। इस आपदा में मरने वालों की संख्या 65 पर पहुंच गई है। आपदा राहत एजेंसी के प्रवक्ता डेविड डी लिओन ने एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि पीडि़तों की तलाश के कुछ घंटों बाद मृतकों की संख्या बढ़कर कम से कम 65 हो गई।


घटना में 46 लोग घायल हो गए हैं जिनमें से ज्यादातर लोगों की हालत गंभीर है। इस आपदा से 17 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं और 3271 लोगों को सुरक्षित जगहों पर जाने को कहा गया है। रविवार को 3ए763 मीटर ऊंचे ज्वालामुखी में विस्फोट हो गया जिससे आसपास के इलाकों में राख के बादल छा गये।

अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि पर्वत के दक्षिण छोर पर समुदायों में पीडि़तों की तलाश फिर से शुरू होने के बाद मृतकों की संख्या बढ़ सकती है। ग्वाटेमाला की आपदा प्रबंधन एजेंसी के सर्गियो कबानास ने कहा कि कई लोग लापता हैं लेकिन हमें यह नहीं पता कि कितने लोग लापता हैं। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने कहा कि वह विस्फोट में लोगों की मौत और बड़े नुकसान से बहुत दुखी हैं।

उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र राष्ट्रीय बचाव एवं राहत प्रयासों में मदद करने के लिए तैयार है।सरकारी अधिकारी ने बताया कि मरने वालों में कुछ बच्चे भी हैं। ग्वाटेमाला में कुछ ऐसे वीडियो भी जारी हुए हैं जिनमें लावा के ऊपर तैरती लाशें दिख रही हैं। इसके साथ ही सेना को आपदा राहत कार्य में लगाया गया है। सेना लोगों के लिए अस्थायी कैंपों का निर्माण कर रही है।

ग्वाटेमाला क्षेत्र में राखों से बचने के लिए अधिकारियों ने लोगों को मास्क पहनने की सलाह दी है। साथ ही सभी जरूरी सुरक्षा अपनाने को कहा है। ज्वालामुखी से सबसे अधिक प्रभावित एस्क्युन्टिलाए चिमाल्टेनांगो और सैकेटेपेक्वेज के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया है। जबकि पूरे देश में आरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

राष्ट्रपति जिम्मी मोरेल्स राष्ट्रीय आपातकालीन सेवाओं को राहत कार्य के लिए जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। मोरालेस ने देश में तीन दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित किया है।फुगो मध्य अमेरिका का सबसे सक्रिय ज्वालामुखी है। 1974 में इससे पहले यहां बड़ा विस्फोट हुआ था।

लेकिन इस दौरान ज्वालामुखी से यहां कोई मरा नहीं था। 116 साल बाद ग्वाटेमाला के ज्वालामुखी में इतना भयानक विस्फोट हुआ है। इससे पहले 1902 में सांता मारिया ज्वालामुखी में हुए विस्फोट से हजारों लोग मारे गए थे। गौरतलब है कि हर साल दुनियाभर में ज्वालामुखी फटने की ऐसी करीब 60 घटनाएं होती हैं। कई ज्वालामुखी अचानक फट जाते हैं तो कई लंबे समय से सुलग रहे होते हैं।

The post Volcano Blast: फुगो ज्वालामुखी विस्फोट में अब तक 65 की गयी जान, दर्जनों घायल भी! appeared first on TOS News.

]]>
Warning: महाराष्ट्र और गुजरात के तट से टकरा सकता है OCKHI, मौसम विभाग ने किया अर्लट ! https://tosnews.com/warning-%e0%a4%ae%e0%a4%b9%e0%a4%be%e0%a4%b0%e0%a4%be%e0%a4%b7%e0%a5%8d%e0%a4%9f%e0%a5%8d%e0%a4%b0-%e0%a4%94%e0%a4%b0-%e0%a4%97%e0%a5%81%e0%a4%9c%e0%a4%b0%e0%a4%be%e0%a4%a4-%e0%a4%95%e0%a5%87/91097 Mon, 04 Dec 2017 15:10:38 +0000 https://tosnews.com/?p=91097 मुम्बई: दक्षिण भारत में तबाही मचाने के बाद अब OCKHI  तुफान गुजरात की ओर बढ़ रहा है। इस साइक्लोन का मुंबई और आसपास का इलाका

The post Warning: महाराष्ट्र और गुजरात के तट से टकरा सकता है OCKHI, मौसम विभाग ने किया अर्लट ! appeared first on TOS News.

]]>
मुम्बई: दक्षिण भारत में तबाही मचाने के बाद अब OCKHI  तुफान गुजरात की ओर बढ़ रहा है। इस साइक्लोन का मुंबई और आसपास का इलाका का असर देखने को मिल सकता है। महाराष्ट्र सरकार ने मुंबई के पास के इलाके सिंधुदुर्ग, थाणे, रायगढ़ और पालघर जिलों के स्कूलों को कल यानि 5 दिसंबर को एहतियातन बंद कर दिया है। साथ ही बीएमसी की डिजास्टर मैनेजमेंट यूनिट ने समंदर किनारे आज रात और कल सुबह हाईटाइड आने की आशंका जारी करते हुए एडवाइजरी जारी कर दी है।

गुजरात के साथ-साथ महाराष्ट्र सरकार ने भी साइक्लोन OCKHI के टकराने से पहले एहतियातन कुछ कदम उठा लिए हैं। महाराष्ट्र सरकार में मंत्री विनोद तावड़े ने ट्वीट कर स्कूलों को कल बंद करने के आदेश के बारे में बताया OCKHI साइक्लोन गुजरात की ओर बढ़ रहा है। मौसम विभाग ने गुजरात के तट से टकराते वक्त साइक्लोन के कमजोर पडऩे की संभावना जाहिर की है, फिर भी नुकसान को कम से कम करने के लिए सभी जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं।

यह चक्रवात दक्षिण गुजरात के सूरत की तरफ रुख कर चुका है। ऐसा अनुमान है कि 5 दिसंबर को मध्य रात्रि के दौरान साइक्लोन OCKHI सूरत के पास समुद्र तट को डीप डिप्रेशन के तौर पर पार करेगा। इस आशंका के मद्देनजर मौसम विभाग ने दक्षिण गुजरात और उत्तरी महाराष्ट्र के समुद्र तटीय इलाकों को पहले ही आगाह कर दिया है।

इन इलाकों में मछुआरों को समंदर में ना जाने की सलाह दी गई है। इसे अति भीषण समुद्री चक्रवात की कैटेगरी में रखा गया है। इसके अलावा उत्तर गुजरात में 6 दिसंबर को भारी बारिश की संभावना व्यक्त की गई है। साइक्लोन सेंटर के मुताबिक उत्तर महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के समुद्र तटीय इलाकों में 4 दिसंबर की रात से लेकर 6 दिसंबर की सुबह तक 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से लेकर 70 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार की तेज हवाएं चलेंगी।

The post Warning: महाराष्ट्र और गुजरात के तट से टकरा सकता है OCKHI, मौसम विभाग ने किया अर्लट ! appeared first on TOS News.

]]>