#arrersted – TOS News https://tosnews.com Latest Hindi Breaking News and Features Sat, 11 Aug 2018 11:19:07 +0000 en-US hourly 1 https://wordpress.org/?v=4.9.8 https://tosnews.com/wp-content/uploads/2017/03/tosnews-favicon-45x45.png #arrersted – TOS News https://tosnews.com 32 32 Big News: बिहार के बाद अब यूपी के शेल्टर होम में देह व्यापार का हुआ खुलासा, संचालिका व उसका पति गिरफ्तार! https://tosnews.com/big-news-%e0%a4%ac%e0%a4%bf%e0%a4%b9%e0%a4%be%e0%a4%b0-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%ac%e0%a4%be%e0%a4%a6-%e0%a4%85%e0%a4%ac-%e0%a4%af%e0%a5%82%e0%a4%aa%e0%a5%80-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%b6%e0%a5%87/140542 Mon, 06 Aug 2018 05:35:30 +0000 https://tosnews.com/?p=140542 देवरिया: बिहार के मुजफ्फरपुर शेल्टर होम का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि अब उत्तर प्रदेश के देवरिया जनपद में ही ऐसा एक

The post Big News: बिहार के बाद अब यूपी के शेल्टर होम में देह व्यापार का हुआ खुलासा, संचालिका व उसका पति गिरफ्तार! appeared first on TOS News.

]]>
देवरिया: बिहार के मुजफ्फरपुर शेल्टर होम का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि अब उत्तर प्रदेश के देवरिया जनपद में ही ऐसा एक मामला निकल कर सामने आया है। देवरिया नारी संरक्षण गृह में भी देह व्यापार कराए जाने का खुलासा हुआ है। संरक्षण गृह से भागी एक बालिका ने रविवार शाम को यह जानकारी दी। रात में पुलिस ने छापा मारा तो संरक्षण गृह से 18 लड़कियां गायब मिलीं। पुलिस ने संचालिका और उसके पति को गिरफ्तार कर लिया।


रविवार देर रात पुलिस अधीक्षक रोहन पी. कनय ने बताया कि मां विंध्यवासिनी महिला एवं बालिका संरक्षण गृह की सूची में 42 लडकियां दर्ज हैं। लेकिन छापे में मौके पर केवल 24 मिलीं। बाकी का पता किया जा रहा है। नारी संरक्षण गृह के बारे में लंबे समय से शिकायत मिल रही थी। अनियमितताओं के कारण इसकी मान्यता जून.2017 में समाप्त कर दी गई थी।

एसपी ने बताया कि बिहार के बेतिया जिले की 10 साल की बच्ची देर शाम को किसी तरह संरक्षण गृह से निकलकर महिला थाने पहुंची। वहां उसने संरक्षण गृह की अनियमितताओं के बारे में जानकारी दी। बच्ची के मुताबिक वहां शाम चार बजे के बाद रोजाना कई लोग काले और सफेद रंग की कारों से आते थे और मैडम के साथ लड़कियों को लेकर जाते थे। वे देर रात लौटती थीं।

संरक्षण गृह में भी गलत काम होता है। बच्ची ने बताया उससे भी झाड़ू.पोंछा तथा घर के अन्य काम कराए जाते थे। एसपी ने बताया कि पुलिस ने रात में ही नारी संरक्षण गृह में छापा मारा। वहां रजिस्टर में अलग.अलग आयु वर्ग की 42 लड़कियां दर्ज हैं। मिलान करने पर 18 लड़कियां नहीं मिलीं। संचालिका गिरिजा त्रिपाठी और उनके पति मोहन इनके बारे में संतोषजनक जवाब नहीं दे रहे हैं। दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया है। एसपी के साथ जिला प्रोबेशन अधिकारी प्रभात कुमार और बाल संरक्षण अधिकारी जेडी तिवारी मौजूद थे।

The post Big News: बिहार के बाद अब यूपी के शेल्टर होम में देह व्यापार का हुआ खुलासा, संचालिका व उसका पति गिरफ्तार! appeared first on TOS News.

]]>
Big Breaking: कुछ ही देर में गिरफ्तार हो सकते हैं पूर्व पीएम नवाज शरीफ व उनकी बेटी! https://tosnews.com/big-breaking-%e0%a4%95%e0%a5%81%e0%a4%9b-%e0%a4%b9%e0%a5%80-%e0%a4%a6%e0%a5%87%e0%a4%b0-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%97%e0%a4%bf%e0%a4%b0%e0%a4%ab%e0%a5%8d%e0%a4%a4%e0%a4%be%e0%a4%b0-%e0%a4%b9/135694 Fri, 13 Jul 2018 05:54:09 +0000 https://tosnews.com/?p=135694 दुबई: पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनकी बेटी मरियम को कुछ ही देर में गिरफ्तार किया जा सकता है। भ्रष्टाचार मामले में जेल

The post Big Breaking: कुछ ही देर में गिरफ्तार हो सकते हैं पूर्व पीएम नवाज शरीफ व उनकी बेटी! appeared first on TOS News.

]]>
दुबई: पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनकी बेटी मरियम को कुछ ही देर में गिरफ्तार किया जा सकता है। भ्रष्टाचार मामले में जेल की सजा पाए पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और बेटी मरियम नवाज शुक्रवार को पाकिस्तान लौट रहे हैं। मीडिया रिपोट्र्स के मुताबिक नवाज और मरियम को संयुक्त अरब अमीरात में अबू धाबी हवाई अड्डे पर गिरफ्तार किया जा सकता है।


पाकिस्तान की विशेष टीम दोनों को गिरफ्तार करके लाहौर एयरपोर्ट लाएगी। समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार दोनों को रावलपिंडी के अदियाला जेल में रखा जाएगा। अबू धाबी पहुंचने के बाद नवाज ने कहा कि मुझे सीधे जेल ले जाया जाएगा। लेकिन मैं यह कुर्बानी पाकिस्तान और आनेवाली पीढिय़ों के लिए दे रहा हूं।

साथ मिलकर पाकिस्तान की तकदीर बनाएंगे। नवाज शरीफ और उनकी बेटी मरियम नवाज को गिरफ्तार करने के लिए एक 16 सदस्यीय टीम बनाई गयी है। दोनों को हवाई अड्डे से हेलिकॉप्टर के जरिये सीधा अदियाला जेल ले जाया जाएगा। शरीफ और उनकी बेटी मरियम नवाज के स्थानीय समयानुसार आज शाम 6.15 बजे लाहौर पहुंचने की संभावना है।

शरीफ और मरियम को पाकिस्तान की एक अदालत ने एवनफील्ड अपार्टमेंट मामले में दोषी ठहराते हुए 10 और 7 साल की सजा सुनाई है। पाकिस्तान में प्रशासन ने पाकिस्तान मुस्लिम लीग.नवाज कार्यकर्ताओं के खिलाफ बड़े पैमाने पर कारवाई शुरू की है। करीब 300 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है। पीएमएल.एन की अपने शीर्ष नेता और पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की लंदन से स्वदेश वापसी पर हवाई अड्डे पर बड़ी रैली की तैयारी के मद्देनजर यह कारवाई शुरू की गई।

पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शाहबाज शरीफ ने कहा कि पीएमएल.एन के विरोधी दलों को रैली आयोजित करने की खुली छूट दी गई हैए जबकि हमारे कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए लाहौर में धारा 144 लागू कर दी गई है।

नवाज शरीफ ने कहा है कि वह अपनी बीमार पत्नी को लंदन में अल्लाह के भरोसे छोड़ रहे हैं। उन्होंने कहाए मैं जेल में डाले जाने या फांसी पर चढ़ाए जाने की परवाह किए बिना पाकिस्तान लौट रहा हूं। उधर भ्रष्टाचार रोधी अदालत ने नवाज शरीफ के खिलाफ भ्रष्टाचार के शेष दो मामलों को किसी और जवाबदेही अदालत में स्थानांतरित करने की उनकी याचिका गुरुवार को खारिज कर दी गई।

The post Big Breaking: कुछ ही देर में गिरफ्तार हो सकते हैं पूर्व पीएम नवाज शरीफ व उनकी बेटी! appeared first on TOS News.

]]>
Lucknow Police के हत्थे चढ़े करोड़ों की ठगी करने वाले साइबर जालसाज,जानिए कैसे करते थे ठगी! https://tosnews.com/lucknow-police-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%b9%e0%a4%a4%e0%a5%8d%e0%a4%a5%e0%a5%87-%e0%a4%9a%e0%a4%a2%e0%a4%bc%e0%a5%87-%e0%a4%95%e0%a4%b0%e0%a5%8b%e0%a4%a1%e0%a4%bc%e0%a5%8b%e0%a4%82-%e0%a4%95%e0%a5%80/117917 Tue, 10 Apr 2018 10:57:16 +0000 https://tosnews.com/?p=117917 लखनऊ: सीधे-साधे लोगों को मदद के नाम पर उनके एटीएम कार्ड का क्लोन बनाकर करोड़ों रुपये की ठगी करने वाले साइबर जालसाजों को साइबर क्राइम

The post Lucknow Police के हत्थे चढ़े करोड़ों की ठगी करने वाले साइबर जालसाज,जानिए कैसे करते थे ठगी! appeared first on TOS News.

]]>
लखनऊ: सीधे-साधे लोगों को मदद के नाम पर उनके एटीएम कार्ड का क्लोन बनाकर करोड़ों रुपये की ठगी करने वाले साइबर जालसाजों को साइबर क्राइम सेल की टीम ने गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने अब तक कितनों लोगों को ठग, इस बात का अंदाजा खुद उनको भी नहीं है। आरोपियों के पास से 22 ब्लैंक एटीएम, 18 क्लोन एटीएम, लैपटाप, स्कीमर मशीर, कार्ड राइटर, स्वाइप मशीन, 15 हजार रुपये और दो कार मिली है।


एसपी पूर्वी सर्वेश कुमार मिश्र ने बताया कि साइबर क्राइम सेल की टीम एटीएम कार्ड क्लानिंग के मामले में काफी समय से छानबीन कर रही थी। साइबर क्राइम सेल की टीम को अपनी छानबीन में राजधानी में एक्टिव साइबर जालसाजों के बारे में अहम जानकारी मिली। इस छानबीन के दौरान साइबर सेल ने मंगलवार की दोपहर हजरतगंज स्थित एसबीआई हेड आफिस के पास से चार जालसाजों को उस वक्त धर-दबोचा, जब वह लोग अपने शिकार की तलाश में लगे थे।

पुलिस को उनके पास से 22 ब्लैंक एटीएम, 18 क्लोन एटीएम, लैपटाप, स्कीमर मशीर, कार्ड राइटर, स्वाइप मशीन, 15 हजार रुपये और दो कार मिली है। पूछताछ की गयी तो पकड़े गये आरोपियों ने अपना नाम गोण्डा निवासी अनिल कुमार वर्मा, शुभम पाण्डेय, सीतापुर निवासी अमित सिंह और हसनगंज निवासी हसन शाह बताया। इस गैंग का लीडर अनिल कुमार वर्मा है।

उसने इंट्रीग्रल यूनिवर्सिटी से बीसए की पढ़ाई कर रखी है। वहीं आरोपी शुभम ने दिल्ली के प्रसिद्घ ङ्क्षहदू कालेज से कम्यूटर सांइस में बीएसी की है, जबकि आरोपी अमित सिंह बीटीसी है और हसन शाह की डालीगंज इलाके में कपड़े की दुकान है। एसपी पूर्वी सर्वेश कुमार मिश्र ने बताया कि इस गैंग ने अब तक करोड़ों रुपये की ठगी को अंजाम दिया है। पूछताछ और छानबीन में पुलिस को इस बात का पता चला है कि आरोपियों ने हसनगंज इलाके में तीन और महानगर इलाके में 11 घटनाओं को अंजाम देने की बात कुबूली है।

इस तरह करते थे ठगी
एसपी पूर्वी ने बताया कि पकड़े गये जालसाज सबसे पहले भीड़-भाड़ वाला एटीएम मशीन चिन्हित करते थे। इसके बाद वह लोग कम पढ़े-लिखे और खासकर महिलाओं को टारगेट करते थे। एटीएम मशीन में अंदर इस तरह के लोगों को बहला-फुसला कर और झांसे में लेकर मदद के नाम पर उनका एटीएम कार्ड हासिल कर लेते थे। एसटीएम कार्ड साफ करने के बहाने से स्कीमर मशीन की मदद से आरोपी पीडि़त के एटीएम कार्ड का डाटा स्कीमर मशीन में हासिल कर लेते थे। इसके बाद आरोपी उसी डाटा को ब्लैक एटीएम कार्ड को कार्ड राइटर की मदद से स्कैन कर क्लोन एटीएम कार्ड बना लेते थे। बस क्लोन एटीएम कार्ड तैयार होने से आरोपी पीडि़त के खाते से रुपये निकालना शुरू कर देते थे।

ठगी की रकम से प्लाट, गाड़ी और शेयर मार्केट में कर रहा है इंवेस्टमेंट
ठगों के इस गैंग का लीडर अनिल कुमार है। पूछताछ में पुलिस को इस बात का पता चला है कि अनिल ने ठगी की रकम से गोण्डा जनपद में एक प्लाट खरीदा है। वहीं हाल में ही शराब दुकानों के आवंटन में भी उसने आवेदन किया था और उसको वजीरगंज इलाके में एक बियर की शाप आवंटित हुई है। इस काम के लिए भी उसने ठगी की ही रकम लगायी थी। वहीं आरोपी ने गुजरात के एक ब्रोकर की मदद से लाखों रुपये शेयर मार्केट में भी लगा रखे हैं। इसके अलाव बाकी आरोपियों ने भी ठगी के इस धंधे से मोटी रकम अर्जित की है। अब पुलिस आरोपियों के बैंक खातों को खंगाले की बात कह रही है और ठगी से अर्जित की गयी सम्पति को भी जब्त करने की कार्रवाई की बात एसपी पूर्वी ने कही है।

यूपी ही नहीं बल्कि अन्य राज्यों में भी की है ठगी
सीओ हजरतगंज ने बताया कि अभी तक की गयी छानबीन में पकड़े गये जालसाजों ने लखनऊ, कुशीनगर, महाराजगंज, रायबरेली, बस्ती, देवरिया, गोरखपुर, हापुड़, मेरठ, फैजाबाद, फतेहपुर, खीरी, सीतापुर के अलावा दिल्ली, बिहार और राजस्थान में भी ठगी की घटनाओं को अंजाम देने की बात बतायी है।

बैंक आफ बड़ौदा के एक कर्मचारी का नाम आया सामने
क्लोन एटीएम कार्ड तैयार करने के लिए एक ऐसे एटीएम कार्ड की आवश्यकता पड़ती है जो खराब होता है। इसी खराब एटीएम कार्ड पर जालसाज चोरी किया गया एटीएम कार्ड का डाटा मैगनेटिक स्ट्रीप की मदद से लगाकर क्लोन एटीएम कार्ड बनाते हैं। पुलिस का दावा है कि जालसाजों ने बैंक आफ बड़ौदा के एक कर्मचारी के बारे में बताया है जो इन लोगों को खराब एटीएम कार्ड 50 रुपये के हिसाब से बेचता था। अब पुलिस उसके बारे में पता लगा रही है और पुलिस का कहना है कि जल्द ही उसको भी गिरफ्तार कर लिया जायेगा।

तीन साल से कर रहे है ठगी
गैंग लीडर अनिल कुमार वर्मा ठगी का यह धंधा तीन साल से आपरेट कर रहा था। वर्ष 2015 में वह इस तरह की ठगी के मामले में गोण्डा से जेल गया था। इसके बाद वहां से जमानत पर रिहा होने के बाद आरोपी ने फिर से ठगी का धंधा शुरू कर दिया था।

कितने लोगों को ठगा खुद आरोपियोंं को पता नहीं
पुलिस के अधिकारियों का कहना है कि पकड़े गये जालसाजों ने अब तक कितने लोगों को अपना शिकार बनाया, यह बात खुद उनको भी नहीं पता है। इस बात से यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि ठगी के शिकार हुए लोगोंं की संख्या सैकड़ों में हो सकती है और ठगी की रकम की संख्या करोड़ो मेें है।

टीम ने यह पुलिसकर्मी रहे शामिल
जालसाजों को पकडऩे में इंस्पेक्टर हजरतगंज आनंद कुमार शाही, इंस्पेक्टर साइबर क्राइम सेल अरूण कुमार सिंह, इंस्पेक्टर विजयवीर सिंह सिरोही, दारोगा राहुल सोनकर, राहुल सिंह राठौर, कांस्टेबिल फिरोज बदर, अखिलेश कुमार, मोहम्मद शरीफ खान, संतोष गौतम और बृजेश ने अहम भूमिका अदा की।

इन सावधानियों को बरते तो बच सकते हैं ठगी से
1-एटीएम इस्तेमाल करते वक्त बूथ के अंदर किसी अजनबी को न आने दें।
2- एटीएम मशीन के अंदर मददगारों से रहे होशियार।
3- अनजान जगहों पर एटीएम स्वेप करने से बचें।
4- किसी भी हाल में किसी दूसरे को अपना एटीएम कार्ड न दें।

 

The post Lucknow Police के हत्थे चढ़े करोड़ों की ठगी करने वाले साइबर जालसाज,जानिए कैसे करते थे ठगी! appeared first on TOS News.

]]>