#busted – TOS News https://tosnews.com Latest Hindi Breaking News and Features Sat, 11 Aug 2018 12:28:31 +0000 en-US hourly 1 https://wordpress.org/?v=4.9.8 https://tosnews.com/wp-content/uploads/2017/03/tosnews-favicon-45x45.png #busted – TOS News https://tosnews.com 32 32 Fraud Gang: इराक में नौकरी के नाम पर ठगी करने वाला गैंग एसटीएफ के हत्थे चढ़ा! https://tosnews.com/fraud-gang-%e0%a4%87%e0%a4%b0%e0%a4%be%e0%a4%95-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%a8%e0%a5%8c%e0%a4%95%e0%a4%b0%e0%a5%80-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%a8%e0%a4%be%e0%a4%ae-%e0%a4%aa%e0%a4%b0-%e0%a4%a0/133869 Wed, 04 Jul 2018 06:15:00 +0000 https://tosnews.com/?p=133869 लखनऊ: इराक की इनको कम्पनी में बेरोजगार युवकों के साथ ठगी करने वाले गैंग का पर्दाफाश करते हुए यूपी एसटीएफ ने गोरखपुर जनपद से 8

The post Fraud Gang: इराक में नौकरी के नाम पर ठगी करने वाला गैंग एसटीएफ के हत्थे चढ़ा! appeared first on TOS News.

]]>
लखनऊ: इराक की इनको कम्पनी में बेरोजगार युवकों के साथ ठगी करने वाले गैंग का पर्दाफाश करते हुए यूपी एसटीएफ ने गोरखपुर जनपद से 8 जालसाजों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गये आरोपियों के पास से नकदी, 240 पासपोर्ट, लैपटाप और 13 मोबाइल फोन बरामद किया है।


एसएसपी एसटीएफ अभिषेक सिंह ने बताया कि कुछ दिनों से एसटीएफ को इस बात की सूचना मिल रही थी कि जालसाजों का एक गैंग गोरखपुर जनपद मेें सक्रिय है। यह लोग पढ़े-लिखे सीधे-साधे लोगों को इराक की इनको कम्पनी में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी कर रहे हैं।

इस सूचना पर काम करते हुए एसटीएफ को रविवार को पता चला कि जालसाजों का गैंग नौकरी के नाम पर सिंघडिय़ा इलाके में ग्लोबल बेल्डिंग ट्रेनिंग एवं टेगस्ट सेंटर नाम की एक कम्पनी में इनको कम्पनी में नौकरी के लिए इंटरव्यू हो रहे हैं। एसटीएफ ने टीम ने वहां छापेमारी करते हुए 8 लोगों को मौके से गिरफ्तार किया।

एसटीएफ ने उनके पास से 80 हजार रुपये, नकद, 240 पासपोर्ट, तीन लैपटाप और 13 मोबाइल फोन बरामद किये। पूछताछ में पकड़े गये आरोपियों ने अपना नाम गोरखपुर निवासी अरविंद सिंह, रजनीश कुमार, बिहार निवासी शम्भू, तमिलनाडू निवासी आर सुंदर रमन, बिहार निवासी मनोज ठाकुर कुशीनगर निवासी अनवर अंसारी, बिहार निवासी अरविंद कुमार और संदीप कुमार बताया।

इस तरह करते थे ठगी
गिरफ्तार अरविन्द सिंह ने पूछताछ पर बताया कि वे लोग विभिन्न कम्पनियों के नाम पर समाचार पत्रों में विज्ञापन निकलवाते थे, जिसे पढ़कर बेरोजगार युवक सम्पर्क करते थे। इसके बाद वह लोग युवकों को इंटरव्यू के लिए बुलाते थे। इसके बाद वह लोग नौकरी के इच्छुक लोगों से उनके पासपोर्ट और नौकरी दिलाने के नाम पर 60 से 65 हजार रुपये ले लिया करते थे। इसके बाद आरोपी कुछ लोगों को फर्जी दस्तावेज की मदद इराक भेज देते थे।

इनको कम्पनी में काम कर चुका है एक आरोपी
पकड़े गये आरोपी शम्भू यादव ने पूछताछ पर बताया कि मैं इनको कम्पनी, कतर में सुपरवाईजर के पद पर कार्य करते थे। वर्ष 2017 में कतर से भारत वापस आ गया। इस वक्त वह इनको कम्पनी के लिए बेल्डर फीटर के साक्षात्कार अधिकारी के रूप में साक्षात्कार लेने आया था और इस काम के बदले उसको 40 से 50 हजार रुपये मिलते थे।

The post Fraud Gang: इराक में नौकरी के नाम पर ठगी करने वाला गैंग एसटीएफ के हत्थे चढ़ा! appeared first on TOS News.

]]>
Big News: जानवर की चर्बी से बन रहा था घी व डालडा, पुलिस ने किया खुलासा! https://tosnews.com/big-news-%e0%a4%9c%e0%a4%be%e0%a4%a8%e0%a4%b5%e0%a4%b0-%e0%a4%95%e0%a5%80-%e0%a4%9a%e0%a4%b0%e0%a5%8d%e0%a4%ac%e0%a5%80-%e0%a4%b8%e0%a5%87-%e0%a4%ac%e0%a4%a8-%e0%a4%b0%e0%a4%b9%e0%a4%be-%e0%a4%a5/133865 Wed, 04 Jul 2018 06:06:24 +0000 https://tosnews.com/?p=133865 लखनऊ: लोगों की सहत से खिलवाड़ कर जानवरों की चर्बी से डालडा व घी तैयार कर मार्केट में बेचने वाले गैंग का पर्दाफाश करते हुए

The post Big News: जानवर की चर्बी से बन रहा था घी व डालडा, पुलिस ने किया खुलासा! appeared first on TOS News.

]]>
लखनऊ: लोगों की सहत से खिलवाड़ कर जानवरों की चर्बी से डालडा व घी तैयार कर मार्केट में बेचने वाले गैंग का पर्दाफाश करते हुए राजधानी लखनऊ की बाजारखाला पुलिस ने एक आरोपी को पकड़ा है। मौके से उसके तीन साथी भागने में सफल रहे। पुलिस ने मौके से एक डाला, 760 किलोग्राम मिलावड़ी घी व डालडा, कढ़ाई, 10 किलो ग्राम अधबना माल बरामद किया है।


इंस्पेक्टर बाजारखाला सुजीत कुमार दुबे ने बताया कि बीती रात पुलिस टीम को मुखबिर ने इस बात की जानकारी दी कि कुछ लोग ऐशबाग स्लाटर हाउस के पास गंदे नाले के करीब झोपड़ी डालकर जानवरों की चर्बी में कैमिकल मिलाकर नकली घी व डालडा तैयार करने का काम कर रहे हैं। इस सूचना को गंभीरता से लेते हुए पुलिस की टीम मुखबिर की बतायी गयी जगह पर पहुंची।

पुलिस को नाले के पास एक डाला नजर आया। डाले में कुछ लोग पीपे लोड कर रहे थे। पुलिस की टीम जैसे ही मौके पर पहुंची, आरोपियों की नज़र पुलिस पर पड़ गयी। वह लोग पुलिस को देखते ही भागने लगे। बाजारखाला पुलिस ने किसी तरह एक व्यक्ति को मौके से पकड़ लिया ,जबकि तीन आरोपी वहां से भाग खड़े हुए। पुलिस ने जब डाले को चेक किया तो उसमें 50 पीपे मिले।

इन पीपों में जानवरों की चर्बी से तैयार की गयी घी व डालडा लदा था। इसके बाद पुलिस ने जब झोपड़ी में पहुंची तो वह कढ़ाई में 10 किलो चर्बी रखी थी। पुलिस ने डाले सहित पूरे माल को जब्त कर लिया। पूछताछ की गयी तो पकड़े गये आरोपी ने अपना नाम बाजारखाला निवासी मोहम्मद सलीम और भागे हुए साथियों का नाम बाजारखाला निवासी जाबिर, राशीद और फारूख बताया। आरोपी जाबिर और राशीद सगे भाई हैं।

तीन माह से कर रहे थे काम
इंस्पेक्टर बाजारखाला ने बताया कि पकड़े गये आरोपी तीन माह से यह धंधा कर रहे थे। आरोपी सलीम ने बताया कि इस धंधे का संचालक जाबिर व उसका भाई राशीद करते थे। वह लोग अलग-अलग जगहों से जानवरों के अवशेष खरीद कर लाते थे। इसके बाद उसी अवशेष से जानवरों की चर्बी निकाल कर कैमिकल की मदद से नकली घी व डालडा तैयार करते थे।

छोटी-मोटी दुकान में सप्लाई करते थे माल
इंस्पेक्टर बाजारखाला ने बताया कि अभी तक इस बात का पता पता नहीं चल सका है कि आरोपी तैयार किये गये माल को कहां सप्लाई करते थे। पकड़े गये आरोपी ने इतना जरूर बताया है कि आरोपी कबाब-पराठे, पूड़ी और छोटे-मोटे होटलों में तैयार किया गया माल सप्लाई करते थे।

सेहत के लिए खतरनाक है चर्बी युक्त सामान
घी और डालडा की बनी हुई चीजों को खाने वाले लोगों के लिए जानवरों की चर्बी से बनी घी और डालडा सेहत के लिए बेहद ही खतनारक होता है। चर्बी में कैमिकल डालकर बनाया गया नकली घी और डालडा बीमारी को जन्म तो देता है साथ ही मानव शरीर पर भी बुरा प्रभाव डालता है।

The post Big News: जानवर की चर्बी से बन रहा था घी व डालडा, पुलिस ने किया खुलासा! appeared first on TOS News.

]]>
Big News: मथुरा में हुआ शिक्षक भर्ती में बड़ा घोटाला, एसटीएफ ने 16 को किया गिरफ्तार! https://tosnews.com/big-news-%e0%a4%ae%e0%a4%a5%e0%a5%81%e0%a4%b0%e0%a4%be-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%b9%e0%a5%81%e0%a4%86-%e0%a4%b6%e0%a4%bf%e0%a4%95%e0%a5%8d%e0%a4%b7%e0%a4%95-%e0%a4%ad%e0%a4%b0%e0%a5%8d/131021 Wed, 20 Jun 2018 01:46:19 +0000 https://tosnews.com/?p=131021 लखनऊ: उत्तर प्रदेश में वर्ष 2016-17 में बेसिक शिक्षा विभाग मथुरा मेें की गयी शिक्षकों की भर्ती में बड़ी घोटालेबाजी गयी थी। इस धांधली का

The post Big News: मथुरा में हुआ शिक्षक भर्ती में बड़ा घोटाला, एसटीएफ ने 16 को किया गिरफ्तार! appeared first on TOS News.

]]>
लखनऊ: उत्तर प्रदेश में वर्ष 2016-17 में बेसिक शिक्षा विभाग मथुरा मेें की गयी शिक्षकों की भर्ती में बड़ी घोटालेबाजी गयी थी। इस धांधली का खुलासा मंगलवार को यूपी एसटीएफ ने किया है। एसटीएफ ने मथुरा बीएसए दफ्तर में तैनात कनिष्ठï लिपिक सहित 16 लोगों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गये आरोपियों ने 13 शिक्षक और दो कम्प्यूटर आपरेटर शामिल हैं। आरोपियों के पास से चार लाख रुपये नकद, पांच मोबाइल फोन, एक कम्प्यूटर और नियुक्ति के संबंध में दस्तावेज मिले हैं। शिक्षक भर्ती में आपात्र लोगों से 10-10 लाख रुपये लेकर उनकी भर्ती की गयी थी।


एडीजी कानून-व्यवस्था आनंद कुमार ने बताया कि कुछ समय पहले इस बात की शिकायत मिली थी कि मथुरा जनपद में वर्ष 2016-17 में हुई जूनियर और प्राइमरी टीचर भर्ती में बड़े पैमाने पर धोखाधड़ी की गयी थी। कई लोगों को फर्जी दस्तावेज के आधार पर नियुक्ति दे दी गयी थी। इस शिकायत को गंभीरता से लेते हुए एसटीएफ को छानबीन के लिए लगाया था।

एसटीएफ ने जब अपनी छानबीन शुरू की तो भर्ती संबंधित पूरी प्रक्रिया में गड़बड़ी मिली। कई चयनित लोगों के दस्तावेज फर्जी पाये गये। इस छानबीन के आधार पर एसटीएफ ने मंगलवार को मथुरा बीएसए दफ्तर में तैनात कनिष्ठï लिपिक मथुरा निवासी महेश शर्मा, सहित मथुरा निवासी मनीश कुमार शर्मा, विंदेश कुमार, देवेन्द्र शिकरवार, दीप करन, मनोज कुमार वर्मा, तेजवीर सिंह, पायल शर्मा, भूपेन्द्र कुमार, योगेन्द्र सिंह, चिंदानंद उर्फ चेतन, मोहित भारद्वाज, सुभाष, रवेन्द्र सिंह और पुष्पेन्द्र सिंह को गिरफ्तार किया। एसटीएफ ने पकड़े गये आरोपियों के पास से चार लाख रुपये, पांच मोबाइल फोन, एक कम्प्यूटर और नियुक्ति संबंधित दस्तावेज मिले।

बीएसए दफ्तर को किया गया सील
एडीजी कानून-व्यवस्था आनंद कुमार ने बताया कि पकड़े गये कनिष्ठï लिपिक महेश शर्मा ने इस धांधलेबाजी में और भी कई लोगों के शामिल होने की बात बतायी है। फिलहाल एसटीएफ मथुरा बीएसए आफिस को सील कर दिया है। एडीजी ने बताया कि अब बीएसए दफ्तर को बीएसए की मौजूदगी में खोला जायेगा और फिर सारे दस्तावेजों की एक-एक कर जांच की जायेगी।

10-10 लाख रुपये लेकर की गयी थी भर्ती
आईजी एसटीएफ ने वर्ष 2016-17 में शिक्षा विभाग में शिक्षकों की भर्ती की जिम्मेदारी कुछ जिलों बीएसए को दी गयी थी। उस वक्त मथुरा जनपद में संजीव कुमार सिंह बीएसए थे। मथुरा जनपद में 257 शिक्षिकोंं की भर्ती हुई थी। इस भर्ती में कई ऐसा लोगों को नौकरी दी गयी थी जो नौकरी की शर्तों को पूरा नहीं करते थे। छानबीन में इस बात का पता चला है कि ऐसा लोगों से 10-10 लाख रुपये लेकर उनको नियुक्ति पत्र दिया गया था। एडीजी ने बताया कि इस मामले में मथुरा के बीएसए की भूमिका की भी जांच की जा रही है।

पकड़े गये कुछ टीचर भी करते थे दलाली
एडीजी कानून-व्यवस्था ने बताया कि एसटीएफ के हत्थे चढ़े कुछ टीचर चेतन, सुभाष, रवेन्द्र सिंह और पुष्पेन्द्र सिंह भी इस धांधली के खेल में शामिल है। उन लोगों ने न सिर्फ फर्जी दस्तावेज के आधार पर नौकरी हासिल की थी, बल्कि इस खेल में दलाली का भी काम किया था।

अब अन्य जिलों में हुई भर्ती की भी हो सकती है जांच
एडीजी कानून-व्यवस्था ने बताया कि शिक्षक भर्ती के संबंध में मथुरा जनपद से शिकायत मिली थी। इस आधार पर छानबीन की गयी और गैंग को पकड़ा गया। अब उस वक्त अन्य जिलों मेें हुई भर्ती पर सवाल उठने लगे हैं। ऐसे में अगर जरूरत पड़ी तो बाकी जिलों में हुई भर्ती की भी जांच करायी जायेगी।

अब तक 100 से अधिक शिक्षक मिले फर्जी
एडीजी आनंद कुमार ने बताया कि अभी तक की गयी जांच में इस बात का पता चला है कि 100 लोग गलत ढंग से नियुक्त हुए थे। उन्होंने बताया कि अभी जांच चल रही तो संख्या और भी बढ़ सकती है। उन्होंने इस बात का भी खुलासा किया हैइ कई शिक्षक तो ऐसे मिले हंै जिन्होंने नौकरी के आवेदन तक नहीं किया था और उनको रुपये लेकर नौकरी दे दी गयी थी।

6 माह से सभी शिक्षक स्कूलों में पढ़ा रहे थे
एडीजी कानून-व्यवस्था आनंद कुमार ने बताया कि फर्जी ढंग से नियुक्ति पाये सभी शिक्षकों को 6 माह पहले अलग-अलग स्कूल में ज्वाइन कराया गया था। इसके बाद पहली ज्वाइनिंग के बाद सभी को दूसरे स्कूल में तबादला कर दिया गया था। उन्होंने बताया कि तबादले के पीछे शायद मकसद यह था कि फर्जी नियुक्ति पाये शिक्षकों के बारे में किसी को कुछ पता न चल सके। 6 माह से सभी शिक्षक अपना वेतन भी पाने लगे थे। उन्होंने बताया कि फर्जी नियुक्ति हासिल करने वाले सैकड़ों शिक्षकों ने वेतन लेकर सरकारी खजाने का नुकसान भी पहुंचाया है।

The post Big News: मथुरा में हुआ शिक्षक भर्ती में बड़ा घोटाला, एसटीएफ ने 16 को किया गिरफ्तार! appeared first on TOS News.

]]>
Sex Racket: लखनऊ में चल रहा था हाईप्रोफाइल सेक्स रैकेट, पुलिस ने किया खुलासा! https://tosnews.com/sex-racket-%e0%a4%b2%e0%a4%96%e0%a4%a8%e0%a4%8a-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%9a%e0%a4%b2-%e0%a4%b0%e0%a4%b9%e0%a4%be-%e0%a4%a5%e0%a4%be-%e0%a4%b9%e0%a4%be%e0%a4%88%e0%a4%aa%e0%a5%8d%e0%a4%b0/129100 Sun, 10 Jun 2018 04:19:51 +0000 https://tosnews.com/?p=129100 लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में एक हाईप्रोफाइल सेक्स रैकेट चल रहा था। शहर की विभूतिखण्ड पुलिस ने इसका खुलासा करते हुए पांच युवक

The post Sex Racket: लखनऊ में चल रहा था हाईप्रोफाइल सेक्स रैकेट, पुलिस ने किया खुलासा! appeared first on TOS News.

]]>
लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में एक हाईप्रोफाइल सेक्स रैकेट चल रहा था। शहर की विभूतिखण्ड पुलिस ने इसका खुलासा करते हुए पांच युवक व तीन लड़कियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपियों ने लखनऊ कॉल गल्र्स नाम से इंटरनेट पर वेबसाइट बना रखी थी जिसके जरिए ग्राहक इनसे संपर्क करते थे। आरोपी व्हाट्स एप पर लड़कियों की तस्वीरें भेजकर तीन से 15 हजार रुपये में ग्राहकों से बुकिंग करते थे।


कॉल गल्र्स को ग्राहकों के कमरे तक पहुंचाने और उन्हें वापस पिकअप करने का काम भी गैंग के लोग ही करते थे। शनिवार तड़के धरपकड़ के दौरान आरोपियों के तीन साथी भागने में कामयाब रहे। वहीं पुलिस ने गैंग के सरगना विपिन शर्मा उर्फ साजन के पास से पिस्टल व कार बरामद की है। इसके अलावा लड़कियों के पास से नगदीए मोबाइल फोन व आपत्तिजनक वस्तु बरामद की है।

सीओ गोमतीनगर चक्रेश मिश्रा ने बताया कि शुक्रवार रात 2.30 बजे विभूतिखण्ड थाने के दरोगा अमरनाथ सरोज पुलिस टीम के साथ कठौता चौराहे पर चेकिंग कर रहे थे। तभी लाल रंग की पोलो कार में सवार कुछ लोग उधर से निकले और पुलिस को देखकर भागने लगे। पुलिस ने उनका पीछा किया तो वास्तुखण्ड में सेंट मेरी स्कूल के पास एक युवक कार से उतर कर पैदल भागा।

पुलिस ने उस युवक को पकड़ लिया जबकि उसके साथी कार समेत फरार हो गए। पकड़े गए युवक ने पूछताछ में अपना नाम विरामखण्ड.5 निवासी विपिन शर्मा उर्फ साजन और फरार साथियों के नाम अतुल यादव उर्फ रविए अंकित कुमार और गोलू बताया। उसने कबूला कि वह और उसके साथी जिस्मफरोशी का धंधा करते हैं। तलाशी के दौरान उसके पास से 7.65 बोर की अवैध पिस्टल व दो जिंदा कारतूस बरामद हुए।

पुलिस के मुताबिक विपिन ने यह पिस्टल एक शख्स से 25 हजार रुपये में खरीदी थी। विपिन ने बताया कि कुछ ग्राहक बिगड़ैल प्रवृत्ति के होते हैं और पेमेंट को लेकर आनाकानी करने के साथ लड़कियों को परेशान करते हैं। ऐसे ग्राहकों को डराने के लिए ही वह पिस्टल रखता था। विपिन ने पुलिस को बताया कि उसने रात में ही तीन लड़कियां ग्राहकों के पास भेजी हैं।

उसके कुछ साथी इन लड़कियों को लेने के लिए कठौता चौराहे पर आने वाले हैं। इस पर एसआई अमरनाथ सरोज ने थाने से दो महिला कांस्टेबल चारू मलिक और रूचि मांगट को बुलवाया और चौराहे के पास पेट्रोल पम्प पर खड़े होकर आरोपियों का इंतजार करने लगे। सुबह 6 बजे गैंग के चार युवक इंडिका कार से वहां पहुंचे जिन्हें पुलिस ने दबोच लिया।

इन युवकों की पहचान मध्य प्रदेश के इन्दौर निवासी विकास यादव उर्फ विक्कीए आजमगढ़ निवासी कर्मदेव यादवए सीतापुर के रामपुर मथुरा निवासी सत्वंत सिंह और महमूदाबाद निवासी आदित्य वर्मा के रूप में हुई। पुलिस ने आरोपियों की कार व मोबाइल फोन जब्त कर लिए। पुलिस ने आरोपियों से पूछताछ की तो पता चला कि उन्होंने तीनों लड़कियों को चौराहे के पास एक होटल में छोड़ा है।

कुछ ही देर में वह लड़कियां चौराहे की तरफ पैदल आती हुई नजर आईं जिन्हें महिला सिपाहियों ने गिरफ्तार कर लिया। तीनों के पर्स से नगदीए मोबाइल फोन व आपत्तिजनक वस्तु बरामद हुई।

सीओ चक्रेश मिश्रा के मुताबिक गिरफ्तार लड़कियों में से दो कोलकाता के हावड़ा की रहने वाली हैं और चिनहट के एक हॉस्टल में रहती हैं। वहीं एक लड़की विभूतिखण्ड की रहने वाली है और एक कॉलेज से होटल मैनेजमेंट की पढ़ाई कर रही है।

लड़कियों ने बताया कि वह लोग महंगे शौक व मॉर्डन लाइफ स्टाइल के लिए यह काम कर रही थीं। पुलिस जब तक इन लड़कियों को लेकर होटल पहुंचीए तब तक तीनों ग्राहक जा चुके थे। आरोपियों ने दो ग्राहकों के नाम बहराइच निवासी एहसान अली व दुर्गेश कुमार बताया जबकि तीसरे शख्स का नाम नहीं बता सके।

The post Sex Racket: लखनऊ में चल रहा था हाईप्रोफाइल सेक्स रैकेट, पुलिस ने किया खुलासा! appeared first on TOS News.

]]>
Nigerian Fraud: नाइजीरियन हैकरों ने उत्तर प्रदेश कोआपरेटिक बैंक को लगाया था लाखों का चूना! https://tosnews.com/nigerian-fraud-%e0%a4%a8%e0%a4%be%e0%a4%87%e0%a4%9c%e0%a5%80%e0%a4%b0%e0%a4%bf%e0%a4%af%e0%a4%a8-%e0%a4%b9%e0%a5%88%e0%a4%95%e0%a4%b0%e0%a5%8b%e0%a4%82-%e0%a4%a8%e0%a5%87-%e0%a4%89%e0%a4%a4%e0%a5%8d/125411 Tue, 22 May 2018 06:12:06 +0000 https://tosnews.com/?p=125411 लखनऊ: जिला सहकारी बैंक मुरादाबाद के सर्वर को हैक कर उसकी फर्जी आईडी बनाकर उत्तर प्रदेश कोआपरेटिक बैंक की शाखा से 47 लाख रुपये की

The post Nigerian Fraud: नाइजीरियन हैकरों ने उत्तर प्रदेश कोआपरेटिक बैंक को लगाया था लाखों का चूना! appeared first on TOS News.

]]>
लखनऊ: जिला सहकारी बैंक मुरादाबाद के सर्वर को हैक कर उसकी फर्जी आईडी बनाकर उत्तर प्रदेश कोआपरेटिक बैंक की शाखा से 47 लाख रुपये की ठगी करने वाले एक जालसाज को साइबर क्राइम सेल की टीम ने गिरफ्तार किया है। पकड़े गये आरोपी ने बताया कि इस धोखाधड़ी का खेल नाइजीरियन गैंग ने रचा था।


एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि कुछ माह पहले कैसरबाग थानाक्षेत्र के विधानसभा स्थित उत्तर प्रदेश कोआपरेटिक बैंक की तरफ से कैसरबाग कोतवाली में 47 लाख रुपये की धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज करायी गयी थी। हुआ यूं था कि उत्तर प्रदेश कोआपरेटिक बैंक को कुछ माह पहले जिला सहकारी बैंक मुरादाबाद से एक ई-मेल आया था।

इस ई-मेल में एक खाते में 47 लाख रुपये ट्रांसफर करने की बात लिखी थी। उत्तर प्रदेश कोआपरेटिक बैंक के लोगों ने इसके बाद ई-मेल में दिये गये खाते में आरटीजीएस के माध्यम से 47 लाख रुपये ट्रांसफर कर दिये। बाद में जिला सहकारी बैंक मुरादाबाद ने कुछ दिन के बाद उत्तर प्रदेश कोआपरेटिक बैंक से सम्पर्क कर बताया कि उसके फर्जी ई-मेल आईडी का प्रयोग कर रुपये ट्रांसफर कराये गये थे।

इसके ेबाद उत्तर प्रदेश कोआपरेटिक बैंक ने जब छानबीन की तो पता चला कि 47 लाख रुपये मुम्बई के पंजाब एण्ड महाराष्ट्रा कोआरपेटिक बैंक में जार्डन ट्रेवल नाम की कम्पनी के खाते में ट्रांसफर हुए थे। बैंक ने फौरन खाते को फ्रिज कराया पर तब तक जालसाल खाते से 6 लाख रुपये निकाल चुके थे। इस संबंध में उत्तर प्रदेश कोआपरेटिक बैंक की तरफ से कैसरबाग कोतवाली में धोखाधड़ी व आईडी एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज करायी गयी थी।

छानबीन के लिए कैसरबाग पुलिस ने साइबर क्राइम सेल की मदद ली। छानबीन में साइबर क्राइम सेल को इस बात की जानकारी मिली कि बैंक के साथ की गयी धोखाधड़ी नाइजीरियन जालसाजों ने की थी। इस छानबीन के दौरान साइबर क्राइम सेल को पता चला कि जार्डन ट्रेवल नाम की कम्पनी का बैंक खाता मुम्बई निवासी मेलविन राबिन ऐमन के नाम है। इस बात का पता चलने के बाद सोमवार को साइबर क्राइम सेल ने इस मामले में आरोपी मेलविन को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी के पास दो मोबाइल फोन और 9 अलग-अलग बैंकों के एटीएम कार्ड मिले।

कई महीनों से नाइजीरियन जालसाजों के लिए कर रहा है काम
पूछताछ में पकड़े गये आरोपी मेलविन ने बताया कि वह बीते वर्ष अक्टूबर माह से नाइजीरियन जालसाजों के साथ मिलकर ठगी का काम कर रहा है। उसने बताया कि वह भारत में मौजूद लोगों को रुपये की लालच देकर उनके नाम व पते से फर्जी खाता खुलवाता था। इसके बाद खाते की जानकारी साइबर जालसाजों को दे देता था। साइबर जालसाज ठगी की रकम को उक्त खाते में ट्रांसफर कर लेते थे। इसके बाद आरोपी जालसाज उस खाते से रुपये निकाल कर विदेश में बैठे जालसाजों के खाते में भेज दिया करता था।

इस तरह की पूरी ठगी का अंजाम दिया गया था
एसपी पूर्वी ने बताया कि जिला सहकारी बैंक मुरादाबाद का एक खाता उत्तर प्रदेश कोआपरेटिव बैंक कैसरबाग शाखा में है। जनवरी माह में जिला सहकारी बैंक ने 47 लाख रुपये डिमांड के संबंध में एक ई-मेल उत्तर प्रदेश कोआरपेटिक बैंक को रेडिफ मेल के माध्यम से भेजा था। इसी ई-मेल को नाइजीरियन जालसाजों ने हैंक कर उसमें बदलाव कर जार्डन ट्रेवल के खाते मेें रुपये ट्रांसफर करने की बात लिखकर ई-मेल को कोआपरेटिक बैंक को भेजा था।

पांच कम्पिनयों के नाम पर ठगी की बात कुबूली
पकड़े गये आरोपी मेलविन ने बताया कि नाइजीरियन जालसाजों ने सिर्फ उत्तर प्रदेश कोआपरेटिक बैंक को ही नहीं बल्कि अन्य कई कम्पनियों को भी चूना लगाया है। उसने बताया कि नौकरी डाटकॉम, आदित्य इंफ्राटेक, अनमोल एंटीआक्सीटेंड कम्पनी और चेन्नई की पुल्ला लक्ष्मीपति नाडू कम्पनी के नाम पर जालसाजों ने लाखों की ठगी का अंजाम दिया है।

कमीशन काटकर रुपये जालसाजों को भेजता था
एसपी पूर्वी सर्वेश कुमार मिश्र ने बताया कि आरोपी का काम सिर्फ जालसाजों के रुपये उनके असली खाते तक पहुंचाने का और फर्जी नाम व पते से खाते खोलने का होता था। हर काम के बदले उसको एक मोटी रकम बतौर कमीशन मिलती थी। आरोपी जालसाजों के खाते में रुपये भेजने से पहले अपना कमीशन काट लिया करता था।

चेन्नई और नाइजीरियन दो जालसाजों के नाम सामने आये
साइबर क्राइम सेल से जुड़े लोगों ने बताया कि इस धोखाधड़ी की छानबीन के दौरान इस बात का पता चला है कि करोड़ों रुपये की ठगी को अंजाम दे चुके गैंग के नेटवर्क में चेन्नई का एक जालसाज और नाइजीरिया के दो साइबर ठग शामिल हैं। बताया जाता है कि खाते खुलवाना, ई-मेल हैक करना, एटीएम की मदद से ठगी की रकम निकालना और ठगी की रकम को जालसाजों के असली खाते में ट्रांसफर करने का काम गैंग के अलग-अलग लोग करते हैं।

बैंक की लापरवाही भी निकल कर सामने आयी
साइबर क्राइम सेल से जुड़े इंस्पेक्टर विजयवीर सिंह सिरोही ने बताया कि इस मामले में जिला सहकारी बैंक मुरादाबाद की लापरवाही भी नज़र आ रही है। उन्होंने हैक होने वाले रेडिफ मेल का प्रयोग किया। बैंक को चाहिए था कि वह डिमांड और अन्य सेवाओं के लिए एनआईसी के सर्वर का प्रयोग करता। एनआईसी का सर्वर हैक करना जालसाजों के लिए लगभग नामुमिकन है।

The post Nigerian Fraud: नाइजीरियन हैकरों ने उत्तर प्रदेश कोआपरेटिक बैंक को लगाया था लाखों का चूना! appeared first on TOS News.

]]>
Big News: पढि़ए कैसे यूपीपीसीएल परीक्षा में हो रही थी धांधाली, एसटीएफ ने किया खुलासा! https://tosnews.com/115073-2/115073 Thu, 29 Mar 2018 05:36:17 +0000 https://tosnews.com/?p=115073 लखनऊ: उत्तर प्रदेश पावर कार्पोरेशन जेई पद के लिए आनलाइन परीक्षा में धांधली करने वाले गैंग का पर्दाफाश करते हुए यूपी एसटीएफ ने बुधवार को

The post Big News: पढि़ए कैसे यूपीपीसीएल परीक्षा में हो रही थी धांधाली, एसटीएफ ने किया खुलासा! appeared first on TOS News.

]]>
लखनऊ: उत्तर प्रदेश पावर कार्पोरेशन जेई पद के लिए आनलाइन परीक्षा में धांधली करने वाले गैंग का पर्दाफाश करते हुए यूपी एसटीएफ ने बुधवार को 12 लोगों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गये आरोपियों के कम्प्यूटर, लैपटाप, मोबाइल फोन और करीब 7 लाख रुपये बरामद किये गये हैं। पकड़े गये आरोपियों ने चार परीक्षार्थी हैं। 
एसएसपी एसटीएफ ने बताया कि पावर कार्पोरेशन ने अक्टूबर माह में बिजली विभाग में 226 जेई पद के लिए नौकरी का पद निकाला था। इस पद पर नौकरी के लिए आनलाइन परीक्षा का 11 फरवरी को आयोजन किया गया था। परीक्षा के दौरान कुछ अभ्यर्थियों ने आनलाइन धांधलेबाजी की शिकायत की थी।
इस शिकायत को शासन ने गंभीरता से लेते हुए डीजीपी को पूरे मामले की गहनता से जांच के आदेश दिये थे। डीजीपी ओपी सिंह ने इस मामले की जांच की जिम्मेदारी यूपी एसटीएफ को दी थी। एटीएफ के एएसपी विशाल विक्रम सिंह, सत्यसेन यादव और सीओ आलोक सिंह के नेतृत्व में एसआईटी का गठन किया गया था। एसटीएफ ने जब आनलाइन परीक्षा कराने वाली एपटेक कम्पनी के प्रश्नगत परीक्षा का पूर्ण विवरण हासिल किया था और  शिकायतकर्ता अभ्यर्थियों से पूछताछ की गयी तो परीक्षा में धांधली होने की बात प्रकाश में आयी। 
इस तरह एसटीएफ ने धांधली को पकड़ा
शुरुआती छानबीन में परीक्षा में सम्मिलित होने वाले 26000 अभ्यर्थियों के डाटा का स्टेटीस्टिकल विश्लेषण किया गया। इस डाटा का Bell curve Analysis Regression Analysis  करके संदिग्ध अभ्यर्थियों को छांटा गया। इसके अलावा सभी 26000 अभ्यर्थियों के लाग टेंल एपटेक से प्राप्त किये गये और चेक किया। एसटीएफ को छानबीन में इस बात का पता चला कि पावर कार्पोरेशन की अवर अभियन्ता भर्ती परीक्षा-2018 के साथ-साथ सहायक समीक्षा अधिकारी, कार्यालय सहायक, अपर निजी सचिव आदि पदों पर भर्ती परीक्षाए विभिन्न तिथियों में विभिन्न परीक्षा केन्द्रों पर एपटेक ने करायी थी। इन परीक्षाओं में भारी धनराशि लेकर दो प्रकार से परीक्षा में 1- पेपर लीक करके व 2-आन लाइन हैक करके गड़बड़ी की गयी। आन लाईन साल्व करने के लिए परीक्षा केन्द्र पर बनी लैब के कम्प्यूटर में परीक्षा केन्द्र के मालिक व प्रबन्धक तथा लैब स्थापित करने वाले टैक्निशियन के माध्यम से AMMYY ADMIN साफ्टवेयर इंस्टाल किया गया और उसका आईडी व पासवर्ड साल्वर गैंग को उपलब्ध कराकर आन लाइन प्रश्नपत्र साल्व कराया गया। कुछ अभ्यर्थियों को प्रश्न पत्र आन्सर की सहित उपलब्ध कराकर नकल करायी गयी। अवर अभियन्ता के प्रत्येक अभ्यर्थी से 14-14 लाख रुपये लेने की बात प्रकाश में आयी है। उन्हीं में से कुछ अभ्यर्थी शोर्ट लिस्ट किये गये और उनसे कुछ संदिग्धों से गहराई से पूछताछ करने पर पता चला कि उन्हों ने परीक्षा में पेपर लीक के  माध्यम से तथा AMMYY ADMIN  साफ्टवेयर के माघ्यम से बाहर बैठे साल्वर के द्वारा प्रश्नों को साल्व कराकर परीक्षा में लाभ लिया गया है, जिसके कारण उनकी मैरिट ऊपर हो गयी है। संदिग्ध अभ्यर्थियों से पूछताछ के बाद यह पता चला कि  जेके पब्लिक स्कूल कनौसी, मानक नगर व महाबीर प्रसाद डिग्री कालेज में पावर कार्पोरेशन द्वारा आयोजित विभिन्न परीक्षाओं में AMMYY ADMIN साफ्टवेयर के  माघ्यम से नकल करायी गयी। 
इन लोगों को एसटीएफ ने किया गिरफ्तार
इस मामले की छानबीन के बाद यूपी एसटीएफ ने बुधवार को मानकनगर स्थित जेके पब्लिक स्कूल के प्रबंधक ज्ञानेन्द्र सिंह, आलमबाग स्थित महाबीर प्रसाद डिग्री कालेज के प्रबंधक डा अमित सिंह, महाबीर प्रसाद कालेज के कर्मचारी आजमगढ़ निवासी संजय राजभर, बलिया निवासी दीपमणि यादव, अम्बेडकरनगर निवासी संजय कुमार जायसवाल, मऊ निवासी अभय यादव, देवरिया निवासी धीरेन्द्र वर्मा, कैसरबाग निवासी सैय्यद अफसर हुसैन, बलिया निवासी विपिन कुमार, इलाहाबाद निवासी राकेश कुमार, रामबाबू और देवरिया निवासी संजय कुमार गौड़ को गिरफ्तार किया। एसटीएफ ने इन लोगों के पास से 15 कम्प्यूटर, 12 मोबाइल फोन, एक लैपटाप, एक डोंगल और 7.57 लाख रुपये बरामद किये। 
एपटेक की भूमिका भी मिली संदिग्ध
एसटीएफ को अपनी छानबीन में आनलाइन परीक्षा आयोजित करने वाली एपटेक कम्पनी की भी भूमिका संदिग्ध मिली है। कम्पनी ने परीक्षा प्लान फूल प्रूफ होने का दावा किया था जो गलत निकला। अब एसटीएफ की टीम कम्पनी की भूमिका की जांच कर रही है।   
कुछ आरोपी अभी भी हैं फरार
एसटीएफ के हत्थे चढ़े ज्ञानेन्द्र सिंह, दीप मणि तथा संजय राजभर की निशानदेही पर कालेज की लैब से संदिग्ध कम्प्यूटर व लैपटाप बरामद किये गये। ज्ञानेन्द्र सिंह, दीपमणि यादव तथा संजय राजभर के मोबाइल फोन में AMMYY ADMIN साफ्टवेयर का आईंडी व पासवर्ड पाया गया, जिसे बरामद किया गया है। कुछ अभ्यर्थियों ने बताया कि उनको परीक्षा के दिन 11 फरवरी की सुबह 8 बजे होटल उमंग, बासमण्डी चौराहा लखनऊ में बुलाकर द्वितीय पाली का प्रश्न पत्र उत्तर सहित परिमिन्दर व उसके साथियों ने दिये थे। इस प्रश्न पत्र उत्तर सहित को इन अभ्यर्थियों को  याद करने के लिए लगभग एक घण्टे का समय दिया गया, जिसके  बाद अभ्यर्थी अपने -अपने सेंटरों पर परीक्षा देेने चले गये थेे। एसटीएफ अब तक फरार परमिन्दर व उसके  साथियों की तलाश की जा रही है। 

The post Big News: पढि़ए कैसे यूपीपीसीएल परीक्षा में हो रही थी धांधाली, एसटीएफ ने किया खुलासा! appeared first on TOS News.

]]>
एसएससी परीक्षा में सॉल्वर गैंग पकड़ा गया, 10-15 लाख रुपये में पास कराते थे परीक्षा! https://tosnews.com/%e0%a4%8f%e0%a4%b8%e0%a4%8f%e0%a4%b8%e0%a4%b8%e0%a5%80-%e0%a4%aa%e0%a4%b0%e0%a5%80%e0%a4%95%e0%a5%8d%e0%a4%b7%e0%a4%be-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%b8%e0%a5%89%e0%a4%b2%e0%a5%8d%e0%a4%b5/114880 Wed, 28 Mar 2018 05:58:47 +0000 https://tosnews.com/?p=114880 नई दिल्ली: एसएससी ऑनलाइन परीक्षा में सॉल्वर के माध्यम से परीक्षा पास कराने वाले गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए यूपी एसटीएफ ने दिल्ली पुलिस की

The post एसएससी परीक्षा में सॉल्वर गैंग पकड़ा गया, 10-15 लाख रुपये में पास कराते थे परीक्षा! appeared first on TOS News.

]]>
नई दिल्ली: एसएससी ऑनलाइन परीक्षा में सॉल्वर के माध्यम से परीक्षा पास कराने वाले गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए यूपी एसटीएफ ने दिल्ली पुलिस की मदद से चार लोगों को गिरफ्तार किया है। यह गैंग कंप्यूटर पर टीम विवर सॉफ्टफेयर के जरिये परीक्षा दिला रहा था।


यह गैंग एसएससी ऑनलाइन परीक्षा में अभ्यर्थियों को पास कराने के लिए 100-150 सॉल्वरों का इस्तेमाल कर रहा था। एसटीएफ के एसएसपी अभिषेक सिंह ने बताया कि यूपी एसटीएफ को दिल्ली में होने वाली एसएससी की ऑनलाइन परीक्षा में साल्वर गैंग के सक्रिय होने की सूचना मिली थी।

एसटीएफ ने दिल्ली पुलिस से संपर्क किया और संयुक्त ऑपरेशन की योजना बनाई। संयुक्त टीम ने दिल्ली में छापेमारी कर चार युवकों को गिरफ्तार कर लिया।

गिरफ्तार किए गए युवकों में गैंग लीडर सोनू सिंह, अजय जायसवाल, परम और गौरव शामिल हैं। इनके पास से तीन लैपटॉप, 10 फोन, 50 लाख रुपये, तीन लक्जरी गाडिय़ां, पेन ड्राइवए हार्ड डिस्क और अन्य दस्तावेज बरामद किए गए हैं। इस ऑपरेशन को अंजाम देने वाली मेरठ एसटीएफ यूनिट के बृजेश ने बताया कि सर्विलांस के दौरान परीक्षा पास कराने वाले गिरोह के सक्रिय होने का इनपुट मिला था।

पकड़े गए आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि वे एक अभ्यर्थी से 10 से 15 लाख रुपये पास कराने के लिए लेते थे। इस मामले की एफआईआर में उत्तरी दिल्ली के तिमारपुर थाने में दर्ज की गई है। बृजेश ने बताया कि यह पूरा गैंग दिल्ली से ऑपरेट हो रहा था। पकड़े गए युवकों में दो दिल्ली एक-एक हरियाणा व उत्तर प्रदेश के हैं।

The post एसएससी परीक्षा में सॉल्वर गैंग पकड़ा गया, 10-15 लाख रुपये में पास कराते थे परीक्षा! appeared first on TOS News.

]]>
Cheating: भाजपा नेता के घर धड़ल्ले से लिखी जा रही थीं बोर्ड परीक्षाओं की कापियां, 62 पकड़े गये! https://tosnews.com/cheating-%e0%a4%ad%e0%a4%be%e0%a4%9c%e0%a4%aa%e0%a4%be-%e0%a4%a8%e0%a5%87%e0%a4%a4%e0%a4%be-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%98%e0%a4%b0-%e0%a4%a7%e0%a4%a1%e0%a4%bc%e0%a4%b2%e0%a5%8d%e0%a4%b2%e0%a5%87/108570 Fri, 23 Feb 2018 05:39:51 +0000 https://tosnews.com/?p=108570 अलीगढ़: उत्तर प्रदेश में हो रही बोर्ड परीक्षाओं को नकल विहिन बनाने के लिए सीएम से लेकर डिप्टी सीएम तक ने बीड़ा उठा रखा है।

The post Cheating: भाजपा नेता के घर धड़ल्ले से लिखी जा रही थीं बोर्ड परीक्षाओं की कापियां, 62 पकड़े गये! appeared first on TOS News.

]]>
अलीगढ़: उत्तर प्रदेश में हो रही बोर्ड परीक्षाओं को नकल विहिन बनाने के लिए सीएम से लेकर डिप्टी सीएम तक ने बीड़ा उठा रखा है। बावजूद इसके नकल का धंधा पूरी तरह से थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब अलीगढ़ के अतरौली में एक बड़े गोरखधंधे का भंडाफोड़ हुआ है। अतरौली के गांव तेवथू में भाजपा नेता व स्कूल प्रबंधक के घर में छापे के दौरान 62 लोगों को इंटरमीडिएट यूपी बोर्ड परीक्षा की कॉपी लिखते हुए रंगे हाथों पकड़ लिया। यहां से करीब सौ और मुहर लगी हुई कॉपियां भी बरामद हुई हैं। पुलिस ने केंद्र व्यवस्थापक और प्रधानाचार्य को हिरासत में ले लिया है।

अतरौली थाना क्षेत्र के गांव तेवथू के बौहरे किशनलाल इंटर कॉलेज के प्रबंधक राज कुमार शर्मा का घर स्कूल के ठीक सामने बना हुआ है। पुलिस और प्रशासन को कई दिनों से सूचना मिल रही थी कि राज कुमार शर्मा के साथ रहने वाले व उनके भतीजे भाजपा नेता के घर में यूपी बोर्ड परीक्षा की कॉपियां लिखी जाती हैं।

पुलिस ने सूचना को गंभीरता से लिया और एसडीएम शिवकुमार व सीओ सुरेश कुमार मलिक ने फोर्स के साथ बताए गए घर पर छापा मार दिया। घर को चारों ओर से घेर लिया गया। सूचना इतनी सटीक थी कि जिस कमरे में कॉपी लिखी जा रही थीं। पुलिस ने सीधा उसी कमरे को घेरा।

जैसे ही पुलिस को देखा तो उनमें भगदड़ मच गई और कॉपियां आधी छोड़कर भागने लगे। यहां तक कि वह लोग पुलिस से भी भिडऩे लगे। सीओ और उनके चालक सुधीर चौधरी को अपनी रिवाल्वर व सुरक्षा गार्डों को अपनी राइफल तक निकालनी पड़ गई तब जाकर यह लोग काबू में आ सके। पकड़े गए लोगों में 53 युवक, तीन पेपर सॉल्व करने वाले, तीन किशोर के साथ तीन युवतियां भी शामिल हैं।

इनकी कुल संख्या 62 है। पुलिस ने मौके से गनियावली कालेज के प्रबंधक राम कुमार शर्मा को भी पकड़ा है। कॉलेज प्रबंधक का भाई डीआईओएस दफ्तर में लिपिक के पद पर तैनात है।

इधर सहायक जिला विद्यालय निरीक्षक की तहरीर पर 59 लड़कों और तीन लड़कियों, कॉलेज प्रबंधक के खिलाफ नकल अधिनियम व धारा 384 के तहत रिपोर्ट दर्ज करा दी गई है।

The post Cheating: भाजपा नेता के घर धड़ल्ले से लिखी जा रही थीं बोर्ड परीक्षाओं की कापियां, 62 पकड़े गये! appeared first on TOS News.

]]>
Fake Board: अब तक 4000 छात्रों के भविष्य से यह जालसाज कर चुके हैं खिलवाड़, जानिए कैसे? https://tosnews.com/fake-board-%e0%a4%85%e0%a4%ac-%e0%a4%a4%e0%a4%95-4000-%e0%a4%9b%e0%a4%be%e0%a4%a4%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a5%8b%e0%a4%82-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%ad%e0%a4%b5%e0%a4%bf%e0%a4%b7%e0%a5%8d%e0%a4%af/107737 Mon, 19 Feb 2018 06:30:08 +0000 https://tosnews.com/?p=107737 लखनऊ:  छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहे जालसाजों के एक गैंग का पर्दाफाश यूपी एसटीएफ ने किया है। यह जालसाजा उत्तर प्रदेश

The post Fake Board: अब तक 4000 छात्रों के भविष्य से यह जालसाज कर चुके हैं खिलवाड़, जानिए कैसे? appeared first on TOS News.

]]>
लखनऊ:  छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहे जालसाजों के एक गैंग का पर्दाफाश यूपी एसटीएफ ने किया है। यह जालसाजा उत्तर प्रदेश के राज्य मुक्त विद्यालय के नाम से फर्जी बोर्ड बनाकर छात्रों से ठगी कर रहे थे। जालसाजोंं ने इन्दिरानगर इलाके में अपना दफ्तर खोल रखा था। रविवार को एसटीएफ ने इस गैंग के सरगना सहित 7 जालसाजों को गिरफ्तार किया। आरोपियों के पास से कम्प्यूटर, मार्कशीट, सार्टिफिकेट,पेनकार्ड, चेक बुक, नकद, मोबाइल, मोहर ,स्कार्पियो गाड़ी और सिमकार्ड बरामद किया।


एसएसपी एसटीएफ अभिषेक सिंह ने बताया कि यूपी एसटीएफ को इस बात की सूचना मिली रही थी कि कुछ जालसाज  फर्जी वेबसाइट बनाकर आनलाइन फर्जी एजुकेशन बोर्ड बनाकर छात्रों के साथ ठगी कर रहे हैं। छानबीन में एसटीएफ को इस बात का पता चला कि लखनऊ के इन्दिरानगर फरीदीनगर में स्थित फर्जी बोर्ड का संचालन किया जा रहा है।

बोर्ड के कार्यलय में छानबीन की गयी तो पता चला कि बिहारए महाराष्ट्रए मध्य प्रदेशए हरियाणाए कार्नाटक और दिल्ली सहित कई राज्यों मे स्टडी सेन्टर बनाकर उक्त बोर्ड से सम्बंधित कार्यालय खोल रखे है। उत्तर प्रदेश में 62 शिक्षण संस्थान इस बोर्ड से मान्यता प्राप्त कर छात्रों को सार्टिफिकेट जारी कर रहे है ।

इसके अलावा बोर्ड ऑनलाइन फार्म भरवाकर कुछ समय पश्चात सार्टिफिकेट जारी कर देते है। यह भी पता चला कि इस फर्जी बोर्ड का प्रबन्धक राजमन गौड़ ने वेबसाइट के मेनटेनन्स के लिये एक आईटी एक्सपर्ट नियुक्त कर रखा है। जो डेटाबेस प्रबन्धन का कार्य देखता है अपनी मर्जी से डेटाबेस मे छात्रों के अंकपत्रों में नम्बर अंकित करता है।

लोगों को गुमराह करने के लिए फर्जी नोटिफिकेशन व मान्यता दिखाकर ठगी का कार्य करतें है। सिर्फ इतना ही नहीं जालसाज छात्रों को फंसाने के लिए फर्जी वेबसाइट पर ही पंजीकरण संख्या एवं प्रतिष्ठत लोगों कि फोटो वेबसाइट पर डाल रखा है। आरोपी ने फर्जी तरीके से वेबसाइट पर इण्डियाए स्वच्छ भारत अभियान का लोगो भी लगा रहा था। आरोपियों ने अपनी वेबसाइट पर आईएसओ. 9001 का प्रमाण पत्र भी फर्जी ढंग से हासिल कर लिया गया था।

छानबीन के बाद एसटीएफ ने जब शिक्षा विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों से बात की तो पता चला कि सब कुछ फर्जी है। इसके बाद एसटीएफ को पता चला कि इन्दिरानगर के फरीदरीनगर स्थित रहेजा हाउस में चल रहे फर्जी बोर्ड का संचालक राजमन गौड़ दफ्तर बंद कर भागने की फिराक में लगा है।

इस सूचना पर एसटीएफ ने रविवार की दोपहर वहां छापेमारी की और मौके से राजमनएबस्ती निवासी कनिकराम शर्माए सुनीम शर्माए गोरखपुर निवासी नीरज शाहीए आजमगढ़ निवासी जितेन्द्र गौड़ए राधेश्याम और इन्दिरानगर निवासी नीरज प्रताप सिंह को गिरफ्तार किया। मौके से एसटीएफ ने एक सीपीयूए एक मानीटरए 4 हाईस्कूल व इण्टर मीडियट मार्कशीट व सार्टिफिकेटए 6 पेनकार्डए 9 एटीएम कार्ड ए एक चेकबुकए 31340 रुपयेए 8 मोबाइल फोनए चार डीएमए 9 मोहरए 10 सिमकार्डए उत्तर प्रदेश राज्य मुक्त विद्यालय फर्जी बोर्ड से सम्बन्धित कागजात और एक स्कार्पियों गाड़ी मिली।

पूछतांछ से पता चला कि प्रबन्धक राजमन गौड के द्वारा फर्जी माइक्रो फाइनेन्स कम्पनी भी खोल रखी है और लोगों से ठगी भी कर रहा है।

इसके अलावा पुछताछ पर यह भी पता चला कि जौनपुर निवासी अनवर जो की पूर्व में इनके फर्जी बोर्ड का छात्र रहा हैं उसने पासपोर्ट का प्रत्यावेदन किया गया तो उक्त छात्र को पासपोर्ट कार्यालय द्वारा बताया गया कि आपका अंक पत्र फर्जी हैं। इसके अलावा एसटीएफ को दावा है कि कई राज्यों में उक्त बोर्ड के फर्जी मार्कशीट व सर्टिफिकेट के आधार पर लोगों ने सरकारी नौकरियां भी हासिल कर ली हैं।

The post Fake Board: अब तक 4000 छात्रों के भविष्य से यह जालसाज कर चुके हैं खिलवाड़, जानिए कैसे? appeared first on TOS News.

]]>
Breaking: UPTET परीक्षा में सेंधमारी की फिराक में लगे दो जालसाज एसटीएफ के हत्थे चढ़े! https://tosnews.com/breaking-uptet-%e0%a4%aa%e0%a4%b0%e0%a5%80%e0%a4%95%e0%a5%8d%e0%a4%b7%e0%a4%be-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%b8%e0%a5%87%e0%a4%82%e0%a4%a7%e0%a4%ae%e0%a4%be%e0%a4%b0%e0%a5%80-%e0%a4%95%e0%a5%80/79609 Fri, 13 Oct 2017 15:11:49 +0000 https://tosnews.com/?p=79609 इलाहाबाद: 15 अक्टूबर को प्रदेश भर में होने वाली UPTET परीक्षा में धंधाले बाजी करने की फिराक में लगे दो जालसाजा को यूपी एसटीएफ ने

The post Breaking: UPTET परीक्षा में सेंधमारी की फिराक में लगे दो जालसाज एसटीएफ के हत्थे चढ़े! appeared first on TOS News.

]]>
इलाहाबाद: 15 अक्टूबर को प्रदेश भर में होने वाली UPTET परीक्षा में धंधाले बाजी करने की फिराक में लगे दो जालसाजा को यूपी एसटीएफ ने इलाहाबाद जनपद से गिरफ्तार किया है। पकड़े गये आरोपियों के पास से नकल के लिए प्रयोग होने वाली इलेक्ट्रानिक डिवाइस, मोबाइल फोन, सिमकार्ड व कुछ रुपये बरामद किये हैं। पकड़े गये आरोपी का सरगना मध्य प्रदेश के व्यापम घोटले में शामिल रह चुका है।

 


एसटीएफ के एडिशनल एसपी त्रिवेणी सिंह ने बताया कि रविवार को पूरे प्रदेश में यूपी टीईटी परीक्षा का आयोजन किया गया है। इस बीच एसटीएफ को इस बात की सूचना मिली कि एक गैंग इस परीक्षा में सेंधमारी की कोशिश कर रहा है। यह गैंग अभ्यर्थियों से मोटी रकम लेकर इलेक्ट्रानिक डिवाइस की मदद से उनको उत्तर बताने और उनके पेपर हल करने का काम करता है।

इस सूचना पर काम करते हुए एसटीएफ को इस बात की जानकारी इलाहाबाद में कुछ लोग मौजूद हैं, जो इस गैंग से जुड़े हैं। बस इसके बाद शुक्रवार को यूपी एसटीएफ ने जार्जटाउन हाशिमपुरा इलाके से दो जालसाजों को गिरफ्तार किया। एसटीएफ ने नकेल के लिए प्रयोग होने वाली 31 इलेक्ट्रानिक डिवाइस, 23 डिवाइस स्टीकर, तीन मोबाइल फोन, 28 ब्लुटूथ डिवाइस, 7 सिमकार्ड और 9670 रुपये बरामद किये।

पूछताछ की गयी तो पकड़े गये आरोपियों ने अपना नाम इलाहाबाद निवासी संदीप पटेल व शिवजी पटेल बताया। एसटीएफ का दावा है कि पकड़े गये आरोपी सुरेन्द्र पाल व के एल पटेल गैंग के लिए काम करते हैं। यह दोनों गैंग आनलाइन परीक्षा में कई बार धंधाली कर चुके हैं। आरोपी के एल पटेल चर्चित मध्यप्रदेश व्यापम घोटल मेें शामिल रह चुका है और वह उस मामले में जेल भी गया था।

एसटीएफ का दावा है कि फिलहाल उसने यूपीटीईटी परीक्षा में धांधलेबाजी की फिराक में लगे गैंग को समय रहते ही पकड़ लिया, पर अब तक यह साफ नहीं हो सका है कि इस गैंग ने कितने अभ्यर्थियों को अपने जाल में फंसाया था। परीक्षा के लिए रुपये की डीलिंग के बारे में भी कोई खुलासा नहीं हो सका है। एसटीएफ के अधिकारियों का कहना है कि पूरे मामले में गहनता से जांच की जा रही है। आगे भी इस मामले में कुछ और लोगों की गिरफ्तारी की जा सकती है।

The post Breaking: UPTET परीक्षा में सेंधमारी की फिराक में लगे दो जालसाज एसटीएफ के हत्थे चढ़े! appeared first on TOS News.

]]>