fraud – TOS News https://tosnews.com Latest Hindi Breaking News and Features Sat, 11 Aug 2018 12:28:31 +0000 en-US hourly 1 https://wordpress.org/?v=4.9.8 https://tosnews.com/wp-content/uploads/2017/03/tosnews-favicon-45x45.png fraud – TOS News https://tosnews.com 32 32 Dollar : डालर की लालच में दुकानदार ने गंवाये 2 लाख रुपये, जानिए कैसे? https://tosnews.com/dollar-%e0%a4%a1%e0%a4%be%e0%a4%b2%e0%a4%b0-%e0%a4%95%e0%a5%80-%e0%a4%b2%e0%a4%be%e0%a4%b2%e0%a4%9a-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%a6%e0%a5%81%e0%a4%95%e0%a4%be%e0%a4%a8%e0%a4%a6%e0%a4%be/134064 Thu, 05 Jul 2018 04:12:16 +0000 https://tosnews.com/?p=134064 लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के ठाकुरगंज इलाके में रहने वाले एक दवा दुकानदार को सस्ते दाम में डालर देने का लालच देकर बंटी

The post Dollar : डालर की लालच में दुकानदार ने गंवाये 2 लाख रुपये, जानिए कैसे? appeared first on TOS News.

]]>
लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के ठाकुरगंज इलाके में रहने वाले एक दवा दुकानदार को सस्ते दाम में डालर देने का लालच देकर बंटी व बबली दो लाख रुपये का चूना लगाकर फरार हो गये। ठगी का शिकार हुए दुकानदार ने इस संबंध में हसनगंज कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज करायी है।


ठाकुरगंज के सरफराजगंज दवा दुकानदार एलिया मिक्की अपने परिवार के साथ रहते हैं। उनकी सफरागंज इलाके में ही समर मेडिकल के नाम से दुकान है। बताया जाता है कि दो जुलाई को उनके पास एक युवक आया। उसने बताया कि उसके पास लाखों रुपये कीमत के डालर हैं। युवक ने बताया कि वह बेहद गरीब है और उसके पास कोई दस्तावेज नहीं है।

ऐसे में वह डालर को रुपये में बदलवा नहीं सकता है। युवक ने दुकानदार से सस्ते दामों में डालर खरीदने की पेशकश रखी। लाखों रुपये के डालर सस्ते दामों में मिलने की बात सुन एलिया के मन मेें लालच आ गया। उसने दो लाख रुपये में सारे डालर खरीदने की बात कही। इस पर युवक राजी हो गया। उसने घर पहुंचकर उनको फोन करने की बात कही।

इसके बाद युवक ने कुछ देर के बाद दुकानदार को फोन किया और उनको हसनगंज के गुलजार शाह मजरा बंधा रोड डालर लेने के लिए बुलाया। दुकानदार अपनी पत्नी के साथ तय समय पहले बंधा रोड पहुंच गया। वहां पर युवक व उसके साथ एक महिला भी खड़ी थी। युवक ने दुकानदार को रुपये युवती को देने की बात कही। इस पर दुकानदार ने युवती को दो लाख रुपये से भरा बैग दे दिया और युवती ने उसको तथा कथित डालर से भरा झोला थमा दिया। इसके बाद दोनों वहां से चुपचाप चले गये।

घर पहुंचने पर दुकानदार और उनकी पत्नी ने जब झोला खोलकर देखा तो उसने डालर की जगह अखबार की कतरन रखी मिली। यह देख दुकानदार व उनकी पत्नी के होश उड़ गये। उन्होंने फौरन सूचना पुलिस कंट्रोल रूम को दी। सूचना मिलते ही ठाकुरगंज पुलिस भी मौके पर पहुंच गयी। छानबीन की गयी तो घटनास्थल हसनगंज का मिला।

इस पर ठाकुरगंज पुलिस ने पीडि़त को हसनगंज कोतवाली जाकर अपनी रिपोर्ट दर्ज कराने की सलाह दी। पीडि़त दुकानदार हसनगंज पुलिस के पास पहुंचे और इस मामले में आरोपी युवक के खिलाफ धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज करायी है। पीडि़त ने हसनगंज पुलिस को आरोपी युवक का मोबाइल नम्बर भी दिया है। पुलिस सर्विलांस की मदद से उसका पता लगा रही है।

The post Dollar : डालर की लालच में दुकानदार ने गंवाये 2 लाख रुपये, जानिए कैसे? appeared first on TOS News.

]]>
Fraud Gang: इराक में नौकरी के नाम पर ठगी करने वाला गैंग एसटीएफ के हत्थे चढ़ा! https://tosnews.com/fraud-gang-%e0%a4%87%e0%a4%b0%e0%a4%be%e0%a4%95-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%a8%e0%a5%8c%e0%a4%95%e0%a4%b0%e0%a5%80-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%a8%e0%a4%be%e0%a4%ae-%e0%a4%aa%e0%a4%b0-%e0%a4%a0/133869 Wed, 04 Jul 2018 06:15:00 +0000 https://tosnews.com/?p=133869 लखनऊ: इराक की इनको कम्पनी में बेरोजगार युवकों के साथ ठगी करने वाले गैंग का पर्दाफाश करते हुए यूपी एसटीएफ ने गोरखपुर जनपद से 8

The post Fraud Gang: इराक में नौकरी के नाम पर ठगी करने वाला गैंग एसटीएफ के हत्थे चढ़ा! appeared first on TOS News.

]]>
लखनऊ: इराक की इनको कम्पनी में बेरोजगार युवकों के साथ ठगी करने वाले गैंग का पर्दाफाश करते हुए यूपी एसटीएफ ने गोरखपुर जनपद से 8 जालसाजों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गये आरोपियों के पास से नकदी, 240 पासपोर्ट, लैपटाप और 13 मोबाइल फोन बरामद किया है।


एसएसपी एसटीएफ अभिषेक सिंह ने बताया कि कुछ दिनों से एसटीएफ को इस बात की सूचना मिल रही थी कि जालसाजों का एक गैंग गोरखपुर जनपद मेें सक्रिय है। यह लोग पढ़े-लिखे सीधे-साधे लोगों को इराक की इनको कम्पनी में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी कर रहे हैं।

इस सूचना पर काम करते हुए एसटीएफ को रविवार को पता चला कि जालसाजों का गैंग नौकरी के नाम पर सिंघडिय़ा इलाके में ग्लोबल बेल्डिंग ट्रेनिंग एवं टेगस्ट सेंटर नाम की एक कम्पनी में इनको कम्पनी में नौकरी के लिए इंटरव्यू हो रहे हैं। एसटीएफ ने टीम ने वहां छापेमारी करते हुए 8 लोगों को मौके से गिरफ्तार किया।

एसटीएफ ने उनके पास से 80 हजार रुपये, नकद, 240 पासपोर्ट, तीन लैपटाप और 13 मोबाइल फोन बरामद किये। पूछताछ में पकड़े गये आरोपियों ने अपना नाम गोरखपुर निवासी अरविंद सिंह, रजनीश कुमार, बिहार निवासी शम्भू, तमिलनाडू निवासी आर सुंदर रमन, बिहार निवासी मनोज ठाकुर कुशीनगर निवासी अनवर अंसारी, बिहार निवासी अरविंद कुमार और संदीप कुमार बताया।

इस तरह करते थे ठगी
गिरफ्तार अरविन्द सिंह ने पूछताछ पर बताया कि वे लोग विभिन्न कम्पनियों के नाम पर समाचार पत्रों में विज्ञापन निकलवाते थे, जिसे पढ़कर बेरोजगार युवक सम्पर्क करते थे। इसके बाद वह लोग युवकों को इंटरव्यू के लिए बुलाते थे। इसके बाद वह लोग नौकरी के इच्छुक लोगों से उनके पासपोर्ट और नौकरी दिलाने के नाम पर 60 से 65 हजार रुपये ले लिया करते थे। इसके बाद आरोपी कुछ लोगों को फर्जी दस्तावेज की मदद इराक भेज देते थे।

इनको कम्पनी में काम कर चुका है एक आरोपी
पकड़े गये आरोपी शम्भू यादव ने पूछताछ पर बताया कि मैं इनको कम्पनी, कतर में सुपरवाईजर के पद पर कार्य करते थे। वर्ष 2017 में कतर से भारत वापस आ गया। इस वक्त वह इनको कम्पनी के लिए बेल्डर फीटर के साक्षात्कार अधिकारी के रूप में साक्षात्कार लेने आया था और इस काम के बदले उसको 40 से 50 हजार रुपये मिलते थे।

The post Fraud Gang: इराक में नौकरी के नाम पर ठगी करने वाला गैंग एसटीएफ के हत्थे चढ़ा! appeared first on TOS News.

]]>
Fraud: ओमान में नौकरी दिलाने के नाम पर लाखों की ठगी, पुलिस ने नहीं दर्ज की एफआईआर! https://tosnews.com/fraud-%e0%a4%93%e0%a4%ae%e0%a4%be%e0%a4%a8-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%a8%e0%a5%8c%e0%a4%95%e0%a4%b0%e0%a5%80-%e0%a4%a6%e0%a4%bf%e0%a4%b2%e0%a4%be%e0%a4%a8%e0%a5%87-%e0%a4%95%e0%a5%87/132806 Fri, 29 Jun 2018 05:51:49 +0000 https://tosnews.com/?p=132806 लखनऊ: बिहार राज्य के रहने वाले 6 बेरोजगार युवकों को ओमान में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी दिलाने के नाम पर एक जालसाज व उसके साथी

The post Fraud: ओमान में नौकरी दिलाने के नाम पर लाखों की ठगी, पुलिस ने नहीं दर्ज की एफआईआर! appeared first on TOS News.

]]>
लखनऊ: बिहार राज्य के रहने वाले 6 बेरोजगार युवकों को ओमान में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी दिलाने के नाम पर एक जालसाज व उसके साथी 3 लाख रुपये और सभी के पासपोर्ट लेकर भाग गये। पीडि़त ने जब कम्पनी के लोगों से रुपये व पासपोर्ट मांगे तो उनको धमकी दी। पीडि़त ने इस संबंध में गोमतीनगर पुलिस से लिखित शिकायत भी बावजूद इसके पुलिस ने पीडि़त की एफआईआर तक दर्ज नहीं की। अब ठगी का शिकार हुए लोगों ने यूपी पुलिस के ट्विटर पर शिकायत करते हुए न्याय की मांग की है।


अमीनाबाद के गुईन रोड इलाके में मोहम्म सिबगतउल्लाह अपने परिवार के साथ रहते हैं। उनकी कुछ समय पहले जौनपुर जनपद निवासी शाहबे आलम से मुलाकात हुई थी। शाहबे आलम ने सिबगतउल्लाह को बताया कि वह लोगो को विदेश में सिरक्योरिटी गार्ड की नौकरी दिलाने का काम करता है। इस पर सिबगतउल्ला ने बिहार में रहने वाले अपने भाइयों और रिश्तेदारों से बातचीत की।

बिहार के रहने वाले 6 युवक नौकरी के लिए राजी हो गये। सिबगतउल्ला ने सभी को लखनऊ बुलाया। इसके बाद सभी की मुलाकात शाहबे आलम से हुई। शाहबे आलम ने ओमान में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी दिलाने की बात कही।

सभी को नौकरी दिलाने के नाम पर मांगे 3 लाख रुपये
पीडि़त सिबगतउल्लाह का कहना है कि सभी युवकों की मुलाकात के बाद शाहबे आलम ने नौकरी दिलाने के बदल 3 लाख रुपये और सभी के पासपोर्ट की मांग की। आरोपी शाहबे आलम ने बताया कि उसकी कम्पनी मडिय़ांव इलाके में है।

7 फरवरी से लेेकर 14 मई तक जमा किये 3 लाख रुपये
सारी बातचीत होने के बाद कम्पनी के लोगों ने सभी युवकों को विदेश भेजने के नाम पर तीन लाख रुपये जमा कराने की बात रखी। इसके बाद सिबगउल्ला ने सभी युवकों को रुपये की व्यवस्था करने के लिए कहा। युवक लखनऊ आने के बाद बिहार लौट गये और रुपये की व्यवस्था करनी शुरू की। 7 फरवरी को उन लोगों ने कम्पनी को पहली बार 60 हजार रुपये दिये। इसके बाद युवकों ने 13 फरवरी को 45 हजार रुपये दिये। इसके बाद साहबे आलम ने 26 मार्च को सभी युवकों को ओमान का वीजा दे दिया।

वीजा देने के बाद बाकी 1.95 लाख रुपये ऐंठे
युवकों को फर्जी वीजा देने के बाद शाहबे आलम ने सभी को बाकी 1.95 लाख रुपये जमा कराने के लिए कहा। इसके बाद सभी युवकों ने सिबगउल्लाह के माध्यम से 29 मार्च से लेकर 14 मई के बीच शाहबे आलम को 1.95 लाख रुपये और अपना पासपोर्ट दे दिया।

25 मई को सभी को युवकों को लखनऊ बुलाया
रुपये ऐंठने के बाद शाहबे आलम ने 25 मई को सिबगउल्लाह को फोन कर सभी युवकों को लखनऊ बुलाने के लिए कहा और बताया कि उनकी 27 मई को ओमान की फ्लाइट है। इस पर सिबगतउल्लाह ने सभी युवकों को उसी दिन लखनऊ बुलाया लिया। युवकों के लखनऊ पहुंचने के बाद साहबे आलम ने युवकों को विदेश भेजने के प्रोग्राम को कैसिंल होने की बात बतायी।

रुपये व पासपोर्ट मांगने पर मिली धमकी
युवकों को विदेश भेजने का प्रोग्राम कैसिंल होने पर सिबगतउल्ला को दाल में कुछ कला नज़र आने लगा। उसने शाहबे आलम से सभी के रुपये और उनका पासपोर्ट वापस मांगा। इस पर शाहबे आलम ने 27 मई को रुपये व पासपोर्ट वापस करने का आश्वासन दिया। इसके बाद सिगतउल्लाह ने जब फिर से युवकों के दिये गये 3 लाख रुपये और पासपोर्ट की मांग की तो आरोपियों ने उसको फोन पर जान से मारने की धमकी दी। इसके बाद न तो पीडि़ताओं को रुपये वापस मिले और न ही उनका पासपोर्ट

अब तक पुलिस ने दर्ज नहीं की एफआईआर
शिकायतकर्ता सिबगल्लाह ने बताया कि उसने कई दिन पहले गोमतीनगर पुलिस इस पूरे मामले में शिकायत की थी, बावजूद इसके बाद पुलिस ने उसका शिकायती पत्र तो ले लिया पर एफआईआर अब तक दर्ज नहीं की। थक हार कर सिबगउल्ला ने अब न्याय की मांग के लिए यूपी पुलिस के ट्विटर हैण्डल पर इसकी शिकायत की है।

पीडि़त आरोपी के घर जौनपुर तक गया
शिकायतकर्ता सिबगउल्लाह ने बताया कि ठगी का शिकार होने के बाद वह आरोपी शाहबे आलम की तलाश में दर-दर भटकता रहा पर वह हाथ नहीं लगा। इसके बाद वह शाहबे आलम के जौनपुर बदलापुर स्थित घर तक गया। उन पर उसकी मुलाकात शाहबे आलम के पिता से हुई। पिता ने बेटे से कोई लेनादेना न होने की बात कही।

इन लोगों को बनाया ठगी का शिकार
ओमान में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी के नाम पर बिहार निवासी मोहम्मद जमील, मोहम्मद जावेद, मोहम्मद रिजवान, मोहम्मद शमशेर, मोहम्मद रशिद और मोहम्मद शहबाज से तीन लाख रुपये और सभी के पासपोर्ट ले लिये गये।

The post Fraud: ओमान में नौकरी दिलाने के नाम पर लाखों की ठगी, पुलिस ने नहीं दर्ज की एफआईआर! appeared first on TOS News.

]]>
Mobile Tower: पढि़ए कैसे एक रेलवे कर्मचारी से मोबाइल टावर के नाम ठगे गये 5.32 लाख रुपये! https://tosnews.com/mobile-tower-%e0%a4%aa%e0%a4%a2%e0%a4%bf%e0%a4%bc%e0%a4%8f-%e0%a4%95%e0%a5%88%e0%a4%b8%e0%a5%87-%e0%a4%8f%e0%a4%95-%e0%a4%b0%e0%a5%87%e0%a4%b2%e0%a4%b5%e0%a5%87-%e0%a4%95%e0%a4%b0%e0%a5%8d%e0%a4%ae/129296 Mon, 11 Jun 2018 04:32:40 +0000 https://tosnews.com/?p=129296 लखनऊ: अगर आपके पास कोई फोन आता है और फोनकर्ता खुद को मोबाइल टावर कम्पनी का अधिकारी बताकर अपनी जमीन पर टावर लगवाने की बात

The post Mobile Tower: पढि़ए कैसे एक रेलवे कर्मचारी से मोबाइल टावर के नाम ठगे गये 5.32 लाख रुपये! appeared first on TOS News.

]]>
लखनऊ: अगर आपके पास कोई फोन आता है और फोनकर्ता खुद को मोबाइल टावर कम्पनी का अधिकारी बताकर अपनी जमीन पर टावर लगवाने की बात करता है तो जरा होशियर रहियेगा। हो सकता है कि फोनकर्ता ठग हो और टावर लगवाने के नाम पर आपसे लाखों रुपये ठग ले गये और फिर आप कुछ न कर सकें। ऐसी ही घटना उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के मानकनगर इलाके में रहने वाले एक रेलवे कर्मचारी से उसके घर में मोबाइल टावर लगवाने के नाम पर 5.32 लाख की ठगी की गयी। आरोपी जालसाज अब पीडि़त से टावर लगवाने के नाम पर 1.83 लाख रुपये की और मांग कर रहा है। ठगी का शिकार हुए रेलवे कर्मचारी ने मानकनगर कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज करायी है।


अमरोहा जनपद निवासी कृष्णपाल सिंह रेलवे में तैनात है। वह मौजूदा समय में अपने परिवार के साथ मानकनगर के मेहंदीखेड़ा इलाके में रहता है। कृष्णाल सिंह का कहना है कि मई माह में उसके पास महेन्द्र नाम के एक व्यक्ति का फोन आया। महेन्द्र ने खुद को एक मोबाइल कम्पनी का अधिकारी बताया और कृष्णपाल सिंह से उसके अमरोहा स्थित घर पर मोबाइल टावर लगवाने की बात कही।

महेन्द्र ने कृष्णपाल सिंह को बताया कि टावर लगाने के बदले में उसको एक बार में 25 लाख रुपये, प्रतिमाह 15 हजार रुपये किराये और मोबाइल कम्पनी में परिवार के एक सदस्य को नौकरी मिलेगी। महेन्द्र का यह आफर सुन कृष्णपाल सिंह टावर लगवाने के लिए राजी हो गया। इसके बाद महेन्द्र ने एक के बाद एक 17 मई से लेकर 28 मई के बीच कृष्णपाल सिंह से दो अलग-अलग बैंक खातों में 5.32 लाख रुपये जमा करा लिये।

इतनी बड़ी रकम जमा करने के बाद जब चंद रोज पहले कृष्णपाल सिंह ने महेन्द्र को फोन किया तो उसने बताया कि उसकी जमीन पर टावर लगने का प्रोजेक्ट कैंसिल हो गया है। यह बात सुन कृष्णपाल सिंह के पैरों तले जमीन खिसक गयी। उन्होंने महेन्द्र से अपने रुपये वापस मांगे तो वह टाल-मटोल करने लगा।

पीडि़त ने बताया कि शनिवार को महेन्द्र सिंह ने फिर उसके पास फोन किया और अब टावर के नाम पर उससे 1.83 लाख रुपये की और मांग की। रेलवे कर्मचारी कृष्णपाल सिंह को महेन्द्र की नियत पर कुछ शक हुआ।

उसने इस बारे में अपने जानने वालो लोगों से बातचीत की तो उसको पता चला कि उसके साथ ठगी की गयी है। ठगी की बात पता चलते ही कृष्णपाल सिंह शिकयत लेकर मानकनगर पुलिस के पास पहुंचा। मानकनगर पुलिस ने कृष्णपाल सिंह की शिकायत पर धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज कर ली है और सर्विलांस व बैंक खातों की मदद से जालसाज के बारे मेें पता लगा रही है।

The post Mobile Tower: पढि़ए कैसे एक रेलवे कर्मचारी से मोबाइल टावर के नाम ठगे गये 5.32 लाख रुपये! appeared first on TOS News.

]]>
Thagi: दुबई में नौकरी दिलाने के नाम पर लखनऊ में लाखों की ठगी! https://tosnews.com/thagi-%e0%a4%a6%e0%a5%81%e0%a4%ac%e0%a4%88-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%a8%e0%a5%8c%e0%a4%95%e0%a4%b0%e0%a5%80-%e0%a4%a6%e0%a4%bf%e0%a4%b2%e0%a4%be%e0%a4%a8%e0%a5%87-%e0%a4%95%e0%a5%87/129289 Mon, 11 Jun 2018 04:11:50 +0000 https://tosnews.com/?p=129289 लखनऊ: दुबई में नौकरी दिलाने के नाम पर गोमतीनगर इलाके में स्थित एक कम्पनी ने दर्जनों बेरोजगारों युवकों से लाखों की ठगी का अंजाम दिया।

The post Thagi: दुबई में नौकरी दिलाने के नाम पर लखनऊ में लाखों की ठगी! appeared first on TOS News.

]]>
लखनऊ: दुबई में नौकरी दिलाने के नाम पर गोमतीनगर इलाके में स्थित एक कम्पनी ने दर्जनों बेरोजगारों युवकों से लाखों की ठगी का अंजाम दिया। कम्पनी के लोगों ने युवक को फर्जी वीजा थमा दिया और फिर कम्पनी बंद कर फरार हो गये। ठगी का शिकार हुए एक युवक ने अब इस मामले में उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के गोमतीनगर थाने में एफआईआर दर्ज करायी है।


बाजारखाला के भदेवा इलाके में अबूजर अपने परिवार के साथ रहता है। उसने बताया कि कुछ माह पहले उसने पेपर और नेट पर एक कम्पनी कृष्णा सेलूशन एण्ड सर्विस का एड देखा। यह कम्पनी दुबई में नौकरी दिलाने का काम करती है। इस पर अबूजर और उसके एक रिश्तेदार उन्नाव निवासी मिर्जा निजाम कम्पनी के विरामखण्ड स्थित दफ्तर पहुंचे।

वहां पर उनकी मुलाकात कम्पनी के मालिक अजीत सिंह उर्फ वीर सिंह से हुई। अजीत सिंह ने दोनों को दुबई में एसी मैकेनिक की नौकरी दिलाने की बात कही। नौकरी के बदल में अजीत ने दोनों से 55-55 हजार रुपये की मांग रखी।

पहले किश्त में दोनों ने करीब 30 हजार रुपये जमा कर दिये। इसके बाद दोनों का हुसैनगंज इलाके में मेडिकल कराया गया। कुछ दिन के बाद दोनों को एग्रीमेंट लेटर साइन करने के लिए कम्पनी बुलाया। वह लोग कम्पनी के दफ्तर पहुंचे। एग्रीमेंट लेटर साइन करने से पहले दोनों से 25 हजार रुपये की मांग की गयी। एग्रीमेंट लेटर पढ़ दोनों को यकीन हो गया कि उनकी नौकरी लग गयी है।

वीजा थमा कर गायब हो गयी कम्पनी
पीडि़त अबूजर ने बताया कि एग्रीमेंट लेटर साइन करने के बाद उन लोगों ने कम्पनी को 25 हजार रुपये और दे दिये। इसके बाद कम्पनी ने कुछ दिनों के बाद वीजा और टिकट देने की बात कही। कई दिन गुजर जाने के बाद भी उन लोगों को वीजा नहीं मिला। इस पर वह लोग कम्पनी के दफ्तर पहुंचे तो उन लोगों को इधर-उधर की बात कहकर टाल दिया गया। अबूजर ने बताया कि चंद रोज पहले कम्पनी ने फोन कर इस बात की जानकारी दी कि उनका वीजा आ गया। इस पर वह लोग कम्पनी के दफ्तर पहुंचे और वहां से अपना वीजा और पासपोर्ट लिया।

वीजा चेक कराने पर निकला फर्जी
ठगी का शिकार हुए अबूजर ने बताया कि कम्पनी से वीजा मिले के बाद उन लोगों ने जब वीजा को चेक कराया तो पता चला कि वीजा फर्जी है। यह बात सुन उनके पैरों तले जमीन खिसक गयी। वह लोग विरामखण्ड सिथत कम्पनी के दफ्तर पहुंचे तो वहां ताला लगा था। उन लोगों ने आसपास के लोगों से कम्पनी के बारे में पता किया पता तो चला कि कम्पनी बंद हो गयी है।

पीडि़त की शिकायत पर गोमतीनगर थाने में रिपोर्ट दर्ज
अपने साथ हुई हजारों की इस ठगी के संबंध में अबूजर शिकायत लेकर गोमतीनगर पुलिस के पास पहुंचा। फिलहाल पुलिस ने इस मामले में अबूजर की तहरीर पर कम्पनी के मालिक के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है।

40 से 50 लोगों को लगाया चूना
नौकरी के नाम पर ठगी का शिकार हुए अबूजर ने बताया कि कम्पनी ने करीब 40 से 50 बेरोजगार युवकों को लाखों रुपये का चूना लगा है। उसने बताया कि कुछ युवक के पासपोर्ट तक कम्पनी के पास जमा है। अबूजर ने अपने जानने वाले उन्नाव निवासी अभिषेक, फतेहपुर निवासी शैलेश और उन्नाव निवासी फुरकान का नाम बताया। उसका कहना है कि बाकी लोगों का नाम व पता वह नहीं जानता है।

The post Thagi: दुबई में नौकरी दिलाने के नाम पर लखनऊ में लाखों की ठगी! appeared first on TOS News.

]]>
OMG: लखनऊ मेट्रो में नौकरी दिलाने पर सपा नेता ने की ठगी, एफआईआर दर्ज ! https://tosnews.com/omg-%e0%a4%b2%e0%a4%96%e0%a4%a8%e0%a4%8a-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%9f%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a5%8b-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%a8%e0%a5%8c%e0%a4%95%e0%a4%b0%e0%a5%80-%e0%a4%a6%e0%a4%bf%e0%a4%b2/128515 Thu, 07 Jun 2018 04:50:44 +0000 https://tosnews.com/?p=128515 लखनऊ: लखनऊ मेट्रो में टीसी व स्टोर इंचार्ज की नौकरी दिलाने के नाम पर एक कथित साप नेता पर दो युवकों से 5.70 लाख रुपये

The post OMG: लखनऊ मेट्रो में नौकरी दिलाने पर सपा नेता ने की ठगी, एफआईआर दर्ज ! appeared first on TOS News.

]]>
लखनऊ: लखनऊ मेट्रो में टीसी व स्टोर इंचार्ज की नौकरी दिलाने के नाम पर एक कथित साप नेता पर दो युवकों से 5.70 लाख रुपये ठगने का आरोप लगा है। रुपये वापस मांगने पर जब पीडि़तों को रुपये नहीं मिले तो वह पुलिस के पास पहुंचे। अब इस मामले में हजरतगंज कोतवाली में एफआईआर दर्ज की गयी है।


खजुआ ठाकुर प्रसाद का हाता निवासी अभिषेक नौकरी की तलाश में थे। जुलाई 2016 में अभिषेक व उसके मौसेरे भाई की मुलाकात लालबाग स्थित एक होटल में प्रदीप सोनकर से हुई थी। प्रदीप सोनकर ने खुद को सपा नेता बताता था। साथ ही सरकार में अच्छी पैठ होने का दावा करता था। बातचीत के दौरान ही प्रदीप ने उसे बताया था कि मेट्रो में टीसी व स्टोर इंचार्ज की नौकरी निकली है।

अगर कोई परिचित हो तो वह नौकरी लगवा सकता है। प्रदीप की बातों में अभिषेक व उसका मौसेरे भाई आ गये। दोनों ने अपनी नौकरी के संबंध में बात की। इस पर प्रदीप ने दोनों से रुपये की मांग की। इसके बाद लालबाग स्थित होटल में उसने प्रदीप को पांच लाख व मौसेरे भाई ने 70 हजार रुपए दे दिये।

अभिषेक के मुताबिक प्रदीप ने दो महीने में नियुक्ति पत्र दिलाने का भरोसा दिया था। तय वक्त बीतने पर भी नियुक्ति पत्र नहीं मिले। जब उन लोगों ने प्रदीप से सम्पर्क किया तो उसने आचार संहिता लगने की वजह से थोड़े दिन और रूकने की बात कही। इस बीच नई सरकार का गठन हो गया। अभिषेक ने बताया कि नई सरकार बनने पर प्रदीप ने नौकरी लगवाने में असमर्थता जता दी।

दबाव बनाने पर वह रुपए लौटाने को तैयार हो गया। प्रदीप ने तीन चेक दिये जो बाउंस हो गये। अभिषेक व उसके मौसेरे भाई ने जब प्रदीप से रुपये की मांग की तो उन लोगों को धमकी मिली। ठगी का शिकार हुए अभिषेक ने हजरतगंज इंस्पेक्टर आनन्द कुमार शाही से मुलाकात की। इस मामले में हजरतगंज पुलिस ने प्रदीप सोनकर के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है।

The post OMG: लखनऊ मेट्रो में नौकरी दिलाने पर सपा नेता ने की ठगी, एफआईआर दर्ज ! appeared first on TOS News.

]]>
ATM Cloning: अब तक लखनऊ के सैकड़ों लोग हुए एटीएम क्लोनिंग के शिकार, पुलिस मूकदर्शक बनी! https://tosnews.com/atm-cloning-%e0%a4%85%e0%a4%ac-%e0%a4%a4%e0%a4%95-%e0%a4%b2%e0%a4%96%e0%a4%a8%e0%a4%8a-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%b8%e0%a5%88%e0%a4%95%e0%a4%a1%e0%a4%bc%e0%a5%8b%e0%a4%82-%e0%a4%b2%e0%a5%8b%e0%a4%97/128336 Wed, 06 Jun 2018 05:12:45 +0000 https://tosnews.com/?p=128336 लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में साइबर क्राइम की घटना दिन पर दिन बढ़ती ही जा रही हैं और पुलिस सिर्फ ठगी का शिकार

The post ATM Cloning: अब तक लखनऊ के सैकड़ों लोग हुए एटीएम क्लोनिंग के शिकार, पुलिस मूकदर्शक बनी! appeared first on TOS News.

]]>
लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में साइबर क्राइम की घटना दिन पर दिन बढ़ती ही जा रही हैं और पुलिस सिर्फ ठगी का शिकार हुए लोगों की एफआईआर दर्ज करने के अलावा कुछ भी नहीं कर पा रही है। एटीएम मशीनों में स्कीमर लगा कार्ड क्लोनिंग करने वाले गैंग ने 15 लोगों के खाते से 4.64 लाख रुपए निकाल लिए। बैंक से मैसेज आने खाताधारकों को ठगी की जानकारी हुई। बैंक पहुंचने पर ग्राहकों को अधिकारियों ने दिल्ली में उनके एटीएम कार्ड के जरिए रुपए निकाले जाने की जानकारी दी। इस मामले में गाजीपुर, गोमतीनगर, चिनहट, हजरतगंज व नाका थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है।


मुंशीपुलिया निवासी भारती चौधरी का पीएनबी मुंशीपुलिया ब्रांच में सेविंग एकाउंट है। उनके मुताबिक ठगों ने तीन बार में उनके खाते से 25 हजार रुपए निकाल लिए। इसी तरह सेक्टर.10 निवासी जोखन लाल जायसवाल के खाते से 24 हजार रुपए निकाले गए।

वहीं जेएन फुलेरिया के खाते से 60 हजारए राजन लाल के खाते से 1500 रुपए, व्रतभूषण पण्डित के खाते से 25 हजार रुपए, सुमन कुमार के खाते से 8 हजार रुपएए चिनहट निवासी कौशलेन्द्र पाण्डेय के खाते से 20 हजार रुपए, चिनहट निवासी ओंकार प्रकाश तिवारी के खाते से 50 हजार रुपए, सोनिया उपाध्याय के खाते से 46 हजार रुपए, जानकीपुरम निवासी सुशीला देवी के खाते से 10 हजार रुपए, अभिषेकपुरम निवासी ज्योति श्रीवास्तव के खाते से 20 हजार रुपए, विकासनगर निवासी जनार्दन मिश्र के खाते से 25 हजार रुपए, देवपराग तिवारी के खाते से एक लाख रुपए, ठाकुरगंज निवासी हसन हैदर के खाते से 50 हजार रुपएए सिपाही देवेन्द्र कुमार सिंह के खाते से 15 हजार रुपए व लालबाग निवासी विशालाक्षी गुप्ता के खाते से 5 हजार रुपए निकाले गए।

एटीएम कार्ड की क्लोनिंग किए जाने की खबर मिलते ही पीडि़तों ने अपने कार्ड ब्लाक करा दिए। बैंक से सम्पर्क करने पर उन्हें बताया कि दिल्ली के लाजपतनगरए डिफेंस कालोनीए प्रीति नगरए आईटीओए कनॉट प्लेस व लक्ष्मी नगर इलाके के एटीएम का इस्तेमाल कर रुपए निकाले गए हैं।

डेढ़ महीने के अन्दर ही शहर में लगभग 400 से अधिक लोगों के खाते से लाखों रुपए निकाले जा चुके हैं। लगभग सभी मामलों में दिल्ली में बैठे ठगों द्वारा रुपए निकाले जाने की जानकारी सामने आई है। साइबर सेल के नोडल अधिकारी अभय मिश्र ने बताया कि कार्ड क्लोनिंग करने वाले गैंग के बारे में पुख्ता सुराग मिले हैं। जिसके आधार पर छानबीन की जा रही है।

The post ATM Cloning: अब तक लखनऊ के सैकड़ों लोग हुए एटीएम क्लोनिंग के शिकार, पुलिस मूकदर्शक बनी! appeared first on TOS News.

]]>
OMG: पतंजलि स्टोर खोलने के नाम पर कारोबारी से लाखों की ठगी! https://tosnews.com/omg-%e0%a4%aa%e0%a4%a4%e0%a4%82%e0%a4%9c%e0%a4%b2%e0%a4%bf-%e0%a4%b8%e0%a5%8d%e0%a4%9f%e0%a5%8b%e0%a4%b0-%e0%a4%96%e0%a5%8b%e0%a4%b2%e0%a4%a8%e0%a5%87-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%a8%e0%a4%be%e0%a4%ae/126427 Sun, 27 May 2018 06:42:27 +0000 https://tosnews.com/?p=126427 लखनऊ: पंतजलि का स्टोर खोलवाने के नाम पर साइबर अपराधियों ने एक दुकानदार से करीब साढ़े छह लाख रुपये का चूना लगा दिया। ठगी का

The post OMG: पतंजलि स्टोर खोलने के नाम पर कारोबारी से लाखों की ठगी! appeared first on TOS News.

]]>
लखनऊ: पंतजलि का स्टोर खोलवाने के नाम पर साइबर अपराधियों ने एक दुकानदार से करीब साढ़े छह लाख रुपये का चूना लगा दिया। ठगी का शिकार पीडि़त ने इस संबंध में पीजीआई पुलिस से शिकायत की है। अब पुलिस जालसाजों तक पहुंचने के लिए साइबर क्राइम सेल की मदद ले रही है।


पीजीआई के तेलीबाग नेपालगंज इलाके में कारोबारी विजय अग्रवाल अपने परिवार के साथ रहते हैं। उनकी तेलीबाग इलोक में किराने की थोक दुकान है। बताया जाता है कि विजय अग्रवाल ने पतंजलि स्टोर खोलने का विचार बनाया, पर उनके पास पतंजलि के संबंध में कोई जानकारी नहीं थी।

इस पर उनकी बेटी को इस बात का सुझाव दिया कि कम्पनी का नम्बर इंटरनेट पर मिल जायेगा। इसके बाद कारोबारी की बेटी ने ही इंटरनेट से कम्पनी का मोबाइल नम्बर किसी तरह सर्च कर अपने पिता को दिया।

इस तरह हुए ठगी का शिकार
पीडि़त विजय अग्रवाल ने बताया कि उन्होंने जब इंटरनेट से मिले नम्बर पर सम्पर्क किया तो फोन उठाने वाले ने खुद को कम्पनी का एजेंट बताया और उनको पतंजलि स्टोर खोलने के बारे में पूरी जानकारी दी। इसके बाद उसने विजय अग्रवाल को दो अलग-अलग बैंक खाते दिये और उसमें करीब 6 लाख रुपये सिक्योरिटी मनी से लेकर अन्य मतों में जमा करने के लिए कहा।

विजय ने बिना कोई छानबीन के ही फोनकर्ता के बताये गये मोबाइल नम्बर में रुपये ट्रांसफर कर दिये। रुपये ट्रांसफर के बाद भी जब स्टोर खोलने के संबंध में कोई फोन नहीं आया तो विजय अग्रवाल ने एजेंट के नम्बर पर फोन किया।

फोन करने पर पता चला कि एजेंट का नम्बर बंद है। इसके विजय ने अपने स्तर से छानबीन की तो पता चला कि उनके साथ ठगी हुई है। शनिवार को इस बात की शिकायत लेकर विजय पीजीआई पुलिस के पास पहुंचे। फिलहाल पुलिस ने इस मामले में विजय अग्रवाल की शिकायत पर रिपोर्ट दर्ज कर ली है और जालसाज तक पहुंचने के लिए सर्विलांस और साइबर क्राइम सेल की मदद लेने की बात कह रही है।

The post OMG: पतंजलि स्टोर खोलने के नाम पर कारोबारी से लाखों की ठगी! appeared first on TOS News.

]]>
Nigerian Fraud: नाइजीरियन हैकरों ने उत्तर प्रदेश कोआपरेटिक बैंक को लगाया था लाखों का चूना! https://tosnews.com/nigerian-fraud-%e0%a4%a8%e0%a4%be%e0%a4%87%e0%a4%9c%e0%a5%80%e0%a4%b0%e0%a4%bf%e0%a4%af%e0%a4%a8-%e0%a4%b9%e0%a5%88%e0%a4%95%e0%a4%b0%e0%a5%8b%e0%a4%82-%e0%a4%a8%e0%a5%87-%e0%a4%89%e0%a4%a4%e0%a5%8d/125411 Tue, 22 May 2018 06:12:06 +0000 https://tosnews.com/?p=125411 लखनऊ: जिला सहकारी बैंक मुरादाबाद के सर्वर को हैक कर उसकी फर्जी आईडी बनाकर उत्तर प्रदेश कोआपरेटिक बैंक की शाखा से 47 लाख रुपये की

The post Nigerian Fraud: नाइजीरियन हैकरों ने उत्तर प्रदेश कोआपरेटिक बैंक को लगाया था लाखों का चूना! appeared first on TOS News.

]]>
लखनऊ: जिला सहकारी बैंक मुरादाबाद के सर्वर को हैक कर उसकी फर्जी आईडी बनाकर उत्तर प्रदेश कोआपरेटिक बैंक की शाखा से 47 लाख रुपये की ठगी करने वाले एक जालसाज को साइबर क्राइम सेल की टीम ने गिरफ्तार किया है। पकड़े गये आरोपी ने बताया कि इस धोखाधड़ी का खेल नाइजीरियन गैंग ने रचा था।


एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि कुछ माह पहले कैसरबाग थानाक्षेत्र के विधानसभा स्थित उत्तर प्रदेश कोआपरेटिक बैंक की तरफ से कैसरबाग कोतवाली में 47 लाख रुपये की धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज करायी गयी थी। हुआ यूं था कि उत्तर प्रदेश कोआपरेटिक बैंक को कुछ माह पहले जिला सहकारी बैंक मुरादाबाद से एक ई-मेल आया था।

इस ई-मेल में एक खाते में 47 लाख रुपये ट्रांसफर करने की बात लिखी थी। उत्तर प्रदेश कोआपरेटिक बैंक के लोगों ने इसके बाद ई-मेल में दिये गये खाते में आरटीजीएस के माध्यम से 47 लाख रुपये ट्रांसफर कर दिये। बाद में जिला सहकारी बैंक मुरादाबाद ने कुछ दिन के बाद उत्तर प्रदेश कोआपरेटिक बैंक से सम्पर्क कर बताया कि उसके फर्जी ई-मेल आईडी का प्रयोग कर रुपये ट्रांसफर कराये गये थे।

इसके ेबाद उत्तर प्रदेश कोआपरेटिक बैंक ने जब छानबीन की तो पता चला कि 47 लाख रुपये मुम्बई के पंजाब एण्ड महाराष्ट्रा कोआरपेटिक बैंक में जार्डन ट्रेवल नाम की कम्पनी के खाते में ट्रांसफर हुए थे। बैंक ने फौरन खाते को फ्रिज कराया पर तब तक जालसाल खाते से 6 लाख रुपये निकाल चुके थे। इस संबंध में उत्तर प्रदेश कोआपरेटिक बैंक की तरफ से कैसरबाग कोतवाली में धोखाधड़ी व आईडी एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज करायी गयी थी।

छानबीन के लिए कैसरबाग पुलिस ने साइबर क्राइम सेल की मदद ली। छानबीन में साइबर क्राइम सेल को इस बात की जानकारी मिली कि बैंक के साथ की गयी धोखाधड़ी नाइजीरियन जालसाजों ने की थी। इस छानबीन के दौरान साइबर क्राइम सेल को पता चला कि जार्डन ट्रेवल नाम की कम्पनी का बैंक खाता मुम्बई निवासी मेलविन राबिन ऐमन के नाम है। इस बात का पता चलने के बाद सोमवार को साइबर क्राइम सेल ने इस मामले में आरोपी मेलविन को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी के पास दो मोबाइल फोन और 9 अलग-अलग बैंकों के एटीएम कार्ड मिले।

कई महीनों से नाइजीरियन जालसाजों के लिए कर रहा है काम
पूछताछ में पकड़े गये आरोपी मेलविन ने बताया कि वह बीते वर्ष अक्टूबर माह से नाइजीरियन जालसाजों के साथ मिलकर ठगी का काम कर रहा है। उसने बताया कि वह भारत में मौजूद लोगों को रुपये की लालच देकर उनके नाम व पते से फर्जी खाता खुलवाता था। इसके बाद खाते की जानकारी साइबर जालसाजों को दे देता था। साइबर जालसाज ठगी की रकम को उक्त खाते में ट्रांसफर कर लेते थे। इसके बाद आरोपी जालसाज उस खाते से रुपये निकाल कर विदेश में बैठे जालसाजों के खाते में भेज दिया करता था।

इस तरह की पूरी ठगी का अंजाम दिया गया था
एसपी पूर्वी ने बताया कि जिला सहकारी बैंक मुरादाबाद का एक खाता उत्तर प्रदेश कोआपरेटिव बैंक कैसरबाग शाखा में है। जनवरी माह में जिला सहकारी बैंक ने 47 लाख रुपये डिमांड के संबंध में एक ई-मेल उत्तर प्रदेश कोआरपेटिक बैंक को रेडिफ मेल के माध्यम से भेजा था। इसी ई-मेल को नाइजीरियन जालसाजों ने हैंक कर उसमें बदलाव कर जार्डन ट्रेवल के खाते मेें रुपये ट्रांसफर करने की बात लिखकर ई-मेल को कोआपरेटिक बैंक को भेजा था।

पांच कम्पिनयों के नाम पर ठगी की बात कुबूली
पकड़े गये आरोपी मेलविन ने बताया कि नाइजीरियन जालसाजों ने सिर्फ उत्तर प्रदेश कोआपरेटिक बैंक को ही नहीं बल्कि अन्य कई कम्पनियों को भी चूना लगाया है। उसने बताया कि नौकरी डाटकॉम, आदित्य इंफ्राटेक, अनमोल एंटीआक्सीटेंड कम्पनी और चेन्नई की पुल्ला लक्ष्मीपति नाडू कम्पनी के नाम पर जालसाजों ने लाखों की ठगी का अंजाम दिया है।

कमीशन काटकर रुपये जालसाजों को भेजता था
एसपी पूर्वी सर्वेश कुमार मिश्र ने बताया कि आरोपी का काम सिर्फ जालसाजों के रुपये उनके असली खाते तक पहुंचाने का और फर्जी नाम व पते से खाते खोलने का होता था। हर काम के बदले उसको एक मोटी रकम बतौर कमीशन मिलती थी। आरोपी जालसाजों के खाते में रुपये भेजने से पहले अपना कमीशन काट लिया करता था।

चेन्नई और नाइजीरियन दो जालसाजों के नाम सामने आये
साइबर क्राइम सेल से जुड़े लोगों ने बताया कि इस धोखाधड़ी की छानबीन के दौरान इस बात का पता चला है कि करोड़ों रुपये की ठगी को अंजाम दे चुके गैंग के नेटवर्क में चेन्नई का एक जालसाज और नाइजीरिया के दो साइबर ठग शामिल हैं। बताया जाता है कि खाते खुलवाना, ई-मेल हैक करना, एटीएम की मदद से ठगी की रकम निकालना और ठगी की रकम को जालसाजों के असली खाते में ट्रांसफर करने का काम गैंग के अलग-अलग लोग करते हैं।

बैंक की लापरवाही भी निकल कर सामने आयी
साइबर क्राइम सेल से जुड़े इंस्पेक्टर विजयवीर सिंह सिरोही ने बताया कि इस मामले में जिला सहकारी बैंक मुरादाबाद की लापरवाही भी नज़र आ रही है। उन्होंने हैक होने वाले रेडिफ मेल का प्रयोग किया। बैंक को चाहिए था कि वह डिमांड और अन्य सेवाओं के लिए एनआईसी के सर्वर का प्रयोग करता। एनआईसी का सर्वर हैक करना जालसाजों के लिए लगभग नामुमिकन है।

The post Nigerian Fraud: नाइजीरियन हैकरों ने उत्तर प्रदेश कोआपरेटिक बैंक को लगाया था लाखों का चूना! appeared first on TOS News.

]]>
CMS स्कूल की पूर्व प्रिंसिपल व लैब असिस्टेंट के खिलाफ दर्ज हुई एफआईआर, जानिए क्यो? https://tosnews.com/cms-%e0%a4%b8%e0%a5%8d%e0%a4%95%e0%a5%82%e0%a4%b2-%e0%a4%95%e0%a5%80-%e0%a4%aa%e0%a5%82%e0%a4%b0%e0%a5%8d%e0%a4%b5-%e0%a4%aa%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a4%bf%e0%a4%82%e0%a4%b8%e0%a4%bf%e0%a4%aa%e0%a4%b2/124837 Sat, 19 May 2018 07:25:56 +0000 https://tosnews.com/?p=124837 लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के ठाकुरगंज इलाके में स्थित सीएमएस स्कूल की प्रिंसिपल और लैब असिस्टेंट के खिलाफ धोखाधड़ी और जालसाजी की रिपोर्ट

The post CMS स्कूल की पूर्व प्रिंसिपल व लैब असिस्टेंट के खिलाफ दर्ज हुई एफआईआर, जानिए क्यो? appeared first on TOS News.

]]>
लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के ठाकुरगंज इलाके में स्थित सीएमएस स्कूल की प्रिंसिपल और लैब असिस्टेंट के खिलाफ धोखाधड़ी और जालसाजी की रिपोर्ट दर्ज करायी गयी है। दोनों पर इस बात का आरोप है कि उन लोगों ने स्कूल के नाम पर कई अभिभावकों से लाखों रुपये उधार लिये थे। सिर्फ अभिभावक ही नहीं बल्कि स्कूल के कर्मचारियों से भी रुपये वसूले गये। इस संबंध में सीएमएस के ओएसडी ने ठाकुरगंज थाने में एफआईआर दर्ज करायी है।


सिटी मांटेसरी स्कूल में संतोष तिवारी ओएसडी के पद पर कार्यरत हैं। उनका कहना है कि कुछ दिन पहले इंद्रजीत अरोड़ा ने स्कूल प्रबंधन से इस बात की शिकायत की सीएमएस ठाकुरगंज ब्रांच की प्रिंसिपल साधना बेदी ने स्कूल के नाम पर उनसे 15 लाख रुपये उधार लिये थे। स्कूल प्रिंसिपल ने बताया था कि उधार में ली गयी रकम एक साल के बाद ब्याज सहित उनको वापस कर दी जायेगी। इंद्रजीत अरोड़ा की इस शिकायत पर जब स्कूल प्रबंधन ने छानबीन की तो चांैकाने वाला खुलासा हुआ।

स्कूल की प्रिसिंपल साधना बेदी ने कई अभिभावकों व स्टाफ के लोगों से स्कूल के नाम पर मोदी रकम उधार के रूप में ली थी। सिर्फ इतना ही नहीं उन लोगों को इसकी एक फर्जी रसीद भी दी थी। छानबीन में इस बात का भी पता चला कि स्कूल प्रिसिंपल इंद्रजीत अरोड़ा को रकम वापसी के नाम पर 5.70 लाख के तीन चेक भी दिये थे।

इस बारे में जब साधना बेदी से स्कूल प्रबंधन ने बातचीत की तो उन्होंने बताया कि उन्होंने अपने निजी काम के लिए लोगों से स्कूल के नाम पर उधार रुपये लिये थे। सिर्फ इतना ही ने इस काम में उनका साथ स्कूल में तैनात लैब असिस्टेंट शीतला सहाय ने भी दिया था। शीतला सहाय ने ही स्कूल के नाम पर फर्जी रसीद छपवाई थी और रुपये का पूरा ब्यौरा शीतला सहाय के पास मौजूद था।

इस छानबीन के बाद स्कूल प्रशासन ने प्रिंसिपल साधना बेदी और लैब असिस्टेंट शीतला सहाय को बर्खास्त कर दिया। ओएसडी संतोष तिवारी की शिकायत ठाकुरगंज पुलिस ने प्रिसिंपल और लैब असिस्टेंट के खिलाफ धोखाधड़ी और जालसाजी की रिपोर्ट दर्ज की है। कुछ समय पहले इस बात को लेकर दर्जनों अभिभावकों ने स्कूल के बाहर जमा होकर प्रदर्शन भी किया था।

The post CMS स्कूल की पूर्व प्रिंसिपल व लैब असिस्टेंट के खिलाफ दर्ज हुई एफआईआर, जानिए क्यो? appeared first on TOS News.

]]>