#issue – TOS News https://tosnews.com Latest Hindi Breaking News and Features Sat, 11 Aug 2018 12:28:31 +0000 en-US hourly 1 https://wordpress.org/?v=4.9.8 https://tosnews.com/wp-content/uploads/2017/03/tosnews-favicon-45x45.png #issue – TOS News https://tosnews.com 32 32 Big Breaking: पूर्व सांसद रामविलास वेदांती को मिली धमकी,एफआईआर दर्ज! https://tosnews.com/big-breaking-%e0%a4%aa%e0%a5%82%e0%a4%b0%e0%a5%8d%e0%a4%b5-%e0%a4%b8%e0%a4%be%e0%a4%82%e0%a4%b8%e0%a4%a6-%e0%a4%b0%e0%a4%be%e0%a4%ae%e0%a4%b5%e0%a4%bf%e0%a4%b2%e0%a4%be%e0%a4%b8-%e0%a4%b5%e0%a5%87/140537 Mon, 06 Aug 2018 05:20:59 +0000 https://tosnews.com/?p=140537 लखनऊ: राम मंदिर आनदेलन से जुड़े और प्रतापगढ़ से पूर्व सांसद रामविलास वेदांती को फोन पर जान से मारने की धमकी मिली है। इस संबंध

The post Big Breaking: पूर्व सांसद रामविलास वेदांती को मिली धमकी,एफआईआर दर्ज! appeared first on TOS News.

]]>
लखनऊ: राम मंदिर आनदेलन से जुड़े और प्रतापगढ़ से पूर्व सांसद रामविलास वेदांती को फोन पर जान से मारने की धमकी मिली है। इस संबंध में विभूतिखण्ड थाने में पूर्व सांसद ने अज्ञात लोगों के खिलाफ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करायी है। पूर्व सांसद को अब तक दो बार फोन से धमकी मिल चुकी है।


फैजाबाद के अयोध्या हिंदूधाम में रहते हैं। उनका कहना है कि 27 जून को वह अपने काम से लखनऊ आये थे। वह अपने एक परिचित के घर विभूतिखण्ड के विनम्रखण्ड में रुके थे। 28 जून को उनके पास से एक मोबाइल नम्बर 7226035381 से फोन आया। फोनकर्ता ने सबसे पहले पूर्व सांसद से उनका नाम पूछा। नाम बताने पर फोनकर्ता पूर्व सांसद को गाली देने लगा।

इसके बाद आरोपी ने फोन काट दिया। इस फोन कॉल के आने के बाद पूर्व सांसद ने फौरन इस बात की शिकायत डीएम फैजाबाद से की। इसके बाद बीते 3 अगस्त को एक बार फिर पूर्व सांसद रामविलास वेदांती के पास मोबाइल नम्बर 7523076034 से फोन आया। इस बार फोन करने वाले ने पूर्व सासंद को धमकी देते हुए एक समुदाय विशेष का नाम लेकर उसके आरक्षण के खिलाफ न बोलने की बात कही। इसी के साथ फोनकर्ता ने पूर्व सांसद को गाली देते हुए उनको जान से मारने की धमकी दी।

इस संबंध में अब पूर्व सांसद ने प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार ,एसएसपी लखनऊ, एसएसपी फैजाबाद और डीएम फैजाबाद को पत्र भेजकर शिकायत करते हुए सुरक्षा प्रदान करने की मांग की है। फिलहाल पूर्व सांसद की शिकायत पर विभूतिखण्ड थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 504, 506 और 507 के तहत रिपोर्ट दर्ज कर ली गयी है। अब इस मामले में पुलिस पूर्व सांसद को फोन कर धमकी देने वाले के बारे में सर्विलांस की मदद से पता लगा रही है।

The post Big Breaking: पूर्व सांसद रामविलास वेदांती को मिली धमकी,एफआईआर दर्ज! appeared first on TOS News.

]]>
EVM: जल्द ही 17 विपक्षी दल करेने वाले हैं चुनाव आयोग से मुलाकात, जानिए क्या है वजह! https://tosnews.com/evm-%e0%a4%9c%e0%a4%b2%e0%a5%8d%e0%a4%a6-%e0%a4%b9%e0%a5%80-17-%e0%a4%b5%e0%a4%bf%e0%a4%aa%e0%a4%95%e0%a5%8d%e0%a4%b7%e0%a5%80-%e0%a4%a6%e0%a4%b2-%e0%a4%95%e0%a4%b0%e0%a5%87%e0%a4%a8%e0%a5%87/139931 Fri, 03 Aug 2018 05:27:06 +0000 https://tosnews.com/?p=139931 नई दिल्ली: वर्ष 2019 को लोकसभा चुनाव कई मायने में अहम होने वाला है। इस चुनाव से पहले विपक्षी दल एक बार फिर चुनाव को

The post EVM: जल्द ही 17 विपक्षी दल करेने वाले हैं चुनाव आयोग से मुलाकात, जानिए क्या है वजह! appeared first on TOS News.

]]>
नई दिल्ली: वर्ष 2019 को लोकसभा चुनाव कई मायने में अहम होने वाला है। इस चुनाव से पहले विपक्षी दल एक बार फिर चुनाव को बैलेट पेपर से कराने जाने की मांग कर सकते हैं। बताया जाता है कि 17 राजनैतिक दल जल्द ही चुनाव आयोग से मिलकर लोकसभा चुनाव बैलेट पेपर से कराये जाने की मांग करेंगे। वहीं अगले साल 2019 में लोकसभा चुनाव होने जा रहे हैं और चुनाव आयोग इन चुनावों में 100 फीसदी वीवीपीएटी के इस्तेमाल की कवायद में जुटा हुआ है।

सत्तारूढ़ बीजेपी के खिलाफ विपक्षी एकता को मजबूत करने के प्रयास के तहत तृणमूल कांग्रेस समेत 17 राजनीतिक दल इस मांग के साथ चुनाव आयोग से संपर्क करने की योजना बना रहे हैं कि 2019 का लोकसभा चुनाव मतपत्र से कराया जाएण्। ये 17 विपक्षी दल इस योजना पर चर्चा करने के लिए अगले हफ्ते बैठक करेंगे। तृणमूल नेता डेरक ओ ब्रायन ने कहा कि यह एक ऐसा मामला है जिस पर सभी विपक्षी दल सहमत हैं।

हमारी अगले हफ्ते बैठक करने की योजना है। हमने चुनाव आयोग से संपर्क करने और यह मांग करने की योजना बनाई है कि चुनाव आयोग अगला लोकसभा चुनाव मतपत्र से कराए। इस मामले पर सभी विपक्षी दलों का समर्थन जुटाने की पहल तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी ने की थी जब वह 19 जनवरी की अपनी रैली के वास्ते विपक्षी नेताओं को न्योता देने के लिए उनसे मिलने बुधवार को संसद आई थीं।

ममता बनर्जी को संसद में तृणमूल कांग्रेस के कार्यालय में उनसे मिलने आए नेताओं से यह अपील करते हुए सुना गया कि वे ईवीएम में छेड़छाड़ की रिपोर्ट तथा 2019 का चुनाव मतपत्र से कराने की मांग को लेकर संयुक्त प्रतिनिधिमंडल चुनाव आयोग के पास भेजें। तृणमूल कांग्रेस ने इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीनों की निष्पक्षता पर सवाल खड़ा करते हुए संसद के बाहर प्रदर्शन किया था।

उसने मांग की थी कि 2019 के चुनाव में मतपत्र वापस लाया जाए। पश्चिम बंगाल के सत्तारुढ़ दल ने कहा कि यह एक ऐसा साझा कार्यक्रम है जो विपक्षी दलों को एकजुट करेगा। सबसे रोचक तो यह है कि बनर्जी ने बीजेपी की सहयोगी शिवसेना से भी इस प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा बनने की अपील की।

शिवसेना प्रमुख उद्भव ठाकरे ने पहले मांग की थी कि 2019 का चुनाव ईवीएम के स्थान पर मतपत्र से कराया जाए। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडु ने कहा कि सभी पार्टी नेताओं को ईवीएम को लेकर सतर्क रहना चाहिए। समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव भी बैलेट पेपर के इस्तेमाल कि हिमायत कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि देश की जनता में ईवीएम को लेकर अविश्वास लगातार बढ़ रहा है।

The post EVM: जल्द ही 17 विपक्षी दल करेने वाले हैं चुनाव आयोग से मुलाकात, जानिए क्या है वजह! appeared first on TOS News.

]]>
Doklam: चीन में डोकलाम विवाद को सुलझाने अपनी बड़ी कूटनीतिक जीत बताया! https://tosnews.com/doklam-%e0%a4%9a%e0%a5%80%e0%a4%a8-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%a1%e0%a5%8b%e0%a4%95%e0%a4%b2%e0%a4%be%e0%a4%ae-%e0%a4%b5%e0%a4%bf%e0%a4%b5%e0%a4%be%e0%a4%a6-%e0%a4%95%e0%a5%8b-%e0%a4%b8/139365 Tue, 31 Jul 2018 08:50:43 +0000 https://tosnews.com/?p=139365 चीन: चीन की सरकार ने डोकलाम में कथित रूप से भारतीय सेना के अतिक्रमण से निपटने को साल 2017 की अपनी छह बड़ी कूटनीतिक उपलब्धियों

The post Doklam: चीन में डोकलाम विवाद को सुलझाने अपनी बड़ी कूटनीतिक जीत बताया! appeared first on TOS News.

]]>
चीन: चीन की सरकार ने डोकलाम में कथित रूप से भारतीय सेना के अतिक्रमण से निपटने को साल 2017 की अपनी छह बड़ी कूटनीतिक उपलब्धियों में गिनाया है। चीन के विदेश मंत्रालय के नीति नियोजन विभाग द्वारा प्रकाशित आधिकारिक रिकॉर्ड श्चीन के विदेशी मामले 2018 में साल 2017 के दौरान चीन के कूटनीतिक कदमों की आधिकारिक समीक्षा और दुनिया के बारे में चीन के दृष्टि?कोण को प्रकाशित किया गया है।


इस पुस्तक के दूसरे अध्याय में चीन की कूटनीति पर फोकस है। इसमें शी जिनपिंग सरकार की पिछले साल की कूटनीति में छह बड़ी सफलताओं का उल्लेख किया गया है। इसमें छठी सफलता के बारे में बताते हुए कहा गया है चीन ने अपने डोंगलांग इलाके में भारतीय सीमा सैनिकों के अतिक्रमण को शांतिपूर्वक और कूटनीतिक तरीकों से हल किया।

इस तरह चीन ने अपनी क्षेत्रीय संप्रभूता बनाए रखते हुए यह भी सुनिश्चित किया कि चीन.भारत के रिश्ते सही दिशा में आगे बढ़ें। गौरतलब है कि चीन डोकलाम इलाके को डोंगलांग नाम देते हुए इसे अपना हिस्सा बताता हैए जबकि भूटान इस पर अपना अधिकार मानता हैण् साल 2017 में जुलाई.अगस्त के दौरान सिक्किम सीमा सेक्टर के पास डोकलाम में भारत और चीनी सेनाएं दो महीने से भी ज्यादा समय से आमने.सामने थींण् यह गतिरोध तब शुरू हुआ जब इस इलाके में चीनी सेना द्वारा किए जाने वाले सड़क निर्माण कार्य को भारतीय सैनिकों ने रोक दिया।

भारत की चिंता यह है कि अगर चीन डोकलाम में सड़क बनाने में कामयाब रहता है तो उसके लिए कभी भी उत्तर.पूर्व के हिस्से तक शेष भारत की पहुंच को रोक देना आसान हो जाएगा। दो महीने के गतिरोध के बाद आखिर चीन ने वहां सड़क निर्माण रोक दिया था। तब इसे भारत की बड़ी कूटनीतिक जीत माना गया था।

The post Doklam: चीन में डोकलाम विवाद को सुलझाने अपनी बड़ी कूटनीतिक जीत बताया! appeared first on TOS News.

]]>
#DelhiPowerTussle: दिल्ली मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट ने दिया ऐतिहासिक फैसला, जानिए आपभी! https://tosnews.com/delhipowertussle-%e0%a4%a6%e0%a4%bf%e0%a4%b2%e0%a5%8d%e0%a4%b2%e0%a5%80-%e0%a4%ae%e0%a5%81%e0%a4%a6%e0%a5%8d%e0%a4%a6%e0%a5%87-%e0%a4%aa%e0%a4%b0-%e0%a4%b8%e0%a5%81%e0%a4%aa%e0%a5%8d%e0%a4%b0/133879 Wed, 04 Jul 2018 06:34:01 +0000 https://tosnews.com/?p=133879 नई दिल्ली: दिल्ली सरकार और उपराज्यपाल के बीच 2015 से ही चली आ रही अधिकारों की जंग को लेकर आज देश की सबसे बड़ी अदालत

The post #DelhiPowerTussle: दिल्ली मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट ने दिया ऐतिहासिक फैसला, जानिए आपभी! appeared first on TOS News.

]]>
नई दिल्ली: दिल्ली सरकार और उपराज्यपाल के बीच 2015 से ही चली आ रही अधिकारों की जंग को लेकर आज देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला सुनाया है। दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले से उलट सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि उपराज्यपाल दिल्ली में फैसला लेने के लिए स्वतंत्र नहीं हैं। एलजी को कैबिनेट की सलाह के अनुसार ही काम करना होगा। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने ये भी साफ कर दिया है कि दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा मिलना संभव नहीं है।


सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि लोकतांत्रिक मूल्य सर्वोच्च हैं। शक्ति एक जगह केंद्रित नहीं हो सकती। सरकार जनता के लिए उपलब्ध हो। भारत में संसदीय प्रणाली है। शक्तियों में समन्वय होना चाहिए और केंद्र और राज्य मिलकर काम करें । संघीय ढांचे में राज्य को स्वतंत्रता है। जनमत का महत्व है तकनीकी पहलुओं में उलझाया नहीं जा सकता।

संसद का कानून सबसे ऊपर। एलजी हैं दिल्ली के प्रशासक। मतभेद हों तो राष्ट्रपति के पास जाएं। कैबिनेट की सलाह से करें काम। हर फैसले में एलजी की सहमति अनिवार्य नहीं है किन फैसलों में यह स्पष्ट होना बाकी। शक्ति एक जगह केंद्रित नहीं हो सकती अराजकता के लिए जगह नहीं। दिल्ली सरकार के काम में बाधा न डालें एलजी। हर मामले में बाधा न डालें एलजी।

एलजी सारे फैसलों को मैकेनिकल तरीके से राष्ट्रपति को नहीं भेजेंगे। एलजी पहले खुद उस पर अपनी बुद्धिमत्ता का प्रयोग करेंगे और चुने हुए सदस्यों को अहमियत देंगे। दिल्ली सरकार बनाम उपराज्यपाल के बीच विवाद जगजाहिर है। हर मामले में दिल्ली सरकार उपराज्यपाल के माध्यम से केंद्र सरकार पर हमला करती रही है।

हाईकोर्ट ने अगस्त 2016 में दिए अपने फैसले में स्पष्ट कर दिया था कि दिल्ली देश की राजधानी है और केंद्र शासित होने के चलते उपराज्यपाल ही दिल्ली के बॉस हैं। उनकी अनुमति मामलों में जरूरी है। इस फैसले के बाद अधिकांश मामले में दिल्ली सरकार के पर कट गए और उपराज्यपाल व दिल्ली सरकार के बीच विवाद बढ़ता गया। दिल्ली सरकार ने फैसले को सर्वोच्च न्यायालय में चुनौती दी। सर्वोच्च न्यायालय की संविधान पीठ ने विस्तृत सुनवाई के बाद 6 दिसंबर 2017 को फैसला सुरक्षित रख लिया था। अब करीब छह माह बाद आज फैसला आ गया है।

The post #DelhiPowerTussle: दिल्ली मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट ने दिया ऐतिहासिक फैसला, जानिए आपभी! appeared first on TOS News.

]]>
Bollywood: एक्ट्रेस किम शर्मा पर लगा मेड से मारपीट का आरोप, पुलिस से की गयी शिकायत! https://tosnews.com/bollywood-%e0%a4%8f%e0%a4%95%e0%a5%8d%e0%a4%9f%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a5%87%e0%a4%b8-%e0%a4%95%e0%a4%bf%e0%a4%ae-%e0%a4%b6%e0%a4%b0%e0%a5%8d%e0%a4%ae%e0%a4%be-%e0%a4%aa%e0%a4%b0-%e0%a4%b2%e0%a4%97/133666 Tue, 03 Jul 2018 05:49:47 +0000 https://tosnews.com/?p=133666 मुम्बई: सालों पहले आयी मोहब्बतें नाम की फिल्म में कालेज गर्ल यानि किम शर्मा को तो आप जानते ही होंगे। दो- तीन फिल्में करने के

The post Bollywood: एक्ट्रेस किम शर्मा पर लगा मेड से मारपीट का आरोप, पुलिस से की गयी शिकायत! appeared first on TOS News.

]]>
मुम्बई: सालों पहले आयी मोहब्बतें नाम की फिल्म में कालेज गर्ल यानि किम शर्मा को तो आप जानते ही होंगे। दो- तीन फिल्में करने के बाद ही उन्हें काम मिलना बंद हो गया और जल्द ही बॉलीवुड से गायब हो गईं । हाल ही में एक बड़ी वजह से किम चर्चा में आ गई हैं । किम की मेड ने उनपर मारपीट करने का आरोप लगाया है।यह घटना मई महीने की बताई जा रही है ।


मेड का नाम एस्थर खेस है । एस्थर ने अपनी शिकायत में बताया है कि वो किम के घर पर दो महीने से काम कर रही थी । वो सफेद और रंगीन कपड़ों को अलग.अलग धुलना भूल गई ।श्जब कपड़े धुल गए तब मैंने ध्यान दिया कि एक काले ब्लाउज का रंग व्हाइट टी शर्ट में लग गया है । मुझे अपनी गलती का एहसास हुआ और मैंने किम को इस बारे में बताया ।

ये सुनकर किम को बहुत गुस्सा और वो मेरे ऊपर चिल्लाने लगीं ।श्श्उन्होंने मुझे धक्का मारकर घर से निकाल दिया और कभी वापस ना आने को कहा । उन्होंने मुझसे काफी अभद्र भाषा में बात की । इतना ही नहीं किम ने मेरी सैलरी देने से मना कर दिया। एस्थर ने किम से कई बार पैसे मांगे लेकिन हर बार उन्हें खाली हाथ लौटा दिया गया।

इसके बाद एस्थर ने 27 जून को पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। खार पुलिस ने किम को समन भेज दिया है या शिकायत के बारे में उन्हें सूचित कर दिया है। पुलिस ने बताया कि शिकायतकर्ता आगे की कार्रवाई के लिए कोर्ट जा सकती है।

इस बारे में किम का कहना है कि हर महीने की 7 तारीख को उसे सैलरी देती थीं। किम ने कहा कि मेड का बकाया उन्होंने 7 को ही क्लियर कर दिया था। उन्होंने मेड को मारा भी नहीं। उसने मेरे 70 हजार के कपड़े खराब कर दिए। मैंने उन्हें सिर्फ घर से निकलने के लिए कहा था।

The post Bollywood: एक्ट्रेस किम शर्मा पर लगा मेड से मारपीट का आरोप, पुलिस से की गयी शिकायत! appeared first on TOS News.

]]>
OMG: महिला टी 20 की कप्तान हरमनप्रीत से जुड़ी चौकाने वाली खबर सामने आयी, जानिए आपभी! https://tosnews.com/omg-%e0%a4%ae%e0%a4%b9%e0%a4%bf%e0%a4%b2%e0%a4%be-%e0%a4%9f%e0%a5%80-20-%e0%a4%95%e0%a5%80-%e0%a4%95%e0%a4%aa%e0%a5%8d%e0%a4%a4%e0%a4%be%e0%a4%a8-%e0%a4%b9%e0%a4%b0%e0%a4%ae%e0%a4%a8%e0%a4%aa/133647 Tue, 03 Jul 2018 05:27:10 +0000 https://tosnews.com/?p=133647 पंजाब: भारतीय महिला क्रिकेट टी-20 टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर से जुड़ी चौकाने वाली खबर सामने आयी है। आईसीसी महिला वनडे वल्र्डकप में अपने प्रदर्शन

The post OMG: महिला टी 20 की कप्तान हरमनप्रीत से जुड़ी चौकाने वाली खबर सामने आयी, जानिए आपभी! appeared first on TOS News.

]]>
पंजाब: भारतीय महिला क्रिकेट टी-20 टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर से जुड़ी चौकाने वाली खबर सामने आयी है। आईसीसी महिला वनडे वल्र्डकप में अपने प्रदर्शन से सभी को चौंकाने वाली हरमनप्रीत कौर को पंजाब पुलिस ने बड़े उत्साह से डीएसपी की नौकरी दी थी। इसके लिए उन्होंने रेल्वे की नौकरी भी छोड़ी थी लेकिन रेवले ने उन्हें मुक्त नहीं किया था और पंजाब सरकार के प्रयासों की वजह से रेलवे ने उन्हें अपनी सेवाओं से मुक्त किया था जिसके बाद वे पंजाब में डीएसपी पद पर पदस्थ सो सकीं थी अभी उसी पंजाब पुलिस ने हरमनप्रीत की ग्रेजुएशन की डिग्री को सत्यापन के दौरान फर्जी पाया है।

पंजाब के मोगा की रहने वाली अर्जुन अवार्ड से सम्मानित हरमनप्रीत कौर को पंजाब पुलिस में 1 मार्च को डीएसपी के तौर पर शामिल किया गया था। वहीं अब पंजाब पुलिस ने उनके द्वारा दिए गए शिक्षा के विवरण को सही नहीं पाया है। पुलिस के मुताबिक जब जालंधर पंजाब पुलिस ने डिग्री के सत्यापन के लिए मेरठ यूनिवर्सिटी भेजा तो वहां उस डिग्री का रजिस्ट्रेशन नंबर नहीं पाया गया।

पुलिस ने इस मामले से जुड़े सभी तथ्य आगे की कार्रवाही के लिए राज्य सरकार को भेज दिए गए हैं। पुलिस ने गृह विभाग को एक प्रस्ताव भेजा गया है जिसमें कहा गया है कि हरमनप्रीत की डिग्री वैध ना होने की वजह से वह डीएसपी के पद पर बनी नही रह सकती।

इस विषय पर जब हरमनप्रीत से जानकारी लेने की कोशिश की गई तो उन्होंने इस कहा कि अभी उन्हें कोई जानकारी नहीं मिली है विभाग से बात होने के बाद ही वे इस विषय पर कुछ भी कहने की स्थिति में होंगी।

वर्ष 2017 मेंए ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ विश्व कप सेमीफाइनल में हरमनप्रीत ने अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 171 रन बनाए जो विश्व कप के इतिहास में किसी भी भारतीय द्वारा बनाया गया सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर है। इस समय हरमनप्रीत महिला टी20 टीम इंडिया की कप्तान हैं।

The post OMG: महिला टी 20 की कप्तान हरमनप्रीत से जुड़ी चौकाने वाली खबर सामने आयी, जानिए आपभी! appeared first on TOS News.

]]>
Ram Mandir: सीएम योगी आदित्यनाथ ने राम मंदिर निर्माण पर दिया बड़ा बयान, जानिए आपभी! https://tosnews.com/ram-mandir-%e0%a4%b8%e0%a5%80%e0%a4%8f%e0%a4%ae-%e0%a4%af%e0%a5%8b%e0%a4%97%e0%a5%80-%e0%a4%86%e0%a4%a6%e0%a4%bf%e0%a4%a4%e0%a5%8d%e0%a4%af%e0%a4%a8%e0%a4%be%e0%a4%a5-%e0%a4%a8%e0%a5%87-%e0%a4%b0/132214 Tue, 26 Jun 2018 06:00:39 +0000 https://tosnews.com/?p=132214 अयोध्या: वर्ष 2019 का चूनाव करीब आ रहा है। ऐसे में फिर से राम मंदिर का मुद्दा गरमाने लगा है। मुख्यमंत्री बनने के बाद छठवीं

The post Ram Mandir: सीएम योगी आदित्यनाथ ने राम मंदिर निर्माण पर दिया बड़ा बयान, जानिए आपभी! appeared first on TOS News.

]]>
अयोध्या: वर्ष 2019 का चूनाव करीब आ रहा है। ऐसे में फिर से राम मंदिर का मुद्दा गरमाने लगा है। मुख्यमंत्री बनने के बाद छठवीं बार अयोध्या पहुंचे योगी आदित्यनाथ को सोमवार को संतों के तीखे सवालों का सामना करना पड़ा। संतों ने कहा कि राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री से लेकर मेयर तक भाजपा का हैए आखिर अब कब बनेगा राम मंदिर।


इस पर सीएम योगी ने उन्हें मर्यादा का पाठ पढ़ाया और कहा कि मंदिर जरूर बनेगाए लेकिन मर्यादा में रहकर ही मर्यादा पुरुषोत्तम का मंदिर बनेगा। रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास के जन्मोत्सव में आयोजित संत सम्मेलन में पहुंचे योगी ने कहा कि भगवान राम मर्यादा के प्रतीक हैं संत मर्यादा के प्रतिनिधि। सभी समस्याओं के समाधान का सम्यक प्रयास मर्यादा में रहकर करना होगा।

सीएम ने समझाते हुए कहा कि हम दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र हैं। न्यायपालिकाए विधायिकाए कार्यपालिका की अपनी भूमिका होती है। हमें उन मर्यादाओं को भी ध्यान में रखना होगा।योगी ने कहा कि रामभक्तों पर गोली चलवाने वाले लोग अब राम मंदिर की बात करते हैं। इमरजेंसी में लोकतंत्र की हत्या करने वाले लोग लोकतंत्र की दुहाई देते हैं।

उनके हृदय परिवर्तन को हम अपनी जीत मानते हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ जब मंच पर पहुंचे तो भीड़ ने नारा लगाया कि योगीजी मंदिर का निर्माण करो। फिर शीर्ष संतों ने सवाल खड़ा किया कि राममंदिर कब बनेगा। परमानंद सरस्वती ने कहा कि अब क्या बचा है प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति, मुख्यमंत्री, सांसद, विधायक से लेकर मेयर तक भाजपा के हैंए फिर भी सरकार राममंदिर बनाने से परहेज क्यों कर रही है।

पूर्व सांसद डॉण् रामविलास वेदांती ने कहा कि विस चुनाव में योगी ने हर मंच से सरकार बनने पर मंदिर निर्माण का एलान किया था। अब भाजपा मंदिर नहीं बनाती है तो वह रसातल की ओर चली जाएगी। संत यह भी ऐलान करते दिखे कि जैसे बिना कोर्ट और सरकार के आदेश के बाबरी ढांचा ध्वंस किया गयाए उसी तरह राममंदिर का निर्माण करने में भी अब रामभक्त पीछे नहीं रहेंगें।

सीएम ने संतों की भावना से खुद को जोड़ते हुए कहा कि मंदिर निर्माण बहुसंख्यक समाज की भावना है। धैर्य रखिएए इसका समाधान जल्द निकलेगा। यह मामला मर्यादित तरीके से पटाक्षेप की ओर जा रहा है। कुछ लोग रामभक्तों को भड़काने वाला अनावश्यक बयान दे रहे हैं ताकि सामाजिक सौहार्द बिगड़े।

संतों को सावधान रहना होगा कि कुछ लोग एक तरफ कोर्ट में अर्जी लगाते हैं कि 2019 से पहले राममंदिर का निर्माण न हो, वही आज पूछते हैं कि राममंदिर कब बन रहा है। योगी ने कहा कि राम अखंड ब्रह्मांड के स्वामी हैं। राम की जब कृपा होगी तब राममंदिर बनकर रहेगाए इसमें संदेह नहीं होना चाहिए। हम उन षडयंत्रों को समझें जिन लोगों ने बार.बार अवरोध पैदा किया।

The post Ram Mandir: सीएम योगी आदित्यनाथ ने राम मंदिर निर्माण पर दिया बड़ा बयान, जानिए आपभी! appeared first on TOS News.

]]>
Buglow Politics: सरकारी बंगले पर बढ़ी रार, सरकार और विपक्ष आमने-सामने! https://tosnews.com/buglow-politics-%e0%a4%b8%e0%a4%b0%e0%a4%95%e0%a4%be%e0%a4%b0%e0%a5%80-%e0%a4%ac%e0%a4%82%e0%a4%97%e0%a4%b2%e0%a5%87-%e0%a4%aa%e0%a4%b0-%e0%a4%ac%e0%a4%a2%e0%a4%bc%e0%a5%80-%e0%a4%b0%e0%a4%be/129309 Mon, 11 Jun 2018 05:26:41 +0000 https://tosnews.com/?p=129309 लखनऊ: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश के यादव के सरकारी बंगले को लेकर रार बढ़ती दिख रही है। बंगले को लेकर सरकार और विपक्ष

The post Buglow Politics: सरकारी बंगले पर बढ़ी रार, सरकार और विपक्ष आमने-सामने! appeared first on TOS News.

]]>
लखनऊ: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश के यादव के सरकारी बंगले को लेकर रार बढ़ती दिख रही है। बंगले को लेकर सरकार और विपक्ष के बीच आरोप-प्रत्यारोप थमने का नाम नहीं ले रहा।


बंगले में हुई तोडफ़ोड़ की तस्वीरें मीडिया में आने के बाद अखिलेश यादव सरकार के निशाने पर हैं। अखिलेश यादव ने सरकारी अधिकारियों पर बदनाम करने का आरोप लगाते हुए तोडफ़ोड़ की लिस्ट देने की मांग की थी। रविवार को समाजवादी पार्टी के एमएलसी सुनील यादव ने योगी आदित्यनाथ और सरकार पर निशाना साधा।

उन्होंने कहा कि बंगले में तोडफ़ोड़ सीएम योगी के आदेश पर हुई है। उपचुनावों में हार से हताश मुख्यमंत्री इस मुद्दे के जरिए अखिलेश यादव की छवि जनता में खराब करना चाहते हैं।

बहीं सीएम योगी सरकार में परिवहन मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने बंगले में हुई तोडफ़ोड़ को सुप्रीम कोर्ट की अवहेलना करार दिया है। उन्होंने कहा कि कोर्ट के आदेश पर खाली किए गए सरकारी आवास से एसी और टाइल्स को नहीं निकालना चाहिए था क्योंकि यह सरकारी संपत्ति है।

अखिलेश यादव ने कोर्ट के आदेश का उल्लंघन किया है। इसकी जांच होनी चाहिए। वहीं इस पूरे मामले में समाजवादी पार्टी भी आक्रामक रूख अपना चुकी है। समाजवादी पार्टी ने बंगले में तोडफ़ोड़ के सभी आरोप को खारिज कर दिया है। सपा ने इस घटना को पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव की छवि खराब करने के लिए रची गयी एक साजिश करार दिया है।

The post Buglow Politics: सरकारी बंगले पर बढ़ी रार, सरकार और विपक्ष आमने-सामने! appeared first on TOS News.

]]>
Breaking: राम मंदिर निर्माण को लेकर महंत सुरेश दास सीएम योगी से मिलने पहुंचे! https://tosnews.com/breaking-%e0%a4%b0%e0%a4%be%e0%a4%ae-%e0%a4%ae%e0%a4%82%e0%a4%a6%e0%a4%bf%e0%a4%b0-%e0%a4%a8%e0%a4%bf%e0%a4%b0%e0%a5%8d%e0%a4%ae%e0%a4%be%e0%a4%a3-%e0%a4%95%e0%a5%8b-%e0%a4%b2%e0%a5%87%e0%a4%95/128540 Thu, 07 Jun 2018 05:50:12 +0000 https://tosnews.com/?p=128540 लखनऊ; राम मंदिर निर्माण को लेकर गुरुवार सुबह दिगंबर अखाड़े के प्रमुख महंत सुरेश दास अन्य संतों और पुजारियों संग सीएम योगी से मिलने के

The post Breaking: राम मंदिर निर्माण को लेकर महंत सुरेश दास सीएम योगी से मिलने पहुंचे! appeared first on TOS News.

]]>
लखनऊ; राम मंदिर निर्माण को लेकर गुरुवार सुबह दिगंबर अखाड़े के प्रमुख महंत सुरेश दास अन्य संतों और पुजारियों संग सीएम योगी से मिलने के लिए लखनऊ पहुंच गए। मुख्यमंत्री के साथ सभी की बैठक चल रही है।


सीएम से मिलने से पहले महंत सुरेश दास ने मीडिया से कहा कि मंदिर के मामले को गंभीरता से लिया जाना चाहिए। यदि सरकार ऐसा नहीं करती है तो देखेंगे कि 2019 में हमें क्या करना है। बता दें कि कि पांच जून को दिगंबर अखाड़ा के महंत सुरेश दास ने दो टूक शब्दों में कहा कि यदि 2019 से पूर्व राममंदिर का निर्माण नहीं शुरू हुआ तो लोकसभा चुनाव में भाजपा की हार तय है। भाजपा राममंदिर के नाम पर ही राज कर रही है।

आज केंद्र व प्रदेश में सरकार है, राष्ट्रपति भी भाजपा के हैं अब राममंदिर नहीं बनेगा तो कब बनेगा। उन्होंने कहा था कि मोदी सरकार राममंदिर निर्माण का अपना वादा निभाए और इसके लिए लोकसभा में शीघ्र प्रस्ताव पेश करे। ऐसा न होने पर शीघ्र ही जनांदोलन किया जाएगा।

महंत सुरेश दास ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट पर हमें भरोसा है। हमें उम्मीद है कि निर्णय भी हमारे पक्ष में आएगा लेकिन हम अब और इंतजार नहीं कर सकते। जिस मुद्दे पर भाजपा को सत्ता मिली उसे पूरा करने के लिए भाजपा क्या प्रयास रही है।

पीएम मोदी लोकसभा में राममंदिर निर्माण का प्रस्ताव लाएं। जनता ने उन्हें राममंदिर निर्माण के लिए ही चुना था। यदि 2019 से पूर्व राममंदिर का निर्माण न शुरू हुआ तो संतों की अगुवाई में जनआंदोलन होगा और लोकसभा चुनाव में भाजपा की हार सुनिश्चित होगी। एक सवाल के जबाब में उन्होंने कहा कि राममंदिर निर्माण के लिए योगी सरकार तैयार है बस मोदी सरकार को ठोस कदम उठाना होगा।

The post Breaking: राम मंदिर निर्माण को लेकर महंत सुरेश दास सीएम योगी से मिलने पहुंचे! appeared first on TOS News.

]]>
Big News: यूपी में पतंजलि का फूड पार्क खुलेगा या नहीं, तस्वीर साफ नहीं ! https://tosnews.com/128339-2/128339 Wed, 06 Jun 2018 05:31:39 +0000 https://tosnews.com/?p=128339 लखनऊ: ग्रेटर नोएडा में बनने वाले पतंजलि के फूड पार्क को रद्द किए जाने की बात पर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने साफ तौर

The post Big News: यूपी में पतंजलि का फूड पार्क खुलेगा या नहीं, तस्वीर साफ नहीं ! appeared first on TOS News.

]]>
लखनऊ: ग्रेटर नोएडा में बनने वाले पतंजलि के फूड पार्क को रद्द किए जाने की बात पर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने साफ तौर पर इनकार कर दिया है। अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त अनूप चंद्र पांडेय के मुताबिक यमुना एक्सप्रेस वे में पतंजलि आयुर्वेद को आवंटित की गई जमीन रद्द नहीं की गई है। बता दें कि जमीन रद्द होने की बात से इनकार तब किया गया है जब आचार्य बालकृष्ण ने ट्वीट कर इस बात की पुष्टि की थी।


इन सबके इतर पतंजलि के फूड पार्क की जमीन रद्द होने की खबर राजनीतिक गलियारों तक पहुंचते ही हड़कंप मच गया। इसके बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पंतजलि के एमडी बालकृष्ण को फोन कर बात की है। साथ ही मुख्यमंत्री ने बालकृष्ण से कहाए श्जो भी तकनीकी समस्या है उसे दूर कर लिया जाएगा।

गौरतलब है कि 2016 में पतंजलि ग्रुप यमुना एक्सप्रेस.वे अथॉरिटी में 465 एकड़ जमीन अलॉट की गई थी। इसमें से 50 एकड़ जमीन पतंजलि ग्रुप मेगा फूड पार्क के लिए ट्रांसफर करवाना चाहता है। सूत्रों के मुताबिकए मेगा फूड पार्क के लिए जमीन ट्रांसफर होने से भारत सरकार की योजना के मुताबिक कंपनी को छूट मिल सकती है। औद्योगिक विभाग का कहना है कि पतंजलि को जमीन देने का फैसला कैबिनेट में लिया गया था।

लिहाजा उसी जमीन में से 50 एकड़ जमीन को ट्रांसफर कराने के लिए कैबिनेट में ले जाना होगा जिसकी प्रक्रिया चल रही है। अगली कैबिनेट में जमीन के ट्रांसफर के प्रस्ताव को रखा जाएगा। हालांकि आचार्य बालकृष्ण ने अपने ऑफिशल ट्विटर अकाउंट से जमीन रद्द होने की बात की पुष्टि की थी। योगगुरु बाबा रामदेव के नेतृत्व वाले पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड ने प्रदेश में प्रस्तावित पतंजलि फूड पार्क को अब कहीं और शिफ्ट करने की बात कही है। आचार्य बालकृष्ण ने जानकारी दी है कि ग्रेटर नोएडा में फूड पार्क को निरस्त कर दिया गया है।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार का रवैया बेहद निराशाजनक है और इससे किसानों की स्थिति नहीं सुधर सकती है। यही नहीं इस ट्वीट के बाद भी आचार्य बालकृष्ण ने फूड पार्क के प्रॉजेक्ट की तस्वीर डालते हुए निराशा जाहिर की। उन्होंने लिखा कि यह था पतंजलि फूडपार्क नोएडा के प्रस्तावित विशाल संस्थान का स्वरूप, जिससे मिलता हजारों लोगों को रोजगार और प्राप्त होता लाखों किसानों को समृद्धिशाली जीवन।

अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त डॉक्टर अनूप चंद्र पांडे ने कहाए श्कोई जमीन रद्द नहीं की गई है। मेगा फूड पार्क के लिए 50 एकड़ जमीन को ट्रांसफर किया जाना है। जल्द ही इस प्रस्ताव को कैबिनेट की मंजूरी के लिए भेजा जाएगा। आपको बता दें कि 2016 में अखिलेश यादव के मुख्यमंत्री रहते हुए नोएडा में यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण में पतंजलि फूड पार्क का शिलान्यास किया गया था। उस वक्त दावा किया गया था कि यह फूड पार्क शुरू होने से लगभग 10000 लोगों को नौकरी मिल जाएगी। इस प्रॉजेक्ट में पतंजलि ग्रुप ने 1600 करोड़ रुपये निवेश करने की बात कही थी।

The post Big News: यूपी में पतंजलि का फूड पार्क खुलेगा या नहीं, तस्वीर साफ नहीं ! appeared first on TOS News.

]]>