politics – TOS News https://tosnews.com Latest Hindi Breaking News and Features Sun, 12 Aug 2018 11:48:15 +0000 en-US hourly 1 https://wordpress.org/?v=4.9.8 https://tosnews.com/wp-content/uploads/2017/03/tosnews-favicon-45x45.png politics – TOS News https://tosnews.com 32 32 Big News: राज्यसभा उपसभापति के लिए बीके हरिप्रसाद होंगे कांग्रेस के उम्मीदवार! https://tosnews.com/big-news-%e0%a4%b0%e0%a4%be%e0%a4%9c%e0%a5%8d%e0%a4%af%e0%a4%b8%e0%a4%ad%e0%a4%be-%e0%a4%89%e0%a4%aa%e0%a4%b8%e0%a4%ad%e0%a4%be%e0%a4%aa%e0%a4%a4%e0%a4%bf-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%b2%e0%a4%bf/140949 Wed, 08 Aug 2018 05:40:48 +0000 https://tosnews.com/?p=140949 नई दिल्ली: 9 अगस्त को होने वाले राज्यसभा उपसभापति चुनाव के लिए जोर आजमाइश जारी है। एनडीए ने जहां जेडीयू सांसद हरिवंश नारायण सिंह को

The post Big News: राज्यसभा उपसभापति के लिए बीके हरिप्रसाद होंगे कांग्रेस के उम्मीदवार! appeared first on TOS News.

]]>
नई दिल्ली: 9 अगस्त को होने वाले राज्यसभा उपसभापति चुनाव के लिए जोर आजमाइश जारी है। एनडीए ने जहां जेडीयू सांसद हरिवंश नारायण सिंह को राज्यसभा के उपसभापति पद के लिए अपना उम्मीदवार घोषित किया है तो वहीं सूत्रों की मानें तो कांग्रेस की ओर से बीके हरिप्रसाद उपसभापति पद के उम्मीदवार होंगे।


वह राज्यसभा में सांसद के तौर पर कर्नाटक का प्रतिनिधित्व करते हैं। साथ ही वह अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव भी हैं। बता दें कि राज्यसभा के उपसभापति पीजे कुरियन का कार्यकाल इस साल जून में पूरा हो गया है। 10 अगस्त को समाप्त होने वाले मानसून सत्र में सभापति ने उपसभापति चुनाव के लिए 9 अगस्त का दिन तय किया है।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इसके लिए राजग के नाराज दलों के साथ.साथ दूसरे दलों को साधने में जुट गए हैं। राजग ने इस पद के लिए जदयू सांसद हरिवंश नारायण सिंह को अपना उम्मीदवार बनाया है। वह बुधवार को नामांकन करेंगे। शिवसेना ने भी राजग को समर्थन देने का फैसला किया है।

हालांकि चुनाव में नौ सदस्यों वाली बीजेडी के पास ही हार.जीत की चाबी है क्योंकि बीजेडी ने अगर मतदान के दौरान सदन से अनुपस्थित रहने का फैसला किया तो भाजपा का गणित गड़बड़ा जाएगा। बीजेडी के एक वरिष्ठ सांसद ने कहा कि राज्य में दोनों दल हमारे प्रतिद्वंद्वी हैं। चूंकि सूबे में विधानसभा चुनाव लोकसभा चुनाव के साथ ही होंगे ऐसे में किसी एक पक्ष में जाने का फैसला बेहद उलझन भरा होगा।

The post Big News: राज्यसभा उपसभापति के लिए बीके हरिप्रसाद होंगे कांग्रेस के उम्मीदवार! appeared first on TOS News.

]]>
Politics: कन्हैया कुमार के लोकसभा चुनाव लडऩे की चर्चा तेज, जानिए कौन सी सीट से लड़ सकत हैं! https://tosnews.com/politics-%e0%a4%95%e0%a4%a8%e0%a5%8d%e0%a4%b9%e0%a5%88%e0%a4%af%e0%a4%be-%e0%a4%95%e0%a5%81%e0%a4%ae%e0%a4%be%e0%a4%b0-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%b2%e0%a5%8b%e0%a4%95%e0%a4%b8%e0%a4%ad%e0%a4%be/138009 Wed, 25 Jul 2018 05:35:04 +0000 https://tosnews.com/?p=138009 बिहार: लोकसभा चुनाव का वक्त जैसे-जैसे करीब आ रहा है, वैसे-वैसे अटकलों का दौरा भी तेज होता जा रहा है। अब अगर बिहार की राजनीति

The post Politics: कन्हैया कुमार के लोकसभा चुनाव लडऩे की चर्चा तेज, जानिए कौन सी सीट से लड़ सकत हैं! appeared first on TOS News.

]]>
बिहार: लोकसभा चुनाव का वक्त जैसे-जैसे करीब आ रहा है, वैसे-वैसे अटकलों का दौरा भी तेज होता जा रहा है। अब अगर बिहार की राजनीति की बात की जाये तो ऐसी चर्चा है कि यहां पर विपक्षी दल एकजुट होकर भाजपा के खिलाफ चुनाव लडऩे का मन बना रही हैं। इस पर एक बड़ी खबर भी सामने आ रही है कि जेएनयू के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार के बिहार से लोकसभा चुनाव लडऩे की चर्चा हैण् वे महागठबंधन के उम्मीदवार हो सकते हैं।


चर्चा है कि भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी पूर्व जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार को उनके गृह जिला बेगूसराय सीट से उम्मीदवार बना सकती है। बता दें कि कन्हैया बेगूसराय जिले के बरौनी प्रखंड के बीहट पंचायत के निवासी हैं। साल 2016 में जेएनयू के अध्यक्ष रहने के दौरान कन्हैया कुमार पर देशद्रोही नारे लगाने के आरोप लगे थे।

कन्हैया को पुलिस हिरासत में भी लिया गया था लेकिन बाद में हाईकोर्ट से उन्हें केस में जमानत मिल गई थी। कन्हैया भी कई मंचों पर चुनाव लडऩे की बात कर चुके हैं। बेगुसराय में सीपीआई की जमीन मजबूत रही है और इस पार्टी का इस क्षेत्र में अच्छा जनाधार रहा है। हालांकि हाल में ही यहां के वोटर बीजेपी के साथ नजर आए हैं। लोकसभा चुनाव 2014 में पहली बार बीजेपी को इस सीट से जीत मिली थी।

सूत्रों के मुताबिक सहयोगी दलों के बीच अब तक की वार्ता के अनुसार बिहार की 40 लोकसभा सीटों में से लगभग आधी सीटों पर लालू की पार्टी आरजेडी लड़ेगी, कांग्रेस को 10 और हम को 4 सीटें मिलने की संभावना है। इसके अलावा एनसीपी और वाम दल को एक-एक सीट दी जा सकती है। वर्ष 2015 के बिहार विधानसभा चुनाव के बाद राज्य में अपने विधायकों की संख्या बढऩे के मद्देनजर कांग्रेस द्वारा और अधिक लोकसभा सीटों की मांग की जा रही है।

एनडीए से नाता तोड़कर महागठबंधन में शामिल हुई हम पांच सीटें हासिल करने की कोशिश में है। एनसीपी अपने पार्टी महासचिव तारिक अनवर को उनकी कटिहार सीट से दोहरा सकती है। शरद यादव अपने बेटे को आरजेडी के चुनाव चिह्न पर चुनावी मैदान में उतार सकते हैं।

आरएलएसपी प्रमुख उपेंद्र कुश्वाहा ने जेडीयू सुप्रीमो नीतीश कुमार के नेतृत्व में चुनाव लडऩे से इनकार कर दिया है। आरएलएसपी के फिलहाल तीन सांसद हैं। महागठबंधन उनकी नाराजगी का फायदा उठाकर उन्हें अपने खेमे में जोडऩा चाहता है। उन्हें 4 सीटें दी जा सकती हैं, हालांकि उपेंद्र महागठबंधन से जुडऩे की खबरों को खारिज करते रहे हैं लेकिन जेडीयू और बीजेपी के फिर से एक हो जाने के बाद बदले हालात में उनके लिए महगठबंधन बेहतर विकल्प हो सकता है।

The post Politics: कन्हैया कुमार के लोकसभा चुनाव लडऩे की चर्चा तेज, जानिए कौन सी सीट से लड़ सकत हैं! appeared first on TOS News.

]]>
Meeting: राजनीति के दिग्गज अमर सिंह ने यूपी के सीएम योगी से की मुलाकात! https://tosnews.com/meeting-%e0%a4%b0%e0%a4%be%e0%a4%9c%e0%a4%a8%e0%a5%80%e0%a4%a4%e0%a4%bf-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%a6%e0%a4%bf%e0%a4%97%e0%a5%8d%e0%a4%97%e0%a4%9c-%e0%a4%85%e0%a4%ae%e0%a4%b0-%e0%a4%b8%e0%a4%bf/137814 Tue, 24 Jul 2018 06:26:32 +0000 https://tosnews.com/?p=137814 लखनऊ: राजनीति के मैदान के दिग्गज कहे जाने वाले अमर सिंह ने सोमवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की। इस मुलाकात

The post Meeting: राजनीति के दिग्गज अमर सिंह ने यूपी के सीएम योगी से की मुलाकात! appeared first on TOS News.

]]>
लखनऊ: राजनीति के मैदान के दिग्गज कहे जाने वाले अमर सिंह ने सोमवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की। इस मुलाकात के बाद राजनीतिक गलियारों में उनके भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने की अटकलें तेज हो गई हैं।


अधिकारिक सूत्रों ने उनकी मुलाकात की पुष्टि की है हालांकि उनके बीच क्या बातचीत हुई इसकी जानकारी अभी सामने नहीं आई है। अमर सिंह समाजवादी पार्टी से राज्यसभा के सांसद थे, लेकिन पिछले साल अखिलश यादव की अगुवाई वाले संगठन ने उन्हें निष्कासित कर दिया था। इसके बाद से ही उनके भगवा दल से जुडऩे के कयास लग रहे हैं।

सपा से बगावत के बाद उनके तेवर बदले हुए हैं। जानकारी के मुताबिक सोमवार देर शाम वो नेपाल के दौरे से लखनऊ आए और सीएम से मिलने एनेक्सी पहुंचे। दोनों नेताओं के बीच करीब 15 से 20 मिनट तक बातचीत हुई।

सूत्रों का कहना है कि अमर सिंह ने उनसे आजमगढ़ के विकास को लेकर बात की है कुछ और योजनाओं पर भी उन्होंने सीएम को सलाह दी है। उन्होंने पत्रकारों से कहा कि वो लखनऊ आए हुए थे और काफी दिन से मुख्यमंत्री से मिलना चाह रहे थे।

ये मुलाकात सिर्फ शिष्टाचार मुलाकात थी, इसका कोई और मतलब नहीं निकाला जाना चाहिए। आपको बता दें कि अमर सिंह ने हाल ही में कहा था कि वो बीजेपी में शामिल होने के खिलाफ नहीं है लेकिन उन्हें न तो इसके लिये कोई निमंत्रण मिला है और न ही उन्होंने इसके लिये आवेदन किया है।

The post Meeting: राजनीति के दिग्गज अमर सिंह ने यूपी के सीएम योगी से की मुलाकात! appeared first on TOS News.

]]>
Politics: राहुल की झप्पी पर शुरू हुई राजनीति, बीजेपी ने बताया नादानी तो कांग्रेस ने बताया प्यार! https://tosnews.com/politics-%e0%a4%b0%e0%a4%be%e0%a4%b9%e0%a5%81%e0%a4%b2-%e0%a4%95%e0%a5%80-%e0%a4%9d%e0%a4%aa%e0%a5%8d%e0%a4%aa%e0%a5%80-%e0%a4%aa%e0%a4%b0-%e0%a4%b6%e0%a5%81%e0%a4%b0%e0%a5%82-%e0%a4%b9%e0%a5%81/137417 Sun, 22 Jul 2018 06:45:45 +0000 https://tosnews.com/?p=137417 मुम्बई: अविश्वास प्रस्ताव के दौरान शुक्रवार को लोकसभा में राहुल गांधी के प्रधानमंत्री मोदी के गले मिलने को जहां भाजपा नेता उनकी नादानी और बचकानापन

The post Politics: राहुल की झप्पी पर शुरू हुई राजनीति, बीजेपी ने बताया नादानी तो कांग्रेस ने बताया प्यार! appeared first on TOS News.

]]>
मुम्बई: अविश्वास प्रस्ताव के दौरान शुक्रवार को लोकसभा में राहुल गांधी के प्रधानमंत्री मोदी के गले मिलने को जहां भाजपा नेता उनकी नादानी और बचकानापन करार दे रहे हैं तो वहीं कांग्रेस ने इसे नफरत और प्यार की परिभाषा से जोड़ दिया है। मुंबई कांग्रेस ने राहुल की पीएम मोदी को झप्पी का एक पोस्टर चिपकाया है जिसमें लिखा है नफरत से नहीं प्यार से जीतेंगे।


बता दें कि इस झप्पी की चर्चा इस वक्त पूरे देश में हो रही है। भाजपा नेताओं ने राहुल को बचकाना नेता और कांग्रेस का खोटा लोहा बताया है। हालांकि कांग्रेसी नेताओं का मानना है कि राहुल ने इस झप्पी के जरिए संदेश दिया कि वह नफरत की राजनीति में विश्वास नहीं रखते। शनिवार को प्रधानमंत्री मोदी ने भी एक रैली के दौरान राहुल गांधी पर निशाना साधा।

उन्होंने राहुल का नाम लिए बिना कहा कि उनको पीएम की कुर्सी के अलावा कुछ नहीं दिखता है। इसका उदाहरण उन्होंने राहुल गांधी शुक्रवार को संसद में भी दे दिया। हमने अविश्वास प्रस्ताव का कारण पूछा, लेकिन वो कारण तो बता नहीं पाए और सीधे गले ही पड़ गए। गौरतलब है कि अविश्वास प्रस्ताव पर बहस के दौरान राहुल गांधी ने खुद को पप्पू कहकर भी संबोधित किया था।

उन्होंने कहा था आप लोगों के अंदर मेरे लिए नफरत है। आपके अंदर मेरे लिए गुस्सा है। मैं आपके लिए पप्पू हो सकता हूं। आप मुझे गाली भी दे सकते हैं। लेकिन आपके लिए मेरे दिल में थोड़ा सा भी गुस्सा नहीं है क्योंकि आपने मुझे हिंदुस्तानी, एक कांग्रेसी होने का मतलब सिखाया है। इससे बड़ी बात और क्या हो सकती है।

राहुल ने अपना भाषण खत्म करते ही प्रधानमंत्री मोदी की सीट के पास जाकर उन्हें गले लगा लिया था। इस बात पर किरकिरी होता देख राहुल ने शनिवार को ट्वीट के जरिए अपने भाषण का सार बताने की कोशिश की है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा था कि प्रधानमंत्री घृणा का प्रयोग करते हैं। हमारे कुछ लोगों के दिल में व्याप्त भय और क्रोध ही उनके भाषण का आधार है। लेकिन हम साबित करके रहेंगे कि सभी भारतवासियों के दिलों का प्यार और दया ही राष्ट्र निर्माण का एकमात्र रास्ता है।

The post Politics: राहुल की झप्पी पर शुरू हुई राजनीति, बीजेपी ने बताया नादानी तो कांग्रेस ने बताया प्यार! appeared first on TOS News.

]]>
Big News: क्या लालू प्रसाद की यह बहू राजनीति के दंगल में उतरेंगी? अटकले तेज ! https://tosnews.com/big-news-%e0%a4%95%e0%a5%8d%e0%a4%af%e0%a4%be-%e0%a4%b2%e0%a4%be%e0%a4%b2%e0%a5%82-%e0%a4%aa%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a4%b8%e0%a4%be%e0%a4%a6-%e0%a4%95%e0%a5%80-%e0%a4%af%e0%a4%b9-%e0%a4%ac%e0%a4%b9/134298 Fri, 06 Jul 2018 04:55:57 +0000 https://tosnews.com/?p=134298 पटना: जैसे-जैसे 2019 करीब आ रहा है, वैसे-वैसे देश की राजनीति में भी हलचल बढ़ती जा रही है। अब पटना से एक अखबर आ रही

The post Big News: क्या लालू प्रसाद की यह बहू राजनीति के दंगल में उतरेंगी? अटकले तेज ! appeared first on TOS News.

]]>
पटना: जैसे-जैसे 2019 करीब आ रहा है, वैसे-वैसे देश की राजनीति में भी हलचल बढ़ती जा रही है। अब पटना से एक अखबर आ रही है। आरजेडी के पोस्टर में मुखिया लालू प्रसाद यादव की बहू ऐश्वर्या राय की तस्वीर से उनके राजनीति में आने के कयास लगने शुरू हो गए हैं।


यही नहीं इस बात की भी संभावना जाहिर की जा रही है कि लालू परिवार की नई.नवेली बहू ऐश्वर्या 2019 लोकसभा चुनाव भी लड़ सकती हैं। कहा जा रहा है कि 2019 लोकसभा चुनाव में ऐश्वर्या सारण से चुनाव लड़ सकती है जो कभी लालू की सीट मानी जाती थी। ऐश्वर्या के पिता और पूर्व परिवहन मंत्री चंद्रिका राय भी तीन दशकों तक विधानसभा चुनाव में सारण की परसा सीट का पांच बार प्रतिनिधित्व कर चुके हैं।

गौरतलब है कि इसी साल 12 मई को उनकी शादी लालू के बड़े बेटे तेज प्रताप से हुई थी। आरजेडी के एक कार्यकर्ता ने बताया कि ऐश्वर्या के सारण से चुने जाने के अच्छे अवसर हैं। वह दिल्ली यूनिवर्सिटी और एमिटी यूनिवर्सिटी की पूर्व छात्रा रह चुकी हैं वह इस निर्वाचन क्षेत्र से आरजेडी की अच्छी उम्मीदवार हो सकती हैं।

राजनीतिक के जानकार कहते हैं कि तेज के हालिया रुख के चलते लालू परिवार में मनमुटाव की खबरें आने लगी थीं तो हो सकता है कि ऐश्वर्या की राजनीति में एंट्री संभवतरू इसी का परिणाम हो। तेज प्रताप के फेसबुक पेज पर सोमवार को एक मेसेज पोस्ट हुआ था जिसमें वह कह रहे थे कि वह राजनीति छोडऩे के बारे में सोचने के लिए विवश हैं।

तेज ने अपनी लाचारी जाहिर करते हुए कहा कि यहां तक कि उनकी मां भी उनकी बात नहीं सुनती कि पार्टी के अंदर उन्हें क्या समस्याएं देखनी पड़ रही हैं। हालांकि यह मेसेज आधे घंटे में ही डिलीट हो गया था।

तेज ने आरोप लगाया था कि आरएसएस-बीजेपी वाले उनका अकाउंट हैक कर परिवार में मनमुटाव पैदा करने के उद्देश्य से ऐसा कर रहे हैं। इससे पहले 9 जून को तेज ने कहा था कि तेजस्वी और उनके बीच कुछ गलत नहीं है लेकिन पार्टी के कुछ असामाजिक तत्व दोनों भाइयों के बीच लड़ाई कराना चाहते हैं। सूत्रों के अनुसार ऐश्वर्या ने ही तेज को पार्टी से नजरअंदाज किए जाने को लेकर सवाल उठाने को कहा था।

The post Big News: क्या लालू प्रसाद की यह बहू राजनीति के दंगल में उतरेंगी? अटकले तेज ! appeared first on TOS News.

]]>
Lathicharge: कांग्रेसियों पर पुलिस ने किया जमकर लाठीचार्ज, जानिए क्या थी वजह? https://tosnews.com/lathicharge-%e0%a4%95%e0%a4%be%e0%a4%82%e0%a4%97%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a5%87%e0%a4%b8%e0%a4%bf%e0%a4%af%e0%a5%8b%e0%a4%82-%e0%a4%aa%e0%a4%b0-%e0%a4%aa%e0%a5%81%e0%a4%b2%e0%a4%bf%e0%a4%b8-%e0%a4%a8/132426 Wed, 27 Jun 2018 06:00:31 +0000 https://tosnews.com/?p=132426 लखनऊ: भाजपा सरकार की नीतियों के खिलाफ विधानभवन कूच कर रहे युवा कांग्रेसियों को पुलिस ने मंगलवार को दौड़ा.दौड़ाकर पीटा। लाठीचार्ज में कांग्रेस के विधानमंडल

The post Lathicharge: कांग्रेसियों पर पुलिस ने किया जमकर लाठीचार्ज, जानिए क्या थी वजह? appeared first on TOS News.

]]>
लखनऊ: भाजपा सरकार की नीतियों के खिलाफ विधानभवन कूच कर रहे युवा कांग्रेसियों को पुलिस ने मंगलवार को दौड़ा.दौड़ाकर पीटा। लाठीचार्ज में कांग्रेस के विधानमंडल दल के नेता अजय कुमार लल्लू समेत 40 से ज्यादा कांग्रेसी घायल हुए हैं। इनमें 5 की हालत गंभीर बताई जा रही है। युवक कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष केशव चंद यादव भी चोटिल हुए हैं। लल्लू को बलरामपुर अस्पताल में भर्ती कराया गया हैए जहां उनके अंगुली में फ्रैक्चर बताया गया है।


पुलिस का कहना है कि कांग्रेसियों को विधानभवन जाने से रोकने पर प्रदर्शनकारियों ने पुलिस से धक्का मुक्की शुरू कर दी और पथराव किया। इससे पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। 81 कांग्रेसियों को शांतिभंग के आरोप में गिरफ्तार किया गयाए हालांकि बाद में उन्हें निजी मुचलके पर छोड़ दिया गया है। प्रदर्शनकारियों के खिलाफ वजीरगंज कोतवाली में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। कैसरबाग स्थित गांधी भवन में युवा कांग्रेसियों ने ष्भारत बचाओ जनांदोलनष् के तहत कार्यक्रम आयोजित किया था।

कार्यक्रम के प्रथम सत्र में प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बरए राज्यसभा सदस्य संजय सिंहए एमएलसी दीपक सिंह और विधायक अराधना मिश्रा थोड़ी देर के लिए पहुंचे थे। दोपहर करीब ढाई बजे पूर्व घोषित कार्यक्रम के अनुसार केशव चंद और अजय कुमार लल्लू की अगुवाई में कार्यकर्ताओं ने विधानभवन के लिए कूच कर दिया। इसी दौरान केजीएमयू गए राज्यपाल के लौटने का वक्त हो गया।

कांग्रेसियों को ये पता लगा तो वे राज्यपाल का काफिला रोककर उन्हें ज्ञापन देने की जिद करने लगे।पुलिस ने समझाने का प्रयास किया तो कांग्रेसी पुलिसकर्मियों से भिड़ गए। धक्का मुक्की के बाद कांग्रेसियों ने पथराव शुरू कर दिया। इस पर पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। कार्यकर्ता सड़क की तरफ दौड़े तो पुलिस ने उन्हें घेरकर जमकर पीटा।

गांधी भवन में मौजूद कांग्रेसियों पर भी पुलिस ने लाठियां बरसाईं। घायलों को अस्पताल भेजने के लिए एंबुलेंस की व्यवस्था तक नहीं हो सकी। ऐसे में कांग्रेसियों ने अपने साधनों से ही उन्हें अस्पताल पहुंचाया। घायलों में युवक कांग्रेस के मध्य जोन के अध्यक्ष अंकित वर्मा को गंभीर हालत में ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया है।

बस्ती के अंकुर वर्मा और हमीरपुर के बृजेश बादल को भी ट्रॉमा सेंटर में रखा गया हैए जबकि रायबरेली के अनुज सिंह बलरामपुर अस्पताल में भर्ती हैं। प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर घायलों को देखने बलरामपुर अस्पताल और केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर में गए।

उन्होंने बलरामपुर अस्पताल में भर्ती लल्लू समेत सभी कांग्रेसियों का हालचाल जाना। ट्रॉमा सेंटर में भी घायलों के उचित इलाज की मांग प्रशासन से की। विधान परिषद सदस्य दीपक सिंह ने भी सभी घायलों को हरसंभव मदद का आश्वासन दिया है। वहीं पार्टी के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने लाठीचार्ज की निंदा करते हुए उच्च न्यायालय के न्यायाधीश से लाठीचार्ज की निष्पक्ष जांच कराने और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है।

The post Lathicharge: कांग्रेसियों पर पुलिस ने किया जमकर लाठीचार्ज, जानिए क्या थी वजह? appeared first on TOS News.

]]>
Meeting:आज उद्घव ठाकरे से भाजपा अध्यक्ष अमित शाह करेंगे मुलाकात, बैठक होगी अहम! https://tosnews.com/meeting%e0%a4%86%e0%a4%9c-%e0%a4%89%e0%a4%a6%e0%a5%8d%e0%a4%98%e0%a4%b5-%e0%a4%a0%e0%a4%be%e0%a4%95%e0%a4%b0%e0%a5%87-%e0%a4%b8%e0%a5%87-%e0%a4%ad%e0%a4%be%e0%a4%9c%e0%a4%aa%e0%a4%be-%e0%a4%85/128167 Tue, 05 Jun 2018 06:04:49 +0000 https://tosnews.com/?p=128167 मुंबई : हाल में कर्नाटक में भाजपा विरोध दलों के एकजुट होने के बाद और यूपी के कैराना और नूरपुर चुनाव मेें मिली हार के

The post Meeting:आज उद्घव ठाकरे से भाजपा अध्यक्ष अमित शाह करेंगे मुलाकात, बैठक होगी अहम! appeared first on TOS News.

]]>
मुंबई : हाल में कर्नाटक में भाजपा विरोध दलों के एकजुट होने के बाद और यूपी के कैराना और नूरपुर चुनाव मेें मिली हार के बाद भारतीय जनता पार्टी ने मंथ और चिंतन दोनों शुरू कर दिया है। अब बीजेपी रूठे हुए सहयोगियों को मनाने में लग गई है। संपर्क फॉर समर्थन अभियान के तहत बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह अब शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे से उनके निवास पर बुधवार को मुलाकात करेंगे।


अमित शाह की यह मुलाकात इसलिए भी बेहद अहम है क्योंकि शिवसेना ने कहा है कि वह 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में बीजेपी से हाथ नहीं मिलाएगी। ऐसे में माना जा रहा है कि अमित शाह रूठे ठाकरे को मनाने की कोशिश करेंगे। इस मुलाकात में दोनों नेता 2019 चुनावों से पहले गठबंधन की संभावनाओं के बारे में चर्चा करेंगे।

गौरतलब है कि काफी समय से दोनों पार्टियों के तनातनी बनी हुई है। उद्धव ठाकरे लोकसभा चुनाव अकेले लडऩे की बात कह चुके हैं। यहां तक कि सोमवार को ही शिवसेना सांसद संजय राउत ने रविवार को शिवसेना को बीजेपी का सबसे बड़ा राजनीतिक शत्रु बताया था। उन्होंने यह भी कहा था कि देश को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह की जोड़ी नहीं चाहिए लेकिन देश कांग्रेस या जेडी नेता एचडी देवगौड़ा को स्वीकार कर सकता है।

दरअसल गठबंधन के साथी शिवसेना और बीजेपी ने बीते दिनों राज्य की पालघर विधानसभा में एक दूसरे के खिलाफ चुनाव लड़ा था। बता दें कि बीते साल शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने सार्वजनिक रूप से बीजेपी से उपजे मतभेदों के बाद 2019 के लोकसभा चुनाव में अकेले मैदान में उतरने की बात कही थी।

ऐसे में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने एक बार फिर दोनों पार्टियों के बीच गठबंधन पर जोर दिया है। सोमवार को महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फ डणवीस ने भी लोकसभा चुनाव से पहले शिवसेना से गठबंधन की वकालत की थी। फडणवीस ने बीजेपी के पदाधिकारियों से शिवसेना के साथ गठबंधन की पहल करने का अनुरोध किया।

हालांकि बीजेपी की ओर से शिवसेना के लिए दरवाजे कभी बंद नहीं किए गए। अप्रैल में मुंबई में महारैली के बाद अमित शाह ने कहा था कि बीजेपी ने 2014 के लोकसभा चुनाव में बहुमत हासिल करने के बाद भी अपने सहयोगियों को अपने साथ रखा है। उन्होंने ठाकरे के लोकसभा चुनाव मे अकेले जाने के दावे की प्रतिक्रिया में कहा था कि वह शिवसेना सरकार में हैं और उनकी इच्छा है कि बीजेपी के साथ ही रहे।

The post Meeting:आज उद्घव ठाकरे से भाजपा अध्यक्ष अमित शाह करेंगे मुलाकात, बैठक होगी अहम! appeared first on TOS News.

]]>
#KarnatakaFloorTest: सीएम कुमारस्वामी आज साबित करेंगे बहुमत, स्पीकर के पद के लिए भी जंग जारी! https://tosnews.com/karnatakafloortest-%e0%a4%b8%e0%a5%80%e0%a4%8f%e0%a4%ae-%e0%a4%95%e0%a5%81%e0%a4%ae%e0%a4%be%e0%a4%b0%e0%a4%b8%e0%a5%8d%e0%a4%b5%e0%a4%be%e0%a4%ae%e0%a5%80-%e0%a4%86%e0%a4%9c-%e0%a4%b8%e0%a4%be/126016 Fri, 25 May 2018 05:59:50 +0000 https://tosnews.com/?p=126016 बेंगलुरु: कर्नाटक के नवनियुक्त मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी आज बहुमत परीक्षण का सामना करेंगे। इस बीच भाजपा ने स्पीकर पोस्ट के लिए अपना उम्मीदवार उतार कर

The post #KarnatakaFloorTest: सीएम कुमारस्वामी आज साबित करेंगे बहुमत, स्पीकर के पद के लिए भी जंग जारी! appeared first on TOS News.

]]>
बेंगलुरु: कर्नाटक के नवनियुक्त मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी आज बहुमत परीक्षण का सामना करेंगे। इस बीच भाजपा ने स्पीकर पोस्ट के लिए अपना उम्मीदवार उतार कर सरकार की टेंशन बढ़ा दी है। सीएम के फ्लोर टेस्ट से पहले स्पीकर के चुनाव के कारण कांग्रेस-जेडीएस सरकार को दोहरे शक्ति परीक्षण से गुजरना होगा। कांग्रेस-जेडीएस की ओर से पूर्व स्पीकर और स्वास्थ्य मंत्री के.आर.रमेश उम्मीदवार हैं जबकि बीजेपी की ओर से पूर्व कानून मंत्री एस.सुरेश कुमार मैदान में आ गए हैं।


बहुमत परीक्षण से पहले ही कांग्रेस की ओर से साफ कर दिया गया है कि उसने जेडीएस के साथ 5 साल तक सरकार चलाने को लेकर अभी फैसला नहीं लिया है। कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष और डिप्टी सीएम परमेश्वर ने कहा कि इस मुद्दे पर अभी चर्चा होनी है और अंतिम फैसला लिया जाना बाकी है।

इससे एक बात तो तय है कि जेडीएस के नेता कुमारस्वामी के लिए 5 साल तक सरकार चला पाना आसान नहीं होगा। इससे पहले जेडीएस-कांग्रेस और बीएसपी गठबंधन के नेता कुमारस्वामी ने बुधवार को विपक्ष के तमाम बड़े नेताओं की मौजूदगी में शपथ ग्रहण किया था। उधर बीजेपी के तेवर से साफ है कि येदियुरप्पा के पद छोडऩे के बाद भी वह हताश नहीं है। गठबंधन सरकार को चुनौती देने के लिए ही पार्टी ने विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए पांच बार के अपने विधायक सुरेश कुमार को मैदान में उतारा है।

मुख्यमंत्री कुमारस्वामी के लिए बहुमत साबित करना भले ही आसान हो पर स्पीकर पोस्ट के लिए सियासी लड़ाई दिलचस्प हो गई है। ऐसे में आज दोहरे शक्ति परीक्षण की स्थिति बन गई है। स्पीकर पोस्ट के लिए बीजेपी उम्मीदवार एस सुरेश कुमार ने कहा कि संख्या बल और कई अन्य कारकों के आधार पर हमारी पार्टी के नेताओं को विश्वास है कि मैं ही जीतूंगा।

इसी विश्वास के साथ मैंने नामांकन दाखिल किया है। ह पूछने पर कि बीजेपी के केवल 104 विधायक हैं तो ऐसे में उनके जीतने की संभावना क्या है सुरेश कुमार ने कहा कि मैंने नामांकन पत्र दाखिल कर दिया है। शुक्रवार दोपहर सवा बारह बजे चुनाव है। चुनाव के बाद आपको पता चल जाएगा। खबर है कि फ्लोर टेस्ट से पहले कांग्रेस और जेडीएस ने अपने विधायकों को फिर से होटल भेज दिया है। दरअसल गठबंधन सरकार को डर है कि कहीं कोई विधायक बीजेपी के पाले में न चला जाए। बताया जा रहा है कि विधायकों को उनके परिवार से भी संपर्क नहीं करने दिया जा रहा है।

उनके मोबाइल भी ले लिए गए हैं। माना जा रहा है कि कुमारस्वामी के बहुमत हासिल करने के बाद विधायकों को अपने घर जाने दिया जाएगा। उधरए कांग्रेस विधायक दल के नेता और पूर्व सीएम सिद्धारमैया ने गठबंधन उम्मीदवार की जीत को लेकर विश्वास जताया है। उन्होंने कहा कि मुझे पता चला है कि बीजेपी ने भी नामांकन दाखिल किया है।

मुझे उम्मीद है कि वह अपना नाम वापस ले लेगी। यदि चुनाव होता है तो रमेश कुमार की जीत निश्चित है। सीएम कुमारस्वामी के विश्वासमत हासिल करने की संभावना है लेकिन उनके लिए मंत्रिमंडल का विस्तार मुश्किल साबित होने वाला है। बता दें कि 224 सदस्यों वाले कर्नाटक विधानसभा में 221 विधायक ही हैं। बीजेपी के उम्मीदवार की मौत के बाद जयनगर सीट पर चुनाव टाल दिया गया था और कदाचार के आरोपों के कारण आरआर नगर सीट पर मतदान स्थगित कर दिया गया था।

इसके अलावा कुमारस्वामी दो सीटों पर चुनकर आए हैं। शपथ लेने के बाद कुमारस्वामी ने विश्वास मत हासिल करने का विश्वास जताया था। कुमारस्वामी ने पहले आशंका जताई थी कि उनकी सरकार को गिराने के लिए बीजेपी ऑपरेशन कमल दोहराने का प्रयास कर सकती है।

कर्नाटक के राजनीतिक इतिहास में ऑपरेशन कमल शब्द साल 2008 में उस वक्त उछला था जब बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा ने मुख्यमंत्री पद संभाला था। पार्टी को साधारण बहुमत के लिए तीन विधायकों की जरूरत थी।

ऑपरेशन कमल के तहत कांग्रेस और जेडीएस के कुछ विधायकों को बीजेपी में शामिल होने के लिए राजी किया गया था। उनसे कहा गया था कि वे विधानसभा की अपनी सदस्यता छोड़कर फिर से चुनाव लड़ें। उनके इस्तीफे की वजह से विश्वास मत के दौरान जीत के लिए जरूरी संख्या कम हो गई थी और फिर येदियुरप्पा विश्वासमत जीत गए थे।

The post #KarnatakaFloorTest: सीएम कुमारस्वामी आज साबित करेंगे बहुमत, स्पीकर के पद के लिए भी जंग जारी! appeared first on TOS News.

]]>
Politics: सीएम कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण की यह तस्वीरे बयां कर रही है भविष्य की राजनीति, जानिए कैसे? https://tosnews.com/politics-%e0%a4%b8%e0%a5%80%e0%a4%8f%e0%a4%ae-%e0%a4%95%e0%a5%81%e0%a4%ae%e0%a4%be%e0%a4%b0%e0%a4%b8%e0%a5%8d%e0%a4%b5%e0%a4%be%e0%a4%ae%e0%a5%80-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%b6%e0%a4%aa%e0%a4%a5/125806 Thu, 24 May 2018 05:29:11 +0000 https://tosnews.com/?p=125806 बैगलोर: कर्नाटक के सीएम एचडी कुमारस्वामी के बुधवार को शपथ ग्रहण समारोह में भविष्य की राजनीति की तस्वीर देखने को मिली। 2019 से पहले विपक्षी

The post Politics: सीएम कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण की यह तस्वीरे बयां कर रही है भविष्य की राजनीति, जानिए कैसे? appeared first on TOS News.

]]>
बैगलोर: कर्नाटक के सीएम एचडी कुमारस्वामी के बुधवार को शपथ ग्रहण समारोह में भविष्य की राजनीति की तस्वीर देखने को मिली। 2019 से पहले विपक्षी एकता के प्रदर्शन के बीच जदएस के नेता एचडी कुमारस्वामी ने बुधवार को कर्नाटक के 24वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली। गठबंधन सरकार में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष जी परमेश्वर ने भी डिप्टी सीएम के पद की शपथ ली। शुक्रवार को होने वाले बहुमत परीक्षण के बाद मंत्रिमंडल में अन्य सदस्यों को शामिल किया जाएगा।


14 विपक्षी दलों के दिग्गज नेताओं ने इस कार्यक्रम में शामिल होकर पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ मजबूत मोर्चा बनाने का संदेश दिया। इनमें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधीए यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी, जदएस सुप्रीमो एचडी देवगौड़ा, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आंध्र प्रदेश के सीएम एन चंद्रबाबू नायडू, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल, केरल के सीएम पिनराई विजयन, यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव और बसपा सुप्रीमो मायावती शामिल रहे।

फूलपुर और गोरखपुर के लोकसभा उपचुनाव में साथ आकर भाजपा को करारी शिकस्त देने वाले सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और बसपा नेता मायावती ने पहली बार कोई मंच साझा किया। दोनों नेता एक साथ बैठे और आपस में गुफ्तगू करते नजर आए। आपको बता दें कि गोरखपुर व फूलपुर उपचुनाव सपा-बसपा ने मिलकर लड़ा था। जिससे कि भाजपा को अपने सबसे मजबूत किले गोरखपुर में करारी हार का सामना करना पड़ा था। वही फूलपुर में भी हार हुई।

भाजपा की इस हार ने 2019 के चुनाव के लिए सपा-बसपा के गठबंधन की संभावनाओं को और मजबूत कर दिया। इसके अलावा अभी कुछ दिनों पहले ही बैंगलौर में बसपा सुप्रीमो मायावती ने बयान दिया था कि सीटों का बंटवारा होते ही सपा-बसपा गठबंधन की घोषणा कर दी जाएगी। कर्नाटक के सीएम के शपथ ग्रहण समारोह में अन्य नेताओं में एनसीपी नेता शरद पवार, माकपा महासचिव सीताराम येचुरीए राजद के नेता तेजस्वी यादव भी शामिल थे।

2019 से पहले विपक्षी एकता के प्रदर्शन के बीच जदएस के नेता एचडी कुमारस्वामी ने बुधवार को कर्नाटक के 24वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली। गठबंधन सरकार में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष जी परमेश्वर ने भी डिप्टी सीएम के पद की शपथ ली। शुक्रवार को होने वाले बहुमत परीक्षण के बाद मंत्रिमंडल में अन्य सदस्यों को शामिल किया जाएगा। 14 विपक्षी दलों के दिग्गज नेताओं ने इस कार्यक्रम में शामिल होकर पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ मजबूत मोर्चा बनाने का संदेश दिया।

The post Politics: सीएम कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण की यह तस्वीरे बयां कर रही है भविष्य की राजनीति, जानिए कैसे? appeared first on TOS News.

]]>
#KarnatakaLesson: कर्नाटक जीत के बाद कांग्रेस को मिली संजीवनी बूटी, जीता का फार्मूला कर रही है तैयार! https://tosnews.com/karnatakalesson-%e0%a4%95%e0%a4%b0%e0%a5%8d%e0%a4%a8%e0%a4%be%e0%a4%9f%e0%a4%95-%e0%a4%9c%e0%a5%80%e0%a4%a4-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%ac%e0%a4%be%e0%a4%a6-%e0%a4%95%e0%a4%be%e0%a4%82%e0%a4%97/125086 Sun, 20 May 2018 09:45:57 +0000 https://tosnews.com/?p=125086 दिल्ली: कर्नाटक में बहुमत साबित ना कर पाने के बाद भाजपा की हार को अब कांग्रेस व अन्य पार्टियां बड़ा हथियार बना सकती है। कांगे्रस

The post #KarnatakaLesson: कर्नाटक जीत के बाद कांग्रेस को मिली संजीवनी बूटी, जीता का फार्मूला कर रही है तैयार! appeared first on TOS News.

]]>
दिल्ली: कर्नाटक में बहुमत साबित ना कर पाने के बाद भाजपा की हार को अब कांग्रेस व अन्य पार्टियां बड़ा हथियार बना सकती है। कांगे्रस और अलग-अलग राज्य में क्षेत्रीय पार्टियों के गठजोड़ को भी कर्नाटक जीत से मजबूती मिलती दिख रही है। आने वाले 2019 के लोकसभा चुनाव में कांगे्रस कर्नाटक वाला फार्मूला आपना सकती है।

इस पर कांग्रेस ने अभी से काम करना शुरू भी कर दिया है। कर्नाटक की जीत के बाद राहुल गांधी ने शनिवार को अपनी प्रेस वार्ता में इस बात के संकेत दे दिय है। प्रेस वार्ता में पहली बार राहुल 2019 लोकसभा चुनाव के लिए रणनीति बनाते हुए सभी विपक्षी पार्टियों को एकजुट करने की कोशिश करते हुए दिखे। कांग्रेस अध्यक्ष के बयान के बाद सभी पार्टियों ने अपनी प्रतिक्रिया दी। सभी राहुल के सुर में सुर मिलाते हुए भाजपा को घेरते हुए दिखे। कर्नाटक के फार्मूले को कांग्रेस इस साल होने वाले विधानसभा चुनावों और अगले साल के लोकसभा चुनावों में लागू कर सकती है। यदि वह ऐसा करती है तो इससे वह 11 राज्यों की 12 बड़ी क्षेत्रीय पार्टियों के साथ चुनाव से पहले या बाद में गठबंधन करके भाजपा को सरकार बनाने से रोक सकती है।

आइये नज़र डालते हैं कहां-कहां हो सकता है गठबंधन
यूपी में लोकसभी की 80 सीटें। यहां भाजपा को रोकने के लिए कांग्रेस, बसपा और सपा के साथ गठबंधन कर सकती है। महाराष्ट्र मेें 48 सीटें हैं। यहां कांग्रेस और एनसीपी मिलकर भाजपा को कड़ी टक्कर दे सकते हैं। दोनों पहले ही साथ चुनाव लडऩे का संकेत दे चुके हैं। इसमें शिवसेना के शामिल होने की अटकले हैं।

वहीं पश्चिम बंगाल में 42 सीटे हैं। ममता बनर्जी लगतार मोदी सरकार पर हमला करती रहती हैं। यहां कांग्रेस और टीएमसी मिलकर चुनाव लड़ सकते हैं। वहीं बिहार में 40 सीटें हैं कांग्रेस यहां राजद के साथ मिलकर लोकसभा का चुनाव लड़ सकती है। पहले से ही दोनों का गठबंधन है। उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी आरएसएलपी के भी शामिल होने की संभावना है।

इसके अलावा तमिलनाडु में  39 सीटें हैं कांग्रेस और डीएमके ने पिछले साल विधानसभा चुनाव साथ मिलकर लड़ा था। दोनों 2019 में भाजपा के खिलाफ एक बार फिर साथ आ सकते हैं। वहीं कर्नाटक में 28 सीटें है। विधानसभा की तरह लोकसभा चुनाव में भी जेडीएस और कांग्रेस गठबंधन कर सकते हैं।

इसके अलावा आंध्रपद्रेश में 25 सीटें हैं। विशेष राज्य का दर्जा ना मिलने पर भाजपा से नाता तोड़ चुकी टीडीपी कांग्रेस का हाथ थाम सकती है। तेलंगाना में 17 सीटें हैं। राज्य में टीआरएस भाजपा के खिलाफ तीसरे मोर्चे की वकालत कई मौके पर कर चुकी है।

ऐसे में वह कांग्रेस का साथ दे सकती है। वहीं झारखंड में 14 सीटें हैं। यहां भी कांग्रेस और झारखंड मुक्ति मोर्चा साथ आ सकते हैं। कई उपचुनाव साथ मिलकर लड़ चुके हैं। वहीं हरियाणा में 10 सीटें हैं। यहां इंडियन नेशनल लोकदल और कांग्रेस हाथ मिला सकते हैं। इसके अलावा जम्मू- कश्मीर में 6 सीटें है। यहां नेशलन कॉन्फ्रेंस यानि एनसी और कांग्रेस भाजपा को टक्कर देने के लिए साथ आ सकते हैं।

The post #KarnatakaLesson: कर्नाटक जीत के बाद कांग्रेस को मिली संजीवनी बूटी, जीता का फार्मूला कर रही है तैयार! appeared first on TOS News.

]]>