#UPSTF – TOS News https://tosnews.com Latest Hindi Breaking News and Features Sun, 12 Aug 2018 12:33:46 +0000 en-US hourly 1 https://wordpress.org/?v=4.9.8 https://tosnews.com/wp-content/uploads/2017/03/tosnews-favicon-45x45.png #UPSTF – TOS News https://tosnews.com 32 32 Fraud Gang: इराक में नौकरी के नाम पर ठगी करने वाला गैंग एसटीएफ के हत्थे चढ़ा! https://tosnews.com/fraud-gang-%e0%a4%87%e0%a4%b0%e0%a4%be%e0%a4%95-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%a8%e0%a5%8c%e0%a4%95%e0%a4%b0%e0%a5%80-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%a8%e0%a4%be%e0%a4%ae-%e0%a4%aa%e0%a4%b0-%e0%a4%a0/133869 Wed, 04 Jul 2018 06:15:00 +0000 https://tosnews.com/?p=133869 लखनऊ: इराक की इनको कम्पनी में बेरोजगार युवकों के साथ ठगी करने वाले गैंग का पर्दाफाश करते हुए यूपी एसटीएफ ने गोरखपुर जनपद से 8

The post Fraud Gang: इराक में नौकरी के नाम पर ठगी करने वाला गैंग एसटीएफ के हत्थे चढ़ा! appeared first on TOS News.

]]>
लखनऊ: इराक की इनको कम्पनी में बेरोजगार युवकों के साथ ठगी करने वाले गैंग का पर्दाफाश करते हुए यूपी एसटीएफ ने गोरखपुर जनपद से 8 जालसाजों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गये आरोपियों के पास से नकदी, 240 पासपोर्ट, लैपटाप और 13 मोबाइल फोन बरामद किया है।


एसएसपी एसटीएफ अभिषेक सिंह ने बताया कि कुछ दिनों से एसटीएफ को इस बात की सूचना मिल रही थी कि जालसाजों का एक गैंग गोरखपुर जनपद मेें सक्रिय है। यह लोग पढ़े-लिखे सीधे-साधे लोगों को इराक की इनको कम्पनी में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी कर रहे हैं।

इस सूचना पर काम करते हुए एसटीएफ को रविवार को पता चला कि जालसाजों का गैंग नौकरी के नाम पर सिंघडिय़ा इलाके में ग्लोबल बेल्डिंग ट्रेनिंग एवं टेगस्ट सेंटर नाम की एक कम्पनी में इनको कम्पनी में नौकरी के लिए इंटरव्यू हो रहे हैं। एसटीएफ ने टीम ने वहां छापेमारी करते हुए 8 लोगों को मौके से गिरफ्तार किया।

एसटीएफ ने उनके पास से 80 हजार रुपये, नकद, 240 पासपोर्ट, तीन लैपटाप और 13 मोबाइल फोन बरामद किये। पूछताछ में पकड़े गये आरोपियों ने अपना नाम गोरखपुर निवासी अरविंद सिंह, रजनीश कुमार, बिहार निवासी शम्भू, तमिलनाडू निवासी आर सुंदर रमन, बिहार निवासी मनोज ठाकुर कुशीनगर निवासी अनवर अंसारी, बिहार निवासी अरविंद कुमार और संदीप कुमार बताया।

इस तरह करते थे ठगी
गिरफ्तार अरविन्द सिंह ने पूछताछ पर बताया कि वे लोग विभिन्न कम्पनियों के नाम पर समाचार पत्रों में विज्ञापन निकलवाते थे, जिसे पढ़कर बेरोजगार युवक सम्पर्क करते थे। इसके बाद वह लोग युवकों को इंटरव्यू के लिए बुलाते थे। इसके बाद वह लोग नौकरी के इच्छुक लोगों से उनके पासपोर्ट और नौकरी दिलाने के नाम पर 60 से 65 हजार रुपये ले लिया करते थे। इसके बाद आरोपी कुछ लोगों को फर्जी दस्तावेज की मदद इराक भेज देते थे।

इनको कम्पनी में काम कर चुका है एक आरोपी
पकड़े गये आरोपी शम्भू यादव ने पूछताछ पर बताया कि मैं इनको कम्पनी, कतर में सुपरवाईजर के पद पर कार्य करते थे। वर्ष 2017 में कतर से भारत वापस आ गया। इस वक्त वह इनको कम्पनी के लिए बेल्डर फीटर के साक्षात्कार अधिकारी के रूप में साक्षात्कार लेने आया था और इस काम के बदले उसको 40 से 50 हजार रुपये मिलते थे।

The post Fraud Gang: इराक में नौकरी के नाम पर ठगी करने वाला गैंग एसटीएफ के हत्थे चढ़ा! appeared first on TOS News.

]]>
Encounter: एसटीएफ ने 25-25 हजार के इनामी बदमाशों को मार गिराया! https://tosnews.com/126822-2/126822 Tue, 29 May 2018 06:18:27 +0000 https://tosnews.com/?p=126822 मेरठ: यूपी एसटीएफ ने मेरठ के कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र में सरधना रोड स्थित पदम कोल्ड स्टोर के पास मंगलवार को दो बदमाशों के साथ मुठभेड़

The post Encounter: एसटीएफ ने 25-25 हजार के इनामी बदमाशों को मार गिराया! appeared first on TOS News.

]]>
मेरठ: यूपी एसटीएफ ने मेरठ के कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र में सरधना रोड स्थित पदम कोल्ड स्टोर के पास मंगलवार को दो बदमाशों के साथ मुठभेड़ हो गई। जिसमें दोनों बदमाश मारे गए। दोनों ही बदमाश दौराला थाना क्षेत्र में मटोर गांव के सामने हाईवे पर महविश दुल्हन हत्याकांड में वांछित चल रहे थे।


एसटीएफ से मिली जानकारी के अनुसारा सरधना रोड पर पुलिस और एसटीएफ बाइक सवार दो बदमाशों का पीछा कर रही थीं। पुलिस परतापुर की तरफ से हाईवे पर होते हुए बदमाशों का पीछा करती हुई सरधना रोड पर पहुंची थी। पदम कोल्ड स्टोर के पास पहुंचते ही बाइक सवार बदमाशों ने पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी।

फायरिंग करते हुए बदमाश बाइक को सड़क पर छोड़ जंगल की ओर भागे। जिसके बाद पुलिस और एसटीएफ की टीम ने बदमाशों की घेराबंदी कर दी। करीब आधे घंटे तक दोनों तरफ से दर्जनों राउंड फायरिंग की गई। इस मुठभेड़ में दोनों बदमाश मारे गए। बदमाशों की पहचान मोदीनगर निवासी हिमांशु उर्फ नरसी और शताब्दी नगर परतापुर निवासी धीरज के रूप में हुई है।

दोनों ही बदमाशों पर 25-25 हजार का इनाम घोषित था। दोनों बदमाश दौराला हाईवे पर हुए मेहविश दुल्हन हत्याकांड में भी वांछित चल रहे थे। वहीं परतापुर में हाईवे स्थित बिग बाइट रेस्टोरेंट के सामने भी बदमाशों ने कार लूट को अंजाम दिया था। तभी से पुलिस और एसटीएफ को बदमाशों की तलाश में थी।

मुठभेड़ के बाद एसटीएफ़ के एसएसपी अभिषेक सिंह और मेरठ एसएसपी राजेश पांडेय मौके पर पहुंच गए। बदमाशों के कब्जे से कार्बाइन भी बरामद हुई हैए जिसे देख कर पुलिस अफसर भी हैरत में है। माना जा रहा है कि यह कार्बाइन बदमाशों ने पुलिस से लूटी होगी। जिस की पड़ताल शुरू कर दी गई है। वही दो पिस्टल दो तमंचे 315 और 32 बोर के कारतूस भी बरामद हुए हैं जो बाइक के बैग में रखे थे।

The post Encounter: एसटीएफ ने 25-25 हजार के इनामी बदमाशों को मार गिराया! appeared first on TOS News.

]]>
Breaking: हत्या की फिराक में लगा 25 हजार का इनामी बदमाश एसटीएफ के हत्थे चढ़ा https://tosnews.com/78467-2/78467 Sun, 08 Oct 2017 12:30:37 +0000 https://tosnews.com/?p=78467 लखनऊ: यूपी एसटीएफ ने शनिवार की रात 25 हजार रुपये के इनामी बदमाश संजय उर्फ पकौड़ी को मेरठ जनपद से गिरफ्तार किया। एसटीएफ को उसके

The post Breaking: हत्या की फिराक में लगा 25 हजार का इनामी बदमाश एसटीएफ के हत्थे चढ़ा appeared first on TOS News.

]]>
लखनऊ: यूपी एसटीएफ ने शनिवार की रात 25 हजार रुपये के इनामी बदमाश संजय उर्फ पकौड़ी को मेरठ जनपद से गिरफ्तार किया। एसटीएफ को उसके पास से एक 9 एमएम की पिस्टल व एक बाइक मिली। आरोपी एक हत्याकाण्ड की पैरवी कर रही महिला की हत्या करने की फिराक में लगा था।


एसटीएफ से मिली जानकारी के अनुसार यूपी एसटीएफ कई दिनों से 25 हजार रुपये के इनामी बदमाश मेरठ निवासी संजय की तलाश में लगी थी। बीती रात एसटीएफ को मुखबिर से इस बात की सूचना मिली कि संजय मेरठ सरूरपुर इलाके में आने वाला है। बस इसी सूचना के बाद एसटीएफ की टीम ने वहां पहले से घेराबंदी कर ली। इस बीच एसटीएफ ने जैसे ही संजय को बाइक से आते देखा उसको घेर कर धर लिया।

तलाशी के दौरान के उसके पास से 9 एमएम की एक पिस्टल भी मिली। पूछताछ के दौरान पकड़े गये आरोपी संजय ने बताया कि वष 2012 मेें उधम सिंह करनावल गैंग के सक्रिय सदस्य नीटू, जो उसी केे गॉव का निवासी है तथा जिसकी पत्नी ग्राम प्रधान थी, से आबादी की जमीन के कब्जे को लेकर विवाद हो गया था। इसी के चलते उसकी नीटू से रंजिश हो गयी थी।

इसी दौरान नीटू ने अपने भाई के साथ मिलकर ग्राम करनावल निवासी लीलू(योगेश भदौड़ गैंग का सक्रिय सदस्य) के 2 भाईयों की आपसी विवाद मेें हत्या कर दी थी। इसके बाद संजय उर्फ पकौड़ी ने अपने छोटे भाई संजीव व लीलू के साथ मिलकर वर्ष 2012 मेें नीटू की हत्या कर दी गयी। इस घटना के सम्बन्ध मेें नीटू के छोटे भाई प्रवेन्द्र ने थाना सरधना में रिपोर्ट दर्ज करायी थी।

इस मामले में लीलू जेल गया था और संजय व उसका छोटा भाई संजीव तभी से फरार चल रहें थे। इसके अलावा संजय के खिलाफ हत्या, हत्या के प्रयास और रंगदारी मांगने की रिपोर्ट भी दर्ज थी। उसकी गिरफ्तारी पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया था। पूछताछ पर यह भी बताया कि प्रवेन्द्र (नीटू का छोटा भाई) पर संजय संजीव ने समझौता करने के लिए दबाव बनाया जा रहा था।

25 मई को संजय व उसके छोटे भाई संजीव ने अपने साथियों के साथ मिलकर प्रवेन्द्र की हत्या कर दी गयी। इस घटना के सम्बन्ध मेें सरूरपुर थाने में रिपोर्ट दर्ज की गयी थी। पूछताछ पर यह भी बताया कि बरामद 9 एमएम पिस्टल से ही उसने प्रवेन्द्र की हत्या की थी तथा अब वह प्रवेन्द्र हत्याकाण्ड की वादी (प्रवेन्द्र की पत्नी) की हत्या करने की योजना बना रहा था।

The post Breaking: हत्या की फिराक में लगा 25 हजार का इनामी बदमाश एसटीएफ के हत्थे चढ़ा appeared first on TOS News.

]]>
सीएम योगी के नाम पर धमकाने वाले तीन जालसाज धरे गये https://tosnews.com/59288-2/59288 Fri, 04 Aug 2017 09:40:23 +0000 https://tosnews.com/?p=59288 लखनऊ: यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ का निजी सहायक बन शासन व प्रशासन के आला अधिकारियों को फोन कर वसूली और फर्जी काम करने वाले

The post सीएम योगी के नाम पर धमकाने वाले तीन जालसाज धरे गये appeared first on TOS News.

]]>
लखनऊ: यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ का निजी सहायक बन शासन व प्रशासन के आला अधिकारियों को फोन कर वसूली और फर्जी काम करने वाले तीन जालसाजों को यूपी एसटीएफ राजधानी के अलीगंज इलाके से गिरफ्तार किया है। आरोपियों के पास एक मोबाइल फोन भी मिला है। इन लोगों ने चंद रोज पहले डीएम कानपुर व उपश्रमायुक्त कानपुर मण्डल को सीएम के नाम पर फोन कर एक कम्पनी पर छापेमारी के लिए कहा था। इस संबंध में डीएम कानपुर ने अलीगंज थाने में एफआईआर दर्ज करायी थी।


एसटीएफ से मिली जानकारी के अनुसार कुछ समय से एसटीएफ को इस बात की सूचना मिली रही थी कि कुछ लोग मुख्यमंत्री का निजी सहायक बन कुछ जालसाज अधिकारियों को फोन कर जांच की बात कहते हुए उनसे रुपये की मांग कर रहे हैं। इसी क्रम चंद रोज पहले डीएम कानपुर व उपश्रमायुक्त कानपुर मण्डल को सीएम योगी के नाम पर फोन आरएसपीएल ग्रुप के प्रतिष्ठïानों पर छापेमारी का आदेश दिया गया था। डीएम कानपुर को जब कुछ शक हुआ तो उन्होंने छानबीन करायी तो पता चला कि फोनकर्ता का सीएम योगी आदित्यनाथ से कोई लेनादेना ही नहीं है।

ट्रू कालर पर चेक करने पर फोनकर्ता का नाम की जगह योगी आदित्यनाथ व पता 5 कालीदास मार्ग लिखकर आ रहा था। इस संबंध में डीएम कानपुर ने अलीगंज थाने में रिपोर्ट दर्ज करायी थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए इस की जांच यूपी एसटीएफ को दी गयी थी। इस मामले में छानबीन कर रही यूपी एसटीएफ को पता चला कि इस तरह का एक जालसाजों को गैंग है जो यूपी व उत्तराखण्ड में सक्रिय है। छानबीन व सर्विलांस के दौरान एसटीएफ को इस गैंग से जुड़े अतीश मिश्र नाम के जालसाज का पता चला।

बीती रात एसटीएफ की टीम ने अलीगंज के कपूरथला इलाके से आरोपी हरिद्वार निवासी अतीश कुमार, उसके दो साथियों बस्ती निवासी हनुमान शुक्ला और गोण्डा निवासी राहुल उपाध्याय को गिरफ्तार किया। आरोपियों के पास से वहीं मोबाइल फोन मिला, जिसका प्रयोग आरोपियों ने डीएम कानपुर को फोन करने में किया था। इसके अलावा जालसाजों ने खाद्य एंव औषधि विभाग की अधिकारी शशि पाण्डेय को फोन कर नमस्ते इण्डिया दूध कम्पनी के सेम्पल लेकर उन्होंने फेल करने का आदेश दिया गया था। इस बात की शिकायत प्रमुख सचिव, खाद्य एव औषधि ने की थी।
पूछताछ में इन बातों का हुआ खुालसा
एसटीएफ के सीओ आलोक सिंह ने बताया कि पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि शार्टकट में रुपये कमाने की चाह में आरोपियों ने इस तरह की घटना को अंजाम दिया था। आारोपियों ने फर्र्जी आईडी पर एक सिम एअरसेल कम्पनी से लिया था। इसके बाद मुख्यमंत्री के नाम से अपने मोबाइल नम्बर से एक फर्जी ट्रू कॉलर आईडी तैयार की थी। इससे जो भी कभी इनका नम्बर ट्रू कालर पर चेक करता था तो सीएम योगी आदित्यनाथ का नाम व 5 केडी का पता लिखकर आता था। आरोपी राहुल ने बताया कि वह सीएम का निजी सचिन राकेश कुमार बन आलाधिकारियों, बड़े कारोबारियों व बिल्डरों को फोन कर धमकाता था और रुपये की मांग करता था।
जालसाज हनुमान का है लम्बा आपराधिक इतिहास
एसटीएफ के हत्थे चढ़े जालसाज हनुमान शुक्ला का लंबा आपराधिक इतिहास भी है। वह बस्ती जिले के कोतवाली थाना क्षेत्र में हुए राहुल मद्धेशिया अपहरण कांड में भी शामिल था, जिसमें उसके साथ पूर्व मंत्री अमरमणि त्रिपाठी भी अभियुक्त थे। इसके अलावा वह सिंचाई विभाग के जेई रवि प्रताप हत्याकांड का भी प्रमुख अभियुक्त था। उसके विरुद्ध लखनऊ, बस्ती, कानपुर नगर, सीतापुर व गोंडा में लगभग 10 मुकदमे दर्ज हैं। पकड़े गये आरोपी हनुमान के खिलाफ पहले हत्या, अपहरण सहित करीब 10 आपराधिक मामले दर्ज हैं।

 

The post सीएम योगी के नाम पर धमकाने वाले तीन जालसाज धरे गये appeared first on TOS News.

]]>