#use – TOS News https://tosnews.com Latest Hindi Breaking News and Features Wed, 08 Aug 2018 10:49:49 +0000 en-US hourly 1 https://wordpress.org/?v=4.9.8 https://tosnews.com/wp-content/uploads/2017/03/tosnews-favicon-45x45.png #use – TOS News https://tosnews.com 32 32 EVM: जल्द ही 17 विपक्षी दल करेने वाले हैं चुनाव आयोग से मुलाकात, जानिए क्या है वजह! https://tosnews.com/evm-%e0%a4%9c%e0%a4%b2%e0%a5%8d%e0%a4%a6-%e0%a4%b9%e0%a5%80-17-%e0%a4%b5%e0%a4%bf%e0%a4%aa%e0%a4%95%e0%a5%8d%e0%a4%b7%e0%a5%80-%e0%a4%a6%e0%a4%b2-%e0%a4%95%e0%a4%b0%e0%a5%87%e0%a4%a8%e0%a5%87/139931 Fri, 03 Aug 2018 05:27:06 +0000 https://tosnews.com/?p=139931 नई दिल्ली: वर्ष 2019 को लोकसभा चुनाव कई मायने में अहम होने वाला है। इस चुनाव से पहले विपक्षी दल एक बार फिर चुनाव को

The post EVM: जल्द ही 17 विपक्षी दल करेने वाले हैं चुनाव आयोग से मुलाकात, जानिए क्या है वजह! appeared first on TOS News.

]]>
नई दिल्ली: वर्ष 2019 को लोकसभा चुनाव कई मायने में अहम होने वाला है। इस चुनाव से पहले विपक्षी दल एक बार फिर चुनाव को बैलेट पेपर से कराने जाने की मांग कर सकते हैं। बताया जाता है कि 17 राजनैतिक दल जल्द ही चुनाव आयोग से मिलकर लोकसभा चुनाव बैलेट पेपर से कराये जाने की मांग करेंगे। वहीं अगले साल 2019 में लोकसभा चुनाव होने जा रहे हैं और चुनाव आयोग इन चुनावों में 100 फीसदी वीवीपीएटी के इस्तेमाल की कवायद में जुटा हुआ है।

सत्तारूढ़ बीजेपी के खिलाफ विपक्षी एकता को मजबूत करने के प्रयास के तहत तृणमूल कांग्रेस समेत 17 राजनीतिक दल इस मांग के साथ चुनाव आयोग से संपर्क करने की योजना बना रहे हैं कि 2019 का लोकसभा चुनाव मतपत्र से कराया जाएण्। ये 17 विपक्षी दल इस योजना पर चर्चा करने के लिए अगले हफ्ते बैठक करेंगे। तृणमूल नेता डेरक ओ ब्रायन ने कहा कि यह एक ऐसा मामला है जिस पर सभी विपक्षी दल सहमत हैं।

हमारी अगले हफ्ते बैठक करने की योजना है। हमने चुनाव आयोग से संपर्क करने और यह मांग करने की योजना बनाई है कि चुनाव आयोग अगला लोकसभा चुनाव मतपत्र से कराए। इस मामले पर सभी विपक्षी दलों का समर्थन जुटाने की पहल तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी ने की थी जब वह 19 जनवरी की अपनी रैली के वास्ते विपक्षी नेताओं को न्योता देने के लिए उनसे मिलने बुधवार को संसद आई थीं।

ममता बनर्जी को संसद में तृणमूल कांग्रेस के कार्यालय में उनसे मिलने आए नेताओं से यह अपील करते हुए सुना गया कि वे ईवीएम में छेड़छाड़ की रिपोर्ट तथा 2019 का चुनाव मतपत्र से कराने की मांग को लेकर संयुक्त प्रतिनिधिमंडल चुनाव आयोग के पास भेजें। तृणमूल कांग्रेस ने इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीनों की निष्पक्षता पर सवाल खड़ा करते हुए संसद के बाहर प्रदर्शन किया था।

उसने मांग की थी कि 2019 के चुनाव में मतपत्र वापस लाया जाए। पश्चिम बंगाल के सत्तारुढ़ दल ने कहा कि यह एक ऐसा साझा कार्यक्रम है जो विपक्षी दलों को एकजुट करेगा। सबसे रोचक तो यह है कि बनर्जी ने बीजेपी की सहयोगी शिवसेना से भी इस प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा बनने की अपील की।

शिवसेना प्रमुख उद्भव ठाकरे ने पहले मांग की थी कि 2019 का चुनाव ईवीएम के स्थान पर मतपत्र से कराया जाए। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडु ने कहा कि सभी पार्टी नेताओं को ईवीएम को लेकर सतर्क रहना चाहिए। समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव भी बैलेट पेपर के इस्तेमाल कि हिमायत कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि देश की जनता में ईवीएम को लेकर अविश्वास लगातार बढ़ रहा है।

The post EVM: जल्द ही 17 विपक्षी दल करेने वाले हैं चुनाव आयोग से मुलाकात, जानिए क्या है वजह! appeared first on TOS News.

]]>
Controversial: अब नमाज को लेकर राज ठाकेर ने दिया विवादित बयान, जानिए क्या कह डाला! https://tosnews.com/controversial-%e0%a4%85%e0%a4%ac-%e0%a4%a8%e0%a4%ae%e0%a4%be%e0%a4%9c-%e0%a4%95%e0%a5%8b-%e0%a4%b2%e0%a5%87%e0%a4%95%e0%a4%b0-%e0%a4%b0%e0%a4%be%e0%a4%9c-%e0%a4%a0%e0%a4%be%e0%a4%95%e0%a5%87%e0%a4%b0/138661 Sat, 28 Jul 2018 07:55:20 +0000 https://tosnews.com/?p=138661 मुम्बई: मुस्लिम समाज को लेकर दिये जाने वाले बयानों में अब महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना अध्यक्ष राज ठाकरे का नाम भी जुड़ गया। राज ठाकेर ने

The post Controversial: अब नमाज को लेकर राज ठाकेर ने दिया विवादित बयान, जानिए क्या कह डाला! appeared first on TOS News.

]]>
मुम्बई: मुस्लिम समाज को लेकर दिये जाने वाले बयानों में अब महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना अध्यक्ष राज ठाकरे का नाम भी जुड़ गया। राज ठाकेर ने बड़ा अजीबो और गरीब बयान देकर नया विवाद खड़ा कर दिया है। राज ठाकेर के इस बयान के मुस्लिम समुदाय में आक्रोश देखा जा सकता है।

मुस्लिमों के घर से बाहर नमाज अदा करने पर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना अध्यक्ष राज ठाकरे ने विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि मुस्लिमों को सड़क पर नहीं बल्कि घर पर ही नमाज अदा करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि अजान के लिए मुस्लिमों को लाउडस्पीकर की क्या जरूरत है? ऐसा करके आप क्या दिखाने की कोशिश करते हैं।

अगर आप नमाज अदा करना चाहते हैं तो इसे घर पर करिए। आप इसे सड़क पर क्यों अदा करते हैं। गुरु पुर्णिमा के अवसर पर एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए ठाकरे ने कहा कि सभी को अपनी-अपनी जिम्मेदारियों को समझना होगा।

अगर सभी यह समझने लगे तो देश और राज्यों में किसी तरह का विरोधाभास नहीं पैदा नहीं होगा। राज ठाकरे ने महाराष्ट्र में मराठा आरक्षण की मांग पर अड़े मराठा आंदोलन का भी समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि आंदोलन के दौरान हिंसा राज्य सरकार की नाकामी का प्रतीक है। अगर भाजपा सरकार राज्य की सुरक्षा नहीं कर सकती तो उन्हें सत्ता संभालने का कोई हक नहीं।

The post Controversial: अब नमाज को लेकर राज ठाकेर ने दिया विवादित बयान, जानिए क्या कह डाला! appeared first on TOS News.

]]>
OMG: इस राज्य में दूध से महंगा बीक रखा है गोमूत्र, जानिए क्यों! https://tosnews.com/omg-%e0%a4%87%e0%a4%b8-%e0%a4%b0%e0%a4%be%e0%a4%9c%e0%a5%8d%e0%a4%af-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%a6%e0%a5%82%e0%a4%a7-%e0%a4%b8%e0%a5%87-%e0%a4%ae%e0%a4%b9%e0%a4%82%e0%a4%97%e0%a4%be-%e0%a4%ac/138017 Wed, 25 Jul 2018 06:11:44 +0000 https://tosnews.com/?p=138017 जयपुर: राजस्थान के अलवर में गौ-तस्करी के चलते अकबर उर्फ रकबर की हत्या के बीच एक चौकाने वाली खबर भी सामने आयी है। राजस्थान में

The post OMG: इस राज्य में दूध से महंगा बीक रखा है गोमूत्र, जानिए क्यों! appeared first on TOS News.

]]>
जयपुर: राजस्थान के अलवर में गौ-तस्करी के चलते अकबर उर्फ रकबर की हत्या के बीच एक चौकाने वाली खबर भी सामने आयी है। राजस्थान में गाय के दूध से अधिक गोमूत्र की डिमांड है और गोमूत्र दूध से महंगा भी बीक रहा है।


सिर्फ दूध ही नहीं बल्कि गोमूत्र भी इन दिनों राजस्थान के किसानों की आमदनी का बड़ा साधन बन गया है। राजस्थान में गोमूत्र की अचानक इतनी डिमांड बढ़ गई है कि किसान हाई ब्रिड गाय जैसे गिर और थरपार्कर का गोमूत्र थोक बाजार में 15 से 30 रुपए प्रति लीटर तक बेच रहे हैं। वहीं गाय का दूध का रेट 22 रुपए से लेकर 25 रुपए प्रति लीटर तक है।

आलम यह है कि दूध से महंगा गोमूत्र बिक रहा है। यही वजह है कि राज्य के किसान अचानक मालामाल हो गए हैं। कई इलाकों में किसानों की आय में 30 फीसदी से ज्यादा इजाफा देखने को मिला है। बताया जा रहा है कि राजस्थान में गाय की गिर और थरपारकर जैसी कुछ प्रजातियों के गोमूत्र की डिमांड काफी है। एक ओर जहां किसानों को गाय के दूध के लिए 22 से 25 रुपए तक ही मिल पाते हैं।

वहीं गोमूत्र के लिए प्रति लीटर 15 से 30 रुपए का दाम आसानी से मिल जाता है। एक अंग्रेजी अखबार की खबर के मुताबिक जयपुर के रहने वाले किसान कैलाश गुर्जर बताते हैं कि गोमूत्र का इस्तेमाल जैविक कृषि के लिए होता है। इस क्षेत्र में काम करने वाले तमाम लोग उनसे गोमूत्र खरीदते हैं और इसी कारण उनकी आय में करीब 30 फीसदी का इजाफा भी हुआ है।

कैलाश के मुताबिक गोमूत्र का इस्तेमाल केमिकल युक्त खाद के एक विकल्प के रूप में होता है। इसके अलावा दवा और तमाम धार्मिक कामों में भी इसका इस्तेमाल होता है। ा् कैलाश कहते हैं कि गोमूत्र को इक_ा करने के लिए उन्हें सारी रात जागना पड़ता है। राजस्थान सरकार के अधीन आने वाली उदयपुर की महाराणा प्रताप कृषि एवं प्रद्यौगिकी विश्वविद्यालय भी अपने ऑर्गेनिक फॉर्मिंग प्रोजेक्ट के लिए हर महीने करीब 350 से 500 लीटर गोमूत्र खरीदती है।

गोमूत्र की इस खरीद के लिए विश्वविद्यालय ने राज्य की कई गौशालाओं से अनुबंध भी किया है। हर महीने करीब 15000 से 20000 रुपए का गोमूत्र खरीदा जाता है। विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर उमा शंकर के मुताबिकए गोमूत्र किसानों के लिए अतिरिक्त आय का एक साधन है।

The post OMG: इस राज्य में दूध से महंगा बीक रखा है गोमूत्र, जानिए क्यों! appeared first on TOS News.

]]>
ICC Rule: आईसीसी के इस नियम पर सचिन तेंडुलकर ने उठाया सवाल, जानिए क्या है पूरा मामला? https://tosnews.com/icc-rule-%e0%a4%86%e0%a4%88%e0%a4%b8%e0%a5%80%e0%a4%b8%e0%a5%80-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%87%e0%a4%b8-%e0%a4%a8%e0%a4%bf%e0%a4%af%e0%a4%ae-%e0%a4%aa%e0%a4%b0-%e0%a4%b8%e0%a4%9a%e0%a4%bf%e0%a4%a8/131800 Sun, 24 Jun 2018 04:21:08 +0000 https://tosnews.com/?p=131800 मुंबई: क्रिकेट के मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंडुलकर न सिर्फ खिलाडिय़ों के लिए अहम होती है, बल्कि क्रिकेट से जुड़े सभी लोग सचिन की बात को

The post ICC Rule: आईसीसी के इस नियम पर सचिन तेंडुलकर ने उठाया सवाल, जानिए क्या है पूरा मामला? appeared first on TOS News.

]]>
मुंबई: क्रिकेट के मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंडुलकर न सिर्फ खिलाडिय़ों के लिए अहम होती है, बल्कि क्रिकेट से जुड़े सभी लोग सचिन की बात को ध्यान से सुनते भी हैं और उसपर अलम भी करते हैं। अब सचिन ने वनडे में दो नई गेंद इस्तेमाल करने के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद यानि आईसीसी के नियम को तबाही का साधन करार दिया है।

सचिन का यह बयान हाल ही में ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच वनडे में बने सर्वोच्च स्कोर के बाद आया है। इंग्लैंड ने मंगलवार को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 5 मैचों की वनडे सीरीज के तीसरे मैच में 6 विकेट पर 481 रन का वनडे इतिहास का सर्वोच्च स्कोर बनाया था। अगले मैच में ऑस्ट्रेलिया ने 8 विकेट पर 312 रन का विशाल स्कोर बनायाए जिसे मेजबान टीम ने 44.4 ओवर में ही हासिल कर लिया।

सचिन ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखाए वनडे में दो नई गेंदों का इस्तेमाल तबाही के साधन जैसा है। गेंद को इतना समय ही नहीं मिल पाता है कि रिवर्स स्विंग मिल सके। हमने डैथ ओवरों में काफी समय से रिवर्स स्विंग नहीं देखी है। आईसीसी ने अक्टूबर 2011 में ही वनडे में दो नई गेंदों का प्रयोग शुरू किया था। इस मामले में पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज वकार युनूस ने सचिन का समर्थन किया है।

उन्होंने लिखा कि यही वजह है कि अब आक्रामक तेज गेंदबाज नहीं निकलते। सभी रक्षात्मक खेलते हैं। सचिन की बातों से पूर्ण रूप से सहमत हूं। रिवर्स स्विंग लुप्त ही हो गई है। आईसीसी ने अक्टूबर 2011 में अपने नियमों में संशोधन कर वनडे क्रिकेट में यह नियम लागू किया था। इस नियम के तहत दोनों छोरों से दो अलग-अलग नई बॉल का इस्तेमाल किया जाता है जिसके चलते एक पारी में दोनों गेंद से 25-25 ओवर फेंके जाते हैं।

पहले एक ही गेंद से 50 ओवर पूरे किए जाते थे तो बॉल को रिवर्स स्विंग मिलती थी और स्पिनर्स के लिए भी बॉल सपॉर्टिंग रोल निभाती थी। लेकिन 2 बॉल के नियम से अब वनडे क्रिकेट में रिवर्स स्विंग और स्पिन की कला लुप्त होती जा रही है।

आईसीसी जब यह नियम लाई थी तब बीसीसीआई ने इन बुनियादी बातों पर ध्यान दिलाते हुए इस नियम का विरोध किया था। लेकिन आईसीसी वनडे क्रिकेट को बैट्समैन फ्रें डली गेम बनाना चाहता था और उसने इस नियम को मान्यता दी। अब जब वनडे क्रिकेट में बोलर्स के लिए कुछ नहीं बच रहा है तो महान बल्लेबाज सचिन तेंडुलकर और वकार युनूस ने इसके खिलाफ आवाज उठाई है।

The post ICC Rule: आईसीसी के इस नियम पर सचिन तेंडुलकर ने उठाया सवाल, जानिए क्या है पूरा मामला? appeared first on TOS News.

]]>