No Helmet No Petrol: राजधानी में नो हेलमेट नो पेट्रोल का नियम फिर से लागू!

लखनऊ: कुछ दिन पहने नो हेलमेट नो पेट्रोल की योजना एक बार फिर लखनऊ में लागू कर दी गयी है। शहर के 67 पेट्रोल पम्पों को चिन्हित किया गया है और इन पेट्रोल पम्प पर बिना हेलमेट के पेट्रोल नहीं मिलेगा। इसके अलावा इन पेट्रोल पम्प पर बिना हेलमेट पेट्रोल लेने पहुंचे चालकों का चालान भी किया जायेगा।


राजधानी के नवनियुक्त एसएसपी कलानिधि नैथानी ने हेलमेट के चलन और उसके प्रयोग को बढ़ाने के लिए यह निर्णय लिया है। एसएसपी का यह आदेश रविवार से शहर में लागू हो जायेगा। एसएसपी ने बताया कि इस नियम को शहर के 67 पेट्रोल पम्पों पर लागू किया जायेगा। चिन्हित किये गये पेट्रोल पम्प पर स्थानीय पुलिस नज़र रखेगी।

अगर कोई भी व्यक्ति बिना हेलमेट के पेट्रोप पम्प पर तेल लेने के लिए पहुंचता है तो उसका चालान भी किया जायेगा। एसएसपी लखनऊ का पद संभालने के बाद से एसएसपी कलानिधि दो पहिया वाहन चालकों में हेलमेट के प्रयोग को लेकर काफी गंभीर है। खुद वह सड़कों पर वाहन चेकिंग के दौरान लोगों को बार-बार हेलमेट के प्रयोग के बारे में जागरूक कर रहे हैं।

अब इसी क्रम में एसएसपी कलानिधि नैथानी ने रविवार को इस बात का फैसला किया कि अब राजधानी में दो पहिया वाहन चालकों के प्रति हेलमेट की जागरूकता को बढऩे के लिए नो हेलमेट नो पेट्रोल स्कीम लागू की जायेगी। इसके लिए महानगर के 5, गाजीपुर के 3, हजरतगंज के 2, गोसाईगंज के 1, बाजारखाला के 4, आशियाना के 4, कृष्णानगर के 1, सरोजनीनगर के 4, मडिय़ांव के 4, ठाकुरगंज के 4, अलीगंज के 1, पारा के 3, काकोरी के 2, कैण्ट के 1, गोमतीनगर के 4, हुसैनगंज के 1, गौतमपल्ली के 1, हुसैनगंज के 1, गुड़म्बा के 3, विकासनगर के 2, नाका के 1, चिनहट के 1, आलमबाग के 3, हसनगंज के 3, तालकटोरा के 1, कैसरबाग के 3, पीजीआई के 2, इन्दिरानगर के 1, विभूतिखण्ड के 1 और जानकीपुरम के 1 पेट्रोल पम्प को चिन्हित किया गया है। इन पेट्रोल पम्प पर सुबह 10 बजे से लेकर शाम 6 बजे तक स्थानीय पुलिस के लोग मौजूद रहेंगे।

पहले भी लागू हो चुका है यह नियम
नो हेलमेट नो पेट्रोल का अभियान कोई नया नहीं है। पहले भी राजधानी लखनऊ में इस अभियान को पुलिस ने शुरू किया था। 22 मई वर्ष 2017 को एसएसपी दीपक कुमार ने भी इस तरह का अभियान शुरू किया था। कुछ दिनों तक यह अभियान चला, फिर बाद में अभियान ठंडे बस्ते में चला गया। इस पहले समाजवादी पार्टी की सरकार में परिवाहन मंत्री राजा अमरिंदर सिंह ने बिना नो हेलमेट नो पेट्रोल का नियम लागू किया था। उस वक्त उन्होंने सभी परिवाहन अधिकारियों, जिला प्रशासन और पुलिस को इस नियम को लागू करने के कहा था। समाजवादी पार्टी की सरकार में भी यह नियम कुछ दिनों तक चला, फिर बाद में नियम को ताख पर रख दिया गया। इसके अलााव देश के अन्य कई राज्यों में नो हेलमेट नो पेट्रोल का नियम लागू है। अब देखना यह होगा के राजधनी में फिर से लागू किया गया यह नियम कितना कारगर होता है।

You May Also Like

English News