OMG: टीचर पर लगा छात्र को थूक चटवाने का आरोप, एफआईआर दर्ज!

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के पारा स्थित एक स्कूल के अंग्रेजी टीचर पर 9 वीं क्लास के छात्र के अमानवीय हरकत करने का आरोप लगा है। टीचर पर छात्र ने थूक चटवाने का गंभीर आरोप लगाया है। टीचर की प्रताडऩा से परेशान छात्र ने स्कूल जाना छोड़ दिया। इस पर उसके घरवालों ने जब उससे बातचीत की तो छात्र ने टीचर की हरकत के बारे में बताया। छात्र की बात सुन परिवार के लोग सन्न रह गये। इसके बाद छात्र के पिता शिकायत लेकर स्कूल पहुंचे तो स्कूल प्रशासन टीचर के बचाव में आ गया। अब इस मामले में छात्र के पिता ने पारा थाने में टीचर, प्रधानाचार्य और प्रबंधक के खिलाफ एफआईआर दर्ज करायी है।


पारा के गायत्रीनगर इलाके में एक अधिवक्ता अपने परिवार के साथ रहते हैं। उनका 13 वर्षीय बेटा पारा रोड स्थित सेंट मेरी स्कूल में कक्षा 9 का छात्र है। अधिवक्ता ने बताया कि एक माह पहले स्कूल में अंग्रेजी के एक टीचर रूचिर शर्मा ने ज्वाइन किया था। उनका आरोप है कि शुरू से ही अंग्रेजी के टीचर बच्चों को डराने और धमकाने लगे। अधिवक्ता के बेटे ने इस बारे में पिता को बताया तो छात्र के पिता ने इस बारे में शिकायत स्कूल प्रशासन से की।

इसके बाद बात टल गयी। अधिवक्ता का कहना है कि बस इसी शिकायत के बाद अंग्रेेजी टीचर उनके बेटे को मानसिक और शारीरिक रूप से परेशान करने लगा। पुलिस को दी गयी अपनी शिकायत में अधिवक्ता का कहना है कि अंग्रेजी के टीचर उनके बेटे के साथ गलत हरकत करते थे। वह छात्र का गुप्तांग पकड़ कर उसको तललीफ पहुंचाते थे। सिर्फ इतना ही नहीं टीचर ने छात्र को थूक भी चटवाया।

वहीं छात्र के चेहरे पर निकला मुहासा भी टीचर ने फोड़ दिया और उसमें से निकला मवाद भी चटवाने की कोशिश की। छात्र अंग्रेजी टीचर की इन हरकतों को कुछ दिनों तक सहता रहा। बीच-बीच में वह स्कूल जाने में आनाकानी करने लगा। इस पर अधिवक्ता ने उसको डांट कर स्कूल भेज दिया। चंद रोज पहले छात्र ने स्कूल जाने से साफ इनकार कर दिया। छात्र के इस इनकार पर जब अधिवक्ता ने अपने बेटे से बातचीत की तो छात्र ने सारी बात पिता को बतायी। बेटे की बात सुन अधिवक्ता के पैरों तले जमीन खिसक गयी।

स्कूल प्रशासन टीचर के बचाव में आया
पीडि़त छात्र के पिता का कहना है कि बेटे की बात सुनने के बाद वह सीधे स्कूल पहुंचे और मामले की शिकायत स्कूल प्रशासन से की। उनकी शिकायत पर टीचर के खिलाफ कार्रवाई करने के बजाये स्कूल प्रशासन टीचर के बचाव में उतर आया। अधिवक्ता का आरोप है कि उनको धमकी देकर स्कूल से भगा दिया गया।

पुलिस पर भी तहरीर बदलवाने का आरोप
इस मामले मेें पीडि़त छात्र के पिता शिकायत लेकर पारा पुलिस के पास पहुंचे। उन्होंने तीन पन्नों में अपनी शिकायत लिखकर पुलिस को दी। अधिवक्ता का आरोप है कि उनकी तहरीर पढऩे के बाद पुलिस ने तहरीर को छोटा करके लिखने के लिए कहा। इस पर थाने में मौजूद एक व्यक्ति ने उनकी तहरीर फिर से लिखकर दे दिया। फिलहाल पुलिस ने दूसरी तहरीर के आधार पर आरोपी टीचर, प्रधानाचार्य और प्रबंधक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है। छात्र के पिता का कहना है कि पुलिस भी इस मामले को गंभीरता से नहीं ले रही है। अब तक न तो पुलिस ने बयान दर्ज किया और न ही आरोपी टीचर के बारे में कुछ पता लगाया। वहीं उनको यह भी आरोप है कि पुलिस ने इस मामले में सही धाराओं में एफआईआर भी नहीं लिखी।

You May Also Like

English News