OMG: होमवर्क नहीं किया तो मिली ऐसी सजा की चली गयी जान, पढि़ए पूरी रिपोर्ट!

बलिया: उत्तर प्रदेश के पूर्वाचंल के बलिया जिले में एक प्राइवेट स्कूल में होमवर्क पूरा न करने पर टीचर की पिटाई से कक्षा चार की छात्रा की मौत का मामला सामने आया है। जिले के रसड़ा स्थित सेंट जेवियर्स स्कूल में कक्षा चार में पढऩे वाली एक छात्रा की मौत शिक्षिका की पिटाई से हो गई।


घटना के विरोध में परिजन एवं काफी संख्या में ग्रामीण बुधवार को स्कूल गेट के सामने पहुंच गए तथा शव रख जमकर हंगामा किया। आरोप है कि साइंस का होमवर्क पूरा नहीं होने पर शिक्षिका ने छात्रा की पिटाई की थी। स्कूल पर हंगामा की सूचना मिलते ही एडीएम, एएसपी, और एसडीएम मौके पर पहुंच गए और परिजनों को समझाबुझा कर शांत किया।

इस मामले में छात्रा के पिता की तहरीर पर प्रबंधक, प्रधानाचार्य एवं आरोपी शिक्षिका के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया। फेफना थाना क्षेत्र के औदी पियरिया निवासी संतोष वर्मा की 10 वर्षीय पुत्री सुप्रिया वर्मा सेंट जेवियर्स स्कूल में कक्षा चार की छात्रा थी।

परिजनों ने बताया कि सुप्रिया प्रतिदिन की भांति मंगलवार को स्कूल गईए जहां होमवर्क पूरा नहीं करने पर शिक्षिका रजनी ने उसकी पिटाई कर दी थी। जिसके बाद छात्रा गश्त खाकर गिर गई। उसे बेहोशी की हालत में परिजन सीएचसी लेकर गएए जहां हालत नाजुक देख डॉक्टरों ने वाराणसी के लिए रेफर कर दिया।

वाराणसी में इलाज के दौरान छात्रा ने देर रात दम तोड़ दिया। घटना के बाद परिजन छात्रा का शव लेकर स्कूल पर पहुंच गए तथा उक्त शिक्षिका और स्कूल प्रबंधन के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए हंगामा शुरू कर दिए। सूचना मिलते ही रसड़ा सीओ अवधेश चौधरी व कोतवाल जगदीश चंद्र यादव हमराहियों के साथ मौके पर पहुंच गए और लोगों को काफी समझाने का प्रयास किया। लेकिन वे नहीं माने।

बाद में एडीएमए एएसपी, एसडीएम पहुंचे और परिजनों को समझाबुझा कर शांत कराए। अधिकारियों के निर्देश पर प्रबंधक मुन्ना सिंहए प्रधानाचार्य संगीता सिंह व शिक्षिका रजनी को पुलिस ने तत्काल हिरासत में लिया। इसके बाद पुलिस ने पिता संतोष वर्मा की तहरीर पर तीनों के विरूद्ध धारा मुकदमा दर्ज किया।

पीडि़त पिता का यह भी आरोप था कि पुत्री की पिटाई की शिकायत जब मैंने प्रधानाचार्य एवं प्रबंधक से किया तो उन लोगों ने गाली गलौज देते हुए धक्के देकर बाहर निकलवा दिया।

उधर पुलिस ने छात्रा का पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। स्कूल के प्रधानाचार्या संगीता सिंह ने इस घटना को राजनीति से प्रेरित बताया। कहा कि सुप्रिया पहले से ही बीमार थी और उसको झटके आते थे। मंगलवार को भी उसे अचानक सिर में तेज दर्द बताया। जिसके बाद हम लोगों ने परिजनों को तत्काल सूचना दिया। छात्रा की पिटाई का आरोप गलत है।

You May Also Like

English News