OMG: 4G टावर लगाने के नाम पर लाखों की ठगी एफआईआर दर्ज!

लखनऊ: ठगी की वारदात को अंजाम देने वाले जालसाजों के पास लोगों को ठगने के लिए एक से एक प्लान है। बस जरा की लालच लोगों को आराम से जाल में फंसा देती है और लोग अपनी गाढ़ी कमाई गवां बैठते हैं। पारा के डूडा कालोनी में रहने वाले एक रेलवे कर्मचारी के घर पर 4 जी टावर लगवाने के नाम पर जालसाज ने 1.96 लाख की ठगी को अंजाम दिया। पीडि़त ने पारा थाने में एफआईआर दर्ज करायी है।


पाराके डूडा कालोनी नरपतखेड़ा में रेलवे कर्मचारी विक्की कुमार कश्यप अपने परिवार के साथ रहता है। विक्की का कहना है कि चंद रोज पहले उसके पास एक फोन आया। फोनकर्ता ने अपना नाम दीपक राय बताया और खुद को 4जी टावर डॉटकॉम कम्पनी का अधिकारी बताया। दीपक ने विक्की को अपने घर पर 4 जी टावर लगवाने की बात कही।

टावर लगाने के नाम पर विक्की को हर माह मोटी रकम मिलने का झांसा दिया। लालच में आकर विक्की ने टावर लगवाने के लिए हामी भर दी। इसके बाद दीपक ने ठगी का खेल शुरू किया। प्रोसेसिंग फीस से लेकर तमाम औपचारिकतों को पूर करने के नाम पर दीपक राय ने दीन दयाल और मुन्ना सिंह नाम के दो लोग के बैंक खाते में 1.96 लाख रुपये जमा करवा लिये। इतनी बड़ी रकम जमा करने के बाद भी विक्की के घर पर टावर नहीं लगा।

उसने जब दीपक राय से सम्पर्क किया तो वह टाल मटोल करने लगा। इस पर विक्की ने अपने रुपये वापस मांगे तो दीपक राय ने विक्की को टरका दिया। विक्की ने इस बारे में अन्य लोगों से बातचीत की तो लोगों ने विक्की को बताया कि उसके साथ ठगी हुई है।

ठगी की बात सुन विक्की सन्न रह गया। मंगलवार को वह पारा पुलिस के पास पहुंचा और मामले की शिकायत की। फिलहाल पुलिस ने इस मामले में दीपक राय, दीन दयाल और मुन्ना सिंह के खिलाफ धोखाधड़ी और जालसाली की रिपोर्ट दर्ज कर ली है।

You May Also Like

English News