एक बार फिर ‘केदारनाथ’ में जीवंत होगा रामबाड़ा, चार साल पहले त्रासदी में मिट गया था सब नामो निशां

रामबाड़ा एक बार फिर से जीवंत हो उठेगा। केदारनाथ यात्रा के इस मुख्य पड़ाव में भोर से लेकर देर रात तक की रौनक के बीच बाबा केदार के जयकारों की गूंज सुनाई देगी, लेकिन यह मूल स्थान के बजाय त्रियुगीनारायण गांव में नजर आएगा।एक बार फिर 'केदारनाथ' में जीवंत होगा रामबाड़ा, चार साल पहले त्रासदी में मिट गया था सब नामो निशांअभी-अभी: पहाड़ी दरकने से हुआ बड़ा हादसा, मलबे समेत खाई में गिरीं कई गाड़ियां….

यहां हिंदी फिल्म केदारनाथ का पहला दृश्य शूट किया जाना है, जिसमें रामबाड़ा को दर्शाया जाएगा, इसलिए फिल्म यूनिट ने गांव में छोटी-छोटी दुकानें व ढाबे के सेट तैयार कर उसे रामबाड़ा का रूप दिया है।  
    
शिव-पार्वती की विवाह स्थली के लिए प्रसिद्ध त्रियुगीनारायण गांव के एक हिस्से को रामबाड़ा की शक्ल में उतारा जा रहा है। यहां बरसाती (प्लास्टिक चादर) से ढकी दुकानें व रहने के लिए झोपड़ी बनाई गई हैं। रामबाड़ा से केदारनाथ जाने के लिए पैदल मार्ग पर लगी रेलिंग भी यहां नजर आएगी। 

ये कहानी है पिठ्ठू की

‘गॉय इन द स्काई’ बैनर तले और अभिषेक कपूर के निर्देशन में बन रही केदारनाथ फिल्म की कहानी यहीं से (रामबाड़ा) से शुरू होगी। जहां पिट्ठू नाम का एक युवक रहता है और वह अपनी कंडी से बाबा केदार के दर्शनों को आने वाले श्रद्धालुओं को केदारनाथ पहुंचाता है।

फिल्म में मुख्य भूमिका में अभिनेता सुशांत राजपूत अपने इस किरदार के लिए स्थानीय बोलचाल के शब्द भी सीख रहे हैं। फिल्म के लाइन प्रोड्यूसर अमित मेहता ने बताया कि फिल्म की शूटिंग के लिए अधिकांश तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। उन्होंने ग्रामीणों से मिल रहे सहयोग के प्रति आभार जताया।

वहीं स्थानीय डीएस रावत, एमपी तिवारी, ग्राम प्रधान विजय लाल का कहना है कि फिल्म यूनिट ने उनके गांव को शूटिंग के लिए चुना, यह उनके लिए गौरव की बात है। इधर, क्षेत्रीय सिनेमा के प्रसिद्ध कैमरामैन बबलू जंगली ने कहा कि बड़े बैनर की फिल्म की शूटिंग से नए अवसर भी प्रदान होंगे।

You May Also Like

English News