पकिस्तान ने भारत से लिया सर्जिकल स्ट्राइक का बदला

NEW DELHI: PAKISTAN ने सर्जिकल स्ट्राइक का बदला ले लिया है। पकिस्तान ने ये बदला जंग नहीं बल्कि इंटरनेट पर लिया है।

सर्जिकल स्ट्राइक का बदला लेने के लिए हैकर्स ने नेशनल ग्रीन ट्राइब्यूनल  (एनजीटी) की वेबसाइट सोमवार को हैक कर ली गई। इसके साथ एक बच्चे की फोटो भी पोस्ट की गई है। हैकर ने इसके पीछे गत दिनों भारत द्वारा सर्जिकल स्ट्राइक जैसे उठाए गए कदम को कारण बताया है। इससे पहले भी एनजीटी की वेबसाइट पर साइबर हमला हो चुका है।
पकिस्तान ने भारत से लिया सर्जिकल स्ट्राइक का बदला
…अब झेलो साइबर हमले 
जानकारी के मुताबिक, हैकर ने वेबसाइट पर लिखा है, वी आर अनबिटेबल। तुम कश्मीर में निर्दोष लोगों की हत्या करते हो और अपने आप को अपने देश का रक्षक बताते हो।
तुम सीमा पर संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हो और उसे सर्जिकल स्ट्राइक कहते हो। अब साइबर हमले की आग झेलो। हैकर्स ने इसे सर्जिकल स्ट्राइक का बदला बताया है।
हैकर्स का दावा- हमें कोई नहीं हरा सकता
हैकर्स ने भारत के खिलाफ ‘साइबर वॉर’ की भी घोषणा की है। वेबसाइट हैक करने वाले ने एक बच्चे की उंगली दिखाते हुए तस्वीर लगाई और संदेश लिखा है कि Website Syamped BY D4RK 4NG31। हैकर्स ने यह भी दावा किया है कि उन्हें कोई हरा नहीं सकता है।
पहले भी हो चुका है साइबर हमला
 इससे पहले भी एनजीटी की वेबसाइट पर साइबर हमला हो चुका है। साल 2012 के दौरान एनजीटी वेबसाइट हैक की गई थी। इस मामले की गंभीरता को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने इसकी जांच क्राइम ब्रांच को सौंप दी है।
मामले की जांच आईबी को 
पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि इस मामले की जांच आईबी और दिल्ली पुलिस कर रही है। ये किसी की करतूत भी हो सकती है। सूचना के अनुसार एनजीटी की वेबसाइट करीब 7 बजे हैक की गई है।
बताते चलें कि एनजीटी की आधिकारिक वेबसाइट की सिर्फ होमपेज ही हैक की गई है। इससे एनजीटी का काफी डाटा खराब होने की संभावना जताई जा रही है।
भारतीय फौज को निशाना बनाया
वेबसाइट पर भारतीय फैजों को दोषी ठहराते हुए इसे सर्जिकल स्ट्राइक का बदला बताया गया है। इसमें भारतीय फौजों पर बॉर्डर पर सीज फायर तोड़ने का भी आरोप लगाया गया है। वेबसाइट पर भारतीय फैजों को दोषी ठहराते हुए इसे सर्जिकल स्ट्राइक का बदला बताया गया है। इसमें भारतीय फौजों पर बॉर्डर पर सीज फायर तोड़ने का भी आरोप लगाया गया है।

You May Also Like

English News