#Review: इंटरटेन के साथ-साथ एजुकेट भी करेगी ‘टॉयलेट: एक प्रेम कथा

अक्षय कुमार और भूमि पेडनेकर की मोस्ट अवेटिड फिल्म ‘टॉयलेट: एक प्रेम कथा’ फिल्म आज सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है। अपने अनोखे मुद्दे को लेकर यह फिल्म पिछले लम्बे समय से सुर्खियों में बनी हुई है। अगर आप इस वीकेंड इस फिल्म को देखने की प्लानिंग कर रहे हैं, तो एक बार जरूर पढ़ लें फिल्म का शॉर्ट रिव्यू।#Review: इंटरटेन के साथ-साथ एजुकेट भी करेगी ‘टॉयलेट: एक प्रेम कथा

कहानी- फिल्म की कहानी केशव (अक्षय कुमार) और जया (भूमि पेडनेकर) की है, केशव एक साइकिल की दुकान चलाता है। केशव अपने पड़ोस के गांव की रहने वाली जया को दिल दे बैठता है। जया भी केशव से प्यार करने लग जाती है और दोनों की शादी भी हो जाती है। शादी के बाद जया को पता चलता है केशव के घर में तो ‘शौचालय’ तक नहीं है। वह उससे घर में शौचालय बनाने को कहती है, केशव इस बारे में अपने पिता से बात करता है।

क्या आपने देखा है राष्ट्रगान का ऐसा स्पेशल वर्जन…नहीं देखा तो देखें यहाँ…विडियो

लेकिन पंडित परिवार होने के चलते उसके पिता इसके लिए नहीं मानते वह कहते हैं ‘जिस आंगन में तुलसी की पूजा की जाती है, वहां शौचालय नहीं बन सकता।’ जया गुस्से में घर छोड़कर चली जाती है और घर में टॉयलेट बनाने की जिद्द पर अड़ जाती है। जया के प्यार मं पागल केशव भी प्रण ले लेता है वे जया के लिए शौचालय बनवा कर रहेगा। अब अंत में उसे इस काम में कामयाबी मिलती है या नहीं इसे देखने के लिए आपको नजदीकी सिनेमाघर का रूख करना पड़ेगा।

गलती से तस्वीरों में कैद हुईं बॉलीवुड अदाकारा इलियाना डी क्रूज़ दिलकश आदयें

देखे या नहीं- इंटरटेन के साथ-साथ यह फिल्म लोगों को एजुकेट भी करेगी, इसलिए आपको ये फिल्म जरूर देखनी चाहिए।

You May Also Like

English News