अभी-अभी: RSS के इस नेता ने पहले काटा हाथ, फिर गर्दन और फिर…

कन्नूर। केरल के कन्नूर में एक आरएसएस कार्यकर्ता की बेरहमी से हत्या कर दी गई। इस हत्याकांड में कथित तौर पर सीपीआई (एम) कार्यकर्ताओं का हाथ बताया जा रहा है। हत्या के बाद इलाके में तनाव बढ़ गया है। हत्या से गुस्साए बीजेपी के स्थानीय नेताओं ने कन्नूर जिले में विवादित सशस्त्र बल विशेषाधिकार कानून (अफस्‍पा) लगाने की मांग की है।अभी-अभी: RSS के इस नेता ने पहले काटा हाथ, फिर गर्दन और फिर...यह भी पढ़े:> अभी-अभी: मसूर बॉलीवुड अभिनेता शूटिंग के दौरान ट्रेन से गिरे, हुई मो…देखे वीडियो

घटना कन्नूर जिले स्थित पयन्नूर के रामनथली इलाके की है। मृतक आरएसएस कार्यकर्ता का नाम पी. बीजू था। बीजू जुलाई 2016 में हुई सीपीएम नेता धनराज सीवी की हत्या का 12वां आरोपी था। पुलिस के मुताबिक, कुछ लोगों ने तलवारों से बीजू पर हमला किया था।

गंभीर रूप से घायल बीजू को पेरियारम मेडिकल कॉलेज और अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। बीजू की हत्या की खबर सुनते ही इलाके में तनाव बढ़ गया। बीजेपी नेताओं ने बताया कि बीजू आरएसएस के रामनथली मंडल के कार्यवाहक थे। धनराज की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किए जाने के कुछ समय बाद वह जमानत पर रिहा कर दिए गए थे। बीजेपी ने आरोप लगाया है कि यह हत्या बदले की भावना से की गई है और इसके पीछे सीपीआई (एम) का हाथ है। फिलहाल पुलिस केस की छानबीन कर रही है।

बीजू की हत्या के बाद बीजेपी नेताओं ने कन्नूर जिले में अफस्‍पा लगाए जाने की मांग की है। बताते चलें कि केरल के कन्नूर की राजनीतिक हिंसा के लिए पूरे देश में गलत छवि बनी हुई है। अक्सर यहां राजनीतिक हिंसा की घटनाएं सामने आती रहती हैं। इन घटनाओं के लिए संघ जहां वामपंथी राज्य सरकार को दोषी ठहराता है, वहीं कम्युनिस्ट नेता संघ की विचारधारा को हिंसा का कारण बताते हैं।

You May Also Like

English News