Sad News: सांडों की लड़ाई में गयी एक बेगुनाह युवक की जान, जानिए कैसे?

लखनऊ: राजधानी लखनऊ के विकास नगर इलाके के कुर्सी रोड स्थित महावीर इंटर कॉलेज के पास आवारा सांडों की लड़ाई की चपेट में बाइक सवार आ गया। सड़क पर गिरने से युवक के सिर पर गम्भीर चोट आ गई। गम्भीर हालत में युवक को अस्पताल में भर्ती कराया गयाए जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

गुडम्बा के बहादुरपुर निवासी 45 वर्षीय अखिलेश तिवारी एक निजी पैथालॉजी की गाड़ी चलाते थे। वह शनिवार देर रात घर लौट रहे थे। तभी कुर्सी रोड स्थित महावीर इंटर कॉलेज के सामने सड़क पर लड़ रहे दो सांडों की चपेट में आ गया। बाइक में टक्कर लगने से युवक की बाइक का संतुलन बिगड़ गया और सड़क पर दूर तक घिसटता चला गया।

दुर्घटना के बाद राहगीर मदद को दौड़े और पुलिस को घटना की सूचना दी। अखिलेश को पुलिस की मदद से पहले अलीगंज स्थित नीरा नर्सिंग होम ले जाया गया। जहां से उसे ट्रामा रेफर कर दिया गया। ट्रामा में इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया। मृतक के परिवार में पत्नी विद्या तिवारी समेत चार बेटियां व एक बेटा है। अखिलेश परिवार का एकमात्र सहारा था। पति की मौत की सूचना सुनकर पत्नी गश खाकर गिर पड़ी। वही अपने सिर से पिता का साया उठ जाने से बच्चे भी अपने आंसू नहीं रोक सके और दहाड़ मार मार के रो पड़े।

हेलमेट पहना होता तो बच सकती थी जान
बाइक सवार अखिलेश ने हेलमेट नहीं पहन रखा था। सांडो की टक्कर लगने पर गिरे अखिलेश के सिर में काफी चोटे आईं। चिकित्सक के मुताबिक सिर में चोट लगने से ही युवक की मौत हो गई। अगर उसने हेलमेट पहना होता तो शायद उसकी जान बच जाती।

आवारा मवेशियों पर नगर निगम की कार्रवाई शून्य
इस समय कुर्सी रोड या रिंग रोड जैसा मुख्य मार्ग हो या इंजीनियरिंग कालेज चौराहा या फिर अन्य इलाको के गलियां। हर तरफ आवारा मवेशियों के झुंड बीच सड़क पर मंडराया करता है। यह झुंड बीच सड़क पर भी बैठ जाता है। इधर से निकला भी वाहन चालकों के लिए मुश्किल हो जाता है। इन झुंडों में मौजूद सांड अक्सर आपस मे भिड़ जाते है। इस दौरान इनके आसपास से गुजरना दुर्घटना को निमंत्रण देने जैसा होता है। पूर्व में भी कई लोग आवारा मवेशियों की चपेट में आकर जान गवां चुके हैं। नगर निगम बीच बीच कुछ मवेशियों को पकड़ कर अपनी जिम्मेदारी पूरी मान लेता है।

 

You May Also Like

English News