SBI और पोस्ट ऑफिस, जानिए फिक्स्ड डिपॉजिट में कहां मिलेगा फायदा

सार्वजनिक क्षेत्र के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने हाल ही में अपनी फिक्स्ड डिपॉजिट दरों में संशोधन किया है। यह संशोधन 25 बेसिस प्वाइंट का किया गया है, जो कि चुनिंदा मैच्योरिटीज पर लागू होगा और ये नई दरें 28 मई से प्रभावी हैं। हम अपनी इस खबर में आपको बता रहे हैं कि एसबीआई एफडी और पोस्ट ऑफिस एफडी दोनों में से कौन आपके लिए ज्यादा बेहतर है।

पोस्ट ऑफिस एफडी: पोस्ट ऑफिस की ओर से फिक्स्ड डिपॉजिट या टाइम डिपॉजिट (टीडी) प्लान उपलब्ध करवाए जाते हैं, जहां एक वर्ष की मैच्योरिटी पर 6.60 फीसद और पांच वर्ष की मैच्योरिटी वाले प्लान पर 7.40 फीसद का ब्याज दिया जाता है। यहां पर ब्याज की गणना तो तिमाही आधार पर की जाती है लेकिन उसका भुगतान सालाना आधार पर किया जाता है। पोस्ट ऑफिस के टाइम डिपॉजिट पर ब्याज दरें निम्न हैं…

एसबीआई एफडी: वहीं एसबीआई की ओर से उपलब्ध एफडी प्लान पर भी बेहतर रिटर्न मिलता है। एक साल से लेकर दो साल से कम मैच्योरिटी पीरियड वाली एफडी पर 6.65 फीसद की दर से ब्याज मिलता है, जबकि पहले यह दर 6.4 फीसद की रही थी। वहीं सीनियर सिटीजन को अब इसमें 7.15 फीसद की दर से ब्याज दिया जा रहा है, जबकि पहले यह दर 6.9 फीसद थी। वहीं एसबीआई की दो साल से लेकर 3 साल के कम अवधि की मैच्योरिटी वाली अवधि पर 6.65 फीसद की दर से ब्याज मिलता है, जबकि पहले इसी मैच्योरिटी पर 6.6 फीसद की दर से ब्याज दिया जाता था। वहीं सीनियर सिटीजन को पहले के 7.1 फीसद के मुकाबले अब 7.15 फीसद की दर से ब्याज मिल रहा है।

एसबीआई एफडी पर मिलने वाली ब्याज दरें: एसबीआई एफडी पर मिलने वाली ब्याज दरें अलग अलग अवधि के हिसाब से अलग अलग होती हैं। एक साल से पहले की अवधि के टर्म डिपॉजिट की दरों में कोई बदलाव नहीं हुआ है। सिर्फ से एक साल से ज्यादा और दो साल से कम वाली और 2 साल से ज्यादा और 3 साल से कम वाली मैच्योरिटी वाली दरों में ही बदलाव हुआ है। बाकी अपरिवर्तित रही हैं।

You May Also Like

English News