SC के फैसले के बाद केजरीवाल और अनिल बैजल की पहली मुलाकात

शनिवार को दिल्ली में सुप्रीम कोर्ट ने एक ऐतिहासिक फैसला सुनाया था, जो दिल्ली सरकार और उपराज्यपाल के विवाद से जुड़ा था. अब इस फैसले के बाद आज यानी शुक्रवार को दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल पहली बार मिलने वाले है. इस मुलाकात से पहले ही केजरीवाल ने अनिल बैजल को एक पत्र लिखा है. मुख्यमंत्री ने पत्र में उपराज्यपाल से कहा कि "अगर सर्विसेज विभाग की फाइल उनके पास आती है तो उम्मीद है कि वह उस पर कोई कार्रवाई नहीं करेंगे। क्योंकि अगर वह ऐसा करते हैं तो यह सुप्रीम कोर्ट की अवमानना होगी" आपको बता दें, इस फैसले के बाद भी अफसरों के ट्रांसफर पोस्टिंग और सेवा से जुड़े मामलों को देखने वाले विभाग के सचिव ने मनीष सिसोदिया का आदेश वापस लौटा दिया था. अब देखने वाली बात यह होगी कि आज की मीटिंग में दिल्ली के लिए क्या निकलकर आता है. अगर मीटिंग में सबकुछ ठीक रहता है तो दिल्ली के विकास के लिए एक अच्छी खबर है.

अरविन्द केजरीवाल ने इस खत में लिखा है कि “कोर्ट में हाल ही में आए फैसले की तरफ आपका ध्यान ले जाना चाहूंगा. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अब किसी भी काम के लिए आपकी सहमति जरुरी नहीं है. वहीं दिल्ली के मामलों में सेवाओं से जुडी हुई सभी शक्तियां मंत्री परिषद् के पास है.”

मुख्यमंत्री ने पत्र में उपराज्यपाल से कहा कि “अगर सर्विसेज विभाग की फाइल उनके पास आती है तो उम्मीद है कि वह उस पर कोई कार्रवाई नहीं करेंगे। क्योंकि अगर वह ऐसा करते हैं तो यह सुप्रीम कोर्ट की अवमानना होगी” आपको बता दें, इस फैसले के बाद भी अफसरों के ट्रांसफर पोस्टिंग और सेवा से जुड़े मामलों को देखने वाले विभाग के सचिव ने मनीष सिसोदिया का आदेश वापस लौटा दिया था. अब देखने वाली बात यह होगी कि आज की मीटिंग में दिल्ली के लिए क्या निकलकर आता है. अगर मीटिंग में सबकुछ ठीक रहता है तो दिल्ली के विकास के लिए एक अच्छी खबर है. 

 

You May Also Like

English News