Sex Racket: लखनऊ में चल रहा था हाईप्रोफाइल सेक्स रैकेट, पुलिस ने किया खुलासा!

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में एक हाईप्रोफाइल सेक्स रैकेट चल रहा था। शहर की विभूतिखण्ड पुलिस ने इसका खुलासा करते हुए पांच युवक व तीन लड़कियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपियों ने लखनऊ कॉल गल्र्स नाम से इंटरनेट पर वेबसाइट बना रखी थी जिसके जरिए ग्राहक इनसे संपर्क करते थे। आरोपी व्हाट्स एप पर लड़कियों की तस्वीरें भेजकर तीन से 15 हजार रुपये में ग्राहकों से बुकिंग करते थे।


कॉल गल्र्स को ग्राहकों के कमरे तक पहुंचाने और उन्हें वापस पिकअप करने का काम भी गैंग के लोग ही करते थे। शनिवार तड़के धरपकड़ के दौरान आरोपियों के तीन साथी भागने में कामयाब रहे। वहीं पुलिस ने गैंग के सरगना विपिन शर्मा उर्फ साजन के पास से पिस्टल व कार बरामद की है। इसके अलावा लड़कियों के पास से नगदीए मोबाइल फोन व आपत्तिजनक वस्तु बरामद की है।

सीओ गोमतीनगर चक्रेश मिश्रा ने बताया कि शुक्रवार रात 2.30 बजे विभूतिखण्ड थाने के दरोगा अमरनाथ सरोज पुलिस टीम के साथ कठौता चौराहे पर चेकिंग कर रहे थे। तभी लाल रंग की पोलो कार में सवार कुछ लोग उधर से निकले और पुलिस को देखकर भागने लगे। पुलिस ने उनका पीछा किया तो वास्तुखण्ड में सेंट मेरी स्कूल के पास एक युवक कार से उतर कर पैदल भागा।

पुलिस ने उस युवक को पकड़ लिया जबकि उसके साथी कार समेत फरार हो गए। पकड़े गए युवक ने पूछताछ में अपना नाम विरामखण्ड.5 निवासी विपिन शर्मा उर्फ साजन और फरार साथियों के नाम अतुल यादव उर्फ रविए अंकित कुमार और गोलू बताया। उसने कबूला कि वह और उसके साथी जिस्मफरोशी का धंधा करते हैं। तलाशी के दौरान उसके पास से 7.65 बोर की अवैध पिस्टल व दो जिंदा कारतूस बरामद हुए।

पुलिस के मुताबिक विपिन ने यह पिस्टल एक शख्स से 25 हजार रुपये में खरीदी थी। विपिन ने बताया कि कुछ ग्राहक बिगड़ैल प्रवृत्ति के होते हैं और पेमेंट को लेकर आनाकानी करने के साथ लड़कियों को परेशान करते हैं। ऐसे ग्राहकों को डराने के लिए ही वह पिस्टल रखता था। विपिन ने पुलिस को बताया कि उसने रात में ही तीन लड़कियां ग्राहकों के पास भेजी हैं।

उसके कुछ साथी इन लड़कियों को लेने के लिए कठौता चौराहे पर आने वाले हैं। इस पर एसआई अमरनाथ सरोज ने थाने से दो महिला कांस्टेबल चारू मलिक और रूचि मांगट को बुलवाया और चौराहे के पास पेट्रोल पम्प पर खड़े होकर आरोपियों का इंतजार करने लगे। सुबह 6 बजे गैंग के चार युवक इंडिका कार से वहां पहुंचे जिन्हें पुलिस ने दबोच लिया।

इन युवकों की पहचान मध्य प्रदेश के इन्दौर निवासी विकास यादव उर्फ विक्कीए आजमगढ़ निवासी कर्मदेव यादवए सीतापुर के रामपुर मथुरा निवासी सत्वंत सिंह और महमूदाबाद निवासी आदित्य वर्मा के रूप में हुई। पुलिस ने आरोपियों की कार व मोबाइल फोन जब्त कर लिए। पुलिस ने आरोपियों से पूछताछ की तो पता चला कि उन्होंने तीनों लड़कियों को चौराहे के पास एक होटल में छोड़ा है।

कुछ ही देर में वह लड़कियां चौराहे की तरफ पैदल आती हुई नजर आईं जिन्हें महिला सिपाहियों ने गिरफ्तार कर लिया। तीनों के पर्स से नगदीए मोबाइल फोन व आपत्तिजनक वस्तु बरामद हुई।

सीओ चक्रेश मिश्रा के मुताबिक गिरफ्तार लड़कियों में से दो कोलकाता के हावड़ा की रहने वाली हैं और चिनहट के एक हॉस्टल में रहती हैं। वहीं एक लड़की विभूतिखण्ड की रहने वाली है और एक कॉलेज से होटल मैनेजमेंट की पढ़ाई कर रही है।

लड़कियों ने बताया कि वह लोग महंगे शौक व मॉर्डन लाइफ स्टाइल के लिए यह काम कर रही थीं। पुलिस जब तक इन लड़कियों को लेकर होटल पहुंचीए तब तक तीनों ग्राहक जा चुके थे। आरोपियों ने दो ग्राहकों के नाम बहराइच निवासी एहसान अली व दुर्गेश कुमार बताया जबकि तीसरे शख्स का नाम नहीं बता सके।

loading...

You May Also Like

English News