Singapore : भारतवंशी छात्रा ने जीता हृदय रोग प्रोजेक्ट पर अवार्ड

चेन्नई में जन्मी 18 वर्षीय छात्रा विजयकुमार रागवी ने सिंगापुर में ए स्टार टेलेंट सर्च अवार्ड जीता है। रागवी को यह अवार्ड आनुवांशिक हृदय रोग “हाइपरट्रोफिक कार्डियोमायोपैथी” पर विशेष मॉडल बनाने के लिए दिया गया है। 611 प्रतिभागियों के बीच पहला स्थान प्राप्त करने वाली रागवी को इस अवार्ड के तहत नकद इनाम, ट्रॉफी और प्रमाण पत्र प्रदान किया गया।चेन्नई में जन्मी 18 वर्षीय छात्रा विजयकुमार रागवी ने सिंगापुर में ए स्टार टेलेंट सर्च अवार्ड जीता है। रागवी को यह अवार्ड आनुवांशिक हृदय रोग "हाइपरट्रोफिक कार्डियोमायोपैथी" पर विशेष मॉडल बनाने के लिए दिया गया है। 611 प्रतिभागियों के बीच पहला स्थान प्राप्त करने वाली रागवी को इस अवार्ड के तहत नकद इनाम, ट्रॉफी और प्रमाण पत्र प्रदान किया गया।  रागवी ने बताया कि इस प्रतियोगिता को जीतने के लिए उन्होंने अपने मॉडल पर करीब दो साल तक कड़ी मेहनत की। रागवी का यह मॉडल स्टेम सेल तकनीक पर केंद्रित है जिसमें रक्त के नमूने से आनुवांशिक बीमारियों का आसानी से पता लगाया जा सकता है। रागवी ने कहा कि वह शोधकर्ता बनना चाहती हैं। रागवी के माता-पिता भी बेटी की उपलब्धि पर खुश हैं। सिंगापुर में ए स्टार टेलेंट सर्च की शुरुआत 2006 में की गई थी ताकि विज्ञान के क्षेत्र में अच्छे छात्रों को प्रोत्साहित किया जा सके।

रागवी ने बताया कि इस प्रतियोगिता को जीतने के लिए उन्होंने अपने मॉडल पर करीब दो साल तक कड़ी मेहनत की। रागवी का यह मॉडल स्टेम सेल तकनीक पर केंद्रित है जिसमें रक्त के नमूने से आनुवांशिक बीमारियों का आसानी से पता लगाया जा सकता है। रागवी ने कहा कि वह शोधकर्ता बनना चाहती हैं। रागवी के माता-पिता भी बेटी की उपलब्धि पर खुश हैं। सिंगापुर में ए स्टार टेलेंट सर्च की शुरुआत 2006 में की गई थी ताकि विज्ञान के क्षेत्र में अच्छे छात्रों को प्रोत्साहित किया जा सके।

You May Also Like

English News