STF: लखनऊ के नेहरू इंक्लेव से दो अलसहा तस्करों को एसटीएफ ने दबोचा!

लखनऊ: यूपी एसटीएफ ने शनिवार को गोमतीनगर स्थित नेहरू इंक्लेव से दो इंटर स्टेट असलहा तस्करों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गये तस्करों के पास से चार पिस्टल, 460 कारतूस , मोबाइल फोन और ढाई हजार रुपये मिले हैं। आरोपी कारतूस इटावा के एक गन हाउस से लेकर आते थे और उसको बिहार ले जाकर बेचते थे।


एसएसपी एसटीएफ अभिषेक सिंह ने बताया कि एसटीएफ की एक टीम असलहा तस्करों की धर-पकड़ के लिए गठित की गयी थी। टीम को अपने छानबीन और मुखबिर की सूचना से इस बात की जानकारी मिली कि शनिवार की दोपहर दो अंतर्राज्यीय असलहा तस्कर गोमतीनगर स्थित नेहरू इंक्लेव आने वाले हैं।

इस सूचना पर एसटीएफ की टीम वहां पहुंची तो देखा कि नेहरू इंक्लेव स्थित पुष्पायन ब्लाक के पास पार्क के पास दो संदिग्ध युवक मौजूद हैं और उनके हाथ में एक बैग है। इसके बाद एसटीएफ की टीम ने दोनों युवकों को घेर कर धर लिया। बैग की तलाशी ली गयी तो उसके अंदर से चार पिस्टल, 460 कारतूस, दो मोबाइल फोन और ढाई हजार रुपये मिले। पूछताछ में पकड़े गये आरोपियों ने अपना नाम मऊ निवासी आकाश और नेहरू इंक्लेव निवासी राजेश यादव बताया। राजेश मूल रूप से गाजीपुर जनपद का रहने वाला है।

इटावा के गन हाउस से लाये थे कारतूस
पूछताछ में पकड़े गये आरोपियों ने बताया कि बरामद किये गये असलहे वह लोग बिहार से लेकर आये थे। वह कारतूस के बारे में आरोपियों ने बताया कि कारतूस वह लोग इटावा के भरथना कस्बे मेें स्थित हैप्पी गन हाउस से लेकर आये थे। आरोपियों ने कारतूस को लखनऊ, उसके आसपास के जनपदों और बिहार लेकर बेचने की बात कुबूली है।

नक्सलियों से जुड़े हैं आकाश के तार
एसटीएफ का कहना है कि पकड़े गये असलहा तस्कर आकाश को 16 अगस्त वर्ष 2010 को एसटीएफ ने नाका इलाके से गिरफ्तार किया। उस वक्त उसके पास से 9 एमएम व एलएलआर के हजारों कारतूस मिले थे। आरोपी ने उस वक्त इन कारतूसों को नक्सलियों और बिहार व पश्चिम बंगाल में बदमाशों को बेचने की बात बतायी थी। इसके अलावा अकाश के खिलाफ बस्ती जनपद में उसी वक्त आम्र्स एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज की गयी थी।

You May Also Like

English News